Submit your post

Follow Us

हरियाणा में सरकार बनवाने वाले गोपाल कांडा ने 10 साल पहले भी यही किया था

सोशल मीडिया पर एक तस्वीर वायरल हुई. प्राइवेट प्लेन में कुछ लोग बैठे हैं. कौन हैं? हरियाणा चुनाव में रानियां से जीतने वाले निर्दलीय उम्मीदवार रणजीत सिंह चौटाला, हरियाणा के सिरसा से बीजेपी सांसद सुनीता दुग्गल और है एक पुराना क़ारोबारी. गोपाल कांडा. अब सिरसा से माननीय विधायक गोपाल कांडा. नब्बे के दशक की शुरुआत में रेडियो रिपेयर की दुकान चलाने वाले गोपाल कांडा. हवाई तरंगो के इस क़ारोबार से हवाई जहाज़ तक. चमड़े के क़ारोबार से कैसीनो तक. और अब हरियाणा की नई सरकार में नींव की 6 ज़रूरी ईंटों में से पहली ईंट. हरियाणा में भाजपा सरकार बनाने से 6 विधायक दूर थी. हरियाणा विधानसभा में 90 सीटें हैं और बहुमत के लिए 46 सीटों की जरूरत है. सबसे पहले सिरसा के नए विधायक गोपाल कांडा भाजपा की झोली में गिरे. दिल्ली जा रहा ये प्राइवेट प्लेन नींव की ईंटें लिए उड़ा जा रहा था.

यही तस्वीर वायरल हुई है
यही तस्वीर वायरल हुई है

हरियाणा और महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के गुरुवार 24 अक्टूबर को आए नतीजों की चर्चा के बीच देर रात गोपाल कांडा चर्चा में आ गए. एक वक़्त विवादों में रहे हरियाणा के पूर्व मंत्री कांडा का नाम सोशल मीडिया के टॉप ट्रेंड बन गया. लेकिन इसके पीछे वजह है.

# क्या वजह है?

गोपाल कांडा ‘हरियाणा लोकहित पार्टी’ से चुनावी मैदान में थे. महाराष्ट्र में तो भाजपा और शिवसेना के गठबंधन को स्पष्ट बहुमत मिल गया लेकिन हरियाणा में किसी भी दल को बहुमत नहीं मिल पाया. ऐसे में सभी की नज़रें निर्दलीय उम्मीदवारों को तौलने लगीं. हरियाणा में 2014 से भाजपा सरकार थी. लेकिन मुख्यमंत्री खट्टर के मंत्री खरे उतर नहीं पाए.

कांडा के कांड पुराने हैं
कांडा के कांड पुराने हैं

कांडा के अब चर्चा में आने की कहानी दस साल पहले से शुरू होती है. इस कहानी में एक कॉमन नंबर है. 40. कैसे? बताते हैं.

साल था 2009. हरियाणा में बाहुबली और रॉबिनहुड की इमेज बना चुके गोपाल कांडा चुनाव लड़ना चाहते थे. गोपाल कांडा टिकट मांगने इनेलो के पास गए. लेकिन कांडा के ही चाल चरित्र ने अड़ंगा फंसा दिया. गोपाल कांडा मन बना चुके थे. सिरसा से निर्दलीय चुनाव में कूदे. तारा बाबा ट्रस्ट के मुखिया थे कांडा. और सिरसा में तारा बाबा के भक्त भरे पड़े थे. गोपाल चुनाव जीत गए. लेकिन कांग्रेस ठीक उसी आंकड़े पर आकर अटकी जहां आज भाजपा अटकी हुई है. 40. नींव में 6 ईंटें कम पड़ रही थीं. कांडा पुराने क़ारोबारी थे. बाक़ी निर्दलीय उम्मीदवारों ने जो भी वसूला हो, कांडा को पैसा नहीं चाहिए था. कांडा ने पद वसूला. वो पद जिसके बारे में कांडा तो क्या कोई और भी नहीं सोच सकता था. कांडा नई हुड्डा सरकार में गृह राज्यमंत्री बने. अब जब चमचमाती गाड़ी पर लाल बत्ती लगी और हरियाणे की पुलिस सलाम ठोंकने लगी तो कांडा की ताक़त मचलने लगी. सरकार बनने के अगले साल ही कांडा की गाड़ी में एक गैंग रेप हुआ. हुड्डा करना तो बहुत कुछ चाहते थे लेकिन गोपाल कांडा के गुर्गों को जेल भेजकर संतोष करना पड़ा. उसके अगले साल 2011 में क्रिकेटर अतुल वासन की कार ने कांडा के काफ़िले को ओवरटेक कर लिया. कांडा के लोगों ने वासन को बाउंड्री पार पहुंचा दिया. जम के धुना. मंत्री जी पर फिर भी कोई आंच आई नहीं. मुख्यमंत्री हुड्डा को कांडा की तरफ़ से आंख बंद रखने का फ़रमान ख़ुद कांडा ने लिखा था.

और फिर कांडा का नाम जिस मामले में सामने आया, उसे देखना सीएम हुड्डा की मजबूरी थी.

बाएं हैं गीतिका शर्मा और दाएं हैं गोपाल कांडा
बाएं हैं गीतिका शर्मा और दाएं हैं गोपाल कांडा

# गीतिका शर्मा सुसाइड केस

5 अगस्त 2012 को दिल्ली में एक लड़की ने सुसाइड कर लिया. गीतिका शर्मा की लाश उसके घर में फंदे से झूलती मिली. ये आत्महत्या भी देश में होने वाली बाक़ी आत्महत्याओं की तरह छोटी सी ख़बर बनकर रह जाती लेकिन एक चिट्ठी ने इसे छोटा रहने नहीं दिया. गीतिका की लाश के पास से एक सुसाइड नोट मिला. चिट्ठी में लिखा था कि गोपाल कांडा ने गीतिका का ‘ग़लत इस्तेमाल’ किया है और इसी वजह से वो आत्महत्या कर रही है.

चिट्ठी में हरियाणा के गृह राज्य मंत्री गोपाल कांडा का नाम था. कांडा के ख़िलाफ़ ‘आत्महत्या के लिए उकसाने’ का मामला दर्ज हुआ. 7 अगस्त को कांडा ने इस मामले से पल्ला झाड़ लिया.

लेकिन गीतिका सुसाइड केस के तार जुड़े थे MDLR एयरलाइन से. ये एयरलाइन बनी थी 2007 में. गोपाल गोयल ने अपने एडवोकेट पिता मुरलीधर लखराम के नाम पर एमडीएलआर नाम की हवाई सेवा शुरू की थी. पर तब तक सरकारी एजेंसियों ने गोपाल कांडा की तरक्की नोट कर ली थी. एमडीएलआर एयरलाइंस के बही-खातों में सही-गलत के हिसाब इस कदर खराब थे के कांडा के हवाई सपने हवा हो गए. बमुश्किल दो साल चलने के बाद एयरलाइन ज़मीन पर थी और कांडा नई ज़मीन की तलाश में दूसरे धंधों की तरफ़ निकल लिए.

गीतिका इसी एयरलाइन में एयर होस्टेस हुआ करती थी. यहीं से गीतिका और कांडा के रिश्ते शुरू हुए थे. कुछ वक़्त गुज़रा और गीतिका सउदी जाकर रहने लगी. कांडा से अलग. लेकिन बताते हैं कि वहां जाकर कांडा और MDLR की अरुणा चड्ढा उसे वापस दिल्ली लाए.

गीतिका शर्मा सुसाइड केस में कांडा की तलाश शुरू हुई. कांडा ने अग्रिम ज़मानत याचिका डाली. याचिका खारिज़ हो गई. 18 अगस्त 2012 को कांडा ने अशोक विहार पुलिस स्टेशन में सरेंडर कर दिया. 27 मई 2013 को सुनवाई शुरू हुई. 5 सितंबर 2013 को कांडा की अंतरिम ज़मानत मंज़ूर हो गई. MDLR एयर लाइन में काम करने वाली अरुणा चड्ढा भी कांडा के साथ इस केस में आरोपी थी. इसकी भी ज़मानत 10 फरवरी 2013 को मंज़ूर हो गई. गीतिका के परिवार ने कहा कि ‘इंसाफ़ की हार हुई है, जिन लोगों ने हमारी बेटी को मार डाला वो आज़ाद हो गए’. 15 फरवरी 2013 को गीतिका शर्मा की मां ने सुसाइड कर लिया. 4 मार्च 2014 को गीतिका शर्मा सुसाइड केस में गोपाल कांडा को ज़मानत मिल गई.

इस तरह के ढेरों पोस्ट वायरल हुए जिसमें भाजपा के लोग गीतिका शर्मा को इंसाफ़ दिलाने के लिए सड़क पर उतरे थे
इस तरह के ढेरों पोस्ट वायरल हुए जिसमें भाजपा के लोग गीतिका शर्मा को इंसाफ़ दिलाने के लिए सड़क पर उतरे थे

# बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ वाली भाजपा

प्राइवेट प्लेन में बैठकर दिल्ली में ‘बातचीत’ के लिए जाते गोपाल गोयल कांडा की तस्वीर वायरल हुई. लेकिन इसी के साथ और तस्वीरें भी वायरल हो रही हैं. गोपाल कांडा का नाम जब गीतिका शर्मा केस में आया. तब भाजपा गीतिका शर्मा को इंसाफ़ दिलाने सड़कों पर उतरी थी. सितंबर 2013 में अनिल विज तब विधायक थे. हरियाणा विधान सभा में हंगामा मचा रहे थे. मार्शल इन्हें लेकर बाहर जा रहे थे. तब अनिल विज ने कांडा की तरफ़ उंगली दिखाकर कहा था ‘इसको बाहर क्यों नहीं निकालते?’

2012 में कृष्ण पाल गुर्जर जो कि तब हरियाणा के प्रदेश अध्यक्ष थे उन्होंने कहा कि कांडा पर जांच होनी चाहिए और हम मांग करते हैं कि कांडा को विधान सभा से बाहर निकाला जाए. 16 अगस्त 2012 को तब के दिल्ली भाजपा अध्यक्ष विजेंदर गुप्ता ने बयान दिया कि ‘गीतिका शर्मा सुसाइड के दस दिन बाद तक दिल्ली पुलिस कांडा को गिरफ़्तार क्यों नहीं कर पाई? क्या सिर्फ़ इसलिए क्योंकि हरियाणा सरकार का ये मंत्री बेहद प्रभावशाली है?

हरियाणा भाजपा महिला मोर्चा की 2012 अध्यक्ष रेनू शर्मा ने भी कांडा के ख़िलाफ़ जबरदस्त मोर्चा निकाला और कांडा को गिरफ़्तार करने की मांग की. अब उमा भारती ने गोपाल कांडा पर कई ट्वीट किए हैं. कहा है कि ‘गोपाल कांडा बेक़सूर है या अपराधी, यह तो क़ानून साक्ष्यों के आधार पर तय करेगा, किंतु उसका चुनाव जीतना उसे अपराधों से बरी नहीं करता. चुनाव जीतने के बहुत सारे फैक्टर होते हैं. हरियाणा में हमारी सरकार ज़रूर बने, लेकिन यह तय करिए कि जैसे भाजपा के कार्यकर्ता साफ़-सुथरे ज़िंदगी के होते हैं, हमारे साथ वैसे ही लोग हों.’

और जब बवाल बढ़ा तो इसका पटाक्षेप भी हुआ. बीजेपी ने गोपाल कांडा से पल्ला झाड़ लिया. वजह ये कि जेजेपी के मुखिया दुष्यंत चौटाला ने बीजेपी का समर्थन कर दिया. बीजेपी के पास पहले से 40 सीटें थीं. 10 विधायक लेकर दुष्यंत आ गए, तो बीजेपी को ना तो निर्दलियों की ज़रूरत थी और ना ही गोपाल कांडा की. और फिर गोपाल कांडा किनारे लगा दिए गए.


ये भी देखें:

हरियाणा-महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव नतीजों के बाद बीजेपी के आगे ‘सीटों’ का पेंच फंसा, अब क्या होगा?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

क्विज़: नुसरत फतेह अली खान को दिल से सुना है, तो इन सवालों का जवाब दो

क्विज़: नुसरत फतेह अली खान को दिल से सुना है, तो इन सवालों का जवाब दो

आज बड्डे है.

ये क्विज जीत नहीं पाए तो तुम्हारा बचपन बेकार गया

ये क्विज जीत नहीं पाए तो तुम्हारा बचपन बेकार गया

आज कार्टून नेटवर्क का हैपी बड्डे है.

रणबीर कपूर की मम्मी उन्हें किस नाम से बुलाती हैं?

रणबीर कपूर की मम्मी उन्हें किस नाम से बुलाती हैं?

आज यानी 28 सितंबर को उनका जन्मदिन होता है. खेलिए क्विज.

करीना कपूर के फैन हो तो इ वाला क्विज खेल के दिखाओ जरा

करीना कपूर के फैन हो तो इ वाला क्विज खेल के दिखाओ जरा

बेबो वो बेबो. क्विज उसकी खेलो. सवाल हम लिख लाए. गलत जवाब देकर डांट झेलो.

रवनीत सिंह बिट्टू, कांग्रेस का वो सांसद जिसने एक केंद्रीय मंत्री के इस्तीफे का प्लॉट तैयार कर दिया!

रवनीत सिंह बिट्टू, कांग्रेस का वो सांसद जिसने एक केंद्रीय मंत्री के इस्तीफे का प्लॉट तैयार कर दिया!

17 सितंबर को किसानों के मुद्दे पर बिट्टू ऐसा बोल गए कि सियासत में हलचल मच गई.

मोदी जी का बड्डे मना लिया? अब क्विज़ खेलकर देखो उनको कितना जानते हो मितरों

मोदी जी का बड्डे मना लिया? अब क्विज़ खेलकर देखो उनको कितना जानते हो मितरों

अच्छे नंबर चइये कि नइ चइये?

KBC में करोड़पति बनाने वाले इन सवालों का जवाब जानते हो कि नहीं, यहां चेक कर लो

KBC में करोड़पति बनाने वाले इन सवालों का जवाब जानते हो कि नहीं, यहां चेक कर लो

करोड़पति बनने का हुनर चेक कल्लो.

विधायक विजय मिश्रा, जिन्हें यूपी पुलिस लाने लगी तो बेटियां बोलीं- गाड़ी नहीं पलटनी चाहिए

विधायक विजय मिश्रा, जिन्हें यूपी पुलिस लाने लगी तो बेटियां बोलीं- गाड़ी नहीं पलटनी चाहिए

चलिए, विधायक जी की कन्नी-काटी जानते हैं.

नेशनल हैंडलूम डे: और ये है चित्र देखो, साड़ी पहचानो वाली क्विज

नेशनल हैंडलूम डे: और ये है चित्र देखो, साड़ी पहचानो वाली क्विज

कभी सोचा नहीं होगा कि लल्लन साड़ियों पर भी क्विज बना सकता है. खेलो औऱ स्कोर करो.

सौरव गांगुली पर क्विज़!

सौरव गांगुली पर क्विज़!

सौरव गांगुली पर क्विज़. अपना ज्ञान यहां चेक कल्लो!