Submit your post

Follow Us

कोरोना पर जिस प्लाज्मा थेरेपी को गेमचेंजर कहा जा रहा था, उसे बंद करने की तैयारी क्यों है?

कोरोना पेशेंट्स की मदद के लिए प्लाज्मा डोनेट करने के मेसेज आपको भी सोशल मीडिया से लेकर वॉट्सएप पर आए होंगे. प्लाज्मा थेरेपी को कोरोना से लड़ाई में एक कारगर तकनीक बताया गया था. बाकायदा इसे कोरोना को ठीक करने के प्रोटोकॉल में शामिल किया गया, लेकिन अब बायो मेडिकल रिसर्च की देश में सबसे बड़ा संस्था ICMR इस थेरेपी को कचरे के डिब्बे में डालने की तैयारी कर रही है. भला क्यों, आइए जानते हैं-

पहले जानें कि प्लाज्मा थेरेपी होती क्या है

जब किसी शख्स को इंफ़ेक्शन होता है तो उसके शरीर में इंफ़ेक्शन फैलाने वाले वायरस या बैक्टीरिया के खिलाफ़ एंटीबॉडी बनने लगती हैं. ये एंटीबॉडीज़ उस इंफ़ेक्शन से लड़ती हैं. और शरीर को रोगमुक्त बनाती हैं. कई डॉक्टरों का मानना है कि कोरोना वायरस से संक्रमित जो लोग ठीक हो रहे हैं. उनके खून के एक जरूरी हिस्से प्लाज़्मा में कोरोना वायरस के खिलाफ़ एंटीबॉडीज़ बन जाती हैं. जो लोग कोरोना संक्रमण से मुक्त हो चुके हैं, वे प्लाज़्मा डोनेट कर सकते हैं.

कोरोना से लड़कर जीतने वाले ऐसे व्यक्ति का प्लाज़्मा अगर कोरोना संक्रमित व्यक्ति को ट्रांसफर किया जाए तो उसकी रोग से लड़ने की ताकत बढ़ सकती है. रिसर्च में दावा किया गया कि 3 से 7 दिनों के भीतर संक्रमित व्यक्ति पूरी तरह से ठीक हो सकता है. दिल्ली सरकार ने तो इसके लिए न सिर्फ प्लाज्मा बैंक बनाया बल्कि लोगों को प्लाज्मा डोनेट करने के लिए प्रेरित करने को कैंपेन भी चलाया.

सबकुछ के बीच अब प्लाज़्मा ट्रीटमेंट आया है, जिसे कोरोना का जादुई इलाज कहा जा रहा है?
जब प्लाज़्मा ट्रीटमेंट आया तो इसे कोरोना का जादुई इलाज कहा गया था.

अब ऐसा क्या हो गया कि इसे बेकार बता दिया गया

इसके पीछे एक रिसर्च है, जो कहती है कि इस थेरेपी से मृत्युदर में कोई कमी नहीं आती. मेडिकल रिसर्च की अग्रणी संस्था ICMR (Indian Council of Medical Research) के डायरेक्टर जनरल बलराम भार्गव ने कहा है-

कोरोना के इलाज की गाइडलाइंस में से प्लाज्मा थेरेपी को हटाए जाने को लेकर विचार चल रहा है. यह काम कोविड-19 के लिए बनी ICMR की नेशनल टास्क फोर्स कर रही है. हमने प्लाज्मा थेरेपी पर दुनिया का सबसे लंबा ट्रायल किया है. यह ट्रायल 39 अस्पतालों में 464 पेशंट्स पर किया गया. इसके नतीजों को 350 लोगों ने लिखा. हम इसे जल्द ही सामने लाएंगे. यह लगभग 10 पेज की रिपोर्ट है, जिसमें कोविड पर प्लाज्मा थेरेपी के असर के बारे में बताया गया है. ब्रिटिश मेडिकल जर्नल ने भी इस तरह के प्रमाण दिए हैं. 

इस रिसर्च के बाद माना जा रहा है कि  ICMR सरकार को प्लाज्मा थेरेपी का इस्तेमाल बंद करने की राय देगी.

Sale(280)
ICMR ने मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि प्लाज्मा थेरेपी को लेकर किए गए दावे रिसर्च पर खरे नहीं उतरे हैं.

दिल्ली सरकार कर रही है प्लाज्मा थेरेपी खत्म करने का विरोध

ICMR के DG डॉ. बलराम भार्गव के प्लाज्मा थेरेपी को नेशनल कोविड-19 क्लीनिकल मैनेजमेंट प्रोटोकॉल से हटाने की बात पर दिल्ली सरकार बिफर गई है. खासतौर पर दिल्ली के हेल्थ मिनिस्टर सत्येंद्र जैन इस थेरेपी की वकालत कर रहे हैं. बता दें कि सत्येंद्र जैन की कोरोना पॉजिटिव होने के बाद तबीयत काफी बिगड़ गई थी. उन्हें प्लाज्मा थेरेपी दी गई थी. उनका मानना है कि इसी थेरेपी की वजह से ही उनकी जान बची.

Satyendar Jain
दिल्ली के हेल्थ मिनिस्टर सत्येंद्र जैन कोरोना संक्रमित हुए थे और उन्हें प्लाज्मा थेरेपी दी गई थी.

सत्येंद्र जैन ने कहा कि (प्लाज्मा को लेकर)  ICMR-एम्स ने मिलकर केस स्टडी शुरू की थी लेकिन उसमें कोई बड़ी कामयाबी नहीं मिली है. दिल्ली सरकार इसमें काफी आगे बढ़ चुकी है. हमने ट्रायल उन्हीं की परमिशन से शुरू किया था. उन्होंने कहा 

दिल्ली में 2 हजार से ज्यादा लोग प्लाज्मा थेरेपी से ठीक हो चुके हैं. मैं खुद उदाहरण हूं, प्लाज्मा से मेरी जान बची है, मैं कहूंगा ऐसा नहीं करना चाहिए. अमेरिका ने भी कहा है कि प्लाज़्मा के फायदे हैं. इस पर रिसर्च पूरी दुनिया में चल रही थी. उसमें दिल्ली सबसे आगे है. प्लाज़्मा का फायदा तो मिल रहा है. जिन लोगों को प्लाज्मा दिया गया, उनके परिवार से पूछें कि उन्हें कितना फायदा हुआ है.

फिलहाल अब गेंद  ICMR के पाले में है. अगर वह सरकार को प्लाज्मा थेरेपी को खत्म करने के लिए कह देती है तो सरकार उसकी बात मानकर कोरोना के इलाज के इस तरीके को रोक भी सकती है. यह बात और है कि केंद्र सरकार ने भी शुरुआत में इस थेरेपी की खूब हिमायत की थी.


वीडियो – गुजरात में कोरोना से ठीक हुई महिला के प्लाज़्मा से होगा दूसरे मरीज़ों का इलाज!

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

पार्टियों को चुनाव निशान के आधार पर पहचानते हैं आप?

पार्टियों को चुनाव निशान के आधार पर पहचानते हैं आप?

चुनावी माहौल में क्विज़ खेलिए और बताइए कितना स्कोर हुआ.

लगातार दो फिफ्टी मारने वाले कोहली ने अब कहां झंडे गाड़ दिए?

लगातार दो फिफ्टी मारने वाले कोहली ने अब कहां झंडे गाड़ दिए?

राहुल के साथ यहां भी गड़बड़ हो गई.

रोहित शेट्टी के ऊपर ऐसी कड़क Quiz और कहां पाओगे?

रोहित शेट्टी के ऊपर ऐसी कड़क Quiz और कहां पाओगे?

14 मार्च को बड्डे होता है. ये तो सब जानते हैं, और क्या जानते हो आके बताओ. अरे आओ तो.

आमिर पर अगर ये क्विज़ नहीं खेला तो दोगुना लगान देना पड़ेगा

आमिर पर अगर ये क्विज़ नहीं खेला तो दोगुना लगान देना पड़ेगा

म्हारा आमिर, सारुक-सलमान से कम है के?

परफेक्शनिस्ट आमिर पर क्विज़ खेलो और साबित करो कितने जाबड़ फैन हो

परफेक्शनिस्ट आमिर पर क्विज़ खेलो और साबित करो कितने जाबड़ फैन हो

आज आमिर खान का हैप्पी बड्डे है. कित्ता मालूम है उनके बारे में?

अनुपम खेर को ट्विटर और वॉट्सऐप वीडियो के अलावा भी ध्यान से देखा है तो ये क्विज खेलो

अनुपम खेर को ट्विटर और वॉट्सऐप वीडियो के अलावा भी ध्यान से देखा है तो ये क्विज खेलो

चेक करो अनुपम खेर पर अपना ज्ञान.

कहानी राहुल वैद्य की, जो हमेशा जीत से एक बिलांग पीछे रह जाते हैं

कहानी राहुल वैद्य की, जो हमेशा जीत से एक बिलांग पीछे रह जाते हैं

'इंडियन आइडल' से लेकर 'बिग बॉस' तक सोलह साल हो गए लेकिन किस्मत नहीं बदली.

गायों के बारे में कितना जानते हैं आप? ज़रा देखें तो...

गायों के बारे में कितना जानते हैं आप? ज़रा देखें तो...

कितने नंबर आए बताते जाइएगा.

संविधान के कितने बड़े जानकार हैं आप?

संविधान के कितने बड़े जानकार हैं आप?

ये क्विज़ जीत लिया तो आप जीनियस हुए.

आप अपने देश की सेना को कितना जानते हैं?

आप अपने देश की सेना को कितना जानते हैं?

कितना स्कोर रहा ये बता दीजिएगा.