Submit your post

Follow Us

साइंसकारी: दुनिया का सबसे अमीर इंसान पृथ्वी छोड़कर क्यों जा रहा है?

नौकरी से इस्तीफा देने के बाद आप कहां चिल मारने जाएंगे? मेरे जैसा कोई आदमी शिमला-मसूरी-मनाली टाइप की जगह जाएगा. कोई बहुत ही अमीर होगा तो किसी आइलैंड पर चला जाएगा. लेकिन आपको पता है दुनिया का सबसे अमीर आदमी कहां जाने वाला है?

मैं जेफ बेज़ोस की बात कर रहा हूं. वो रिज़ाइन करने के बाद ये दुनिया ही छोड़कर जा रहे हैं. चिंता मत कीजिए, वो कुछ मिनटों के लिए जा रहे हैं. अंतरिक्ष में. लौटकर पृथ्वी पर ही आएंगे. जेफ बेज़ोस ऐमज़ॉन के CEO हैं. दुनिया के रईसों की लिस्ट में टॉप पर पाए जाते हैं. इन्होंने साल 2000 में ब्लू ओरिजिन नाम की एक स्पेस कंपनी शुरू की थी. अब वो इसी कंपनी के स्पेसक्राफ्ट से अंतरिक्ष में कूच करेंगे.

जेफ बेज़ोस. फिलहाल दुनिया का सबसे अमीर आदमी.
जेफ बेज़ोस. फिलहाल दुनिया के सबसे अमीर आदमी हैं.

बेज़ोस ने कहा था कि

‘जब मैं पांच साल का था, तब से अंतरिक्ष में जाने के सपने देख रहा हूं.’

उन्होंने अंतरिक्ष में अपनी गहरी रुचि को इसकी वजह बताया. लेकिन क्या ये उनका असली मकसद है? क्या उन्होंने अपने प्रतिद्वंदी इलॉन मस्क को मात दे दी है? और अंतरिक्ष की इस नई उठा-पटक में भारत कहां खड़ा है? ये सब जानेंगे साइंसकारी के इस एपिसोड में. ये साइंसकारी की एक्सट्रा-क्लास है. जिसमें हम खबरों में बने साइंस के मुद्दों की बात करते हैं. एक्सट्रा-क्लास में आज बात नई स्पेस रेस की. समझाएंगे जेफ बेजोस की स्पेस यात्रा. कहानी सुनाएंगे मस्क और बेज़ोस की रंजिश की.

हम फर्स्ट, हम फर्स्ट – Space Race

जेफ बेज़ोस ने पहले ही ऐलान कर दिया था कि वो 5 जुलाई को ऐमज़ॉन के CEO का पद छोड़ देंगे. और अब ये खबर आई है कि जेफ ये पद छोड़ने के 15 दिन बाद यानी 20 जुलाई को स्पेस में जाने वाले हैं. वो भी अपनी ही कंपनी के स्पेसक्राफ्ट में.

ब्लू ओरिजिन के इस स्पेसक्राफ्ट का नाम है न्यू शेफर्ड. इसका नाम मशहूर अंतरिक्षयात्री एलन शेफर्ड के ऊपर रखा गया है. एलन शेफर्ड अंतरिक्ष में जाने वाले पहले अमरीकी थे. अंतरिक्ष पृथ्वी की सतह से लगभग 100 किलोमीटर ऊपर शुरू होता है. और इस 100 किलोमीटर को लांघने की रेस दोबारा शुरू हो चुकी है.

ये 60 के दशक की बात है, जब अमेरिका और रूस अंतरिक्ष में प्रतिस्पर्धा कर रहे थे. इस प्रतिस्पर्धा को नाम मिला स्पेस रेस. इसमें सबसे पहली बाज़ी रूस ने मारी. अप्रैल 1961 में रूस ने यूरी गागरिन को स्पेस में पहुंचा दिया. गागरिन स्पेस में जाने वाले दुनिया के पहले इंसान बने. अगले महीने यानी मई 1961 में अमेरिका ने ऐलन शेफर्ड को अंतरिक्ष में भेजा.

जेफ के स्पेस में जाने को नई स्पेस रेस की शुरूआत मानी जा रही है.
जेफ बेजोस के स्पेस में जाने को नई स्पेस रेस की शुरूआत माना जा रहा है.

लेकिन ये अमरीका और रूस वाली स्पेस रेस तो कब की खत्म हो गई. अब नई वाली स्पेस रेस का ज़माना है. इस रेस में अरबपति लोग अपनी प्राइवेट कंपनियों को दौड़ा रहे हैं. अब इसी रेस में जेफ बेज़ोस कंपनी के साथ खुद भी दौड़ पड़े हैं. कहा जा रहा है कि बेज़ोस ने इलॉन मस्क को पीछे छोड़ दिया है. ये गैंग्स ऑफ वासेपुर के उस मीमाकांक्षी सीन की याद दिलाता है, जिसमें हांफते हुए पीयूष मिश्रा मनोज बाजपेयी को पछाड़कर कहते हैं. ‘हम फर्स्ट, हम फर्स्ट’.

‘अच्छा चलता हूं, दुआओं में याद रखना’ – Jeff Bezos

जेफ बेज़ोस ने अपनी अंतरिक्ष यात्रा की जानकारी 7 जून को एक इंस्टाग्राम वीडियो के ज़रिए दी. बेज़ोस ने कहा –

‘पृथ्वी को अंतरिक्ष से देखने पर आप बदल जाते है. इस ग्रह के साथ, मानवता के साथ आपका रिश्ता बदल जाता है’.


View this post on Instagram

A post shared by Jeff Bezos (@jeffbezos)

बेज़ोस अकेले अंतरिक्ष में नहीं जा रहे हैं. उन्होंने बताया कि वो अपने बेस्ट फ्रेंड को साथ ले जा रहे हैं. ब्रेस्ट फ्रेंड बोले तो इनके छोटे भाई मार्क बेज़ोस. इनके अलावा 20 जुलाई की इस ट्रिप के लिए ब्लू ओरिजिन एक और सीट की नीलामी कर रही है. फिलहाल इस टिकट की बोली 20 करोड़ रुपए तक पहुंच चुकी है.

न्यू शेफर्ड स्पेसक्राफ्ट 59 फुट लंबा है. ये अंतरिक्षयान यात्रियों को सतह से करीब 100 किलोमीटर ऊपर ले जाएगा. जहां से अंतरिक्ष शुरू होता है. पूरी यात्रा लगभग 11 मिनट की होगी. ये स्पेस-कैप्सूल पूरी तरह प्रेशराइज़्ड होगा, इसलिए यात्रियों को स्पेससूट पहनने की ज़रूरत नहीं होगी.

‘तेरा ध्यान किधर है, ये तेरा हीरो इधर है’

जेफ बेज़ोस ने ऐमज़ॉन से खूब दौलत और शोहरत हासिल की. और साल 2000 में उन्होंने अपनी स्पेस कंपनी ब्लू ओरिजिन की स्थापना की. ब्लू ओरिजिन पिछले छह साल से न्यू शेफर्ड की टेस्टिंग कर रही है. अब तक इसकी कुल 15 टेस्ट फ्लाइट हो चुकी हैं. लेकिन इनमें से किसी भी उड़ान के दौरान इसके अंदर कोई मनुष्य नहीं बैठा था. 20 जुलाई को न्यू शेफर्ड की 16वीं टेस्ट फ्लाइट होगी. और ये ऐसी पहली टेस्ट फ्लाइट होने वाली है, जिसमें कोई आदमी बैठा हो. और ये दुनिया का सबसे अमीर आदमी होगा. इसलिए ये इतनी बड़ी खबर बन गई है.

ब्लू ओरिजन ने पिछले महीने ही ये घोषणा कर दी थी कि लोगों के साथ ये 16वीं टेस्ट फ्लाइट 20 जुलाई को उड़ेगी. 20 जुलाई को अपोलो 11 मून लैंडिंग की सालगिरह होती है. इसी तारीख को पहली बार नील आर्मस्ट्रॉन्ग और बज़ एल्ड्रिन ने चांद पर कदम रखा था. 

चांद पर बज एल्ड्रिन.
चांद पर बज एल्ड्रिन.

जेफ बेज़ोस ने खुद को इस टेस्ट फ्लाइट का हिस्सा बनाकर सबका ध्यान इसकी तरफ खींच लिया है. इसे बड़ा इवेंट बना दिया है. 20 जुलाई को टीवी न्यूज़चैनल टिकर चलाएंगे –

‘दुनिया छोड़कर चले गए जेफ बेज़ोस.’

‘सबने खो दिए होश, अंतरिक्ष चले जेफ बेज़ोस.’

टिप्पणीकारों का कहना है कि ऐसा करके जेफ बेज़ोस ने अपने स्पेस रेस रक़ीब इलॉन मस्क को पीछे छोड़ दिया है. इस बात में कितना दिम है? ये जानने के लिए इलॉन मस्क की कंपनी स्पेस-एक्स का ट्रैक रिकॉर्ड देखना होगा.

रंजिश ही सही, रेस लगाने के लिए आ

स्पेस-एक्स और ब्लू ओरिजिन की रेस बहुत पुरानी है. कोई थोड़ा भी स्पेस फॉलो करता है, वो बता देगा कि स्पेस-एक्स ब्लू ओरिजिन से बहुत आगे है. 2002 में स्पेस-एक्स की शुरुआत हुई. इसके फाउंडर इलॉन मस्क ने मंगल ग्रह पर इंसानी बस्ती बसाने का सपना लेकर इसकी स्थापना की. शुरुआती सालों में स्पेस-एक्स को निराशा हाथ लगी. लगातार रॉकेट लॉन्च फेलियर्स से 2008 में एक ऐसा वक्त आया, जब कंपनी बंद होने की कगार पर आ गई. लेकिन इसी साल 2008 में स्पेस-एक्स के रॉकेट फैल्कन-1 को पहली बार सफलतापूर्वक अर्थ ऑर्बिट में पहुंचा दिया गया.

दिसंबर 2008 में स्पेस-एक्स को नासा की तरफ से 1.5 अरब डॉलर का कॉन्ट्रैक्ट मिला. स्पेस-एक्स ने अंतरिक्ष में मौजूद इंटरनेशन स्पेस स्टेशन में नासा का सामान डिलीवर करना शुरू कर दिया. दिसंबर 2015 में स्पेस-एक्स के रॉकेट फैल्कन-9 को लॉन्च के बाद सफलतापूर्वक पृथ्वी पर लैंड कराया गया. ये ऐतिहासिक लम्हा था. स्पेस-एक्स लॉन्च के बाद रॉकेट लैंड कराने वाली पहली कंपनी बनी. इससे पहले, रॉकेट समुद्र में कुदा दिए जाते थे. बर्बाद हो जाते थे. लेकिन स्पेस-एक्स रीयूज़ेबल रॉकेट टेक्नोलॉजी लेकर आई. और उन्हें रॉकेट लॉन्च में होने वाले खर्च में भारी बचत होने लगी.

एलन मस्क. स्पेसएक्स के फाउंडर और सीईओ.
एलन मस्क. स्पेस-एक्स के फाउंडर और सीईओ.

मई 2020 में स्पेस-एक्स नासा के दो ऐस्ट्रोनॉट्स को अंतरिक्ष में मौजूद इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन लेकर गई. स्पेस-एक्स किसी मनुष्य को अंतरिक्ष में ले जाने वाली दुनिया की पहली प्राइवेट कंपनी बनी. इसके बाद स्पेस-एक्स और नासा के बीच एक कॉन्ट्रैक्ट साइन हुआ. अब स्पेस-एक्स नासा का सामान और लोग अक्सर स्पेस स्टेशन ले जाती रहती है. और इसके लिए उन्हें नासा से खूब सारा पइसा मिलता है.

ब्लू ओरिजिन नासा के साथ डील करने के लिए स्पेस-एक्स के साथ प्रतिस्पर्धा करती आ रही है. लेकिन स्पेस-एक्स हमेशा बाज़ी मार ले जाती है.

नासा का दोबारा चांद पर मनुष्य भेजने का प्लान है. और इसमें प्राइवेट कंपनियां भी नासा की मदद करेंगी. अप्रैल 2021 में नासा ने अपना लूनर लैंडर बनाने का कॉन्ट्रैक्ट स्पेस-एक्स को दिया. ब्लू ओरिजिन समेत दूसरी प्राइवेट कंपनियों ने इस कॉन्ट्रैक्ट का खुला विरोध किया. उनका एक्सप्रैशन इस टाइप का था –

‘बहुत तकलीफ होती है, जब आप योग्य हो और लोग आपकी योग्यता को ना पहचाने.’

मुन्ना भैया कहे थे. मिर्ज़ापुर में
मुन्ना भैया कहे थे. मिर्ज़ापुर में

नासा ने फिलहाल ये कॉन्ट्रैक्ट सस्पेंड कर दिया है. और इस पर जांच बिठा दी गई है. स्पेस-एक्स अपने धांसू स्टारशिप की टेस्टिंग भी कर रहा है. मस्क का दावा है ये स्टारशिप आगे चलकर वो स्पेक्राफ्ट बनेगा, जो मनुष्यों को मंगल ग्रह पर लेकर जाएगा. और वहां इंसानी बस्ती बसाने में अहम भूमिका निभाएगा.

इस नई स्पेस रेस में मस्क और बेज़ोस के अलावा एक और अरबपति का नाम चर्चा में रहता है. रिचर्ड ब्रैनसन. इनकी स्पेस कंपनी का नाम है वर्जिन गैलेक्टिक. रिचर्ड ब्रैनसन बहुत पहले से कहते आ रहे हैं कि वर्जिन गैलेक्टिक के जहाज़ में वो सबसे पहले बैठकर अंतरिक्ष में जाएंगे. लेकिन उनका प्लान भी लेट होता नज़र आ रहा है. ऐसी उम्मीद है कि 2021 के अंत तक शायद वो स्पेस में जा पाएंगे.

मस्क और बेज़ोस की तलखी

हमारे जबलपुरिया लहज़े में कहें तो मस्क और बेज़ोस की हमेशा से फंसी रही है. मस्क कई बार सार्वजनिक मंच पर बेज़ोस की बेअदबी करते देखे गए हैं. अपने एक ट्वीव में इलॉन मस्क ने लिखा था

जेफ बेज़ोस एक नकलची बिल्ली हैं. हाहा.

एक इंटरव्यू में जब इलॉन मस्क से जेफ बेज़ोस के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा – ‘जेफ कौन?’
यहां बेज़ोस को लगा होगा, ‘गजब बेज्जती है यार!’. खैर इनके लफड़े को लेकर आप यूट्यूब पर खोजने जाएंगे तो बहुत कुछ मिल जाएगा.


इनकी बात कभी और. फिलहाल अपनी बात. इंडिया का मैन्ड-स्पेस फ्लाइट को लेकर क्या प्लान है.

‘तेरा खून कब खौलेगा रे फैज़ल?’

ऑनेस्टली, खुलकर बात की जाए तो इंडिया मैन्ड स्पेस फ्लाइट (अंतरिक्ष में मनुष्य भेजने) को लेकर इस रेस में काफी पीछे है. भारत से अंतरिक्ष में जाने वाले पहले और इकलौते शख्स राकेश शर्मा थे. उन्हें रूस के स्पेसक्राफ्ट में भेजा गया था.

राकेश शर्मा, कल्पना चावला और सुनीता विलियम्स
राकेश शर्मा, कल्पना चावला और सुनीता विलियम्स

इनके अलावा, भारतीय मूल के ऐस्ट्रोनॉट्स में कल्पना चावला और सुनीता विलियम्स का नाम है. लेकिन ये भारतीय स्पेस मिशन्स से अंतरिक्ष में नहीं गए थे. इन्हें नासा ने भेजा था. एक और भारतीय मूल के ऐस्ट्रोनॉट का नाम आजकल सुर्खियों में बना रहता है. राजा चारी. राजा के पिता भारतीय मूल के थे. इन्हें नासा ने अपने मून मिशन के लिए शॉर्टलिस्ट किया है. भारत का अपना पहला मैन्ड स्पेस मिशन ‘गगनयान’ होगा. गगनयान की पहली टेस्ट फ्लाइट दिसंबर 2021 में होने की संभावना है. और दूसरी टेस्ट फ्लाइट 2022-23 में की जाएगी. इन दोनों टेस्ट फ्लाइट में कोई मनुष्य बैठकर नहीं जाएगा. इनके सफल होने के बाद ही किसी मनुष्य को इनमें बिठाकर देखा जाएगा.

भारत गगनयान के जरिेए पहली बार किसी इंसान को स्पेस में भेजेगा.
भारत गगनयान के जरिेए पहली बार किसी इंसान को स्पेस में भेजेगा.

कोविड महामारी के चलते मिशन गगनयान के थोड़ा और लेट होने की आशंका भी है. भारत ने भी पिछले साल स्पेस सेक्टर में प्राइवेट कंपनियों को मंज़ूरी दे दी थी. ताकि ये कंपनियां इसरो के साथ मिलकर देश को अंतरिक्ष में मज़बूती से स्थापित कर सकें.


साइंसकारी: मेडिकल ऑक्सीजन बनाने के 3 प्रमुख तरीके कौन से हैं, आसान भाषा में समझ लीजिए!

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

'तड़प-तड़प के' जैसा प्रेमियों का ब्रेकअप एंथम देने वाले सिंगर के के आजकल कहां हैं?

'तड़प-तड़प के' जैसा प्रेमियों का ब्रेकअप एंथम देने वाले सिंगर के के आजकल कहां हैं?

उनके गाए 'पल' गाने के बगैर आज भी किसी कॉलेज का फेयरवेल पूरा नहीं होता.

कर लिया योगा? अब क्विज खेलने से होगा

कर लिया योगा? अब क्विज खेलने से होगा

आन्हां, ऐसे नहीं कि योग बस किए, दिखाना पड़ेगा कि बुद्धिबल कित्ता बढ़ा.

तमिल जनता आखिर क्यों कर रही है 'फैमिली मैन-2' का विरोध, क्या है LTTE की पूरी कहानी?

तमिल जनता आखिर क्यों कर रही है 'फैमिली मैन-2' का विरोध, क्या है LTTE की पूरी कहानी?

जब ट्रेलर आया था, तबसे लगातार विरोध जारी है.

माधुरी से डायरेक्ट बोलो 'हम आपके हैं फैन'

माधुरी से डायरेक्ट बोलो 'हम आपके हैं फैन'

आज जानते हो किसका हैप्पी बड्डे है? माधुरी दीक्षित का. अपन आपका फैन मीटर जांचेंगे. ये क्विज खेलो.

जिन मीम्स को सोशल मीडिया पर शेयर कर चौड़े होते हैं, उनका इतिहास तो जान लीजिए

जिन मीम्स को सोशल मीडिया पर शेयर कर चौड़े होते हैं, उनका इतिहास तो जान लीजिए

कौन सा था वो पहला मीम जो इत्तेफाक से दुनिया में आया?

पार्टियों को चुनाव निशान के आधार पर पहचानते हैं आप?

पार्टियों को चुनाव निशान के आधार पर पहचानते हैं आप?

चुनावी माहौल में क्विज़ खेलिए और बताइए कितना स्कोर हुआ.

लगातार दो फिफ्टी मारने वाले कोहली ने अब कहां झंडे गाड़ दिए?

लगातार दो फिफ्टी मारने वाले कोहली ने अब कहां झंडे गाड़ दिए?

राहुल के साथ यहां भी गड़बड़ हो गई.

रोहित शेट्टी के ऊपर ऐसी कड़क Quiz और कहां पाओगे?

रोहित शेट्टी के ऊपर ऐसी कड़क Quiz और कहां पाओगे?

14 मार्च को बड्डे होता है. ये तो सब जानते हैं, और क्या जानते हो आके बताओ. अरे आओ तो.

आमिर पर अगर ये क्विज़ नहीं खेला तो दोगुना लगान देना पड़ेगा

आमिर पर अगर ये क्विज़ नहीं खेला तो दोगुना लगान देना पड़ेगा

म्हारा आमिर, सारुक-सलमान से कम है के?

परफेक्शनिस्ट आमिर पर क्विज़ खेलो और साबित करो कितने जाबड़ फैन हो

परफेक्शनिस्ट आमिर पर क्विज़ खेलो और साबित करो कितने जाबड़ फैन हो

आज आमिर खान का हैप्पी बड्डे है. कित्ता मालूम है उनके बारे में?