Submit your post

Follow Us

केरल में कोरोना के ये आंकड़े तीसरी लहर के यहीं से शुरू होने का अंदेशा दे रहे हैं

केरल में कोविड-19 महामारी की दूसरी लहर अभी तक कहर बरपा रही है. देश के अधिकतर राज्यों के विपरीत यहां प्रतिदिन दर्ज होने वाले नए मामलों में लगातार बढ़ोतरी हो रही है. मंगलवार 27 जुलाई को भारत में कोरोना संक्रमण के 43 हजार 654 नए केस मिले. इनमें से 22 हजार 129 केस अकेले केरल के हैं. यानी आधे से भी अधिक. बीते 50 दिनों में देश के किसी भी राज्य में इतनी बड़ी संख्या में कोरोना के नए मामले दर्ज नहीं किए गए हैं.

आम लोगों के अलावा जानकार भी ये समझने की कोशिश कर रहे हैं कि आखिर क्यों केरल में कोरोना वायरस के इतने अधिक मामले सामने आ रहे हैं. ये भी कहा जा रहा है कि क्या इस बार कोविड-19 की जो लहर आएगी वो केरल से शुरू होगी? सवाल कई हैं. समझने की कोशिश करते हैं कि आखिर केरल में चल क्या रहा है.

क्या कहते हैं आंकडे?

28 जुलाई की शाम 5 बजे तक के आंकड़े बताते हैं कि केरल में पिछले 24 घंटों में नए कन्फर्म केसों की संख्या 22129 है. इससे राज्य में अब तक दर्ज हुए कुल मामलों की संख्या 33 लाख से भी ज्यादा हो गई है. हालांकि इनमें से 31 लाख 60 हजार से ज्यादा संक्रमित ठीक हो चुके हैं. लगभग डेढ़ लाख मरीजों का इलाज अभी भी किया जा रहा है. वहीं, मृतकों की संख्या 16 हजार के पार जा चुकी है.

केरल के कुछ जिले कोरोना से काफी ज्यादा प्रभावित हैं. आजतक/इंडिया टुडे की एक रिपोर्ट के मुताबिक, केरल के कोट्टायम जिले में 28 जून के बाद से संक्रमण के मामलों में 64 प्रतिशत की वृद्धि हुई है. मल्लापुरम में 28 जून से 4 जुलाई तक कोरोना के 1428 मामले देखे गए, जो अब 2270 तक हो गए हैं. यहां कोविड-19 केसों में 59 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है. इसी अवधि के दौरान त्रिशूर जिले में कोरोना के नए मामले 45.4 प्रतिशत की दर से बढ़े हैं. एर्नाकुलम में 46.5% की वृद्धि देखी गई है.

सीरो सर्वे क्या कहता है?

भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद यानी ICMR ने हाल ही में भारत के 70 जिलों में किए राष्ट्रीय सीरो-सर्वेक्षण के परिणाम सामने रखे. सर्वेक्षण के तहत केरल में 1308 लोगों के कोरोना टेस्ट किए गए थे. इनमें से 581 लोगों में कोविड एंटीबॉडी पाए गए. सर्वे के परिणाम के मुताबिक, इस तरह केरल के 44.4 प्रतिशत लोग कोरोना वायरस से संक्रमित होने या वैक्सीनेशन के बाद एंटीबॉडी विकसित कर चुके हैं.

केंद्र सरकार की केरल को सलाह

इस रिपोर्ट के आधार पर केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने केरल के प्रमुख सचिव, स्वास्थ्य और परिवार कल्याण विभाग को एक पत्र लिखा. इसमें कहा गया है कि हाल के दिनों में केरल में सुपर स्प्रेडर इवेंट देखे गए हैं. भूषण लिखते हैं,

‘सामूहिक या सामाजिक समारोहों के दौरान कोरोना गाइडलाइंस को कड़ाई और सही तरीके से लागू किए जाने की आवश्यकता है.’

इंडिया टुडे/आजतक से जुड़ीं स्नेहा मोरदानी के मुताबिक, केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव ने कहा कि केरल में 10 जुलाई से 19 जुलाई के बीच कोरोना संक्रमण से जुड़े 91,617 नए मामले और 775 मौतें दर्ज की गईं. हालात देखते हुए जरूरी है कि सरकार कोरोना नियमों को लेकर सख्ती दिखाए. ताजा आंकड़े देखें तो पता चलता है कि केरल में कोविड-19 का मौजूदा पॉजिटिविटी रेट 12 प्रतिशत से भी अधिक है. यानी अगर 100 लोगों का टेस्ट किया जाता है तो उनमें से 12 से अधिक लोग पॉजिटिव निकल रहे हैं.

वैक्सीनेशन की स्थिति क्या है?

केरल के स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के आंकड़े कहते हैं कि राज्य में 18 साल से अधिक उम्र वाली 50 फीसदी आबादी को वैक्सीन की पहली डोज मिल चुकी है. वहीं 19.5 फीसदी लोगों को वैक्सीन की दोनों डोज मिली हैं.

वहीं केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ें के मुताबिक,

– केरल में 1 करोड़ 32 लाख 34 हजार 20 लोगों को वैक्सीन की पहली डोज मिल चुकी है.
– 57 लाख 8 हजार 946 लोगों को वैक्सीन की दोनों डोज़ दी जा चुकी हैं.
– यानी कुल 1 करोड़ 89 लाख 42 हजार 966 डोज राज्य में दी जा चुकी हैं.

एक्सपर्ट क्या कहते हैं?

केरल कोविड एक्सपर्ट कमेटी के सदस्य डॉक्टर अनीश ने समाचार एजेंसी ANI से बात करते हुए कहा कि ICMR की सीरो सर्वे रिपोर्ट कहती है कि केरल में 42 प्रतिशत संक्रमण फैला है, जो सबसे कम है. डॉ. अनीश ने कहा,

“हमें समझना होगा कि केरल में वास्तविक संक्रमणों की संख्या कम है. वैक्सीनेशन के मामले में केरल में राष्ट्रीय औसत से अधिक लोगों को टीका लगाया गया है. राज्य की आबादी के एक हिस्से को संक्रमण का खतरा अधिक है. इसकी रक्षा करने का एक तरीका, भारत के अन्य हिस्सों की तुलना में बड़े पैमाने पर टीकाकरण है. केंद्र को चाहिए कि वो केरल को अधिक मात्रा में वैक्सीन दे.”

वहीं, पब्लिक हेल्थ एक्सपर्ट डॉक्टर विकास केसरी ने दी लल्लनटॉप से बात करते हुए कहा,

“ऐसा नहीं है कि तुरंत ही केरल में केस बढ़ गए हैं. भारत में जब से कोरोना वायरस आया है, तभी से केरल और महाराष्ट्र में केसों की संख्या थोड़ी अधिक रही है. आप सीरो सर्वे के नतीजे देखें तो एक तरफ बड़े स्तर पर केस बढ़ रहे हैं, वहीं दूसरी तरफ 44.4 प्रतिशत लोगों में एंटीबॉडी पाए गए हैं.”

डॉ. विकास केसरी मानते हैं कि सरकार को बड़े स्तर पर सैंपल लेने चाहिए ताकि केरल में कोविड-19 से जुड़ी स्थिति थोड़ा और स्पष्ट हो सके. हालांकि वे कहते हैं कि राज्य में वैक्सीनेशन काफी अच्छा चल रहा है और आने वाले समय में इस पर और काम होना चाहिए.


वीडियो- बकरीद से पहले केरल सरकार की ओर से दी गई पाबंदियों में ढील पर सुप्रीम कोर्ट ने क्या कह दिया?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

IPL का कित्ता ज्ञान है, ये क़्विज़ खेलकर चेक कल्लो!

IPL का कित्ता ज्ञान है, ये क़्विज़ खेलकर चेक कल्लो!

ईमानदारी से स्कोर भी बताते जाना. हम इंतज़ार करेंगे.

'मनी हाइस्ट' वाले प्रोफेसर की पूरी कहानी, जिनकी पत्नी ने कहा था, 'कभी फेमस नहीं हो पाओगे'

'मनी हाइस्ट' वाले प्रोफेसर की पूरी कहानी, जिनकी पत्नी ने कहा था, 'कभी फेमस नहीं हो पाओगे'

अलवारो मोर्टे ने वेटर तक का काम किया हुआ है. और एक वक्त तो ऐसा था कि बकौल उनके कैंसर से जान जाने वाली थी.

एक्टर शरत सक्सेना की कहानी, जिन्होंने 71 साल की उम्र में ज़बरदस्त बॉडी बनाकर सबको चौंका दिया

एक्टर शरत सक्सेना की कहानी, जिन्होंने 71 साल की उम्र में ज़बरदस्त बॉडी बनाकर सबको चौंका दिया

हीरो बनने आए शरत सक्सेना कैसे गुंडे का चमचा बनने पर मजबूर हुए?

'भीगे होंठ तेरे' वाले कुणाल गांजावाला आजकल कहाँ हैं?

'भीगे होंठ तेरे' वाले कुणाल गांजावाला आजकल कहाँ हैं?

एक वक़्त इंडस्ट्री में टॉप पर थे कुणाल और उनके गाने पार्टियों की जान हुआ करते थे.

राज कुंद्रा की पूरी कहानी, 18 की उम्र में शॉल बेचने से शुरुआत करने वाले राज यहां तक कैसे पहुंचे?

राज कुंद्रा की पूरी कहानी, 18 की उम्र में शॉल बेचने से शुरुआत करने वाले राज यहां तक कैसे पहुंचे?

IPL स्कैंडल, मॉडल्स के आरोप, अंडरवर्ल्ड कनेक्शंस के आरोप, एक्स वाइफ के इल्ज़ाम सब हैं इस कहानी में.

रिचर्ड ब्रैनसन: जिन्होंने पहले अंतरिक्ष के दर्शन करके जेफ बेजोस का मजा खराब कर दिया

रिचर्ड ब्रैनसन: जिन्होंने पहले अंतरिक्ष के दर्शन करके जेफ बेजोस का मजा खराब कर दिया

रिचर्ड ब्रेन्सन की कहानी, जहां भी गए तहलका मचा दिया.

'सिंघम' IPS से तमिलनाडु BJP के सबसे युवा अध्यक्ष बने अन्नामलाई की कहानी

'सिंघम' IPS से तमिलनाडु BJP के सबसे युवा अध्यक्ष बने अन्नामलाई की कहानी

पहला चुनाव हार गए थे, बीजेपी ने राज्य की जिम्मेदारी सौंपी है.

'तड़प-तड़प के' जैसा प्रेमियों का ब्रेकअप एंथम देने वाले सिंगर के के आजकल कहां हैं?

'तड़प-तड़प के' जैसा प्रेमियों का ब्रेकअप एंथम देने वाले सिंगर के के आजकल कहां हैं?

उनके गाए 'पल' गाने के बगैर आज भी किसी कॉलेज का फेयरवेल पूरा नहीं होता.

कर लिया योगा? अब क्विज खेलने से होगा

कर लिया योगा? अब क्विज खेलने से होगा

आन्हां, ऐसे नहीं कि योग बस किए, दिखाना पड़ेगा कि बुद्धिबल कित्ता बढ़ा.

तमिल जनता आखिर क्यों कर रही है 'फैमिली मैन-2' का विरोध, क्या है LTTE की पूरी कहानी?

तमिल जनता आखिर क्यों कर रही है 'फैमिली मैन-2' का विरोध, क्या है LTTE की पूरी कहानी?

जब ट्रेलर आया था, तबसे लगातार विरोध जारी है.