Submit your post

Follow Us

CCTV कैमरों पर अमित शाह को घेरने के चक्कर में मनीष सिसोदिया ने बड़ी गड़बड़ कर दी

दिल्ली में 6 जनवरी को साइकिल ट्रैक की आधारशिला रखी गई. बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने इस मंच से केजरीवाल के CCTV कैमरे का मुद्दा उठाया. शाह ने कहा,

दिल्ली की सुरक्षा के लिए 15 लाख सीसीटीवी कैमरे लगने थे. आज भी दिल्ली की जनता ढूंढ रही है कि कहां हैं वो कैमरे? दूरबीन से भी देखने पर सीसीटीवी कैमरे नजर नहीं आते हैं.

अमित शाह के आरोपों का आम आदमी पार्टी ने जवाब दिया. दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की. सिसोदिया ने कहा,

अमित शाह लगातार जनता के बीच ये सवाल कर रहे हैं कि दिल्ली सरकार ने दिल्ली की गलियों में सीसीटीवी लगाने का वादा किया था. वो सीसीटीवी कैमरे कहां हैं? मैं मीडिया के माध्यम से अमित शाह को बता दूं कि वो सीसीटीवी कैमरे कहां लगे हैं.

इसके बाद मनीष सिसोदिया ने एक वीडियो दिखाया. इस वीडियो में अमित शाह पूछ रहे हैं कि सीसीटीवी कैमरे कहां हैं? इसके बाद वीडियो में उन जगहों को दिखाया जाता है जहां सीसीटीवी कैमरे लगे हैं.

मनीष सिसोदिया कहते हैं,

ये इसलिए बता रहा हूं कि दो दिन पहले अमित शाह लाजपत नगर गए थे. डोर-टू-डोर करने. वो 8 घरों में गए थे. जिस गली में वो डोर-टू-डोर कैंपेन के लिए गए थे, वहां दिल्ली सरकार के 16 सीसीटीवी कैमरे लगे हैं. यहां तक कि जिस घर के अंदर वो गए थे, उसके बाहर भी सीसीटीवी कैमरा लगा हुआ है. ये वो फुटेज है जो सीसीटीवी कैमरों से निकली है. मैंने सोचा हो सकता है कि सीसीटीवी कैमरे काम न कर रहे हों इस वजह से उन्होंने ऐसा कहा हो.

मनीष सिसोदिया ने तीन कैमरों की फुटेज मीडिया को दिखाई. उन्होंने आगे कहा,

सीसीटीवी कैमरे ढूंढने के लिए दूरबीन मत लगाइए. जिन गलियों में आप डोर-टू-डोर कर रहे हैं वहां 5-10 फीट की उंचाई पर आपको कैमरे दिख जाएंगे. उनमें आपकी फुटेज कैप्चर हो रही है. आप डोर-टू-डोर करने जा रहे हैं. कौन लोग आपके लिए दरवाजे नहीं बंद कर रहे, कौन लोग आपके लिए सवाल कर रहे हैं, कौन लोग आपको किस तरह से ट्रीट कर रहे हैं, सबकुछ कैप्चर हो रहा है.

इस पूरी कवायद के बाद सवाल उठ रहे हैं कि दिल्ली में लगे सीसीटीवी कैमरों का मकसद क्या है? आम आदमी पार्टी ने 2015 के अपने घोषणा पत्र में सीसीटीवी लगाने का वादा किया था. मकसद नागरिकों की सुरक्षा करना था. लेकिन इस घटना के बाद सवाल उठ रहे हैं कि क्या आम आदमी पार्टी इन सीसीटीवी कैमरों का इस्तेमाल पॉलिटिकल सर्विलांस के लिए कर रही है? विरोधी पार्टियों पर नजर रखने के लिए कर रही है. सिसोदिया ने बकायदा प्रेस कॉन्फ्रेंस कर ये तक बता दिया कि शाह किन 8 घरों में गए थे.


जाने अनजाने में मनीष सिसोदिया इस चीज़ को जनता के सामने ले आए. वो चाहते तो अमित शाह की बातों को झुठलाने के लिए बिना फुटेज के आंकड़े दे सकते थे. अमित शाह के कैंपेन से जुड़ी एक-एक बात बताने की जरूरत नहीं थी.

इसके साथ ही प्राइवेसी को लेकर भी सवाल उठ रहे हैं. आरोप लगते रहे हैं कि सीसीटीवी कैमरों के माध्यम से सरकारें जनता पर नज़र रखती हैं. अगर एक गली में 16 सीसीटीवी कैमरे लगे हैं तो ये कैमरे उस गली में रहने वाले, वहां से गुजरने वाले लोगों को भी कैप्चर कर रहे हैं. उन घरों में आने जानेवाले लोगों पर नज़र रख रहे हैं.

आप कह सकते हैं कि सुरक्षा के नजरिए से क्राइम से बचने के लिए, क्रिमिनल को पकड़ने के लिए इन कैमरों की फुटेज काम आ सकती है. लेकिन डर ये भी है कि ये फुटेज अगर गलत हाथ में चली जाए तो फिर क्या होगा?

सवाल ये भी है कि अगर दिल्ली में कल को किसी और पार्टी की सरकार आती है तो इस तरह के सीसीटीवी फुटेज का इस्तेमाल अपने विरोधियों के खिलाफ कर सकती है. जैसा कि मनीष सिसोदिया ने तीन कैमरों की फुटेज जारी कर की. सिसोदिया ने ये भी कहा कि सबकुछ रिकॉर्ड हो रहा है. अमित शाह आपके साथ कौन-कैसा बर्ताव कर रहा है ये भी रिकॉर्ड हो रहा है.ऐसे में  सवाल उठ रहे हैं कि क्या शाह को जवाब देने के लिए सिसोदिया ने फुटेज जारी कर अपने पद का गलत इस्तेमाल किया?


केजरीवाल की बात समझने के लिए अमित शाह को हॉलीवुड मूवी देखनी पड़ेगी

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

मधुबाला को खटका लगा हुआ था इस हीरोइन को दिलीप कुमार के साथ देखकर

एक्ट्रेस निम्मी के गुज़र जाने पर उनको याद करते हुए उनकी ज़िंदगी के कुछ किस्से

90000 डॉलर का कर्ज़ा उतारकर प्राइवेट जेट खरीद लिया था इस 'गैंबलर' ने

उस अमेरिकी सिंगर की अजीब दास्तां, जो बात करने के बजाए गाने में ज़्यादा कंफर्टेबल महसूस करता था

YES Bank शुरू करने वाले राणा कपूर कौन हैं, जिन्होंने नोटबंदी को 'मास्टरस्ट्रोक' बताया था

यस बैंक डूब रहा है.

सात साल पहले केजरीवाल ने वो बात कही थी जो आज वो ख़ुद नहीं सुनना चाहते

बरसों पुरानी इस बात की वजह से सोशल मीडिया पर घेर लिए गए हैं.

क्या भारत सरकार से पूछे बिना पाकिस्तान चली गई इंडियन कबड्डी टीम?

अब ढेरों खेल-तमाशा हो रहा है.

बजट का कितना ज्ञान है, ये क्विज़ खेलकर चेक कर लो!

कितना नंबर पाया, बताते हुए जाना. #Budget2020

संविधान के कितने बड़े जानकार हैं आप?

ये क्विज़ जीत लिया तो आप जीनियस हुए.

क्रिकेट के पक्के वाले फैन हो तो इस क्विज़ को जीतकर बताओ

कित्ता नंबर मिला, सच-सच बताना.

सलमान खान के फैन, इधर आओ क्विज खेल के बताओ

क्विज में सही जवाब देने वाले के लिए एक खास इनाम है.

QUIZ: देश के सबसे महान स्पोर्टसमैन को कितना जानते हैं आप?

आज इस जादूगर की बरसी है.