Submit your post

Follow Us

सुनो परम ! पैदल चलना, हाथ से लिखना और सादा पानी पीना...

सामान्यतः हँसी खुशी भी उतनी ही अश्लील हो सकती है जितनी अप्रासंगिक रति क्रिया

अनुज अग्रवाल ने बी. टेक. किया, गुजरात में जॉब की, कुछ साल फक्कड़ बन के दिल्ली ‘एक्सप्लोर’ किया और अब राजस्थान के एक छोटे से गांव में गणित पढ़ाते हैं. कुछ वर्षों पूर्व कुछ परालौकिक टाइप अनुभव हुए और उसके बाद वेद, गीता, ओशो के साथ साथ बांकेलाल आदि भी पढ़ डाले. पढ़ने के बाद लिखना एक चैन रिएक्शन सरीखा रहा.

प्रस्तुत कविता‘सुनो परम’ उनके परालौकिक के प्रति प्रेम और विज्ञान के प्रति कम्फ़र्ट को शब्द देती है. कविता संचय की आदत को नकारते हुए तटस्थ, मानवतावादी और सर्वथा उदासीन(निराश नहीं) रहने की पैरवी करती है.

सुनो परम !
पैदल चलना , हाथ से लिखना और सादा पानी पीना
आवश्यकता जितना ही सामान रखना और कक्ष में यथा संभव खाली जगह
थोड़ा पानी सुबह शाम कमरे में छिड़कते रहना
दिन में एक बार स्नान और रात को सोते वक्त पैर धोकर सोना
समझना इस बात को कि
विज्ञान किताबों में नहीं हृदय में है और हिसाब गुणा भाग में नहीं समय में है

साहित्य में लॉजिक की उतनी ही आवश्यकता है
जितनी आध्यात्म में क्षेत्र और सीमाओं की और भौतिकी में एक उदासीन दृष्टि की

नीति में विशोक रहना और सामाजिकता में संकल्प साधु

सामान्यतः हंसी खुशी भी उतनी ही अश्लील हो सकती है
जितनी अप्रासंगिक रति क्रिया

चंचलता भी उतनी ही घोर हो सकती है
जितनी अघोर गंभीरता

बुरे वक्त से गुज़र रहे किसी सहृदय की सहायता करते रहना
और साधारण या गौण कार्य करते रहते भी जीवन के मूल पर चिंतन करते रहना

जीवन जितना सामान्य हो अंतःकरण उतना ही स्वच्छ रहता है
सामान जितना कम हो बुद्धि उतनी ही मुक्त
और जितनी देह की स्वच्छता उतनी ही मन की रुचि

सुनो मित्र!

अपने वातावरण का ख्याल रखना
हमारे पहले भी यहां जीवन था
हमारे बाद भी यहां कोई रहता होगा.


एक कविता रोज़ के अन्य संस्करण पढ़ें:

बंधे हों हाथ और पांव तो ‘आकाश’ हो जाती है ‘उड़ने की ताक़त’
अगर बचा रहा तो कृतज्ञतर लौटूंगा
छलना थी, तब भी मेरा उसमें विश्वास घना था
‘तीन आलू सरककर गिर गए हैं किसी के’
‘मेरे लिए दिल्ली छोड़ने के टिकट का चन्दा इकट्ठा करें’


देखें वीडियो:लता मंगेशकर के किस जवाब से आज तक लोग खिलखिलाते हैं

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

धान खरीद के मुद्दे पर बीजेपी की नाक में दम करने वाले KCR की कहानी

धान खरीद के मुद्दे पर बीजेपी की नाक में दम करने वाले KCR की कहानी

KCR की बीजेपी से खुन्नस की वजह क्या है?

कौन हैं सीवान के खान ब्रदर्स, जिनसे शहाबुद्दीन की पत्नी को डर लगता है?

कौन हैं सीवान के खान ब्रदर्स, जिनसे शहाबुद्दीन की पत्नी को डर लगता है?

सीवान के खान बंधुओं की कहानी, जिन्हें शहाबुद्दीन जैसा दबदबा चाहिए था.

'द्रविड़ ने बहुत नाजुक शब्दों से मुझे धराशायी कर दिया था'

'द्रविड़ ने बहुत नाजुक शब्दों से मुझे धराशायी कर दिया था'

रामचंद्र गुहा की किताब 'क्रिकेट का कॉमनवेल्थ' के कुछ अंश.

पहले स्पाइडरमैन टोबी मैग्वायर की कहानी, जिनका सबसे हिट रोल उनके लिए शाप बन गया

पहले स्पाइडरमैन टोबी मैग्वायर की कहानी, जिनका सबसे हिट रोल उनके लिए शाप बन गया

शुद्ध और असली स्पाइडरमैन टोबी मैग्वायर करियर ग्राफ़ बाद में गिरता ही चला गया.

10 साल पहले भी शाहरुख़ का समीर वानखेड़े से सामना हुआ था, समीर ने ठोका था तगड़ा जुर्माना

10 साल पहले भी शाहरुख़ का समीर वानखेड़े से सामना हुआ था, समीर ने ठोका था तगड़ा जुर्माना

जगह थी मुंबई एयरपोर्ट. अब दस साल बाद फिर से दोनों का नाम एक साथ सुर्ख़ियों में है.

'स्क्विड गेम' के प्लेयर नंबर 199 'अली' की कहानी, जिनके इंडियन होने ने सीरीज़ में एक्स्ट्रा मज़ा दिया

'स्क्विड गेम' के प्लेयर नंबर 199 'अली' की कहानी, जिनके इंडियन होने ने सीरीज़ में एक्स्ट्रा मज़ा दिया

अली का रोल करने वाले इंडियन एक्टर अनुपम त्रिपाठी का सलमान-शाहरुख़ कनेक्शन क्या है?

IPL का कित्ता ज्ञान है, ये क़्विज़ खेलकर चेक कल्लो!

IPL का कित्ता ज्ञान है, ये क़्विज़ खेलकर चेक कल्लो!

ईमानदारी से स्कोर भी बताते जाना. हम इंतज़ार करेंगे.

'मनी हाइस्ट' वाले प्रोफेसर की पूरी कहानी, जिनकी पत्नी ने कहा था, 'कभी फेमस नहीं हो पाओगे'

'मनी हाइस्ट' वाले प्रोफेसर की पूरी कहानी, जिनकी पत्नी ने कहा था, 'कभी फेमस नहीं हो पाओगे'

अलवारो मोर्टे ने वेटर तक का काम किया हुआ है. और एक वक्त तो ऐसा था कि बकौल उनके कैंसर से जान जाने वाली थी.

एक्टर शरत सक्सेना की कहानी, जिन्होंने 71 साल की उम्र में ज़बरदस्त बॉडी बनाकर सबको चौंका दिया

एक्टर शरत सक्सेना की कहानी, जिन्होंने 71 साल की उम्र में ज़बरदस्त बॉडी बनाकर सबको चौंका दिया

हीरो बनने आए शरत सक्सेना कैसे गुंडे का चमचा बनने पर मजबूर हुए?

'भीगे होंठ तेरे' वाले कुणाल गांजावाला आजकल कहाँ हैं?

'भीगे होंठ तेरे' वाले कुणाल गांजावाला आजकल कहाँ हैं?

एक वक़्त इंडस्ट्री में टॉप पर थे कुणाल और उनके गाने पार्टियों की जान हुआ करते थे.