Submit your post

Follow Us

मोहाली ब्लास्ट का रूस-बुल्गारिया कनेक्शन, रॉकेट ग्रेनेड ने खोल दी कहानी!

सोमवार, 9 मई. शाम 8 बजे के आसपास का वक्त. पंजाब (Punjab) के मोहाली (Mohali) में पुलिस इंटेलिजेंस हेड क्वार्टर (Punjab Police Intelligence Head quarters) की बिल्डिंग में रॉकेट प्रोपेल्ड ग्रेनेड (RPG) से हमला किया गया. हमले में जान-माल का कोई नुकसान नहीं हुआ. लेकिन, हैरत ये है कि इस्तेमाल किए गए ग्रेनेड के लिंक रूस और बुल्गारिया से जुड़ रहे हैं. कैसे समझते हैं?

साल 2016 में रूस के एक छोटे से गांव में आधी रात के वक़्त धमाका हुआ था. इस धमाके का मोहाली में हुए धमाके से लेना-देना है. मोहाली पुलिस इंटेलिजेंस हेड क्वार्टर पर जो RPG दागा गया, उसके बचे हुए हिस्से के विजुअल एग्जामिनेशन से चीजें साफ़ होती हैं. संभावना है कि सोवियत रूस के वक़्त का ये हथियार अपनी मैन्युफैक्चरिंग के दशकों बाद हिन्दुस्तान पहुंचा है.

रूस में हुए धमाके से समानता!

इंडिया टुडे से जुड़े अंकित कुमार की एक रिपोर्ट के मुताबिक़ फरवरी 2016 की बात है. रात के डेढ़ बजे के आसपास रूस के एक गांव वोएकोवो (Voeykovo) में बम धमाका हुआ. धमाके की आवाज सुनकर लोग अपने घरों से बाहर निकल आए. स्थानीय न्यूज़ मीडिया की ख़बरों के मुताबिक़, एक घर पर रॉकेट प्रोपेल्ड ग्रेनेड गिरा. घर की खिडकियां टूट गईं. लेकिन धमाके के बाद इस RPG का पिछला हिस्सा सलामत बच गया. अब यहां पर गौर करने वाली बात ये है कि रूस के वोएकोवो गांव और पंजाब के मोहाली में इस्तेमाल हुए दोनों RPG पर एक जैसी मार्किंग है. शुरू के कुछ अल्फ़ा-न्यूमेरिक कैरेक्टर्स बिल्कुल एक ही हैं. तस्वीर में देखिए.

Comparison of markings seen on the projectiles in Mohali, India and Voeykovo, Russia, annotation by Ankit Kumar, India Today
मोहाली और रूस के वोएकोवो में हुए धमाके में इस्तेमाल RPG पर एक जैसी मार्किंग है (फोटो सोर्स- India Today)

लिखावट क्या कहती है?

इंडिया टुडे से जुड़े अंकित कुमार के मुताबिक मोहाली धमाके के बाद जो तस्वीरें आईं, उनमें RPG के बचे हुए पिछले हिस्से पर साफ़ लिखा दिख रहा है- “7/1 TP B/a 13-86-K.” एक ये नंबर और दूसरा इसकी डिजाईन. दोनों ही सोवियत संघ के वक़्त के एंटी-टैंक हथियार RPG-22 “Netto” से मिलते हैं. RPG-22 “Netto” पहली बार साल 1980 में बना था. मोहाली में जो RPG दागा गया, उसकी मार्किंग उस फिलिंग प्लांट की लगती है, जहां इसमें बारूद भरा गया होगा. इसके अलावा मार्किंग का जो तरीका है वो रूस के अपग्रेड किए हुए RPG-7 रॉकेट लॉन्चर के सप्लीमेंट मैन्युअल से भी मेल खाता है.

मार्किंग में जो TP B/a लिखा है, उसके मायने अंग्रेजी में कुछ नहीं निकलते. लेकिन अगर इसे रूसी भाषा से अंग्रेजी में ट्रांसलेट करके देखा जाए तो ये एक बड़ा ख़ास प्रोपेलेंट है जो RPG-22 Netto में इस्तेमाल होता है.

Untitled Design (71)
Untitled Design (71)

TP B/a को अंग्रेजी में ट्रांसलेट करें तो परिणाम में ‘TR V/a आता है. 7/1 TR V/a दरअसल नाइट्रो-सेल्यूलोज़ बेस्ड पाउडर विस्फोटक है जो RPG-22 में इस्तेमाल होता है. जिसमें 7/1 TR,  RPG-22 के 0.7mm व्यास (डायमीटर) के ट्यूबुलर स्ट्रक्चर को दर्शाता है और V/a  ग्रेनेड के अंदर के विस्फोटक की प्रॉपर्टीज़ बताता है.

अब बुल्गारिया RPG-22 बनाता है

मोहाली में ग्रेनेड की डिजाईन और उसमें जिस तरह का एक्स्प्लोसिव इस्तेमाल हुआ, उसे देख कर कहा जा सकता है कि ग्रेनेड लॉन्च करने के लिए बतौर हथियार RPG-22 का ही इस्तेमाल हुआ है. रूस, 1980 के दशक में RPG-22 बनाता था, लेकिन जब और सशक्त एंटी-टैंक हथियारों की जरूरत पड़ी, तो साल 1990 के बाद इनकी मैन्युफैक्चरिंग बंद कर दी गई. हालांकि, बुल्गारिया में आर्सेनल और VMZ नाम की दो कंपनियां अभी भी RPG-22 और इसके कंपोनेंट्स बना रही हैं.

हालांकि, बुल्गारियन प्रोडक्ट्स पर जो मार्किंग होती है वो रूसी प्रोडक्ट्स पर नहीं मिलती. मोहाली वाले RPG में बाकी कैरेक्टर्स का मतलब भी समझ लीजिए. ये कैरेक्टर्स हैं- 13-86-K. इंडिया टुडे से जुड़े अंकित कुमार की रिपोर्ट के मुताबिक़ कस्टमरी मैन्युअल्स में 13 एक यूनिक कोड नंबर या लॉट नंबर है, जो एम्युनिशन के किसी बैच को दर्शाता है. जबकि संभावना है कि 86 इसको बनाए जाने का साल है और K मैन्युफैक्चरिंग, फिलिंग या असेम्बली प्लांट से जुड़ा है.

कुल मिलाकर कहा जा सकता है कि मोहाली में इस्तेमाल हुआ ये RPG असल में सोवियत रूस के समय का RPG-22 ही है. जो कई देशों में एक्सपोर्ट किया गया था. और अभी भी दुनिया भर में कई जगह ये मौजूद है. इस हथियार का इस्तेमाल यूक्रेन, सीरिया और अफ़गानिस्तान वगैरह में भी होते देखा गया है. जिस तरह से लगातार पाकिस्तान से ड्रोन के जरिए पंजाब में हथियार भेजे जाने की खबरें आई हैं, बड़ी संभावना है कि RPG-22 को भी इसी तरह पंजाब लाया गया है. 


पिछला वीडियो देखें: मोहाली में पुलिस बिल्डिंग पर हमला, रॉकेट से दागा ग्रेनेड

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

धान खरीद के मुद्दे पर बीजेपी की नाक में दम करने वाले KCR की कहानी

KCR की बीजेपी से खुन्नस की वजह क्या है?

कौन हैं सीवान के खान ब्रदर्स, जिनसे शहाबुद्दीन की पत्नी को डर लगता है?

सीवान के खान बंधुओं की कहानी, जिन्हें शहाबुद्दीन जैसा दबदबा चाहिए था.

'द्रविड़ ने बहुत नाजुक शब्दों से मुझे धराशायी कर दिया था'

रामचंद्र गुहा की किताब 'क्रिकेट का कॉमनवेल्थ' के कुछ अंश.

पहले स्पाइडरमैन टोबी मैग्वायर की कहानी, जिनका सबसे हिट रोल उनके लिए शाप बन गया

शुद्ध और असली स्पाइडरमैन टोबी मैग्वायर करियर ग्राफ़ बाद में गिरता ही चला गया.

10 साल पहले भी शाहरुख़ का समीर वानखेड़े से सामना हुआ था, समीर ने ठोका था तगड़ा जुर्माना

जगह थी मुंबई एयरपोर्ट. अब दस साल बाद फिर से दोनों का नाम एक साथ सुर्ख़ियों में है.

'स्क्विड गेम' के प्लेयर नंबर 199 'अली' की कहानी, जिनके इंडियन होने ने सीरीज़ में एक्स्ट्रा मज़ा दिया

अली का रोल करने वाले इंडियन एक्टर अनुपम त्रिपाठी का सलमान-शाहरुख़ कनेक्शन क्या है?

IPL का कित्ता ज्ञान है, ये क़्विज़ खेलकर चेक कल्लो!

ईमानदारी से स्कोर भी बताते जाना. हम इंतज़ार करेंगे.

'मनी हाइस्ट' वाले प्रोफेसर की पूरी कहानी, जिनकी पत्नी ने कहा था, 'कभी फेमस नहीं हो पाओगे'

अलवारो मोर्टे ने वेटर तक का काम किया हुआ है. और एक वक्त तो ऐसा था कि बकौल उनके कैंसर से जान जाने वाली थी.

एक्टर शरत सक्सेना की कहानी, जिन्होंने 71 साल की उम्र में ज़बरदस्त बॉडी बनाकर सबको चौंका दिया

हीरो बनने आए शरत सक्सेना कैसे गुंडे का चमचा बनने पर मजबूर हुए?

'भीगे होंठ तेरे' वाले कुणाल गांजावाला आजकल कहाँ हैं?

एक वक़्त इंडस्ट्री में टॉप पर थे कुणाल और उनके गाने पार्टियों की जान हुआ करते थे.