Submit your post

Follow Us

इंडिया पाकिस्तान से मैच जीत गया है मगर मैं इन 3 चीज़ों से खुश नहीं हूं

अंग्रेजों ने दो मुख्य काम किये. पहले तो क्रिकेट बनाया, फिर इंडिया को खुश करने के लिए पाकिस्तान बना दिया. बची खुची कसर आईसीसी ने पूरी कर दी. उन्होंने आईसीसी इवेंट्स बनाये जहां हर बार इंडिया पाकिस्तान को पीटती रहती है. एमएसधोनी वो कप्तान थे जिसने अपनी कप्तानी में पाकिस्तान के खिलाफ़ हर आईसीसी इवेंट का हर मैच जीता. उनका रिकॉर्ड था 5-0. अब विराट कोहली ने स्टीयरिंग संभाली है तो उनकी भी बोहनी शुभ हुई है. इंडिया ने चैम्पियंस ट्रॉफी का पहला मैच बर्मिंघम में 124 रनों से जीत लिया है. पाकिस्तान की परफॉरमेंस तो ऐसी थी कि इंडिया को सबसे बड़ी चुनौती पाकिस्तान की बॉलिंग से नहीं बल्कि बारिश से मिल रही थी.

इंडिया ने बड़ी आसानी से मैच जीत लिया. रिकॉर्ड चोखा कर लिया है. लेकिन कुछ समस्याएं हैं. क्रिकेट में जीत ही सब कुछ नहीं होती है. हमें अभी पूरा टूर्नामेंट खेलना है. हम ट्रॉफी डिफेंड कर रहे हैं. हमें किसी भी फ़ील्ड में 19 नहीं होना चाहिए. 21 होना समय की मांग है. ऐसी टीम जिसका कप्तान फिज़िकल फिटनेस को लेकर अपनी डेडिकेशन की वजह से देह को पत्थर बना खुद मील का पत्थर बन गया हो, उसकी टीम किसी भी एक फ़ील्ड में हल्की पड़ जाए तो मज़ा नहीं आता है. यहां तो परफेक्शन चाहिए होता है बॉस. और वो हमें चाहिए. ट्रॉफियां उठानी हैं तो परफेक्ट बनना होगा.

मुझे जो समस्याएं दिखीं वो हैं:

1. जाधव मेंढक पकड़ रहे थे

अगर आप आज की फील्डिंग से संतुष्ट हैं तो यकीनन आप यूपी में रहते होंगे और आपके यहां डेढ़ हफ़्ते से बिजली ही नहीं आ रही है. मतलब केदार जाधव ने आज वो कैच छोड़ा है जो उनकी जगह अगर मेहंदी लगाये खड़े रणबीर कपूर से कैच करवाया जाता तो वो पकड़ लेता चश्मा लगाये 20 हज़ार का और कैच छोड़े ऐसा कि बोलते कुछ न बने. इसके अलावा युवराज सिंह, धवन जैसे बढ़िया, चौकस फील्डर्स के हाथ से ऐसे गेंद बाहर निकल रही थी जैसे हथेली के अन्दर जिन्नात मौजूद हों जो बार बार गेंद को बाहर धकेल दे रहे हों या हाथ खींच ले रहे हों. ये भी हो सकता है कि इंग्लैंड के नाश्ते ब्रेड-बटर के बाद हाथ में मक्खन लगा रह गया होगा. जो भी हो, अगली बार और बढ़िया ढंग से मैदान में गेंद पकड़ें या फिर हाथ पोंछ कर आयें. लेकिन ई न चोलबे! ऐसा फील्डिंग न चोलबे!

2. इंडिया को बढ़िया पाकिस्तानी टीम कब मिलेगी हराने के लिए?

हमने वो मैच देखा था जब सचिन तेंदुलकर ने शोएब अख्तर को बताया था कि पटकी हुई गेंद थर्ड मैच के ऊपर से बाउंड्री के पार पहुंचने की अधिकारी होती है. हमने अख्तर की 150 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ़्तार फेंकी गेंदें देखी हैं. हमने वसीम अकरम की स्विंग देखी है. हमने इंज़माम के खड़े होकर मारे गए छक्के देखे हैं. हमने रज्ज़ाक को खेलते हुए देखा है. लेकिन अब हमें क्या मिल रहा है? 5 विकेट गिरने पर मोहम्मद आमिर बैटिंग पर आ जाता है. शुरुआत के बैट्समेन को भुवनेश्वर संभाल लेता है. हमें चुनौती पेश करेगा कौन? वो टीम जो खुद हमारे इतने कैच छोड़ देती है कि ऐसा लगने लगता है जैसे ऑफिस की पिकनिक में बॉस का 10 साल का लड़का बैटिंग कर रहा हो जिसे आउट नहीं करना होता है. जब सामने बढ़िया अपोज़ीशन हो तो इधर भी पसीना बहाने में मज़ा आता है.

3. लंडन का मौसम

शेड्यूल बनाने वाले, क्या तेरे मन में समाया,
तूने काहे को इंग्लैंड में मैच कराया

आईसीसी को अपने ऑफिस में इन्टरनेट कनेक्शन लगवा लेना चाहिए और वहां काम करने वाले एक-दो लोगों को गूगल करना सीख लेना चाहिए.

अरे! गूगल करके एक बार देख लें कि जब इत्ता बड़ा आईसीसी इवेंट करवाया जा रहा है तो वहां मौसम कैसा होगा. यहां ससुर ऑस्ट्रेलिया और न्यूज़ीलैंड के बीच का मैच बंद हो आया. पॉइंट्स बंट गए. बढ़िया हाई-स्कोरिंग मैच बरबाद हो गया. ये कोई बात नहीं होती. गूगल करिए, मौसम चेक करिए और फिर टूर्नामेंट करवाइए. क्या फ़ायदा कि प्रैक्टिस करके, वीज़ा क्लियर करवा के अगला खेलने अये, यहां ‘काग़ज़ की कश्ती और बारिश का पानी’ ही हेडफ़ोन में सुनता रहे. आईसीसी इस बात का संज्ञान ले. कोई आईसीसी की फ्रेंड लिस्ट में हो तो उसे टैग कर दे. नहीं तो उसके किसी दोस्त को कर दे. कहने का मतलब ये कि बात उस तक पहुंच जाए. नहीं तो हम बीसीसीआई को भी जानते हैं. उंगली हमें भी टेढ़ी करनी आती है.

चलते हैं. तारीख बदल चुकी है.


लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

मधुबाला को खटका लगा हुआ था इस हीरोइन को दिलीप कुमार के साथ देखकर

एक्ट्रेस निम्मी के गुज़र जाने पर उनको याद करते हुए उनकी ज़िंदगी के कुछ किस्से

90000 डॉलर का कर्ज़ा उतारकर प्राइवेट जेट खरीद लिया था इस 'गैंबलर' ने

उस अमेरिकी सिंगर की अजीब दास्तां, जो बात करने के बजाए गाने में ज़्यादा कंफर्टेबल महसूस करता था

YES Bank शुरू करने वाले राणा कपूर कौन हैं, जिन्होंने नोटबंदी को 'मास्टरस्ट्रोक' बताया था

यस बैंक डूब रहा है.

सात साल पहले केजरीवाल ने वो बात कही थी जो आज वो ख़ुद नहीं सुनना चाहते

बरसों पुरानी इस बात की वजह से सोशल मीडिया पर घेर लिए गए हैं.

क्या भारत सरकार से पूछे बिना पाकिस्तान चली गई इंडियन कबड्डी टीम?

अब ढेरों खेल-तमाशा हो रहा है.

बजट का कितना ज्ञान है, ये क्विज़ खेलकर चेक कर लो!

कितना नंबर पाया, बताते हुए जाना. #Budget2020

संविधान के कितने बड़े जानकार हैं आप?

ये क्विज़ जीत लिया तो आप जीनियस हुए.

क्रिकेट के पक्के वाले फैन हो तो इस क्विज़ को जीतकर बताओ

कित्ता नंबर मिला, सच-सच बताना.

सलमान खान के फैन, इधर आओ क्विज खेल के बताओ

क्विज में सही जवाब देने वाले के लिए एक खास इनाम है.

QUIZ: देश के सबसे महान स्पोर्टसमैन को कितना जानते हैं आप?

आज इस जादूगर की बरसी है.