Submit your post

Follow Us

ट्रैफिक हवलदार कल्लन चच्चा की शायरी

हिंदुस्तान में अपने शौक को पेशा बना पाना निहायत मुश्किल काम है. आदमी वो छोड़ के सब कुछ बन जाता है जो वो बनना चाहता है. लल्लन प्रदेश के एक चचा हैं कल्लन. बचपन से क्रिएटिव थे मन में साध थी कलमतोड़ शायर बनने की. लेकिन हालात और घर वालों के दबाव ने पुलिस का नौकर बना दिया.

इन दिनों वह ट्रैफिक डिपार्टमेंट में हैं लेकिन शायरी का शौक ज्यों का त्यों है. एक दिन बीस मिनट उनके साथ खड़े हो जाओ तो बाकी शायरों को भूल जाओगे. एक दिन मैंने उनको चौराहे पर बाइक वालों की धरपकड़ करते देखा. वे डंडा फटकार रहे थे और शायरी के लहजे में यूं कहते जाते थे:


जिंदगी में मिलेंगे कहीं अंधेरे कहीं उजाले
ओ बिना हेलमेट वाले गाड़ी साइड में लगा ले


गर दोस्त करे गुनाह तो दुश्मन संभाल ले
अब देर न कर बेट्टा कागज़ निकाल ले


तमाम उनकी यादों का दर्द है और ज़िंदगी कम है
ये देख बच्चा तेरा इन्श्योरेंस भी खतम है


उफ़ नसीब मेरे महबूब से यूं न जुदा कर
अबे घोंचू डी एल तो लेकर के चला कर


हर कदम पर आजमाती है किस्मत जब इन्सां सफर पे हो
चालान फौरन काटते हैं गर हेलमेट न सर पे हो


हर सुख़नवर को जहां में सदमा शदीद है
एक भी तो नहीं तेरा कागज कम्प्लीट है


हमने उनसे की वफ़ा की उम्मीद जो न जाने वफ़ा करना
सौ रुपये करो ढीले गर चाहते हो सब रफा दफा करना


न जाने क्यों नहीं मिलता पता उसके मिजाज़ का
सौ नहीं हैं तो नोट एक होगा पचास का


रेत को मुश्किल है मुट्ठी में भर के उड़ा देना
साले भिखारी गाड़ी अब कचहरी से छुड़ा लेना


traffic

आपको भी इस टाइप की मॉडर्न शायरी आती है तो लिखिए कमेंटबॉक्स में. कल्लन चचा को आपका कलाम पसंद आया तो यहां छापा भी जाएगा.

 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

YES Bank शुरू करने वाले राणा कपूर कौन हैं, जिन्होंने नोटबंदी को 'मास्टरस्ट्रोक' बताया था

यस बैंक डूब रहा है.

सात साल पहले केजरीवाल ने वो बात कही थी जो आज वो ख़ुद नहीं सुनना चाहते

बरसों पुरानी इस बात की वजह से सोशल मीडिया पर घेर लिए गए हैं.

क्या भारत सरकार से पूछे बिना पाकिस्तान चली गई इंडियन कबड्डी टीम?

अब ढेरों खेल-तमाशा हो रहा है.

बजट का कितना ज्ञान है, ये क्विज़ खेलकर चेक कर लो!

कितना नंबर पाया, बताते हुए जाना. #Budget2020

संविधान के कितने बड़े जानकार हैं आप?

ये क्विज़ जीत लिया तो आप जीनियस हुए.

क्रिकेट के पक्के वाले फैन हो तो इस क्विज़ को जीतकर बताओ

कित्ता नंबर मिला, सच-सच बताना.

सलमान खान के फैन, इधर आओ क्विज खेल के बताओ

क्विज में सही जवाब देने वाले के लिए एक खास इनाम है.

QUIZ: देश के सबसे महान स्पोर्टसमैन को कितना जानते हैं आप?

आज इस जादूगर की बरसी है.

चाचा शरद पवार ने ये बातें समझी होती तो शायद भतीजे अजित पवार धोखा नहीं देते

शुरुआत 2004 से हुई थी, 2019 आते-आते बात यहां तक पहुंच गई.

रिव्यू पिटीशन क्या होता है? कौन, क्यों, कब दाखिल कर सकता है?

अयोध्या पर फैसले के खिलाफ ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड रिव्यू पिटीशन दायर करने जा रहा है.