Submit your post

Follow Us

कौन हैं शफीकुर्रहमान बर्क, जिन्होंने तालिबान की तुलना भारत के स्वतंत्रता सेनानियों से कर डाली?

“हमारा देश जब अंग्रेज़ों के कब्जे में था तो सारा हिंदुस्तान आज़ादी के लिए लड़ रहा था. ऐसे ही वहां (अफगानिस्तान) भी. अमेरिका ने कब्जा कर रखा था. इससे पहले रशिया था. जगह-जगह उनका कब्जा था. वो भी आज़ाद रहना चाहते हैं. ये तो उनका पर्सनल मामला है. इसमें हम क्या दख़ल देंगे?”

ये कहा है उत्तर प्रदेश के संभल से समाजवादी पार्टी के सांसद शफीकुर्रहमान बर्क ने. दुनिया अफगानिस्तान पर तालिबान के कब्जे से परेशान है, वहीं बर्क ने इस पूरे विवाद को भारत की आज़ादी से जोड़ दिया. तालिबान की तुलना भारत के स्वाधीनता सेनानियों से कर डाली. बर्क यहीं नहीं रुके. आगे कहा –

“वो अपनी आज़ादी चाह रहे हैं तालिबान के ज़रिये. तालिबान एक ताकत है, जिसने अमेरिका के पांव नहीं जमने दिए, रशिया के नहीं जमने दिए. वो अपने देश को ख़ुद चलाना चाहते हैं. अपने तौर पर चलाना चाहते हैं.”

बर्क का ये बयान न सिर्फ ग़ैर-ज़रूरी है, बल्कि ग़ैर-ज़िम्मेदाराना भी है. अफगानिस्तान में लोग हवाई जहाज़ से लटककर, अपनी जान की क़ीमत पर भी देश छोड़ने को आमादा हैं. ऐसे में तालिबान के इस स्तुतिगान को कैसे देखा जाए? ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के सदस्य सज्जाद नोमानी ने बर्क के इस बयान का समर्थन करके मामला और बढ़ा दिया है. नोमानी ने तो यहां तक कह दिया है कि वह बर्क को इस बयान के लिए सैल्यूट करते हैं. हालांकि बड़े स्तर पर बर्क को आलोचना का सामना करना पड़ रहा है. उनके बयान पर राजनीति भी गरमा गई है, और FIR भी हो गई है. सब जानेंगे. लेकिन पहले बर्क के बारे में जान लेते हैं.

कौन हैं शफीकुर्रहमान बर्क?

समाजवादी पार्टी के शुरुआती दिनों से शफीकुर्रहमान बर्क पार्टी के साथ हैं. उत्तर प्रदेश के पुराने नेता हैं. तीन बार मुरादाबाद से सांसद रहे हैं. 1996, 1998 और 2004 में. लेकिन 2009 के लोकसभा चुनाव से पहले बर्क ने सपा छोड़ दी और बसपा में पहुंच गए. पार्टी भी बदली और सीट भी. इस बार मुरादाबाद की बजाय संभल से चुनाव लड़ा और यहां से भी जीते. हालांकि जीत के बाद भी बसपा में ज़्यादा समय टिके नहीं. 2014 के आम चुनाव से पहले घर वापसी कर ली. सपा में आ गए. संभल से ही टिकट मिला लेकिन मोदी लहर के बीच बर्क को हार का सामना करना पड़ा. 2017 में उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव से पहले बर्क ने एक बार फिर सपा छोड़ दी. वह अपने पोते जियाउर्रहमान बर्क के लिए संभल की विधानसभा सीट से सपा का टिकट चाहते थे. टिकट नहीं मिला. टिकट मिला किसे? इकबाल महमूद को. सपा के नेता इकबाल, जिन्हें बर्क 2014 की अपनी हार के लिए ज़िम्मेदार मानते थे. नाराज़ होकर बर्क ने समाजवादी पार्टी छोड़ दी. पोते के साथ AIMIM जॉइन कर ली.

“मुलायम को दिखाऊंगा ताकत”

सपा से रुख़सती के समय बर्क ने मुलायम सिंह यादव के लिए कहा था –

“2014 में मुझे सपा के ही स्थानीय विधायक इकबाल महमूद की वजह से हार का सामना करना पड़ा था. मैंने मुलायम जी से कहा था कि इकबाल को टिकट नहीं मिलना चाहिए. लेकिन ऐसा नहीं हुआ. अब मैं मुलायम सिंह यादव को मुरादाबाद और आस-पास के क्षेत्रों में अपनी ताकत दिखाता हूं. मैं AIMIM के लिए प्रचार करूंगा और सपा सरकार के काले कारनामे उजागर करूंगा.”

हालांकि भला न तो सपा का हुआ, न AIMIM का. 2017 के विधानसभा चुनाव में भाजपा को जीत मिली और चुनाव के बाद जैसा कि अक्सर होता है, गिले-शिकवे मिट गए. बर्क की एक बार फिर समाजवादी पार्टी में वापसी हो गई. 2019 के लोकसभा चुनाव में उन्हें एक बार फिर सपा का टिकट मिला. संभल से ही. इस बार बर्क जीते. 5वीं बार सांसद बने. संभल से दूसरी बार.

बर्क के विवादित बयान

ये कोई पहला मौका नहीं है, जब बर्क ने कोई विवादित बयान दिया हो. इससे पहले जून 2019 में बर्क ने ये कहकर विवाद छेड़ दिया था कि वंदे मातरम कहना इस्लाम के ख़िलाफ़ है. उन्होंने कहा था –

“मैं भारत के संविधान का पालन करूंगा. लेकिन जहां तक वंदे मातरम का सवाल है तो ये इस्लाम के ख़िलाफ़ है और मैं इसका पालन नहीं करूंगा.”

इससे पहले 2013 में भी वंदे मातरम को लेकर बर्क विवादों में आ गए थे, जब वंदे मातरम के गान के वक्त वह लोकसभा से बाहर चले गए थे.

आलोचना और FIR

अब तालिबान की तुलना भारत के स्वाधीनता सेनानियों से करने के बाद बर्क की जमकर आलोचना हो रही है. UP के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि समाजवादी पार्टी में कुछ भी हो सकता है. अगर किसी ने ऐसा कहा है तो उस व्यक्ति और पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान में कोई अंतर नहीं है. वहीं BJP के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने ट्वीट किया –

“उत्तर प्रदेश में जो लोग आतंकवादियों के शुभचिंतक बन रहे हैं, उन्हें याद रखना चाहिए कि उनके प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री कौन है.” 

यूपी BJP ने भी ट्वीट किया –

“भारत के स्वाधीनता संग्राम सेनानियों की तुलना तालिबानी आतंकियों से करके सपा सांसद शफीकुर्रहमान बर्क ने देश के लिए अपना सर्वस्व बलिदान करने वालों का अपमान किया है. यह इनकी मानसिकता दर्शाता है. इस अपमानजनक टिप्पणी के लिए सपा और सांसद महोदय को सार्वजनिक रूप से माफी मांगनी चाहिए.”

यूपी BJP ने अपने ट्वीट्स में बर्क को तालिबान समर्थक भी लिखा.

इस बीच, 18 तारीख को बर्क के खिलाफ राष्ट्रद्रोह आदि की धाराओं में केस दर्ज हो गया है. संभल सदर कोतवाली में IPC की धारा 153 A, 124 A, 295 A में उनके खिलाफ केस लिखा गया है.

153 A – अगर कोई व्यक्ति मौखिक या लिखित रूप से कुछ ऐसा बयान दे, जिससे सांप्रदायिक तनाव फैल सकता है तो उस पर ये धारा लगती है.

124 A – राष्ट्रद्रोह, देश की एकता, अखंडता को नुकसान पहुंचाने वाले गतिविधि करने पर.

295 A – भावनाओं को, मान्यताओं को आहत करने पर.

तमाम आलोचना और FIR के बाद बर्क ने सफाई दी. कहा कि उनके बयान के ग़लत मायने निकाले गए. साथ ही कहा कि वह भारत के नागरिक हैं. अफगानिस्तान में क्या हो रहा, उससे उन्हें वास्ता नहीं है. बर्क ने कहा कि वह इस पूरे मसले पर भारत सरकार के रुख़ के साथ हैं.


तालिबान के अफ़ग़ानिस्तान में ताकतवर बनने की वो कहानी, जिसकी स्क्रिप्ट अमेरिका के राष्ट्रपति ने लिखी थी!

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

एक्टर शरत सक्सेना की कहानी, जिन्होंने 71 साल की उम्र में ज़बरदस्त बॉडी बनाकर सबको चौंका दिया

एक्टर शरत सक्सेना की कहानी, जिन्होंने 71 साल की उम्र में ज़बरदस्त बॉडी बनाकर सबको चौंका दिया

हीरो बनने आए शरत सक्सेना कैसे गुंडे का चमचा बनने पर मजबूर हुए?

'भीगे होंठ तेरे' वाले कुणाल गांजावाला आजकल कहाँ हैं?

'भीगे होंठ तेरे' वाले कुणाल गांजावाला आजकल कहाँ हैं?

एक वक़्त इंडस्ट्री में टॉप पर थे कुणाल और उनके गाने पार्टियों की जान हुआ करते थे.

राज कुंद्रा की पूरी कहानी, 18 की उम्र में शॉल बेचने से शुरुआत करने वाले राज यहां तक कैसे पहुंचे?

राज कुंद्रा की पूरी कहानी, 18 की उम्र में शॉल बेचने से शुरुआत करने वाले राज यहां तक कैसे पहुंचे?

IPL स्कैंडल, मॉडल्स के आरोप, अंडरवर्ल्ड कनेक्शंस के आरोप, एक्स वाइफ के इल्ज़ाम सब हैं इस कहानी में.

रिचर्ड ब्रैनसन: जिन्होंने पहले अंतरिक्ष के दर्शन करके जेफ बेजोस का मजा खराब कर दिया

रिचर्ड ब्रैनसन: जिन्होंने पहले अंतरिक्ष के दर्शन करके जेफ बेजोस का मजा खराब कर दिया

रिचर्ड ब्रेन्सन की कहानी, जहां भी गए तहलका मचा दिया.

'सिंघम' IPS से तमिलनाडु BJP के सबसे युवा अध्यक्ष बने अन्नामलाई की कहानी

'सिंघम' IPS से तमिलनाडु BJP के सबसे युवा अध्यक्ष बने अन्नामलाई की कहानी

पहला चुनाव हार गए थे, बीजेपी ने राज्य की जिम्मेदारी सौंपी है.

'तड़प-तड़प के' जैसा प्रेमियों का ब्रेकअप एंथम देने वाले सिंगर के के आजकल कहां हैं?

'तड़प-तड़प के' जैसा प्रेमियों का ब्रेकअप एंथम देने वाले सिंगर के के आजकल कहां हैं?

उनके गाए 'पल' गाने के बगैर आज भी किसी कॉलेज का फेयरवेल पूरा नहीं होता.

कर लिया योगा? अब क्विज खेलने से होगा

कर लिया योगा? अब क्विज खेलने से होगा

आन्हां, ऐसे नहीं कि योग बस किए, दिखाना पड़ेगा कि बुद्धिबल कित्ता बढ़ा.

तमिल जनता आखिर क्यों कर रही है 'फैमिली मैन-2' का विरोध, क्या है LTTE की पूरी कहानी?

तमिल जनता आखिर क्यों कर रही है 'फैमिली मैन-2' का विरोध, क्या है LTTE की पूरी कहानी?

जब ट्रेलर आया था, तबसे लगातार विरोध जारी है.

माधुरी से डायरेक्ट बोलो 'हम आपके हैं फैन'

माधुरी से डायरेक्ट बोलो 'हम आपके हैं फैन'

आज जानते हो किसका हैप्पी बड्डे है? माधुरी दीक्षित का. अपन आपका फैन मीटर जांचेंगे. ये क्विज खेलो.

जिन मीम्स को सोशल मीडिया पर शेयर कर चौड़े होते हैं, उनका इतिहास तो जान लीजिए

जिन मीम्स को सोशल मीडिया पर शेयर कर चौड़े होते हैं, उनका इतिहास तो जान लीजिए

कौन सा था वो पहला मीम जो इत्तेफाक से दुनिया में आया?