Submit your post

Follow Us

AAP में जाने वाले शोएब इक़बाल कौन हैं, जो कभी केजरीवाल को जेल में डालना चाहते थे

शोएब इक़बाल जी अपनी पूरी टीम के साथ आम आदमी पार्टी में शामिल हुए हैं. पार्टी उनका दिल से स्वागत करती है. हमारी पार्टी पिछले पांच साल से दिल्ली में गरीबों के लिए काम कर रही है. मुझे पूरी उम्मीद है कि शोएब जी के आने से उसको और मजबूती मिलेगी. हम मिलकर दिल्ली को और बेहतर करने की कोशिश करेंगे.

शोएब इक़बाल के लिए ये बातें आम आदमी पार्टी के मुखिया और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहीं. शोएब इक़बाल कभी अरविंद केजरीवाल को जेल में डालना चाहते थे. कहा था कि केजरीवाल की जगह जेल में है. उसी शोएब ने नौ जनवरी को अपने बेटे मोहम्मद इक़बाल के साथ आम आदमी पार्टी जॉइन कर ली.

शोएब इक़बाल के आम आदमी पार्टी में शामिल होने पर दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के मुख्य प्रवक्ता मुकेश शर्मा ने कहा,

पार्टी में शामिल होने से कुछ घंटे पहले तक इक़बाल एनआरसी और अन्य मुद्दों पर केजरीवाल की आलोचना कर रहे थे. अचानक आम आदमी पार्टी में शामिल होने के उनके फैसले से सब कुछ क्लियर हो गया है. इक़बाल ये बात जानते थे कि उन्हें क्षेत्र के कांग्रेस कार्यकर्ताओं और स्थानीय लोगों के विरोध के कारण टिकट नहीं मिलता. इसलिए उन्होंने आप में शामिल होने का फैसला किया. कांग्रेस के पास मटिया महल सीट के लिए एक मजबूत उम्मीदवार है, जिसके जीतने की संभावना बहुत ज्यादा है.

शोएब इक़बाल के AAP में शामिल होने पर बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा,

शोएब इक़बाल कांग्रेस पार्टी के मुस्लिम फेस रहे हैं. कई बार विधायक रह चुके हैं. उन्होंने कल रात (9 जनवरी) को अपने बेटे मोहम्मद इक़बाल के साथ आम आदमी पार्टी के अरविंद केजरीवाल से मुलाकात की और पार्टी जॉइन कर ली. ये वही शोएब इक़बाल हैं, जिन्होंने कांग्रेस में रहते हुए कहा था कि मैं अरविंद केजरीवाल को जेल में डाल दूंगा. केजरीवाल की जगह जेल में है. शोएब ने पिछला चुनाव लड़ा था, उस एफिडेविट के हिसाब से उन पर मर्डर, डकैती जैसे कई मामले दर्ज हैं. कई मामलों में दोषी करार दिए जा चुके हैं. ऐसे व्यक्ति को अरविंद केजरीवाल अपनी पार्टी में क्यों लेते हैं?

संबित पात्रा ने आगे कहा,

सीएए को लेकर जामा मस्जिद के सामने एक प्रोटेस्ट हुआ था. उस प्रोटेस्ट में शोएब इक़बाल के बेटे मोहम्मद इक़बाल ने कहा था- ऐ नरेंद्र मोदी, तू जिसका भी मोटा भाई होगा, तुझे कहते हैं तू सुन ले. गुजरात के अंदर तुझे मोटा भाई कहते होंगे. लेकिन कहना चाहते हैं हम इस तारीखी जामा मस्जिद चौक से गर्दन कटा लेंगे, लेकिन शरियत में मदाखिलत एक इंच नहीं बर्दाश्त करेंगे.

संबित पात्रा ने सवाल किया कि पीएम को धमकी देने वाले इस तरह के लोगों को केजरीवाल पार्टी में शामिल कर रहे हैं, यह मुस्लिम वोटबैंक की राजनीति है.

बीजेपी के आरोपों पर दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने कहा,

AAP के नेता अगर अपराधी और हत्या के आरोपी हैं, तो ये बीजेपी के लिए शर्म की बात है कि उन पर अब तक कार्रवाई क्यों नहीं हुई. आपसे पुलिस संभल नहीं रही है, तो आप हमें दीजिए. हम उन्हें जेल में डालेंगे.

कौन हैं शोएब इक़बाल?

दिल्ली की राजनीति का जाना पहचाना नाम. मटिया महल विधानसभा सीट से पांच बार विधायक. दिल्ली विधानसभा के पूर्व उपाध्यक्ष. इक़बाल कांग्रेस, लोक जनशक्ति पार्टी और जनता दल में रह चुके हैं. अब आम आदमी पार्टी में शामिल हुए हैं. 1993 से 2013 तक विधायक चुने जाते रहे. लेकिन 2015 में आम आदमी पार्टी की प्रंचड लहर में हार गए.

1993 और 1998 में, उन्होंने जनता दल के उम्मीदवार के रूप में चुनाव लड़ा और जीता. 2003 में वह जनता दल (सेक्युलर) के उम्मीदवार के रूप में तीसरी बार विधायक बने. 2008 में उन्होंने एक और जीत दर्ज की. इस बार एलजेपी के टिकट पर जीत हासिल की. 2013 में उन्होंने जनता दल (यूनाइटेड) के टिकट पर जीत हासिल की.

2015 के दिल्ली विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस में शामिल हो गए. लेकिन इस चुनाव में AAP के आसिम अहमद खान ने 26,000 वोटों के अंतर से उन्हें हरा दिया. इसका आसिम को इनाम भी मिला. वे केजरीवाल सरकार में खाद्य और आपूर्ति मंत्री बने. लेकिन जब मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के पास एक भ्रष्टाचार से संबंधित शिकायत आई, तो उन्होंने आसिम अहमद खान को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस करके मंत्री पद से बर्खास्त कर दिया.

इक़बाल 2003 से 2008 के बीच दिल्ली विधानसभा के उपाध्यक्ष रहे.

आम आदमी पार्टी जॉइन करने के बाद उन्होंने कहा,

मुझे पार्टी की ताकत पर पूरा भरोसा है. 70 की 70 विधानसभा सीटें जीत कर वापस सत्ता में आएगी. मैंने केजरीवाल के साथ दिल्ली में उनकी 49 दिनों की सरकार के दौरान काम किया है. काम के प्रति उनका रवैया सराहनीय है. मेरा मानना ​​है कि लोग बीजेपी के भ्रष्टाचार और झूठ से तंग आ चुके हैं. झारखंड और महाराष्ट्र जैसे राज्यों में यही देखने को मिला. दिल्ली का चुनाव पूरी तरह से एकतरफा है. लोगों ने आम आदमी पार्टी को वोट देने का फैसला किया है.

माना जा रहा है कि मटिया महल से आम आदमी पार्टी शोएब इक़बाल को उतार सकती है. हालांकि ये अटकले हैं. AAP ने इसकी पुष्टि नहीं की है.


JNU और CAA के मुद्दे पर जूही चावला ने पीएम मोदी की तारीफ की जो शायद अनुराग कश्यप को अच्छी ना लगे

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

संविधान के कितने बड़े जानकार हैं आप?

ये क्विज़ जीत लिया तो आप जीनियस हुए.

क्रिकेट के पक्के वाले फैन हो तो इस क्विज़ को जीतकर बताओ

कित्ता नंबर मिला, सच-सच बताना.

सलमान खान के फैन, इधर आओ क्विज खेल के बताओ

क्विज में सही जवाब देने वाले के लिए एक खास इनाम है.

QUIZ: देश के सबसे महान स्पोर्टसमैन को कितना जानते हैं आप?

आज इस जादूगर की बरसी है.

चाचा शरद पवार ने ये बातें समझी होती तो शायद भतीजे अजित पवार धोखा नहीं देते

शुरुआत 2004 से हुई थी, 2019 आते-आते बात यहां तक पहुंच गई.

रिव्यू पिटीशन क्या होता है? कौन, क्यों, कब दाखिल कर सकता है?

अयोध्या पर फैसले के खिलाफ ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड रिव्यू पिटीशन दायर करने जा रहा है.

इन नौ सवालों का जवाब दे दिया, तब मानेंगे आप ऐश्वर्या के सच्चे फैन हैं

कुछ ऐसी बातें, जो शायद आप नहीं जानते होंगे.

अमिताभ बच्चन तो ठीक हैं, दादा साहेब फाल्के के बारे में कितना जानते हो?

खुद पर है विश्वास तो आ जाओ मैदान में.

‘ताई तो कहती है, ऐसी लंबी-लंबी अंगुलियां चुडै़ल की होती हैं’

एक कहानी रोज़ में आज पढ़िए शिवानी की चन्नी.

मोदी जी का बड्डे मना लिया? अब क्विज़ खेलकर देखो कितना जानते हो उनको

मितरों! अच्छे नंबर चइये कि नइ चइये?