Thelallantop

ओलंपिक मैच से पहले कोच के महिला खिलाड़ी को थप्पड़ मारने वाले वीडियो पर राय बनाने से पहले ये पढ़ लें

बाएं से दाएं. Tokyo 2020 में जूडो मुकाबले से पहले जर्मन जूडो खिलाड़ी Martyna Trajdos को हल्के से थप्पड़ मारते उनके कोच और मैच के दौरान रणनीति के बारे में सोचतीं Martyna Trajdos. (फोटो: India Today))

टोक्यो में ओलंपिक खेल चल रहे हैं. अलग-अलग देशों के खिलाड़ी अलग-अलग खेल प्रतियोगिताओं में हिस्सा ले रहे हैं. जी जान से जुटे हुए हैं. इस बीच टोक्यो ओलंपिक्स का एक वीडियो बड़ी तेजी से सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है. यह वीडियो जर्मनी की महिला जूडो एथलीट मार्टेना त्रेजदोस और उनके कोच क्लॉडीयु पूसा का है. दरअसल, मैच से पहले पूसा, मार्टेना को पकड़ते हैं, उन्हें जोर से हिलाते हैं और उनकी पीठ थपथपाते हैं. इसके बाद वे मार्टेना के दाएं और बाएं गाल पर हल्के-हल्के चांटे मारते हैं.

इस पूरे घटनाक्रम के बाद मार्टेना मुकाबले में उतरती हैं. उनका मुकाबला हंगरी की खिलाड़ी से होता है. हालांकि, तमाम प्रयासों के बाद भी मार्टेना मुकाबला जीत नहीं पातीं. इस बीच उनका और उनके कोच का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो जाता है. लोग 32 साल की मार्टेना के प्रति सहानुभूति दिखाते हुए थप्पड़ मारने के लिए उनके कोच की आलोचना करते हैं. लेकिन मार्टेना अपने कोच के बचाव में उतर आती हैं.

दिविया तिवारी साल 2008 की बीजिंग ओलंपियन है. अब पटियाला में खिलाड़ियों को जूडो की ट्रेनिंग देती हैं. (फोटो: विशेष इंतजाम)

दूसरी तरफ टोक्यो ओलंपिक्स में वेट लिफ्टिंग में भारत को सिल्वर मेडल दिलाने वालीं मीरा बाई चानू के कोच विजय कहते हैं कि उन्हें इस तरह की प्रैक्टिस की जरूरत महसूस नहीं होती. उन्होंने बताया कि उन्होंने इस तरह से कभी भी अपने खिलाड़ियों को मैच के लिए तैयार नहीं किया. हालांकि, उनका यह भी कहना है कि हो सकता है कि जूडो जैसे दूसरे खेलों में इस तरह की प्रैक्टिस की जरूरत पड़ती हो.

वीडियो- टोक्यो ओलंपिक से बाहर होने के पहले सात्विक और चिराग की जोड़ी ने गर्दा उड़ा दिया

Read more!

Recommended