Submit your post

Follow Us

बुढ़ापे में कैसे पकड़ा गया दर्जनों रेप करने वाला सीरियल किलर?

ये बात है बहुत बरस पहले गुज़री एक रात की. तारीख़ थी- 1 अक्टूबर, 1979. अमेरिका के कैलिफॉर्निया प्रांत में एक शहर है- गोलेता. यहां एक कॉलोनी थी, क्वीन ऐन लेन नाम की. उस रात घड़ी में करीब ढाई बजे होंगे. जब इस मुहल्ले के एक घर के अंदर एक लड़की औंधे मुंह फर्श पर पड़ी थी. उसकी कलाइयां मोड़कर पीठ की ओर बांध दी गई थीं. दोनों घुटनों को सटाकर उसके पांव भी बांध दिए गए थे. किसी ने उसकी पैंट उतारकर उसे पट्टी की तरह लड़की की आंखों पर रख दिया था. ये काम उसी आदमी का था, वो अभी रसोई में तेज़ कदमों से चलता हुआ बार-बार कह रहा था- मैं उन्हें मार डालूंगा, मैं उन्हें मार डालूंगा.

Untitled Design
कैलिफॉर्निया का गोलेता शहर (स्क्रीनशॉट: गूगल मैप्स)

ये वही आदमी था, जो उस रात करीब दो बजे खिड़की के रास्ते इस घर में दाखिल हुआ. उसने घर में रह रहे दोनों लोगों- लड़की और उसके बॉयफ्रेंड को रस्सी से बांधा. एक को फेंका लिविंग रूम में. और दूसरे को बेडरूम में.

क्या होने वाला था इन दोनों के साथ? क्या वो मार डाले जाने वाले थे? शायद हां. लेकिन इससे पहले कि हमलावर आगे कुछ कर पाता, लड़की ने बड़ी चालाकी से अपने पांव में बंधी रस्सी खोली. वो सामने के दरवाज़े से चिल्लाती हुई घर के बाहर भाग गई. इधर वो भागी, उधर बेडरूम में बंधे उसके बॉयफ्रेंड ने भी ख़ुद को छुड़ाया और खिड़की से छलांग लगाकर बगीचे में कूद गया. उसकी तलाश में हमलावर ने अपनी टॉर्च जलाई. मगर संतरे के पेड़ों के पीछे दुबका लड़का उसके हाथ नहीं लगा. इतनी देर में पड़ोस के घरों में भी लाइटें जलने लगी थीं. शोर-शराबा सुनकर वो जग गए थे. इन्हीं पड़ोसियों में से एक ने देखा. सामने सड़क पर तेज़-तेज़ पैडल मारता एक आदमी साइकल पर भागा जा रहा है.

बलात्कारी गोल्डन स्टेट किलर

कौन था वो हमलावर? वो हमलावर था कैलिफॉर्निया का कुख़्यात सीरियल किलर. जिसका सबसे प्रचलित नाम है- गोल्डन स्टेट किलर. एक बलात्कारी, जिसने 1974 से 1986 के बीच 50 से भी ज़्यादा रेप किए. कम-से-कम 13 लोगों का मर्डर किया. 120 से ज़्यादा घरों में चोरियां कीं. उसके डर से कैलिफॉर्निया में लोग अपने खिड़की-दरवाज़े बंद करके रखते. वो ज़्यादातर अकेली रहने वाली महिलाओं को शिकार बनाता. कई बार मां और बेटी, दोनों के साथ बलात्कार करता. किसी को मारता. किसी को ज़िंदा छोड़कर भाग जाता. जाते-जाते निशानी के तौर पर पीड़ितों से जुड़ी कोई चीज भी लेता जाता.

कई ऐसी भी महिलाएं बनीं इसका शिकार, जिनके पति या बॉयफ्रेंड क्राइम के समय घर में मौजूद थे. हमलावर उनके हाथ-पांव बांध देता. हाथ में बंधी रस्सियों के पास पीठ की तरफ कुछ प्लेट्स भी रख देता. ताकि अगर पीड़ित अपना हाथ खोलने की कोशिश करे, तो प्लेट गिर जाए और उसे पता चल जाए. 1 अक्टूबर, 1979 की रात जब वो साइकल चलाता हुआ गायब हुआ, उसके बाद उसने जितने बलात्कार किए उनका मर्डर भी किया. आगे बढ़ने से पहले आपको इस अपराधी द्वारा किए गए कुछ क्राइम्स ब्रीफ में बताते हैं. ताकि आपको पता चले कि वो कितना क्रूर था-

1. साल 1977. शहर में एक रेप फोरम की सभा हो रही थी. एक आदमी खड़ा हुआ. उसने कहा, बलात्कारी किसी की आंखों के सामने उसकी पत्नी का रेप नहीं कर सकेगा. कुछ महीनों बाद फोरम में खड़े होकर बोलने वाले उस आदमी की पत्नी के साथ बलात्कार हुआ. ठीक उसकी नज़रों के सामने.

1977 Rape Report
न्यूयॉर्क टाइम्स की रिपोर्ट (स्क्रीनशॉट: न्यूयॉर्क टाइम्स)

2. साल 1979. क्रिसमस की छुट्टियां चल रही थीं. एक सर्जन और उनकी साइकोलॉजिस्ट पत्नी सैंटा बैरबरा काउंटी स्थित अपने घर में थे. हमलावर घर में घुसा. दोनों की हत्या की. फिर उनके फ्रिज में रखा मीट गर्म करके खाया और चला गया.

3. साल 1980. कैलिफॉर्निया स्थित वेन्ट्यूरा काउंटी के एक घर में एक पति-पत्नी आग सेंक रहे थे. हमलावर उनके घर में घुसा. महिला के साथ रेप किया. फिर उनके घर में जल रही अलाव से एक सुलगती लकड़ी निकाली और पति-पत्नी को उससे पीटकर मार डाला.

वो ऐसे कई ख़ौफनाक अपराध करता रहा और बचता रहा. दिन, महीने, साल गुज़रते गए. पुलिस डिपार्टमेंट और FBI के पास फाइलों का अंबार लग गया. इतने ब्योरे थे उनके पास. मसलन, हमलावर के काले जूतों की डिटेल. उसके चेहरे के नकाब की बनावट. उसकी कदकाठी. पीड़ितों द्वारा बनवाए गए स्केच. उन सामानों के ब्योरे, जिसे वो लोगों के घर से बतौर सोवेनायर चुराकर ले जाता. फिर भी वो पकड़ा नहीं गया. हर क्लू किसी डेड ऐंड पर ख़त्म हो जाता. कई दशक बीत गए. लगा, ये केस शायद कभी नहीं सुलझ सकेगा.

Joseph James Deangelo Sketch
पीड़ितों द्वारा जोसफ़ जेम्स डिऐंगेलो के कई स्केच बनवाए गए. (फोटो: एफबीआई)

25 अप्रैल 2018

लेकिन फिर आया 2018 का साल. तारीख़ थी, 25 अप्रैल. जगह, कैलिफॉर्निया की राजधानी- सैकरामेंटो. यहां पुलिस ने गिरफ़्तार किया एक 72 साल के आदमी को. छह फुट लंबा, भूरे बालों वाला आदमी. जो सैकरामेंटो के एक घर में रहता था. अपनी बेटी और नातिन के साथ. उस जगह से बस आधे घंटे की दूरी पर, जहां गोल्डन स्टेट किलर ने अपने सीरियल अपराधों का पहला पन्ना लिखा था. पुलिस ने कहा, आख़िरकार उन्होंने गोल्डन स्टेट किलर को पकड़ लिया है. इसके बाद शुरू हुआ कोर्ट ट्रायल. जिसकी लेटेस्ट ख़बर आई 29 जून, 2020 को. इस दिन इस अरेस्ट हुए शख्स ने अदालत के आगे अपना जुर्म कबूल किया. उसने 13 हत्याओं, 13 अपहरणों और 50 से भी ज़्यादा बलात्कारों का अपराध कबूला है.

कौन है ये आदमी? इस आदमी का नाम है, जोसफ़ जेम्स डिऐंगेलो. जानते हैं, जोसफ़ किस नौकरी में था? वो उसी शहर के पुलिस डिपार्टमेंट का अधिकारी था, जहां उसने ये सारे अपराध किए. पुलिस की नौकरी में आने से पहले वो अमेरिकी नौसेना में भी रहा था. वियतनाम युद्ध के दौरान उसने अमेरिकी नौसेना के जहाज़ कैनबेरा में बतौर रिपेयरमैन ड्यूटी निभाई.

कैसे पकड़ा गया जोसफ़ जेम्स डिऐंगेलो

2018 के पहले जोसफ़ एक बार भी जांच एजेंसियों के रेडार में नहीं आया. एक बार पकड़ा भी गया, तो छिनैती के आरोप में. तुरंत छूट भी गया. इन अपराधों को लेकर उसपर कभी किसी को शक़ नहीं हुआ. फिर चार दशक बाद वो पकड़ा कैसे गया? कैसे सॉल्व हुआ ये केस?

इन सारे सवालों का जवाब है- डिऑक्सि राइबो न्यूक्लेइक एसिड. वो सबूत, जो केमिकल बेस के रूप में छुपा है हमारी कोशिकाओं के भीतर. हमारी पीढ़ियों का इतिहास बताने वाले इस दस्तावेज़ का प्रचलित नाम है- DNA. इसी DNA के सहारे इतने बरस बाद पुलिस ने गोल्डन स्टेट किलर को पकड़ा है. कैसे, हम बताते हैं?

एने मैरी शूबर्ट ने नए तरीके से जांच शुरू की

बरसों तक मिली नाकामयाबी के बाद इस केस में नई हलचल शुरू हुई 2014 में. इस साल सैकरामेंटो को मिलीं एक नई डिस्ट्रिक्ट अटॉर्नी. इनका नाम था- एने मैरी शूबर्ट. एने ने इस केस को सुलझाने का फैसला किया. 2016 में उन्होंने ख़ास इस केस के लिए एक नई टास्क फोर्स बनाई. इस टास्क फोर्स ने केस से जुड़े क्राइम सीन्स से बरामद सबूतों की नए सिरे से तफ़्तीश शुरू की. इन सबूतों में DNA सैंपल भी शामिल थे. इन DNA सैंपल्स का डेटा ‘जीऐड मैच डॉट कॉम’ नाम के एक फ्री जिनोलॉजिकल वेबसाइट पर डाला गया. ये वेबसाइट एक तरह का डेटाबेस है. जहां करीब 10 लाख लोगों का DNA डेटा है. ये डेटा लोग ख़ुद अपलोड करते हैं वेबसाइट पर. इस उम्मीद से कि वो अपने परिवार की पिछली पीढ़ियों, अपने रिश्तेदारों को खोज सकें.

Anne Marie Schubert
डिस्ट्रिक्ट अटॉर्नी एने मैरी शूबर्ट (फोटो: एपी)

जांचकर्ताओं के पास क्राइम सीन से मिला जो DNA सैंपल था, वो इस वेबसाइट पर मौजूद एक सैंपल से मैच हो गया. पता चला, किसी ने कुछ ही महीनों पहले ये डेटा अपलोड किया है. मगर ये डेटा अपलोड करने वाले का ब्योरा किलर की डिटेल्स से मैच नहीं करता था. जांचकर्ताओं ने डेटा अपलोड करने वाले के खानदान की कई पीढ़ियों पुराने रेकॉर्ड खंगालने का फैसला किया. ताकि उन्हें ऐसा कोई पूर्वज मिले, जिसके वंशानुगत ब्योरे उन्हें किलर के पास ले जाएं. ये सोचकर जांचकर्ताओं ने उस आदमी की एक लंबी-चौड़ी फैमिली ट्री तैयार की. इसके लिए ज़मीन की ख़रीद-फरोख़्त के पुराने दस्तावेज, कब्रिस्तान और जनगणना के पुराने डेटा की भी मदद ली गई. रेकॉर्ड खंगालते-खंगालते जांचकर्ता पहुंचे 19वीं सदी के शुरुआती सालों में.

Ged Match Website
जीऐड मैच की वेबसाईट (फोटो: जीऐड मैच)

DNA में क्या मिला?

उस दौर में पैदा हुए एक इंसान और ‘जीऐड मैच डॉट कॉम’ पर डेटा अपलोड करने वाले आदमी के DNA में काफी समानताएं थीं. जांचकर्ताओं को लगा, हो-न-हो 19वीं सदी के उसी आदमी की पांचवी-छठी पीढ़ी का कोई आदमी हत्यारा है. अब जांचकर्ताओं ने उस 19वीं सदी में पैदा हुए आदमी की फैमिली ट्री तैयार की. इसमें एक हज़ार से भी ज़्यादा लोगों के नाम थे. इन नामों को किलर के बारे में उपलब्ध जानकारियों से मैच किया गया. और इस तरह जांचकर्ताओं ने शॉर्टलिस्ट किए दो नाम. इनमें से एक नाम था, जोसफ़ जेम्स डिऐंगेलो. उससे जुड़ी डिटेल्स किलर की प्रोफाइल के साथ मेल खाती थीं.

अब पुलिस को सीधे-सीधे डिऐंगेलो का DNA क्राइम सीन से मिले DNA के साथ मैच करना था. पुलिस ने ये किया 18 अप्रैल, 2018 को. इस दिन डिऐंगेलो अपनी कार से शॉपिंग के लिए निकला. उसने रोज़विले स्थित एक स्टोर के बाहर गाड़ी पार्क की और दुकान में चला गया. उसका पीछा कर रही जांचकर्ताओं की टीम ने कार से डिऐंगेलो के DNA सैंपल लिए. उन्हें जांच के लिए लैब भेज दिया. दो दिन बाद, 20 अप्रैल को लैब से रिपोर्ट आई. डिऐंगेलो का DNA एक मर्डर सीन पर मिले सैंपल से मैच हुआ था. मगर जांचकर्ता और पुख़्ता सबूत चाहते थे. 23 अप्रैल को वो पहुंचे डिऐंगेलो के घर. वहां गली में डिऐंगेलो के घर का डस्टबिन पड़ा था. इसमें से कई चीजें उठाकर ले आए जांचकर्ता. इन्हीं चीजों में था एक तुड़ा-मुड़ा सा टिशू पेपर. जिसे डिऐंगेलो ने पसीना पोंछने के बाद डस्टबिन में फेंक दिया था. इस टिशू पेपर ने डिऐंगेलो के अपराधों की पोल खोल दी. कई हत्याओं के साथ उसका लिंक इस्टैबलिश कर दिया.

Joseph James Deangelo
जोसफ़ जेम्स डिऐंगेलो ने अपराध कबूल लिया है. (फोटो: एपी)

डिएंगेलो ने अपना अपराध भी कबूल लिया है

अगले रोज़, यानी 24 अप्रैल को पुलिस पहुंची डिऐंगेलो के घर. उन्होंने डिऐंगेलो को अरेस्ट कर लिया. इस वक़्त तक भी डिऐंगेलो का व्यवहार ऐसा था, मानो उसे आइडिया ही न हो कि वो क्यों गिरफ़्तार किया जा रहा है. बल्कि पकड़े जाते समय वो शिकायत कर रहा था कि अवन में रोस्ट होने के लिए रखा सामान जल जाएगा.

डिऐंगेलो एक शातिर अपराधी था. पुलिस की नौकरी ने उसको कई दांव-पेच सिखाए. उसे सबूतों की समझ थी. शायद इसीलिए वो हमेशा पुलिस से एक कदम आगे रहता. अपने पीछे कोई निशान नहीं छोड़ता. यहां तक कि उसके क्राइम करने के इलाके भी बदलते रहे. लंबे वक़्त तक लोगों को लगता रहा, इन अलग-अलग इलाकों में हुए अपराधों के पीछे अलग-अलग इंसान का हाथ है. इसीलिए उस दौर में कैलिफॉर्निया के अंदर गोल्डन स्टेट किलर जैसे कई अलग-अलग नाम प्रचलित हुए. मसलन- ईस्ट एरिया रेपिस्ट, ऑरिजनल नाइट स्टॉकर, डायमेंड नॉट किलर, विसालिया रैनसैकर. काफी बाद में जाकर पता चला कि ये सारे नाम एक ही अपराधी के हैं. काफी देर से ही सही, डिएंगेलो पकड़ लिया गया है. उसने अपना अपराध भी कबूल लिया है. अगस्त से पीड़ितों के बयान लेने का सिलसिला शुरू होगा. ताकि जज फैसला कर सकें कि डिऐंगेलो को क्या सज़ा देनी चाहिए. इस केस के साथ ही एक बार फिर मुहर लग गई है. मुहर इस बात पर कि दुनिया में परफेक्ट क्राइम नाम की कोई चीज नहीं होती शायद.


विडियो- चीन पर क्यों भड़की है पाकिस्तान स्टॉक एक्सचेंज पर हमला करने वाली बलोचिस्तान लिबरेशन आर्मी?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

'तड़प-तड़प के' जैसा प्रेमियों का ब्रेकअप एंथम देने वाले सिंगर के के आजकल कहां हैं?

'तड़प-तड़प के' जैसा प्रेमियों का ब्रेकअप एंथम देने वाले सिंगर के के आजकल कहां हैं?

उनके गाए 'पल' गाने के बगैर आज भी किसी कॉलेज का फेयरवेल पूरा नहीं होता.

कर लिया योगा? अब क्विज खेलने से होगा

कर लिया योगा? अब क्विज खेलने से होगा

आन्हां, ऐसे नहीं कि योग बस किए, दिखाना पड़ेगा कि बुद्धिबल कित्ता बढ़ा.

तमिल जनता आखिर क्यों कर रही है 'फैमिली मैन-2' का विरोध, क्या है LTTE की पूरी कहानी?

तमिल जनता आखिर क्यों कर रही है 'फैमिली मैन-2' का विरोध, क्या है LTTE की पूरी कहानी?

जब ट्रेलर आया था, तबसे लगातार विरोध जारी है.

माधुरी से डायरेक्ट बोलो 'हम आपके हैं फैन'

माधुरी से डायरेक्ट बोलो 'हम आपके हैं फैन'

आज जानते हो किसका हैप्पी बड्डे है? माधुरी दीक्षित का. अपन आपका फैन मीटर जांचेंगे. ये क्विज खेलो.

जिन मीम्स को सोशल मीडिया पर शेयर कर चौड़े होते हैं, उनका इतिहास तो जान लीजिए

जिन मीम्स को सोशल मीडिया पर शेयर कर चौड़े होते हैं, उनका इतिहास तो जान लीजिए

कौन सा था वो पहला मीम जो इत्तेफाक से दुनिया में आया?

पार्टियों को चुनाव निशान के आधार पर पहचानते हैं आप?

पार्टियों को चुनाव निशान के आधार पर पहचानते हैं आप?

चुनावी माहौल में क्विज़ खेलिए और बताइए कितना स्कोर हुआ.

लगातार दो फिफ्टी मारने वाले कोहली ने अब कहां झंडे गाड़ दिए?

लगातार दो फिफ्टी मारने वाले कोहली ने अब कहां झंडे गाड़ दिए?

राहुल के साथ यहां भी गड़बड़ हो गई.

रोहित शेट्टी के ऊपर ऐसी कड़क Quiz और कहां पाओगे?

रोहित शेट्टी के ऊपर ऐसी कड़क Quiz और कहां पाओगे?

14 मार्च को बड्डे होता है. ये तो सब जानते हैं, और क्या जानते हो आके बताओ. अरे आओ तो.

आमिर पर अगर ये क्विज़ नहीं खेला तो दोगुना लगान देना पड़ेगा

आमिर पर अगर ये क्विज़ नहीं खेला तो दोगुना लगान देना पड़ेगा

म्हारा आमिर, सारुक-सलमान से कम है के?

परफेक्शनिस्ट आमिर पर क्विज़ खेलो और साबित करो कितने जाबड़ फैन हो

परफेक्शनिस्ट आमिर पर क्विज़ खेलो और साबित करो कितने जाबड़ फैन हो

आज आमिर खान का हैप्पी बड्डे है. कित्ता मालूम है उनके बारे में?