Submit your post

Follow Us

आपको नहीं खरीदने चाहिए चाईनीज पटाखे, वजह कुछ और है

दीवाली के सप्ताह भर पहले ही दिल्ली सरकार चाईनीज पटाखे फोड़ने में लगी है. 11 टीमें बनाई गई हैं. चाईनीज पटाखों पर बैन लगाने के लिए. रेड मारी जा रही है. सामान जब्त हो रहा है. जनता में उधर अलग हाहाकार मचा हुआ है चाईनीज सामान का बॉयकाट करने का. चीन के पाकिस्तान पर रुख को लेकर देश की जनता में काफी नाराजगी है.

पर सरकार पटाखे क्यों बैन कर रही है?

चाईनीज पटाखों की कीमत कम होती है. पर उनमें पोटैशियम क्लोरेट होता है जो कि बहुत अनस्टेबल होता है. झटका पा के भी फूट सकता है. इसके केमिकल जहरीले होते हैं. टच में आने पर स्किन के रोग पैदा करते हैं. जिसको एलर्जी है उसके लिए ये कहर बन के आते हैं. हमारे इंडिया में जो पटाखे बनते हैं उनमें पोटैशियम या सोडियम नाइट्रेट होता है जो कि बड़ा सुस्त सा होता है. सेफ होता है. यही वजह है कि सरकार ने चाईनीज को बैन करने का फैसला किया है.

इंडिया में ये केमिकल इस्तेमाल क्यों नहीं होता?

1992 से ही क्लोरेट इंडिया में बैन है. सरकार के मुताबिक सिर्फ साइंस एक्सपेरिमेंट या किसी जरूरी चीज में ही इसका इस्तेमाल किया जा सकता है. रेलवे के फॉग सिग्नल में इसका इस्तेमाल होता है. वो तो जरूरी चीज है. चाईनीज पटाखे 2013 में बैन हुए थे. वैसे तो सारे विदेशी पटाखे बैन हुए थे. पर चीन को सबसे ज्यादा घाटा हुआ था. क्योंकि चीन सबसे ज्यादा पटाखे बनाता है दुनिया में. और इनके कम दाम वाले पटाखे इंडिया ही आते हैं सबसे ज्यादा.

लेकिन चाईनीज पटाखों का मार्केट कैसे बन गया?

पोटैशियम क्लोरेट सस्ता है. पोटैशियम नाइट्रेट की तुलना में एक-तिहाई दाम है इसका. औऱ ये जलता बहुत तेज है. खूब रोशनी देता है. इसमें मेटल चूर्ण भी मिला दिया जाता है. वो जलता है तो रंग-बिरंगी रोशनी निकलती है.

पटाखे बनाने वाले कहीं के हों पटाखों पर लिखते नहीं हैं कि क्या-क्या मिलाया गया है इसमें. फिर चाईनीज पटाखे स्मगलिंग से आते हैं. तो इनमें सल्फर और क्लोरेट की मात्रा का भी कोई हिसाब होता नहीं. ये प्रदूषण भी बहुत करते हैं. आंख वगैरह भी खराब कर देते हैं. सांस की दिक्कत, किडनी की समस्या सब हो जाती है. ऐसा नहीं है कि सारे चाईनीज पटाखे ऐसे ही होते हैं. पर स्मगल होने वाले पटाखे बढ़िया तो नहीं ही होते हैं.

इसका कतई ये मतलब नहीं है कि इंडियन पटाखे बहुत बढ़िया हैं और खूब जलाये जाने चाहिेए. अभी कोल्लम में आग लगी थी ना. लोग मंदिर से निकल नहीं पाए. बम की तरह ब्लास्ट हुआ था. पटाखे कोई भी फोड़ो, प्रदूषण तो होता ही है. दिल्ली में तो दीवाली के बाद बुरा हाल हो जाता है.

-इंडियन एक्सप्रेस से

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

'हिटमैन' रोहित शर्मा को आप कितना जानते हैं, ये क्विज़ खेलकर बताइए

आज 33 साल के हो गए हैं रोहित शर्मा.

क्विज़: खून में दौड़ती है देशभक्ति? तो जलियांवाला बाग के 10 सवालों के जवाब दो

जलियांवाला बाग कांड के बारे में अपनी जानकारी आप भी चेक कर लीजिए.

मधुबाला को खटका लगा हुआ था इस हीरोइन को दिलीप कुमार के साथ देखकर

एक्ट्रेस निम्मी के गुज़र जाने पर उनको याद करते हुए उनकी ज़िंदगी के कुछ किस्से

90000 डॉलर का कर्ज़ा उतारकर प्राइवेट जेट खरीद लिया था इस 'गैंबलर' ने

उस अमेरिकी सिंगर की अजीब दास्तां, जो बात करने के बजाए गाने में ज़्यादा कंफर्टेबल महसूस करता था

YES Bank शुरू करने वाले राणा कपूर कौन हैं, जिन्होंने नोटबंदी को 'मास्टरस्ट्रोक' बताया था

यस बैंक डूब रहा है.

सात साल पहले केजरीवाल ने वो बात कही थी जो आज वो ख़ुद नहीं सुनना चाहते

बरसों पुरानी इस बात की वजह से सोशल मीडिया पर घेर लिए गए हैं.

क्या भारत सरकार से पूछे बिना पाकिस्तान चली गई इंडियन कबड्डी टीम?

अब ढेरों खेल-तमाशा हो रहा है.

बजट का कितना ज्ञान है, ये क्विज़ खेलकर चेक कर लो!

कितना नंबर पाया, बताते हुए जाना. #Budget2020

संविधान के कितने बड़े जानकार हैं आप?

ये क्विज़ जीत लिया तो आप जीनियस हुए.

क्रिकेट के पक्के वाले फैन हो तो इस क्विज़ को जीतकर बताओ

कित्ता नंबर मिला, सच-सच बताना.