Submit your post

Follow Us

ये ऐसा कौन-सा त्योहार है, जिसमें एक-दूसरे से माफी मांगते हैं लोग?

जब आप किसी को माफ कर रहे होते हैं तो यह किसी कैदी को आजाद करने जैसा होता है. माफ करने के बाद आपको पता चलता है कि वो कैदी कोई और नहीं, आप खुद थे –
(क्षमा पर कई किताबों के लेखक लुई बी स्मेड्स  अपनी किताब द आर्ट ऑफ फॉरगिविंग में)

माफ करना या क्षमा करना जितना आसान लगता है, मौका आने पर उतना ही मुश्किल होता है. इस मुश्किल को लगभग हर धर्म में समझा गया है. और इस लिहाज से इसकी महत्ता पर हर धर्म में बातें भी कही गई हैं. लेकिन जैन धर्म में क्षमा का एक खास महत्व है. जैन धर्म को मानने वाले बाकायदा साल में एक बार क्षमावाणी नाम से पर्व मनाते हैं. इस पर्व का सिर्फ एक मकसद है, वो सबकुछ माफ कर देना जो किसी कारण से दिल में भरा है. आज ही क्षमावाणी पर्व है. आइए जानते हैं, दुनिया के माफी देने वाले इस सबसे बड़े त्योहार और इसके असर के बारे मेंः

माफी मांगना आसान है, माफ करना मुश्किल

जैन धर्म में मान्यता है कि किसी से माफी मांग लेना तो आसान है लेकिन किसी को माफ करना उससे ज्यादा मुश्किल है. ऐसे में माफ करने के महत्व को क्षमावाणी त्योहार के जरिए सामने लाया गया है. जैन धर्म को मानने वाले इस त्योहार को भाद्रपद में मनाते हैं. क्षमावाणी का दिन 8 दिन तक चलने वाले पर्यूषण पर्व का हिस्सा है. इसका मूल मंत्र है –

खम्मामि सव्व जीवेषु सव्वे जीवा खमन्तु में, मित्ति में सव्व भू ए सू वैरम् मज्झणम् केण इ
यानी
सब जीवों को मैं क्षमा करता हूं, सब जीव मुझे क्षमा करें, सब जीवों से मेरा मैत्री भाव रहे, किसी से वैर-भाव न रहे.

क्षमायाचना का पर्व है पर्युषण.
क्षमायाचना का पर्व है पर्यूषण.

जैन धर्म में न सिर्फ क्षमा मांगने के महत्व को बताया गया है बल्कि माफ करने के तरीके और खुद को शुद्ध करने का राज भी बताया है. इन्हें 10 भागों में बांटा गया है. त्योहार के आठों दिन इसकी प्रैक्टिस भी करते हैं. ये हैं –

(1) उत्तम क्षमा
मन से गुस्सा निकालकर माफ करने के बारे में भाव पैदा किए जाते हैं.

(2) उत्तम मार्दव
मार्दव का मतलब दिल की कोमलता. इंसान का स्वभाव है अपने मन की बात को हमेशा ऊपर रखना. इस वजह से वह अपना आपा खो देता है. उत्तम मार्दव का मतलब है, अपने व्यवहार में विनम्रता लाने का कोशिश करना.

(3) उत्तम आर्जव
आर्जव का मतलब बिना छल-कपट का. इसका सीधा मतलब है कि कथनी और करनी के भेद को कम करना. उत्तम आर्जव हमें सरल जीवन का जीना सिखाता है.

(4) उत्तम शौच
शौच का मतलब सिर्फ शरीर की शुद्धता नहीं बल्कि आत्मा की शुद्धता है . उत्तम शौच आत्मा को शुद्ध, मन को निर्मल और दिल को पवित्र रखने पर जोर देता है.

(5) उत्तम सत्य
सत्य आत्मा का स्वभाविक गुण है. इसके बिना आत्मा की शुद्धि मुमकिन नहीं. जैन शास्त्रों में सत्य को ‘ब्रह्म’ कहा गया है.

(6) उत्तम संयम
संयम या धैर्य जीवन को संतुलित और विचारों को नियंत्रित करना सिखाता है. इसके बिना जीवन में अशांति, अमानवीयता, द्वेष भर जाते हैं. इन्हें पालना जीवन के लिए घातक है.

(7) उत्तम तप
उत्तम तप को अपनाकर मन एकाग्रता, खुद में जीने की कला और इच्छाओं को कम करना सीखा जाता है.

(8) उत्तम त्याग
जैन धर्म में ज्यादा जोड़ने को दूसरों का हक मारना कहा गया है. मतलब सिर्फ उतना जोड़ें, जितना जरूरी हो.

(9) उत्तम अकिंचन
अकिंचन का मतलब बहुत ही साधारण या गरीब. न कुछ पाने की खुशी और न त्यागने का गम जैसी अनुभूति ही आकिंचन है. सही अर्थ में जब यह नश्वर शरीर ही अपना नहीं तो आत्मा के लिए कैसा ग्रहण और कैसा त्याग. सांसारिक जीवन में थोड़ा कम, पर निर्ग्रंथ मुनियों के जीवन में इसे आसानी से देखा जा सकता है.

(10) उत्तम ब्रह्मचर्य
इस चंचल शरीर को काबू करना पारे को पकड़ने जैसा है. इंद्रियों पर काबू करके ब्रह्मचर्य का पालन करना है, जिससे शरीर मजबूत हो और ज्ञान बढ़े.

माफी का भी अपना साइंस है

किसी को माफ करना भी एक साइंस है. यह मनोवैज्ञानिक स्तर पर काम करता है. क्षमा पर कई किताबें लिख चुके लुई बी स्मेड्स अपनी किताब आर्ट ऑफ फॉरगिविंग  में लिखते हैं कि –

लगातार किसी के प्रति द्वेष में जीना किसी घाव के साथ जीने जैसा है. जिंदगी के हर मोड़ पर वह घाव रिसता है और आगे के सफर को मुश्किल बनाता है. आप हमेशा भूतकाल की बातों पर द्वेष और क्रोध पालकर भविष्य की तरफ बढ़ते हैं और कड़वाहट को भविष्य में घोलते जाते हैं. यह कुछ वैसा ही है, जैसे कोई अपनी दर्दभरी जिंदगी चैप्टर दर चैप्टर जी रहा है. पिछले चैप्टर का दर्द अगले चैप्टर तक पहुंच ही जाता है.

इसका तरीका सिर्फ यही है कि पिछले चैप्टर के घाव को माफी के टांकों से सिल दिया जाए. एक बार ऐसा होने पर जब आप अपनी जिंदगी के अगले चैप्टर में जाएंगे तो आपको द्वेष और क्रोध का घाव नहीं बल्कि माफी के वो टांके याद आएंगे, जिनसे आपको दर्द में कमी मिली है.

दिल्ली के सीनियर साइकायट्रिस्ट संजय चुघ का कहना है कि –

माफ करना स्ट्रेस को कम करने के लिए उठाया गया सबसे मुफीद कदम है. इससे तनाव में 200 फीसदी कमी आती है. बेवजह का गुस्सा और फ्रस्टेशन हमेशा ही मानसिक स्वास्थ्य पर असर डालता है. इसे माफी देकर काफी कम किया जा सकता है.

मान लिया, किसी ने आपके साथ कुछ गलत किया. वह तो चला जाएगा लेकिन अगर आपने गुस्सा पाला तो आप टेंशन को पाल रहे हैं. यह आपके भीतर भारी तनाव पैदा कर सकता है. इससे डिप्रेशन, बीपी और यहां तक हार्ट से जुड़ी समस्याएं पैदा हो सकती हैं. ऐसे में माफी एक बेहतरीन दवा साबित हो सकती है.

कई रिसर्च से पता चला है कि माफ करना एक ऐसी प्रक्रिया है, जिसमें इंसान के भीतर बहुत सकारात्मक बदलाव आते हैं और उसके भीतर एंपेथी या संवेदना का विकास भी होता है.

धर्मों में भी माफ करने की इस तरह की बातें मानसिक स्वास्थ्य को ध्यान में रखकर ही कही गई हैं. किसी को माफ कर देना तनाव कम करने की बेहतरीन एक्सरसाइज की तरह है.

तो भले ही आप क्षमा करने का त्योहार न मना सकें, इसकी प्रैक्टिस रोजमर्रा की जिंदगी में जरूर कर सकते हैं. बस एक गहरी सांस लें और बोलें – जाओ तुम्हें माफ किया.

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

IPL सिर पर है, पर टीम मालिकों की नज़र इंग्लैंग-ऑस्ट्रेलिया सीरीज़ पर क्यों टिकी है?

IPL सिर पर है, पर टीम मालिकों की नज़र इंग्लैंग-ऑस्ट्रेलिया सीरीज़ पर क्यों टिकी है?

UAE में सिर्फ मुंबई इंडियंस के खिलाड़ी ही टेंशन फ्री होकर प्रैक्टिस कर रहे हैं.

विधायक विजय मिश्रा, जिन्हें यूपी पुलिस लाने लगी तो बेटियां बोलीं- गाड़ी नहीं पलटनी चाहिए

विधायक विजय मिश्रा, जिन्हें यूपी पुलिस लाने लगी तो बेटियां बोलीं- गाड़ी नहीं पलटनी चाहिए

चलिए, विधायक जी की कन्नी-काटी जानते हैं.

नेशनल हैंडलूम डे: और ये है चित्र देखो, साड़ी पहचानो वाली क्विज

नेशनल हैंडलूम डे: और ये है चित्र देखो, साड़ी पहचानो वाली क्विज

कभी सोचा नहीं होगा कि लल्लन साड़ियों पर भी क्विज बना सकता है. खेलो औऱ स्कोर करो.

सौरव गांगुली पर क्विज़!

सौरव गांगुली पर क्विज़!

सौरव गांगुली पर क्विज़. अपना ज्ञान यहां चेक कल्लो!

कॉन्ट्रोवर्सियल पेंटर एमएफ हुसैन के बारे में कितना जानते हैं आप, ये क्विज खेलकर बताइये

कॉन्ट्रोवर्सियल पेंटर एमएफ हुसैन के बारे में कितना जानते हैं आप, ये क्विज खेलकर बताइये

एमएफ हुसैन की पेंटिंग और विवाद के बारे में तो गूगल करके आपने खूब जान लिया. अब ज़रा यहां कलाकारी दिखाइए.

'हिटमैन' रोहित शर्मा को आप कितना जानते हैं, ये क्विज़ खेलकर बताइए

'हिटमैन' रोहित शर्मा को आप कितना जानते हैं, ये क्विज़ खेलकर बताइए

आज 33 साल के हो गए हैं रोहित शर्मा.

क्विज़: खून में दौड़ती है देशभक्ति? तो जलियांवाला बाग के 10 सवालों के जवाब दो

क्विज़: खून में दौड़ती है देशभक्ति? तो जलियांवाला बाग के 10 सवालों के जवाब दो

जलियांवाला बाग कांड के बारे में अपनी जानकारी आप भी चेक कर लीजिए.

बजट का कितना ज्ञान है, ये क्विज़ खेलकर चेक कर लो!

बजट का कितना ज्ञान है, ये क्विज़ खेलकर चेक कर लो!

कितना नंबर पाया, बताते हुए जाना. #Budget2020

संविधान के कितने बड़े जानकार हैं आप?

संविधान के कितने बड़े जानकार हैं आप?

ये क्विज़ जीत लिया तो आप जीनियस हुए.

क्रिकेट के पक्के वाले फैन हो तो इस क्विज़ को जीतकर बताओ

क्रिकेट के पक्के वाले फैन हो तो इस क्विज़ को जीतकर बताओ

कित्ता नंबर मिला, सच-सच बताना.