Submit your post

Follow Us

लोन लिया है या घर में सोना पड़ा है तो RBI गवर्नर की ये बात आपको जरूर जाननी चाहिए

7 अगस्त की RBI की प्रेस कॉन्फ्रेंस को लेकर दी लल्लनटॉप ने इंडिया टुडे हिंदी के संपादक अंशुमन तिवारी से विस्तारपूर्वक बात की. इन बातों को हम एक सीरीज़ के रूप में प्रकाशित कर रहे हैं. पहले भाग में हमने आपको बताया कि रेपो रेट क्या होता है और RBI के रेपो रेट में कोई बदलाव न करने के क्या मायने और प्रभाव हैं. दूसरे भाग में हमने जाना कि RBI ने रीसेंट पास्ट में जो रेपो रेट और रिवर्स रेपो रेट में अंधाधुंध कटौती की है, उसका देश की अर्थव्यवस्था पर क्या प्रभाव पड़ा. और भारत की आर्थिक विकास दर के नेगेटिव होने के क्या मायने हैं.

इस तीसरे भाग में हमने अंशुमन से मोरेटोरियम, लोन रीस्ट्रक्चरिंग और गोल्ड लोन को लेकर RBI की पॉलिसी के बारे में जानना चाहा. उन्होंने बताया-

अंशुमन तिवारी
अंशुमन तिवारी

लोन रीस्ट्रक्चरिंग और मोरेटोरियम को लेकर दो चीज़ें महत्वपूर्ण हैं. (बाक़ी तो रिज़र्व बैंक ने जो अपने टेक्निकल उपाय हैं- मार्जिनल क्रेडिट लैंडिंग फ़ैसिलिटी, बैंक्स को ज़्यादा पैसे देना, वो सब कोशिशें बरकरार रखी हैं. और उसमें आर्थिक निरंतरता दिखाई देती है.)

पहली चीज़ तो ये है कि रिज़र्व बैंक ने इस पॉलिसी में एक रिस्ट्रक्चरिंग प्लान डिक्लेयर किया है. जिसमें कॉर्पोरेट लोन और पर्सनल लोन दोनों शामिल रहेंगे. रिस्ट्रक्चरिंग प्लान को जारी करते हुए एक तरीक़े से रिज़र्व बैंक ने संकेत दिया है, फ़ैसला बाद में होगा, कि शायद अब मोरेटोरियम नहीं दिया जाएगा. छह महीने के मोरेटोरियम के बाद अगले मोरेटोरियम की उम्मीद नहीं है. इसके बजाय रिज़र्व बैंक ने लैंडर्स को (यानी बैंकों और NBFC को) यह छूट दे दी है कि वो अपने हिसाब से कर्जों की रिस्ट्रक्चरिंग करें. अब कर्जों की रिस्ट्रक्चरिंग क्या होती है? जैसे मान लीजिए आपके ऊपर कर्ज है, मकान का या कार का. और उसके ऊपर आपकी हर महीने की किस्त जाती है. मान लीजिए 15 हज़ार रुपए. अब बैंक आपसे कह सकता है कि आप तीन हज़ार रुपए का ब्याज पे करते रहिए और मूलधन आप एक साल, छह महीने बाद, जब पे करना चाहें, पे कर सकते हैं. इस तरीक़े की रिस्ट्रक्चरिंग की जाएगी. ऐसा रिज़र्व बैंक को इसलिए करना पड़ा क्योंकि बैंक बुरी तरीक़े से परेशान हैं और हताश हैं. मोरेटोरियम के कारण उनके NPA बढ़ने का भयानक ख़तरा है. RBI अपनी रिपोर्ट में भी कह रहा है.

मुथूत गोल्ड जैसी एनबीएफ़सीज़ में ही नहीं, अब आप सोना बैंक में रखकर भी लोन ले पाएंगे. शयाद ज़्यादा पैसा मिलेगा और कम ब्याज़ दर पर. (सांकेतिक तस्वीर: PTI)
मुथूट गोल्ड जैसी एनबीएफ़सीज़ में ही नहीं, अब आप सोना बैंक में रखकर भी लोन ले पाएंगे. शयाद ज़्यादा पैसा मिलेगा और कम ब्याज़ दर पर. (सांकेतिक तस्वीर: PTI)

तो जब रिस्ट्रक्चरिंग की सुविधा दे दी गई तो अब लोन को रीस्ट्रक्चर करना या लोन की वसूली के पुनर्गठन का अधिकार बैंक के हाथ में आ गया. अब ये ब्लैंकेट मोरेटोरियम नहीं है कि आपने एक SMS किया या बैंक को फ़ोन किया और आपने कहा कि हम तीन महीने किस्त नहीं पे करेंगे. अब बैंक के लिए शर्तें तय की हैं रिज़र्व बैंक ने. जिसके आधार पर बैंक तय करेगा कि किसी व्यक्ति की लोन की रिस्ट्रक्चरिंग की जानी चाहिए या नहीं. उसका सिबिल स्कोर कैसा है. उसका क़र्ज़ चुकाने का पिछला रिकॉर्ड कैसा है. उसके पास आगे कर्ज़ चुकाने की क्षमता है भी कि नहीं है. वह आगे पैसा कैसे चुकाएगा. यह सारा ढांचा अब बैंक तय करेंगे. तो इससे बैंकों को एक राहत मिली है. उनको लग रहा था कि लगातार बड़े पैमाने पर उनकी लोन बुक मोरेटोरियम में चली जाएगी. इस बात का ख़तरा लगातार दिखाई दे रहा था. ये रोकने की कोशिश की है. और इससे बैंकों को थोड़ी राहत मिलेगी.

दूसरी महत्वपूर्ण चीज़ जो इस पॉलिसी में आयी है वह ये है कि बैंकों को गोल्ड लोन की छूट दी गई है. और ये कहा गया है कि यदि आप अपना सोना बैंकों के पास रखें, तो बैंक आपको आकर्षक दर पर पैसा दे सकते हैं और ब्याज भी मिल सकता है. ये भी शायद इस बात की कोशिश है कि अगर लोगों के पास कैश की कमी है तो वह अपने गोल्ड को ले जाकर बैंकों के पास रख सकते हैं और उसपर ब्याज ले सकते हैं. इन दोनों स्कीम्स की डिटेल्स आने वाले समय में जारी होंगी.

अभी सीरीज़ ज़ारी है. अगले भाग में हम बात करेंगे, दो उम्मीदों की. भारत में बढ़ते विदेशी मुद्रा भंडार, और बढ़ते शेयर मार्केट की.


वीडियो देखें-

जानिए शेयर मार्केट में पैसा डालना फिलहाल कितना मुनाफे वाला है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

नेशनल हैंडलूम डे: और ये है चित्र देखो, साड़ी पहचानो वाली क्विज

कभी सोचा नहीं होगा कि लल्लन साड़ियों पर भी क्विज बना सकता है. खेलो औऱ स्कोर करो.

सौरव गांगुली पर क्विज़!

सौरव गांगुली पर क्विज़. अपना ज्ञान यहां चेक कल्लो!

कॉन्ट्रोवर्सियल पेंटर एमएफ हुसैन के बारे में कितना जानते हैं आप, ये क्विज खेलकर बताइये

एमएफ हुसैन की पेंटिंग और विवाद के बारे में तो गूगल करके आपने खूब जान लिया. अब ज़रा यहां कलाकारी दिखाइए.

'हिटमैन' रोहित शर्मा को आप कितना जानते हैं, ये क्विज़ खेलकर बताइए

आज 33 साल के हो गए हैं रोहित शर्मा.

क्विज़: खून में दौड़ती है देशभक्ति? तो जलियांवाला बाग के 10 सवालों के जवाब दो

जलियांवाला बाग कांड के बारे में अपनी जानकारी आप भी चेक कर लीजिए.

बजट का कितना ज्ञान है, ये क्विज़ खेलकर चेक कर लो!

कितना नंबर पाया, बताते हुए जाना. #Budget2020

संविधान के कितने बड़े जानकार हैं आप?

ये क्विज़ जीत लिया तो आप जीनियस हुए.

क्रिकेट के पक्के वाले फैन हो तो इस क्विज़ को जीतकर बताओ

कित्ता नंबर मिला, सच-सच बताना.

सलमान खान के फैन, इधर आओ क्विज खेल के बताओ

क्विज में सही जवाब देने वाले के लिए एक खास इनाम है.

QUIZ: देश के सबसे महान स्पोर्टसमैन को कितना जानते हैं आप?

आज इस जादूगर की बरसी है.