Submit your post

Follow Us

कोरोना डायरीज़: जब टिक-टॉक बनाने वाले पुलिस को देखकर डिसेबल होने की एक्टिंग करने लगे

सृष्टि.
सृष्टि

नाम- सृष्टि

काम- साइकोलॉजी स्टूडेंट, लेडी श्री राम कॉलेज, दिल्ली

जगह- दिल्ली

मैं और मेरे जैसे इस लॉकडाउन को अलग तरह से एंजॉय कर रहे. वो शायद ऐसा है कि सबकुछ पलट गया है. जैसे मेरी रुटीन. मैं पहले सुबह 5:30 तक उठ जाती थी. अब इस समय सोने जाती हूं. मुझे कॉलेज जाने में दो घंटे लग जाते हैं. सात बजे तक कॉलेज के लिए निकलती थी तो फिर शाम के सात बज जाते थे लौटने में. वहां कभी क्लास कैंसिल होने पर या बंक करके भी, हम दोस्तों के साथ घूमने निकल जाते थे. या हैंगआउट करते थे. मैं थोड़ा सोशली एक्टिव भी हूं तो मेरी कॉन्फ्रेंस या इवेंट्स कुछ न कुछ चलता रहता था. अब ये सब बंद है तो बहुत अजीब लगता है. वेबीनार या ऑनलाइन इवेंट्स एटेंड करने का मन नहीं करता है. काफी कुछ करने को है लेकिन कुछ करने को दिल नहीं करता. पुराना शिड्युल मिस करती हूं.

Corona Banner
कोरोना डायरीज़ की और भी ख़बरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.

कोविड-19 के ब्रेक आउट होने पर सबसे ज्यादा बातें हुईं कि बच्चे और ज्यादा उम्र के लोगों पर असर पड़ेगा. ये सब बातें इफ़ेक्ट तो करती ही हैं. और फिर उसी समय टिक-टॉक पर एक ट्रेंड आया. उसमें लोग बाहर निकल रहे. घूम रहे. और पुलिस को देखकर या सायरन की आवाज सुनकर डिसेबल होने की एक्टिंग करने लग रहे हैं. ये सब इतना अजीब है कि क्या कहें. एक तो वैसे ही इम्यून सिस्टम खराब रहता है. ऊपर से दिन भर घर में रहना है. बाकी सोसायटी का हाल क्या है ये कभी अकेले बाहर जाओ तो समझ में आता है. एक बार मैं कैफे थी. अपने दोस्त के साथ. एक अधेड़ उम्र के सज्जन आए. पहले तो मुझे बेटी वगैरह कहा. फिर कहते हैं, रोज़ हमारी बताई ये प्रार्थना करें, जीसस ठीक कर देंगे आपको.

…क्या कर सकते हैं?

दूसरी बात है कि सोशल डिस्टेंसिंग एक जरुरी चीज़ है इस समय. लेकिन कई बार ये संभव नहीं है. मैं अकेले बाहर जाती तो हूं लेकिन हर जगह यह संभव नहीं हो पाता. मेट्रो वगैरह में कई बार मदद की जरुरत पड़ती है. वैसे समय में सोशल डिस्टेंसिंग कैसे संभव होगी. इसके बाद से सरकारों की अवेयरनेस में इन सब चीजों के लिए कोई गाइडलाइन ही नहीं है.

एक संस्था द्वारा आयोजित कार्यक्रम में सृष्टि ने यह पुरस्कार जीता था
एक संस्था द्वारा आयोजित कार्यक्रम में सृष्टि ने यह पुरस्कार जीता था

मेरी सबसे ज्यादा चिंता कोरोना के बाद के टाइम की है. इसे खत्म होने में अभी वक्त लगेगा. जितना मैंने समझा है. लॉकडाउन के बाद भी सोशल डिस्टेंसिंग और हाथों की सफाई वगैरह के लिए लोग अवेयर रहेंगे. तब हमारे लिए ज्यादा प्रॉब्लम है. यूजुअली, घर के बाहर वाशरुम एक्सेसबल नहीं होते. इसलिए मैं बाहर रहती हूं तो पानी वगैरह कम पीती हूं. जहां तक हाथ सैनेटाईज करने की बात है, लगभग हर जगह के वॉश बेसिन तक मेरे हाथ नहीं पंहुच पाते. बार-बार व्हिलचेयर पर हाथ जाता है, सैनेटाइज तो करना ही होगा. यही सब चीजें मेंटल हेल्थ पर भी असर डालती हैं. और किसी से शेयर करते भी नहीं बनता

कोट-आप अकेले नहीं हैं, सब परेशान हैं. साइकोलॉजी की स्टूडेंट हूं इसलिए बता रही हूं. सबके दिमाग की हालत एक जैसी हो गई है. इसलिए बस इतना ध्यान रखिए, सब ठीक हो जाएगा.


कोरोना डायरीज. अलग अलग लोगों की आपबीती. जगबीती. ताकि हम पढ़ें. संवेदनशील और समझदार हों. ये अकेले की लड़ाई नहीं है. इसलिए अनुभव साझा करना जरूरी है. इस वीडियो में हर्ष अपनी कहानी बता रहे हैं. जो गुरुग्राम के एक कॉल सेंटर में काम करते थे. अगर आपका भी कोई खास एक्सपीरियंस है. तस्वीर या वीडियो है. तो हमें भेजें.

corona.diaries.LT@gmail.com पर.


वीडियो देखें:करोना डायरीज़: पोलैंड में कोरोना वायरस से कैसे निबट रही है सरकार?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

करीना कपूर के फैन हो तो इ वाला क्विज खेल के दिखाओ जरा

करीना कपूर के फैन हो तो इ वाला क्विज खेल के दिखाओ जरा

बेबो वो बेबो. क्विज उसकी खेलो. सवाल हम लिख लाए. गलत जवाब देकर डांट झेलो.

रवनीत सिंह बिट्टू, कांग्रेस का वो सांसद जिसने एक केंद्रीय मंत्री के इस्तीफे का प्लॉट तैयार कर दिया!

रवनीत सिंह बिट्टू, कांग्रेस का वो सांसद जिसने एक केंद्रीय मंत्री के इस्तीफे का प्लॉट तैयार कर दिया!

17 सितंबर को किसानों के मुद्दे पर बिट्टू ऐसा बोल गए कि सियासत में हलचल मच गई.

मोदी जी का बड्डे मना लिया? अब क्विज़ खेलकर देखो उनको कितना जानते हो मितरों

मोदी जी का बड्डे मना लिया? अब क्विज़ खेलकर देखो उनको कितना जानते हो मितरों

अच्छे नंबर चइये कि नइ चइये?

KBC में करोड़पति बनाने वाले इन सवालों का जवाब जानते हो कि नहीं, यहां चेक कर लो

KBC में करोड़पति बनाने वाले इन सवालों का जवाब जानते हो कि नहीं, यहां चेक कर लो

करोड़पति बनने का हुनर चेक कल्लो.

विधायक विजय मिश्रा, जिन्हें यूपी पुलिस लाने लगी तो बेटियां बोलीं- गाड़ी नहीं पलटनी चाहिए

विधायक विजय मिश्रा, जिन्हें यूपी पुलिस लाने लगी तो बेटियां बोलीं- गाड़ी नहीं पलटनी चाहिए

चलिए, विधायक जी की कन्नी-काटी जानते हैं.

नेशनल हैंडलूम डे: और ये है चित्र देखो, साड़ी पहचानो वाली क्विज

नेशनल हैंडलूम डे: और ये है चित्र देखो, साड़ी पहचानो वाली क्विज

कभी सोचा नहीं होगा कि लल्लन साड़ियों पर भी क्विज बना सकता है. खेलो औऱ स्कोर करो.

सौरव गांगुली पर क्विज़!

सौरव गांगुली पर क्विज़!

सौरव गांगुली पर क्विज़. अपना ज्ञान यहां चेक कल्लो!

कॉन्ट्रोवर्सियल पेंटर एमएफ हुसैन के बारे में कितना जानते हैं आप, ये क्विज खेलकर बताइये

कॉन्ट्रोवर्सियल पेंटर एमएफ हुसैन के बारे में कितना जानते हैं आप, ये क्विज खेलकर बताइये

एमएफ हुसैन की पेंटिंग और विवाद के बारे में तो गूगल करके आपने खूब जान लिया. अब ज़रा यहां कलाकारी दिखाइए.

'हिटमैन' रोहित शर्मा को आप कितना जानते हैं, ये क्विज़ खेलकर बताइए

'हिटमैन' रोहित शर्मा को आप कितना जानते हैं, ये क्विज़ खेलकर बताइए

आज 33 साल के हो गए हैं रोहित शर्मा.

क्विज़: खून में दौड़ती है देशभक्ति? तो जलियांवाला बाग के 10 सवालों के जवाब दो

क्विज़: खून में दौड़ती है देशभक्ति? तो जलियांवाला बाग के 10 सवालों के जवाब दो

जलियांवाला बाग कांड के बारे में अपनी जानकारी आप भी चेक कर लीजिए.