Submit your post

Follow Us

कोरोना डायरीज: इस लड़की को क्यूं लगा कि वो 'जब वी मेट' की गीत से 'कबीर सिंह' बन जाएगी?

सांकेतिक तस्वीर
सांकेतिक तस्वीर

नाम: प्रार्थिता (बदला हुआ नाम)

काम: मीडिया में खबरें लिखना

जगह:नोएडा 

 

जब तक दुकानें खुली थीं, आवाजाही हो रही थी लोगों की, तब तक सब नॉर्मल लग रहा था. अचानक से दूध लेने पहुंचे दूकान पर, तो पता चला अगले कोने तक लाइन लगी हुई है. हमने पूछा, ‘भई दिक्कत क्या है?’ कहते, ‘मैडम मोय न पतो.सनक रहे हैं सब.’

पूरी की पूरी आइल खाली थी. आटा? गायब. दाल? गायब. चावल? गायब. वो तो भला हो मम्मी साथ नहीं रहतीं, वरना ब्रेड-बटर खाकर दो दिन गुजारने का प्लैन खटाई में पड़ जाता.

Corona Banner
कोरोना डायरीज़ की और भी ख़बरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.

ऑफिस का काम घर से करना सीख रहे हैं. पर एक पेच है. सुबह-सुबह की मीटिंग के लिए शक्ल सुधारनी पड़ती है. ऑफिस से ‘पत्थरफेंक’ दूरी पर रहने वाले हम जैसे लोग ये भी नहीं कह सकते चलो ट्रेवल टाइम तो बचा. ये सुकून भी हासिल नहीं. पूरे दिन घर पे अकेले रहने से टॉप फ्लोर हिल जाता है. और मुझ जैसे बातूनी का तो क्या ही कहें. कभी-कभी लगता है ‘जब वी मेट’ की गीत से कबीर सिंह ना बन जाऊं.

हां, इसकी एक पॉजिटिव चीज़ ज़रूर हुई है, खाना-पीना सुधर गया है. खुद से बनाते-बनाते अब पता चल गया है कि कौन सी चीज़ें जल्दी बन जाती हैं. माहौल भी बेहतर लग रहा. कल बाहर निकलने पर सांस लेने में दिक्कत नहीं हुई. हवा में भारीपन कम था. रात को झींगुरों की आवाज़ न जाने कितने सालों बाद सुनी.

Girl 1149933 1280
लोग कहते हैं अकेले हो, तो अपने भीतर झांको. मैं तो कहती हूं बाहर देखो. बार-बार देखो, और ऐसे देखो जैसे हर बार नई चीज़ देख रहे हो. कुछ न कुछ तो दिख ही जाएगा. (सांकेतिक तस्वीर)

लेकिन गिल्ट ट्रिप आती है कि ऑफिस नहीं जा रहे, तो घर पर वर्क आउट ही कर लो. कुछ तो कर लो. कब तक स्क्रीन से चिपके रहोगे. इस चक्कर में मुझे ये पता चला है कि-

# मेरे घर में 37 स्विच हैं.
# इनमें से 5 काम नहीं करते.
# नीचे रहने वाली बिल्ली की सामने वाली बिल्डिंग की बिल्ली से रोज़ लड़ाई होती है.
# प्याज को भूनने से पहले थोड़ा नमक डाल दो तो जल्दी भुन जाता है.
# ऊपर वाले फ़्लैट में रहने वाले लोगों का फेवरेट खेल है फर्नीचर खिसकाना. पूरे दिन. सोच रही हूं उनको जाकर लूडो या मोनोपोली गिफ्ट कर आऊं.

पर जो सबसे ज़रूरी बात पता चली, वो ये कि मुश्किल से मुश्किल वक़्त में भी इंसान रास्ता ढूंढ ही लेता है. इन हालात में भी मेरे दोस्त एक बार कॉल करके मुझसे बात कर लेते हैं. उनकी अपनी दिक्कतें हैं, लेकिन हाल पूछना नहीं भूलते. दुकान वाले भैया राशन के लिए फोन करके पूछ लेते हैं,

कुछ चाहिए तो नहीं. भिजवा दें?

कोट-

हमारी पीढ़ी ने कोई युद्ध नहीं देखा. विभाजन नहीं देखा. महामारी नहीं देखी. सुनसान सड़कें नहीं देखीं. मानव जाति के इतिहास में इतनी बड़ी घटना देख रही, और उससे सीख रही हमारी आने वाली पीढ़ी ज्यादा समझदार हो, उम्मीद यही है.


कोरोना डायरीज. अलग अलग लोगों की आपबीती. जगबीती. ताकि हम पढ़ें. संवेदनशील और समझदार हों. ये अकेले की लड़ाई नहीं. है. इसलिए अनुभव साझा करना जरूरी है. आपका भी कोई खास एक्सपीरियंस है. तस्वीर या वीडियो है. तो हमें भेजें.

corona.diaries.LT@gmail.com


वीडियो: कोरोना डायरीज: लॉकडाउन के दौरान घर पर सामान भर रहे हैं, तो पहले इनकी बात सुन लें 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

मधुबाला को खटका लगा हुआ था इस हीरोइन को दिलीप कुमार के साथ देखकर

एक्ट्रेस निम्मी के गुज़र जाने पर उनको याद करते हुए उनकी ज़िंदगी के कुछ किस्से

90000 डॉलर का कर्ज़ा उतारकर प्राइवेट जेट खरीद लिया था इस 'गैंबलर' ने

उस अमेरिकी सिंगर की अजीब दास्तां, जो बात करने के बजाए गाने में ज़्यादा कंफर्टेबल महसूस करता था

YES Bank शुरू करने वाले राणा कपूर कौन हैं, जिन्होंने नोटबंदी को 'मास्टरस्ट्रोक' बताया था

यस बैंक डूब रहा है.

सात साल पहले केजरीवाल ने वो बात कही थी जो आज वो ख़ुद नहीं सुनना चाहते

बरसों पुरानी इस बात की वजह से सोशल मीडिया पर घेर लिए गए हैं.

क्या भारत सरकार से पूछे बिना पाकिस्तान चली गई इंडियन कबड्डी टीम?

अब ढेरों खेल-तमाशा हो रहा है.

बजट का कितना ज्ञान है, ये क्विज़ खेलकर चेक कर लो!

कितना नंबर पाया, बताते हुए जाना. #Budget2020

संविधान के कितने बड़े जानकार हैं आप?

ये क्विज़ जीत लिया तो आप जीनियस हुए.

क्रिकेट के पक्के वाले फैन हो तो इस क्विज़ को जीतकर बताओ

कित्ता नंबर मिला, सच-सच बताना.

सलमान खान के फैन, इधर आओ क्विज खेल के बताओ

क्विज में सही जवाब देने वाले के लिए एक खास इनाम है.

QUIZ: देश के सबसे महान स्पोर्टसमैन को कितना जानते हैं आप?

आज इस जादूगर की बरसी है.