Submit your post

Follow Us

एक कविता रोज़ में कात्यायनी की कविता - हॉकी खेलती लड़कियां

दी लल्लनटॉप का कविताओं से जुड़ा कार्यक्रम जिसका नाम है ‘एक कविता रोज़’. अभी हाल ही में टोक्यो ओलंपिक्स में महिला स्पोर्ट्सपर्सन्स ने हमारे देश का सिर ऊंचा किया. चाहे वो पीवी सिंधु हों, लवलीना बोरगोहेन या महिला हॉकी टीम, सभी ने जी-जान से मेहनत की. इसी सिलसिले में आज पढ़िए एक कविता जिसका शीर्षक है – हॉकी खेलती लड़कियां.

इसे लिखा है कात्यायनी ने जो पिछले 24 वर्षों से विभिन्न पत्र-पत्रिकाओं में राजनीतिक-सामाजिक-सांस्कृतिक विषयों पर स्वतंत्र लेखन करती रही हैं. इसके अलावा उन्होंने कुछ वर्षों तक बड़े हिंदी अखबारों में भी काम किया.

एक कविता रोज़ में कात्यायनी की कविता –

 

हॉकी खेलती लड़कियां

आज शुक्रवार का दिन है
और इस छोटे से शहर की ये लड़कियां
खेल रही हैं हॉकी.
खुश हैं लड़कियां
फिलहाल
खेल रही हैं हॉकी
कोई डर नहीं.

बॉल के साथ दौड़ती हुई
हाथों में साधे स्टिक
वे हरी घास पर तैरती हैं
चूल्हे की आंच से
मूसल की धमक से
दौड़ती हुई
बहुत दूर आ जाती हैं.

वहां इन्तज़ार कर रहे हैं
उन्हें देखने आए हुए वर पक्ष के लोग
वहां अम्मा बैठी राह तकती है
कि बेटियां आएं तो
सन्तोषी माता की कथा सुनाएं
और
वे अपना व्रत तोड़ें.

वहां बाबूजी प्रतीक्षा कर रहे हैं
दफ़्तर से लौटकर
पकौड़ी और चाय की
वहां भाई घूम-घूम कर लौट आ रहा है
चौराहे से
जहां खड़े हैं मुहल्ले के शोहदे
रोज़ की तरह
लड़कियां हैं कि हॉकी खेल रही हैं.

लड़कियां
पेनाल्टी कॉर्नर मार रही हैं
लड़कियां
पास दे रही हैं
लड़कियां
‘गो…ल- गो…ल’ चिल्लाती हुई
बीच मैदान की ओर भाग रही हैं.
लड़कियां
एक-दूसरे पर ढह रही हैं
एक-दूसरे को चूम रही हैं
और हंस रही हैं.

लड़कियां फाउल खेल रही हैं
लड़कियों को चेतावनी दी जा रही है
और वे हंस रही हैं
कि यह ज़िन्दगी नहीं है
— इस बात से निश्चिंत हैं लड़कियां
हंस रही हैं
रेफ़री की चेतावनी पर.

लड़कियां
बारिश के बाद की
नम घास पर फिसल रही हैं
और गिर रही हैं
और उठ रही हैं

वे लहरा रही हैं
चमक रही हैं
और मैदान के अलग-अलग मोर्चों में
रह-रहकर उमड़-घुमड़ रही हैं.

वे चीख़ रही हैं
सीटी मार रही हैं
और बिना रुके भाग रही हैं
एक छोर से दूसरे छोर तक.

उनकी पुष्ट टांगें चमक रही हैं
नृत्य की लयबद्ध गति के साथ
और लड़कियां हैं कि निर्द्वन्द्व निश्चिन्त हैं
बिना यह सोचे कि
मुंह दिखाई की रस्म करते समय
सास क्या सोचेगी.

इसी तरह खेलती रहती लड़कियां
निस्संकोच-निर्भीक
दौड़ती-भागती और हंसती रहतीं
इसी तरह
और हम देखते रहते उन्हें.

पर शाम है कि होगी ही
रेफ़री है कि बाज नहीं आएगा
सीटी बजाने से
और स्टिक लटकाए हाथों में
एक भीषण जंग से निपटने की
तैयारी करती लड़कियां लौटेंगी घर.

अगर ऐसा न हो तो
समय रुक जाएगा
इन्द्र-मरुत-वरुण सब कुपित हो जाएंगे
वज्रपात हो जाएगा, चक्रवात आ जाएगा
घर पर बैठे
देखने आए वर पक्ष के लोग
पैर पटकते चले जाएंगे
बाबूजी घुस आएंगे गरज़ते हुए मैदान में
भाई दौड़ता हुआ आएगा
और झोंट पकड़कर घसीट ले जाएगा
अम्मा कोसेगी —
‘किस घड़ी में पैदा किया था
ऐसी कुलच्छनी बेटी को !’
बाबूजी चीख़ेंगे —
‘सब तुम्हारा बिगाड़ा हुआ है !’
घर फिर एक अंधेरे में डूब जाएगा
सब सो जाएंगे
लड़कियां घूरेंगी अंधेरे में
खटिया पर चित्त लेटी हुईं
अम्मा की लम्बी सांसें सुनतीं
इन्तज़ार करती हुईं
कि अभी वे आकर उनका सिर सहलाएंगी
सो जाएंगी लड़कियां
सपने में दौड़ती हुई बॉल के पीछे
स्टिक को साधे हुए हाथों में
पृथ्वी के छोर पर पहुंच जाएंगी
और ‘गोल-गोल’ चिल्लाती हुईं
एक दूसरे को चूमती हुईं
लिपटकर धरती पर गिर जाएंगी !


वीडियो – एक कविता रोज़ में सुनिए अनुराग अनंत की कविता – अनुवाद

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

10 साल पहले भी शाहरुख़ का समीर वानखेड़े से सामना हुआ था, समीर ने ठोका था तगड़ा जुर्माना

10 साल पहले भी शाहरुख़ का समीर वानखेड़े से सामना हुआ था, समीर ने ठोका था तगड़ा जुर्माना

जगह थी मुंबई एयरपोर्ट. अब दस साल बाद फिर से दोनों का नाम एक साथ सुर्ख़ियों में है.

'स्क्विड गेम' के प्लेयर नंबर 199 'अली' की कहानी, जिनके इंडियन होने ने सीरीज़ में एक्स्ट्रा मज़ा दिया

'स्क्विड गेम' के प्लेयर नंबर 199 'अली' की कहानी, जिनके इंडियन होने ने सीरीज़ में एक्स्ट्रा मज़ा दिया

अली का रोल करने वाले इंडियन एक्टर अनुपम त्रिपाठी का सलमान-शाहरुख़ कनेक्शन क्या है?

IPL का कित्ता ज्ञान है, ये क़्विज़ खेलकर चेक कल्लो!

IPL का कित्ता ज्ञान है, ये क़्विज़ खेलकर चेक कल्लो!

ईमानदारी से स्कोर भी बताते जाना. हम इंतज़ार करेंगे.

'मनी हाइस्ट' वाले प्रोफेसर की पूरी कहानी, जिनकी पत्नी ने कहा था, 'कभी फेमस नहीं हो पाओगे'

'मनी हाइस्ट' वाले प्रोफेसर की पूरी कहानी, जिनकी पत्नी ने कहा था, 'कभी फेमस नहीं हो पाओगे'

अलवारो मोर्टे ने वेटर तक का काम किया हुआ है. और एक वक्त तो ऐसा था कि बकौल उनके कैंसर से जान जाने वाली थी.

एक्टर शरत सक्सेना की कहानी, जिन्होंने 71 साल की उम्र में ज़बरदस्त बॉडी बनाकर सबको चौंका दिया

एक्टर शरत सक्सेना की कहानी, जिन्होंने 71 साल की उम्र में ज़बरदस्त बॉडी बनाकर सबको चौंका दिया

हीरो बनने आए शरत सक्सेना कैसे गुंडे का चमचा बनने पर मजबूर हुए?

'भीगे होंठ तेरे' वाले कुणाल गांजावाला आजकल कहाँ हैं?

'भीगे होंठ तेरे' वाले कुणाल गांजावाला आजकल कहाँ हैं?

एक वक़्त इंडस्ट्री में टॉप पर थे कुणाल और उनके गाने पार्टियों की जान हुआ करते थे.

राज कुंद्रा की पूरी कहानी, 18 की उम्र में शॉल बेचने से शुरुआत करने वाले राज यहां तक कैसे पहुंचे?

राज कुंद्रा की पूरी कहानी, 18 की उम्र में शॉल बेचने से शुरुआत करने वाले राज यहां तक कैसे पहुंचे?

IPL स्कैंडल, मॉडल्स के आरोप, अंडरवर्ल्ड कनेक्शंस के आरोप, एक्स वाइफ के इल्ज़ाम सब हैं इस कहानी में.

रिचर्ड ब्रैनसन: जिन्होंने पहले अंतरिक्ष के दर्शन करके जेफ बेजोस का मजा खराब कर दिया

रिचर्ड ब्रैनसन: जिन्होंने पहले अंतरिक्ष के दर्शन करके जेफ बेजोस का मजा खराब कर दिया

रिचर्ड ब्रेन्सन की कहानी, जहां भी गए तहलका मचा दिया.

'सिंघम' IPS से तमिलनाडु BJP के सबसे युवा अध्यक्ष बने अन्नामलाई की कहानी

'सिंघम' IPS से तमिलनाडु BJP के सबसे युवा अध्यक्ष बने अन्नामलाई की कहानी

पहला चुनाव हार गए थे, बीजेपी ने राज्य की जिम्मेदारी सौंपी है.

'तड़प-तड़प के' जैसा प्रेमियों का ब्रेकअप एंथम देने वाले सिंगर के के आजकल कहां हैं?

'तड़प-तड़प के' जैसा प्रेमियों का ब्रेकअप एंथम देने वाले सिंगर के के आजकल कहां हैं?

उनके गाए 'पल' गाने के बगैर आज भी किसी कॉलेज का फेयरवेल पूरा नहीं होता.