Submit your post

Follow Us

कॉमनवेल्थ गेम्स: अंग्रेजों की गुलामी में रहे मुल्कों का सबसे बड़ा खेल आयोजन

4 अप्रैल से 15 अप्रैल के बीच में एक बड़ा स्पोर्ट्स इवेंट हो रहा है. नाम है कॉमनवेल्थ गेम्स. याद होगा जो दिल्ली में साल 2010 में हुआ था. पूरी दिल्ली की शक्ल बदल गई थी. उस दौरान सड़कों से लेकर फ्लाईओवर्स और स्टेडियम से लेकर स्पोर्ट्स कॉम्पलेक्स तक बनाए गए थे. दिल्ली के बाद नंबर था स्कॉटलैंड के शहर ग्लासगो में हुए 2014 के CWG का और अब ये बारी है ऑस्ट्रेलिया के शहर गोल्ड कोस्ट में हो रहे इन कॉमनवेल्थ गेम्स की. माना जाता है कि दुनिया में हर तीन इंसानों में से एक कॉमनवेल्थ देशों में रहता है. वो देश जो कभी ब्रिटिश हुकूमत के अधीन रहे. इन मुल्कों में हर धर्म, रंग, समुदाय और लिंग के लोग रहते हैं. ऐसे में कॉमनवेल्थ गेम्स इन मुल्कों के लिए अपने स्पोर्ट्स टैलंट को सामने लाने का एक बड़ा मौका होते हैं.

गोल्ड कोस्ट 2018

CWG18

ये पांचवां मौका है जब ऑस्ट्रेलिया के किसी शहर को कॉमनवेल्थ गेम्स की मेजबानी मिली है.

ऑस्ट्रेलिया का शहर गोल्ड कोस्ट. ये ऑस्ट्रेलिया का छठा सबसे बड़ा शहर है. समुद्री किनारों वाले इस शहर में इन दिनों करीब 6000 एथलीट्स जुटे हुए हैं और 275 गोल्ड मेडल यहां जीतने के लिए हैं. ये 5वां मौका है जब कॉमनवेल्थ गेम्स की मेजबानी किसी ऑस्ट्रेलियन शहर को मिली है. कैनेडा भी चार बार इसे होस्ट कर चुका है. ये इन गेम्स का 21वां आयोजन है और कॉमनवेल्थ गेम्स फेडरेशन की निगरानी में ये गेम्स होते हैं. गोल्ड कोस्ट के बाद बारी 2022 में इंग्लैंड के शहर बर्मिंघम की है.

कॉमनवेल्थ नाम क्यों?

CWG 2018

पहला आयोजन साल 1930 में ब्रिटिश एंपायर गेम्स के नाम से हुआ था.

ये एक बड़ा स्पोर्ट्स इवेंट है. इसमें वो मुल्क हिस्सा लेते हैं जो ब्रिटिश एंपायर के अधीन रहे होते हैं. यानी जिन मुल्कों पर कभी अंग्रेजों की हुकूमत रही हो वो इन गेम्स में शामिल होते हैं. कॉमनवेल्थ का मतलब भी यही है कि एक जैसी इकॉनमी वाले मुल्क. इनमें 71 छोटे-बड़े मुल्क शामिल होते हैं. हर चार साल में ये गेम्स होते हैं. अंग्रेजी शासन के अधीन सभी देशों को एक मंच पर लाने के मकसद से शुरू किए गए इस खेल आयोजन का आइडिया साल 1891 में सामने आया था. 1911 में किंग जॉर्ज V की लंदन में ताजपोशी के आयोजन के मौके पर जो कार्यक्रम रखा गया उसमें ऑस्ट्रेलिया, कैनेडा, साउथ अफ्रीका और यूके की टीमें शामिल हुई थीं. ये टीमें बॉक्सिंग, कुश्ती, स्विमिंग और एथलैटिक्स की थीं.

पहली बार साल 1930 में कैनेडा के हैमिल्टन शहर में इनका आयोजन किया गया था. तब इनका नाम ब्रिटिश एंपायर गेम्स था और उस वक्त 11 देशों के 400 के करीब एथलीट्स इसमें शामिल हुए थे. 1942 और 1946 में ये गेम्स द्वितीय विश्व युद्ध के चलते नहीं हो पाए थे. दो बार को छोड़ ये लगातर ऑर्गेनाइज हो रहे हैं. साल 1952 में इन गेम्स का नाम ब्रिटिश एंपायर एंड कॉमनवेल्थ गेम्स कर दिया गया. इसके बाद 1978 में जब ये कैनेडा के एडमंटन शहर में आयोजित हुईं, तो इनका नाम बदलकर कॉमनवेल्थ गेम्स कर दिया गया. एशिया में पहली बार ये गेम्स साल 1998 में आईं जब मलेशिया को इसकी मेजबानी मिली.

कौन-कौन से इवेंट होते हैं

CWG 2018 Gold Coast

भारत की वेटलिफ्टर संजीता चानू.

कॉमनवेल्थ में स्विमिंग, वेटलिफ्टिंग, एथलेटिक्स, बॉक्सिंग, बैडमिंटन, हॉकी, रेसलिंग, जिमनास्टिक और शूटिंग समेत 18 स्पोर्ट्स इवेंट हैं. कुल 275 गोल्ड मेडल यहां जीतने के लिए हैं.  साथ ही 7 पैरा-स्पोर्ट्स इवेंट्स को भी यहां जगह दी जाती है. 1994 से पहले दिव्यांग खिलाड़ियों के लिए पैरा इवेंट्स नहीं होते थे.

इंडिया की उम्मीदें

PV Sindhu CWG

भारतीय दल की अगुवाई इस बार पीवी सिंधू कर रही हैं.

अब बात अपने देश भारत की. 225 एथलीट्स का एक दस्ता इस इवेंट में भारत की मेजबानी के लिए पहुंचा हुआ है. जिन खेलों में इंडिया को मेडल की उम्मीद है, वो हैं बैडमिंटन, शूटिंग, बॉक्सिंग और वेटलिफ्टिंग. बैडमिंटन स्टार पीवी सिंधू इस बार भारतीय दल की अगुवाई कर रही हैं. सिंधू के अलावा साइना नेहवाल और के श्रीकांत भी बैडमिंटन में मेडल के दावेदार हैं. कुश्ती में साक्षी मलिक, जेवलिन थ्रो में नीरज चोपड़ा, बॉक्सिंग में एमसी मैरी कॉम और विकास कृष्ण, शूटिंग में जीतू राय और मेहुली घोष और वेटलिफ्टिंग में संजीता चानू से मेडल की उम्मीद है. पिछले तीन कॉमनवेल्थ गेम्स में इंडिया ने 215 मेडल जीते हैं.

लल्लनटॉप वीडियो भी देखिए:


Also Read

अफरीदी के कश्मीर पर बयान पर गौतम गंभीर ने कहा- अबे ये नो बॉल है!

क्रिकेट के मैदान से आज आई ये तस्वीर आपका दिन बना देगी

इंडिया का वो बॉलर जिसने अपना पहला विकेट करियर की पहली गेंद पर लिया

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

'मनी हाइस्ट' वाले प्रोफेसर की पूरी कहानी, जिनकी पत्नी ने कहा था, 'कभी फेमस नहीं हो पाओगे'

'मनी हाइस्ट' वाले प्रोफेसर की पूरी कहानी, जिनकी पत्नी ने कहा था, 'कभी फेमस नहीं हो पाओगे'

अलवारो मोर्टे ने वेटर तक का काम किया हुआ है. और एक वक्त तो ऐसा था कि बकौल उनके कैंसर से जान जाने वाली थी.

एक्टर शरत सक्सेना की कहानी, जिन्होंने 71 साल की उम्र में ज़बरदस्त बॉडी बनाकर सबको चौंका दिया

एक्टर शरत सक्सेना की कहानी, जिन्होंने 71 साल की उम्र में ज़बरदस्त बॉडी बनाकर सबको चौंका दिया

हीरो बनने आए शरत सक्सेना कैसे गुंडे का चमचा बनने पर मजबूर हुए?

'भीगे होंठ तेरे' वाले कुणाल गांजावाला आजकल कहाँ हैं?

'भीगे होंठ तेरे' वाले कुणाल गांजावाला आजकल कहाँ हैं?

एक वक़्त इंडस्ट्री में टॉप पर थे कुणाल और उनके गाने पार्टियों की जान हुआ करते थे.

राज कुंद्रा की पूरी कहानी, 18 की उम्र में शॉल बेचने से शुरुआत करने वाले राज यहां तक कैसे पहुंचे?

राज कुंद्रा की पूरी कहानी, 18 की उम्र में शॉल बेचने से शुरुआत करने वाले राज यहां तक कैसे पहुंचे?

IPL स्कैंडल, मॉडल्स के आरोप, अंडरवर्ल्ड कनेक्शंस के आरोप, एक्स वाइफ के इल्ज़ाम सब हैं इस कहानी में.

रिचर्ड ब्रैनसन: जिन्होंने पहले अंतरिक्ष के दर्शन करके जेफ बेजोस का मजा खराब कर दिया

रिचर्ड ब्रैनसन: जिन्होंने पहले अंतरिक्ष के दर्शन करके जेफ बेजोस का मजा खराब कर दिया

रिचर्ड ब्रेन्सन की कहानी, जहां भी गए तहलका मचा दिया.

'सिंघम' IPS से तमिलनाडु BJP के सबसे युवा अध्यक्ष बने अन्नामलाई की कहानी

'सिंघम' IPS से तमिलनाडु BJP के सबसे युवा अध्यक्ष बने अन्नामलाई की कहानी

पहला चुनाव हार गए थे, बीजेपी ने राज्य की जिम्मेदारी सौंपी है.

'तड़प-तड़प के' जैसा प्रेमियों का ब्रेकअप एंथम देने वाले सिंगर के के आजकल कहां हैं?

'तड़प-तड़प के' जैसा प्रेमियों का ब्रेकअप एंथम देने वाले सिंगर के के आजकल कहां हैं?

उनके गाए 'पल' गाने के बगैर आज भी किसी कॉलेज का फेयरवेल पूरा नहीं होता.

कर लिया योगा? अब क्विज खेलने से होगा

कर लिया योगा? अब क्विज खेलने से होगा

आन्हां, ऐसे नहीं कि योग बस किए, दिखाना पड़ेगा कि बुद्धिबल कित्ता बढ़ा.

तमिल जनता आखिर क्यों कर रही है 'फैमिली मैन-2' का विरोध, क्या है LTTE की पूरी कहानी?

तमिल जनता आखिर क्यों कर रही है 'फैमिली मैन-2' का विरोध, क्या है LTTE की पूरी कहानी?

जब ट्रेलर आया था, तबसे लगातार विरोध जारी है.

माधुरी से डायरेक्ट बोलो 'हम आपके हैं फैन'

माधुरी से डायरेक्ट बोलो 'हम आपके हैं फैन'

आज जानते हो किसका हैप्पी बड्डे है? माधुरी दीक्षित का. अपन आपका फैन मीटर जांचेंगे. ये क्विज खेलो.