Submit your post

Follow Us

'बुखार, ब्रेकअप, आई लव यू'

shubham shri

शुभम हिंदी कविता की नौजवान खेप का हिस्सा हैं और जेएनयू से ‘लिटरेचर: इंडियन लैंग्वेजेस’ में पीएचडी कर रही हैं. स्त्री विषयों पर उनकी कविताएं खासी चर्चित हुई हैं. लेकिन आज उनकी जो कविता हम पढ़वा रहे हैं, वह इस दौर की एक प्रेम कविता है. प्यार तब तक नहीं होता, जब तक हरारत साथ न लाए. इस फलसफे में यकीन हो तो यह कविता आपको पढ़नी चाहिए.


104 डिग्री

अब पुलिस मुझे आइपीसी लगाकर गिरफ़्तार कर ले
तो भी नहीं कहूंगी कि मैंने तुमसे प्रेम किया है
प्रेम नहीं किया यार
प्रेम के लायक लिटरेचर नहीं पढ़ा
देखो, बात बस ये है कि..
..कि तुम्हारे बिना रहा नहीं जा सकता
कहो तो स्टांप पेपर पे लिख के दे दूं
नहीं.. नहीं..नहीं..


 

मैंने तुम्हारे दिमाग का दही बनाया है
लड़ाई की है, तंग किया है ?
हां किया है
तो लड़ लो
(वैसे तुमने भी लड़ाई की है पर अभी मैं वो याद नहीं दिला रही)
तुम भी तंग कर लो
ब्रेक अप क्यों कर रहे हो ?
ये मानव अधिकारों का कितना बड़ा उल्लंघन है
कि
आधे घंटे तक फ्रेंच किस करने के बाद तुम बोलो-
हम ब्रेक अप कर रहे हैं !

102 डिग्री

अफसोस कि मैं कुछ नहीं कर सकती
तुम्हारा ‘नहीं’ चाहना
इस ‘नहीं’ को हां कैसे करूं, कैसे ?
प्लीज बोलो ना
‘नहीं’ दुनिया का सबसे कमीना शब्द है
उससे भी ज्यादा है ‘ब्रेकअप’


अब एक प्यारे से लड़के की याद में

होमर बनने का क्या उपाय है दोस्तों ?
चाहती हूं वो लिखूं..वो लिखूं.. कि
आसमान रोए और धरती का सीना छलनी हो
पानी में आग लगे, तूफान आए
पर रोती भी मैं ही हूं, सीना भी मेरा ही छलनी होता है
आग तूफान सब मेरे ही भीतर है
बाहर सब बिंदास नॉर्मल रहता है
काश पता होता
प्यार करके तकलीफ़ होती है
काश
(हजारों सालों से कहते आ रहे हैं लोग लेकिन अपन ने भाव कहां दिया.. देना चाहिए था )

99 डिग्री

तुम्हें याद है जब एग्जाम्स के वक़्त मुझे ज़ुकाम हुआ था
कैसे स्टीम दिला दिला कर तुमने पेपर देने भेजा था
और बारिश में भीग कर बुखार हुआ था
तो कितना डांटा था
अब भी बुखार आता है मुझे
आंसू भी आने लगे हैं आजकल साथ में


कितनी आदतें बदलनी पड़ेंगी

खुद को ही बदल देना पड़ेगा शायद
जैसे कि अब बेफ़िक्र नहीं रहा जा सकता
खुश नहीं हुआ जा सकता कभी
और
सेक्स भी तो नहीं किया जा सकता


वो सारी किसेज जो पानी पीने और सूसू करने जितनी जरूरी थीं ज़िंदगी में
किसी सपने की मानिंद गायब हो गई हैं..

ओह कितनी यादें हैं, फिल्म है पूरी
कभी खत्म न होने वाली
मेरी सब फालतू बातें जिनसे मम्मी तक इरिटेट हो जाती थी
तुम्हीं तो थे जो सुन कर मुस्कुराया करते थे
और तुम, जिसकी सब आदतें मेरे पापा से मिलती थीं
और वो मैसेज याद हैं
हजारों एसएमएस.. मैसेज बॉक्स भरते ही डिलीट होते गए
उन्हें भरोसा था कि खुद डिलीट होकर भी
उन्होंने एक रिश्ते को ‘सेव’ किया है
दुनिया का सबसे प्यारा रिश्ता..
तुम चिढ़ जाओगे कि ये सब लिखने की बातें नहीं हैं
क्यों नहीं हैं ?
तुम्हारे प्यारे होठों से भी ज्यादा प्यारे डिंपल
और उनसे भी प्यारी मुस्कुराहट की याद
मुझे सेक्स की इच्छा से कहीं ज्यादा बेचैन करती है
तुम्हारे शरीर की खुशबू जिसके सहारे हमेशा गहरी नींद सोया जा सकता है
वही तुम, जिसे निहारते हुए लगता है-
काश इसे मैंने पैदा किया होता..
जिंदा रहने की चंद बुनियादी शर्तें ही तो हैं न
हवा, पानी, खाना और तुम
तुम..

101 डिग्री

मैं उन तमाम लड़कियों से
जो प्यार में तकिए भिगोती हैं और बेहोश होती हैं
माफी मांगना चाहती हूं
वो सभी लोग जो बीपीएल सूची के राशन की तरह
फोन रीचार्ज होने का इंतजार करते हैं
जो ऑक्सीजन की बजाय सिगरेट से सांस लेते हैं
वोदका के समंदर में तैरते हैं
हमेशा दुखी रहते हैं
उन पर ली गई सारी चुटकियां, तंज, ताने, मजाक
मैं वापस लेती हूं

104 डिग्री

और तुम
तुम तो कभी खुश नहीं रहोगे
रिलेशनशिप..अंडरस्टैंडिंग.. ईगो.. स्पेस..
नहीं जानती थी मैग्जीन्स से बाहर भी
इन शब्दों की एक दुनिया है


 

तुम्हारे सारे इल्ज़ाम मैं कबूल करती हूं
हां, मुझमें हजारों कमियां हैं
मैंने तुम्हें जंगलियों की तरह प्यार किया है
कि तुम्हें गले लगाने के पहले
फ्लैट की किस्त और इंश्योरेंस पॉलिसी नहीं जोड़ी
अपना साइकोएनालिसिस नहीं किया
हां, मुझे नहीं समझ आता ‘ब्रेक अप’ का मतलब
नहीं आता !
तुम्हें गुस्सा आता है तो आए
लेकिन
आइ लव यू
जितनी बार तुम्हारा ब्रेक अप, उतनी बार मेरा आइ लव यू..

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

इन नौ सवालों का जवाब दे दिया, तब मानेंगे आप ऐश्वर्या के सच्चे फैन हैं

इन नौ सवालों का जवाब दे दिया, तब मानेंगे आप ऐश्वर्या के सच्चे फैन हैं

कुछ ऐसी बातें, जो शायद आप नहीं जानते होंगे.

क्विज़: नुसरत फतेह अली खान को दिल से सुना है, तो इन सवालों का जवाब दो

क्विज़: नुसरत फतेह अली खान को दिल से सुना है, तो इन सवालों का जवाब दो

आज बड्डे है.

ये क्विज जीत नहीं पाए तो तुम्हारा बचपन बेकार गया

ये क्विज जीत नहीं पाए तो तुम्हारा बचपन बेकार गया

आज कार्टून नेटवर्क का हैपी बड्डे है.

रणबीर कपूर की मम्मी उन्हें किस नाम से बुलाती हैं?

रणबीर कपूर की मम्मी उन्हें किस नाम से बुलाती हैं?

आज यानी 28 सितंबर को उनका जन्मदिन होता है. खेलिए क्विज.

करीना कपूर के फैन हो तो इ वाला क्विज खेल के दिखाओ जरा

करीना कपूर के फैन हो तो इ वाला क्विज खेल के दिखाओ जरा

बेबो वो बेबो. क्विज उसकी खेलो. सवाल हम लिख लाए. गलत जवाब देकर डांट झेलो.

रवनीत सिंह बिट्टू, कांग्रेस का वो सांसद जिसने एक केंद्रीय मंत्री के इस्तीफे का प्लॉट तैयार कर दिया!

रवनीत सिंह बिट्टू, कांग्रेस का वो सांसद जिसने एक केंद्रीय मंत्री के इस्तीफे का प्लॉट तैयार कर दिया!

17 सितंबर को किसानों के मुद्दे पर बिट्टू ऐसा बोल गए कि सियासत में हलचल मच गई.

मोदी जी का बड्डे मना लिया? अब क्विज़ खेलकर देखो उनको कितना जानते हो मितरों

मोदी जी का बड्डे मना लिया? अब क्विज़ खेलकर देखो उनको कितना जानते हो मितरों

अच्छे नंबर चइये कि नइ चइये?

KBC में करोड़पति बनाने वाले इन सवालों का जवाब जानते हो कि नहीं, यहां चेक कर लो

KBC में करोड़पति बनाने वाले इन सवालों का जवाब जानते हो कि नहीं, यहां चेक कर लो

करोड़पति बनने का हुनर चेक कल्लो.

विधायक विजय मिश्रा, जिन्हें यूपी पुलिस लाने लगी तो बेटियां बोलीं- गाड़ी नहीं पलटनी चाहिए

विधायक विजय मिश्रा, जिन्हें यूपी पुलिस लाने लगी तो बेटियां बोलीं- गाड़ी नहीं पलटनी चाहिए

चलिए, विधायक जी की कन्नी-काटी जानते हैं.

नेशनल हैंडलूम डे: और ये है चित्र देखो, साड़ी पहचानो वाली क्विज

नेशनल हैंडलूम डे: और ये है चित्र देखो, साड़ी पहचानो वाली क्विज

कभी सोचा नहीं होगा कि लल्लन साड़ियों पर भी क्विज बना सकता है. खेलो औऱ स्कोर करो.