Submit your post

रोजाना लल्लनटॉप न्यूज चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं !

Follow Us

ये वीडियो आपके बच्चों को बताएगा कि हम कैसे इंसानों से जानवर में बदल गए थे

5.93 K
शेयर्स

सोशल मीडिया यूज़ करते हैं, तो आपको ग्वाटेमाला का वो वीडियो याद होगा, जिसमें भीड़ सड़क पर एक लड़की को अघाकर पीटती है और फिर उसे पेट्रोल डालकर जला देती है. असल में वो वीडियो मई 2015 का था, जो जून 2017 में इंडिया में वायरल हो गया था. इंडिया में ये वीडियो शेयर करके अफवाह फैलाई जा रही थी कि एक मारवाड़ी लड़की, जिसने आंध्र प्रदेश के एक मुस्लिम लड़के से शादी की थी, उसे बुर्का न पहनने की वजह से मुस्लिमों ने इस तरह मार डाला. दी लल्लनटॉप ने आपको इस वीडियो की सच्चाई भी बताई थी.

ये वीडियो भयानक था. हड्डियों तक में डर भर देने वाला, जिसे पूरा देखना बहुत मुश्किल था. अब ऐसा ही एक और वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है, जिसमें 7-8 लोग मिलकर एक लड़के को पेड़ से बांधकर पीट रहे हैं. उत्तर प्रदेश के देवरिया जिले के इस वीडियो के बारे में अभी तक कोई अफवाह नहीं फैलाई जा रही है, लेकिन ये वो वीडियो है, जिस पर बात होनी ज़रूरी है. कम से कम दी लल्लनटॉप और उसके रीडर्स के बीच तो अनिवार्यत: बात होगी. पर हम आपको ये वीडियो नहीं दिखाएंगे. आप भी समझते हैं कि क्यों.

पहले शमशाद की शर्ट उतरवाई गई, फिर उसे लात-घूंसों-बेल्टों से पीटा गया
पहले शमशाद की शर्ट उतरवाई गई, फिर उसे लात-घूंसों-बेल्टों से पीटा गया

पहले मामला जान लीजिए

देवरिया के रौनियार मोहल्ले में रहने वाले शमशाद ने अबूबकर नगर मोहल्ले के रहने वाले नासिर को कुछ पैसे उधार दिए थे. कुछ दिनों बाद शमशाद ने पैसे वापस मांगे, लेकिन नासिर ने पैसे नहीं दिए. इस पर पहले दोनों में बहस हुई, फिर शमशाद ने नासिर पर हाथ छोड़ दिया. नासिर ने उसे देख लेने की धमकी दी. इस वाकये को जब दो महीने बीत गए और बात आई-गई हो गई, तब 28 मार्च को नासिर ने शमशाद को किसी काम से साथ चलने के लिए कहा. नासिर शमशाद को शहर से 3-4 किमी दूर सकरापार गांव में ले गया और अपने साथियों के साथ उसे पेड़ से बांधकर बहुत पीटा. पीटने वाले लोग वीडियो बना रहे थे, जो बाद में सोशल मीडिया पर वायरल हो गए.

फेसबुक पर ये वीडियो खूब देखा और शेयर किया जा रहा है
फेसबुक पर ये वीडियो खूब देखा और शेयर किया जा रहा है

अब आप बताइए कि क्या भरे समाज में ऐसे लोग रहते हैं, जो किसी को पेड़ से बांधकर यूं जानवरों की तरह पीटें? वीडियो छोड़िए, आप तस्वीरें देखकर अंदाज़ा लगा सकते हैं कि उस समय उस बाग में क्या वहशीपन चल रहा था. सिविल सोसायटी ऐसी तो नहीं होती है.

हमारे मुल्क में जितने भी लोग हैं, वो सब क्या चाहते हैं? दबाकर पैसा कमाना और मौका मिले तो किसी यूरोपीय देश में बस जाना. पर आप बताइए कि जिन देशों की हम नज़ीर देते हैं, जिन मुल्कों में हम रहना चाहते हैं, क्या वहां लोगों को इस तरह सड़कों पर पीटा जाता है. क्रिमिनल हर जगह हैं, पर क्या भीड़ हर जगह ऐसा बर्ताव करती है? हम ‘बड़े आदमी’ बनना चाहते हैं, पर क्या ‘बड़े आदमी’ ऐसे बेहूदे होते हैं.

जानवर भी इतने वहशीपन से शिकार नहीं करते, जिस तरह शमशाद को पीटा गया
जानवर भी इतने वहशीपन से शिकार नहीं करते, जिस तरह शमशाद को पीटा गया

इस वीडियो में शमशाद को सबसे ज़्यादा पीटने वाले लड़के का नाम विकास है. वो आखिरी सीमा तक शमशाद का हाथ मोड़ता है और फिर उसके सिर पर लात मारता है. आप अपनी ज़िंदगी याद कीजिए. घरवालों की पिटाई भी कई बार मन में घर कर जाती है. बाहर किसी से झगड़ा हुआ हो, तो उसे याद करना भी इंसान के शरीर में झुरझुरी पैदा कर देता है. एक थप्पड़ सिर्फ गाल पर दर्द नहीं देता है, इंसान को हमेशा के लिए मार देता है. पीटने वाले को लगता है कि उसने पीटकर छोड़ दिया, पर असल में उसने एक इंसान को अंदर से मार ही दिया होता है.

विकास शमशाद की बांह पर ऐसे ज़ोर दिखाता है, जैसे उसे दो-तीन बार 360 डिग्री पर मोड़ देगा. फिर उसी हालत में उसके सिर पर लात मारता है.
विकास शमशाद की बांह पर ऐसे ज़ोर दिखाता है, जैसे उसे दो-तीन बार 360 डिग्री पर मोड़ देगा. फिर उसी हालत में उसके सिर पर लात मारता है.

इस वीडियो में जो दिख रहा है, वो गलियों में मिलने वाला न्याय है. ये डरावना है. क्या ये लोग किसी को इंसान देने लायक हैं? शमशाद ने लाख गलत काम किए हों, भले वो दुनिया का सबसे नीच इंसान हो, पर क्या इससे किसी को भी उसे पीटने का हक मिल जाता है. अगर ऐसा होता, तो दुनियाभर में कोर्ट-कचहरियां न होतीं, जज 10-10 साल तक केस न चलाते. सब कुछ चौराहों पर ही सुलटा लिया जाता. आपस में. पीटकर. हत्या करके.

ये भीड़तंत्र हमारे समाज की सबसे बुरी चीज़ है. ये वीडियो, ये तस्वीरें देखकर किसी को भी भीड़ से नफरत हो जाएगी. और इसे कैसे जस्टिफाई करेंगे. अगर इसी को कायदा बना दिया जाए, तो जो लोग शमशाद को पीट रहे हैं, उनके साथ इंसाफ करने के लिए और ज़्यादा लोगों को मिलकर इन्हें पीट देना चाहिए. कोई चोर मिला, उसे पांच लोगों ने पीट दिया. फिर उन पांच लोगों को पीटने के लिए 50 लोग इकट्ठे हो जाएं. आदमी उधार मांगने जाए, तो 50 आदमी लेकर जाए. फिर उन 50 को पीटने के लिए 500 और इकट्ठे हो जाएं. ये कहां तक जाएगा.

क्या साबित कर देना चाह रहे हैं हम...
क्या साबित कर देना चाह रहे हैं हम… किससे जीत जाना चाहते हैं… किस-किसको कुचल देना चाहते हैं…

शमशाद को पीट रहे लड़के वो जानवर हैं, जिनकी समाज में कोई जगह नहीं है. और ये कोई अलग भीड़ नहीं है. ये वही भीड़ है, जो केरल में खाना चुराने वाले को पीट-पीटकर मार डालती है. ये वही भीड़ है, जो बेंगलुरु में नए साल के जश्न में लड़कियों के स्तन निचोड़ती है. ये दिन आएगा, जब ये भीड़ अपना ही मांस नोचकर खाने लगेगी.

केरल में इस शख्स को खाना चुराने पर भीड़ ने पीट-पीटकर मार डाला (बाएं). बेंगलुरु में नए साल के जश्न में हुए मॉलेस्टेशन के बाद डरी हुई लड़की (दाएं).
केरल में इस शख्स को खाना चुराने पर भीड़ ने पीट-पीटकर मार डाला (बाएं). बेंगलुरु में नए साल के जश्न में हुए मॉलेस्टेशन के बाद डरी हुई लड़की (दाएं).

शमशाद को पीटने वाला विकास उससे खुद को जीजा कहलवाता है. ये इंसाफ नहीं हो रहा है, ये कुंठा है. लोग अपने घर की, अपने दिमाग की फ्रस्टेशन निकाल रहे होते हैं. ऐसे लोगों से हाथ जोड़कर निवेदन है कि ऐसा करना छोड़ दें.

देवरिया के इस मामले के बारे में जब हमने CO सिटी सीताराम से बात की, तो उन्होंने बताया कि अभी तक कुल 7 लोग अरेस्ट किए गए हैं. जब हमने धाराएं पूछीं, तो उन्होंने बताने से इनकार कर दिया. मामले की और जानकारी मांगने पर उन्होंने फोन काट दिया. पूरी बातचीत के दौरान सीताराम ऐसे बात कर रहे थे, जैसे वो इस केस से भाग जाना चाहते हों. अभी ये मामला पैसे के लेनदेन का बताया जा रहा है, पर जब तक जांच की रिपोर्ट सामने नहीं आ जाती, इस पर पूरी तरह भरोसा नहीं किया जा सकता.

हिंसा की ये छूत देवरिया जैसे छोटे शहरों में भी पहुंच गई है. माना जाता है कि छोटे शहरों में लोग एक-दूसरे से जुड़े होते हैं, पर अब सब खत्म होता दिख रहा है.
हिंसा की ये छूत देवरिया जैसे छोटे शहरों में भी पहुंच गई है. माना जाता है कि छोटे शहरों में लोग एक-दूसरे से जुड़े होते हैं, पर अब सब खत्म होता दिख रहा है.

पुलिस ने मुख्य आरोपी नासिर को घटना वाले दिन ही अरेस्ट कर लिया था, जबकि चार लोग दूसरे दिन अरेस्ट किए गए. दी लल्लनटॉप के स्थानीय सूत्र के मुताबिक विकास ने तीसरे दिन अपने बड़े बाल और दाढ़ी कटवाकर कोर्ट में सरेंडर किया. सोर्स का ये दावा भी है कि पुलिस ने पहले बिना FIR लिखे मामला रफा-दफा करने की कोशिश की थी, लेकिन वीडियो वायरल होने के बाद उसे कार्रवाई करनी पड़ी.

जिनका इस वीडियो से वास्ता है और जिनका नहीं भी है… ज़रा ठहरकर सोचिए. आपका दिमाग कितना बीमार होता जा रहा है. आप कितना गुस्सैल होते जा रहे हैं. आप इंसान से वापस जानवर बनने की तरफ बढ़ रहे हैं. ये रास्ता बहुत मुश्किल से तय हुआ है. इसे यूं ही जाया मत हो जाने दीजिए.


ये भी देख सकते हैं:

भीड़ ने महिला को पीटकर मार डाला, लोग हंसते रहे, वीडियो बनाते रहे

निकाह के बाद बुर्का न पहनने पर हिंदू लड़की को ज़िंदा जलाने का सच

आसनसोल दंगे में बेटे खोने वाले मौलाना की बात सुनिए, भेद देगी

बस एक स्टेटस अपडेट और फेसबुक ने इस बेगुनाह मां को मार डाला

लल्लनटॉप न्यूज चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं !

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें
deoria viral video of mob beating a man over money issues

कौन हो तुम

सलमान खान के फैन, इधर आओ क्विज खेल के बताओ

क्विज में सही जवाब देने वाले के लिए एक खास इनाम है.

सुखदेव,राजगुरु और भगत सिंह पर नाज़ तो है लेकिन ज्ञान कितना है?

आज तीनों क्रांतिकारियों का शहीदी दिवस है.

आमिर पर अगर ये क्विज़ नहीं खेला तो डुगना लगान देना परेगा

म्हारा आमिर, सारुक-सलमान से कम है के?

परफेक्शनिस्ट आमिर पर क्विज़ खेलो और साबित करो कितने जाबड़ फैन हो

आज आमिर खान का हैप्पी बड्डे है. कित्ता मालूम है उनके बारे में?

इस इंसान को थैंक्यू बोलिए, इसकी वजह से दुनिया में लाखों प्रेम कहानियां बनीं

जो सुन नहीं सकते, उनके लिए एक खास मशीन बनाने की कोशिश करते हुए टेलिफोन बन गया.

चेक करो अनुपम खेर पर अपना ज्ञान और टॉलरेंस लेवल

अनुपम खेर को ट्विटर और व्हाट्सऐप वीडियो के अलावा भी ध्यान से देखा है तो ये क्विज खेलो.

Quiz : श्रीदेवी के बारे में आपको कितनी जानकारी है?

फिल्में तो बहुत देखी होंगी, मिस्टर इंडिया भी बने होगे, अब इन सवालों का जवाब दो तो जानें.

Quiz: आप भोले बाबा के कितने बड़े भक्त हो

भगवान शंकर के बारे में इन सवालों का जवाब दे लिया तो समझो गंगा नहा लिया

साउथ अफ्रीका की हरी जर्सी देख कर शिखर धवन को हो क्या जाता है!

बेबी को बेस, धवन को साउथ अफ्रीका पसंद है.

क्या आखिरी एपिसोड में टॉम ऐंड जेरी ने आत्महत्या कर ली?

टॉम ऐंड जेरी में कभी खून नहीं दिखाया गया था, सिवाय इस एपिसोड के.