Submit your post

Follow Us

किसी पर कोई आरोप न हो, क्या तब भी पुलिस उसका मोबाइल ज़ब्त कर सकती है?

सुशांत सिंह राजपूत मामले की जांच करते समय एक्ट्रेस रिया चक्रवर्ती का मोबाइल फोने जब्त कर लिया गया था. सुशांत की मैनेजर रहीं जया साहा के साथ भी ऐसा ही हुआ. ड्रग्स खरीदने की वॉट्सएप चैट वायरल होने के बाद नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) ने दीपिका पादुकोण, श्रद्धा कपूर और सारा अली खान से पूछताछ की. बयान दर्ज किए. जांच के लिए इनके मोबाइल भी जब्त कर लिए. ऐसे में सवाल ये उठता है कि जो आरोपी नहीं हैं, क्या उनके फोन को जब्त करने का अधिकार जांच एजेंसियों के पास होता है? अगर सीज़ करने के बाद फोन का कोई डेटा लीक होता है, तो मोबाइल का मालिक कहां शिकायत कर सकता है? हम बात करेंगे इन्हीं के कानूनी पहलुओं पर.

सबसे पहले जानें CrPC में इसके बारे में क्या लिखा है.

क्रिमिनल प्रोसिजर कोड यानी CrPC, 1973. आपराधिक मामलों में अपनाई जाने वाली प्रक्रियाओं का लेखा-जोखा इसी कानून में होता है. CrPC की धारा 102 कहती है-

“कोई भी पुलिस अधिकारी किसी भी ऐसी सामग्री को जब्त कर सकता है, जो कथित रूप से चोरी की हुई हो या संदिग्ध हो, या जो किसी अपराध से जुड़ी होने का संदेह पैदा करने वाली परिस्थितियों में पाई गई हो.”

मतलब ये कि सीआरपीसी की धारा 102 में पुलिस को ये अधिकार दिए गए हैं कि वह जांच के लिए सामग्री को जब्त कर सकती है. यह मोबाइल, लैपटॉप, निजी डायरी या ऐसा कुछ भी हो सकता है. जब्त करने के लिए सुराग और शक होना ही काफी है. इससे फर्क नहीं पड़ता कि वह व्यक्ति आरोपी है या मामले में सिर्फ एक गवाह है. बस पुलिस की नजरों में वह चीज जांच के लिहाज से अहम होनी चाहिए. पुलिस को ऐसी जब्त की गई सामग्री की जानकारी मजिस्ट्रेट को देनी होती है.

सारा अली खान को एनसीबी की ओर से समन जारी किया गया था. जिसके बाद उनसे ड्रग्स मामले में पूछताछ की गई.
सारा अली खान को एनसीबी की ओर से समन जारी किया गया था, जिसके बाद उनसे ड्रग्स मामले में पूछताछ की गई.

बॉलीवुड ड्रग्स मामले की जांच कर रही एनसीबी तकनीकी रूप से पुलिस नहीं, बल्कि एक केंद्रीय जांच एजेंसी है. नशीली दवाओं और मादक पदार्थ निरोधक अधिनियम (NDPS Act), 1985 के तहत एनसीबी को भी जांच के लिए सामग्री जब्त करने का अधिकार है.

अगर प्राइवेट बातें लीक हो जाएं, तो क्या कर सकते हैं?

अब मोबाइल फोन में तो आजकल लोगों की पूरी सीक्रेट हिस्ट्री छिपी होती है. ऐसे में अगर वो जांच एजेंसियों के हाथ लगता है, और वो उसमें से खोद-खोदकर यूजर की पर्सनल जानकारियां निकाल लेती हैं, तो क्या उन्हें सार्वजनिक किया जा सकता है? इस बारे में कानून कहता है कि जांच के दौरान जब्त किए गए मोबाइल फोन में मिली निजी जानकारी को लीक करना अपराध है. निजता के अधिकार का उल्लंघन है. अगर किसी को लगता है कि उसका डेटा लीक किया जा रहा है, तो वह अदालत में जाकर इसके खिलाफ याचिका दायर कर सकता है.

दीपिका पादुकोण को भी एनसीबी ने पूछताछ के लिए बुलाया था. कहा जा रहा था कि एक व्हॉट्सएप चैट पर कथित तौर पर दीपिका, अपनी मैनेजर से ड्रग्स मांग रही थीं.
दीपिका पादुकोण को भी एनसीबी ने पूछताछ के लिए बुलाया था. कहा जा रहा था कि एक वॉट्सऐप चैट पर कथित तौर पर दीपिका अपनी मैनेजर से ड्रग्स मांग रही थीं.

मुंबई हाई कोर्ट के वकील दीपक डोंगरे भी कहते हैं कि पुलिस और जांच एजेंसियां छानबीन के लिए मोबाइल फोन ज़ब्त कर सकते हैं, लेकिन उनसे किसी भी तरह की जानकारी लीक नहीं होनी चाहिए. वे कहते हैं-

“जांच के दौरान अगर व्यक्ति की निजी जानकारी लीक हो जाती है, तो ऐसे में वह अधिकारी के ख़िलाफ़ मानहानि का मुकदमा दर्ज करा सकता है.”

किसी भी केस प्रॉपर्टी को जब्त करते समय अधिकारी उसे सील करके पंचनामा भरते हैं. मोबाइल, लैपटॉप जैसे इलेक्ट्रॅानिक आइटम जब्त होते हैं, तो उनकी हैश वैल्यू दर्ज की जाती है. मतलब जब्ती के समय उनकी स्थिति लिखी जाती है, ताकि डिवाइस से छोड़छाड़ न हो सके. जांच के बाद अगर पुलिस को कोई सबूत नहीं मिलता, तो कोर्ट में आवेदन के जरिए फोन वापस किए जाने की कार्यवाही करने का भी नियम है. लेकिन अगर उससे महत्वपूर्ण जानकारी मिलती है, तो चार्जशीट या फिर कोर्ट रिकॉर्ड में उसे दर्ज किया जाता है. कोर्ट के आदेश के बाद ही फोन लौटाया जाता है.

(ये कॉपी हमारे यहां इंटर्नशिप कर रहे बृज द्विवेदी ने लिखी है)


वीडियो: दी सिनेमा शो: दीपिका के साथ NCB की पूछताछ में रणवीर सिंह भी शामिल होंगे?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

माधुरी से डायरेक्ट बोलो 'हम आपके हैं फैन'

माधुरी से डायरेक्ट बोलो 'हम आपके हैं फैन'

आज जानते हो किसका हैप्पी बड्डे है? माधुरी दीक्षित का. अपन आपका फैन मीटर जांचेंगे. ये क्विज खेलो.

जिन मीम्स को सोशल मीडिया पर शेयर कर चौड़े होते हैं, उनका इतिहास तो जान लीजिए

जिन मीम्स को सोशल मीडिया पर शेयर कर चौड़े होते हैं, उनका इतिहास तो जान लीजिए

कौन सा था वो पहला मीम जो इत्तेफाक से दुनिया में आया?

पार्टियों को चुनाव निशान के आधार पर पहचानते हैं आप?

पार्टियों को चुनाव निशान के आधार पर पहचानते हैं आप?

चुनावी माहौल में क्विज़ खेलिए और बताइए कितना स्कोर हुआ.

लगातार दो फिफ्टी मारने वाले कोहली ने अब कहां झंडे गाड़ दिए?

लगातार दो फिफ्टी मारने वाले कोहली ने अब कहां झंडे गाड़ दिए?

राहुल के साथ यहां भी गड़बड़ हो गई.

रोहित शेट्टी के ऊपर ऐसी कड़क Quiz और कहां पाओगे?

रोहित शेट्टी के ऊपर ऐसी कड़क Quiz और कहां पाओगे?

14 मार्च को बड्डे होता है. ये तो सब जानते हैं, और क्या जानते हो आके बताओ. अरे आओ तो.

आमिर पर अगर ये क्विज़ नहीं खेला तो दोगुना लगान देना पड़ेगा

आमिर पर अगर ये क्विज़ नहीं खेला तो दोगुना लगान देना पड़ेगा

म्हारा आमिर, सारुक-सलमान से कम है के?

परफेक्शनिस्ट आमिर पर क्विज़ खेलो और साबित करो कितने जाबड़ फैन हो

परफेक्शनिस्ट आमिर पर क्विज़ खेलो और साबित करो कितने जाबड़ फैन हो

आज आमिर खान का हैप्पी बड्डे है. कित्ता मालूम है उनके बारे में?

अनुपम खेर को ट्विटर और वॉट्सऐप वीडियो के अलावा भी ध्यान से देखा है तो ये क्विज खेलो

अनुपम खेर को ट्विटर और वॉट्सऐप वीडियो के अलावा भी ध्यान से देखा है तो ये क्विज खेलो

चेक करो अनुपम खेर पर अपना ज्ञान.

कहानी राहुल वैद्य की, जो हमेशा जीत से एक बिलांग पीछे रह जाते हैं

कहानी राहुल वैद्य की, जो हमेशा जीत से एक बिलांग पीछे रह जाते हैं

'इंडियन आइडल' से लेकर 'बिग बॉस' तक सोलह साल हो गए लेकिन किस्मत नहीं बदली.

गायों के बारे में कितना जानते हैं आप? ज़रा देखें तो...

गायों के बारे में कितना जानते हैं आप? ज़रा देखें तो...

कितने नंबर आए बताते जाइएगा.