Submit your post

Follow Us

समीरः 'मन में आता है कि क्या इस नई पीढ़ी के आगे मुझे हथियार डाल देने चाहिए..'

516
शेयर्स
mm
अपर्णा पाठक

समीर को एक गीतकार के तौर पर बौद्धिक मंचों पर बहुत नहीं बोला-सोचा जाता है, लेकिन कहीं ये गीत बजे “दिल ने ये कहा है दिल से” तो तुरंत अगली लाइन दिमाग में आ जाती है – “मुहब्बत हो गई है तुमसे”. हमारी स्मृतियों में सबसे ज्यादा समीर के गाने दर्ज हैं. इसलिए भी क्योंकि सबसे ज्यादा गाने भी उन्होंने ही लिखे. इसके लिए उनका नाम गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स में शामिल है.

जुलाई 2016 में समीर की ज़िंदगी के सारे उतार-चढ़ाव समेटे उनकी एक ऑफिशियल बायोग्राफी आई. इसे अपर्णा पाठक ने लिखा और वाणी प्रकाशन ने प्रकाशित किया. इसी बुक से हम समीर के बारे में कुछ किस्से छांट कर लाए हैं. आज समीर के बड्डे पर इसे पढ़ेंः 


समीर के अनुसार उनके फ़िल्मी सफ़र को तीन भागों में बांटा जा सकता है. पहला भाग वह जब समीर अपने पिता और उनके समकालीन संगीतकारों जैसे लक्ष्मीकान्त–प्यारेलाल, राजेश रोशन, चित्रगुप्त आदि के संरक्षण में बॉलीवुड में अपनी जगह बनाने की कोशिश कर रहे थे. दूसरा जब समीर आनंद-मिलिंद, नदीम–श्रवण, अनु मलिक, जतिन-ललित के साथ कामयाबी की ऊंचाइयों को छू रहे थे. और तीसरा भाग में अब समीर शंकर-एहसान-लॉय, हिमेश रेशमिया, विशाल- शेखर, अदनान समी, प्रीतम चक्रबर्ती आदि के साथ काम कर रहे हैं.

हर भाग में वे एक नई पीढ़ी के तैयार किए गए संगीत में अपने गीतों से योगदान देकर, उनका हिस्सा बने रहे. हर नई पीढ़ी के संगीतकारों की मांग, उनकी उम्मीदों और उनके काम करने के नए अंदाज़ के अनुसार, समीर गीत लिखते भी रहे और उनके लिखे गाने हिट भी होते रहे, जो कि अपने आप में एक बहुत बड़ी उपलब्धि है. हर नई पीढ़ी की सोच को समझ कर और उनकी नब्ज़ पकड़ कर उनकी अपेक्षाओं पर भी खरा उतरना आसान नहीं है. क्या कोई और गीतकार ऐसा कर पाया है?

Vaani Prakashan.jpeg
वाणी प्रकाशन की है बुक.

आखिरकार 9 फरवरी, 1990 में शुक्रवार के दिन ‘आशिकी’ रिलीज़ हुई और फ़िल्म ने सुपरहिट होकर बॉलीवुड के बहुत से रिकॉर्ड तोड़ दिए. पूरी टीम ने फिल्मफेयर अवार्ड्स में भी अपना वर्चस्व रखा. नदीम-श्रवण को सबसे अच्छे संगीत निर्देशन का अवॉर्ड मिला और कुमार सानू को “अब तेरे बिन जी लेंगे हम” के लिए सर्वश्रेष्ठ गायक का अवॉर्ड मिला. अनुराधा पौडवाल को “नज़र के सामने जिगर के पास” के लिए सर्वश्रेष्ठ गायिका का पुरस्कार मिला और समीर को साल के सर्वश्रेष्ठ गीतकार का अवॉर्ड. यह उनका ही नहीं, बल्कि उन सभी का पहला अवॉर्ड था.

इतना ही नहीं ‘आशिकी’ ने सर्वाधिक हिंदी फिल्म एल्बम बेचने का रिकॉर्ड अभी तक कायम किया हुआ है. ‘आशिकी’ रिलीज़ होने के दो दिन के अंदर नदीम-श्रवण ने 10 बड़ी फिल्में साइन कीं. इसमें एक फिल्म सलमान खान,संजय दत्त और माधुरी दीक्षित की ‘साजन’ (1991) भी थी.

– अपर्णा पाठक


समीर से इंटरव्यू के कुछ अंश:

अपर्णा: इतनी सारी उपलब्धियां, इतना लम्बा सफ़र, आज जब पीछे मुड़ कर देखते हैं तो कैसा लगता है ?
समीर: बहुत ख़ुशी महसूस होती है. जो बनना चाहता था बन गया, जो करना चाहता था वह कर ही नहीं रहा हूं बल्कि उसमें एक मुकाम भी हासिल कर लिया है और अपने पिता को गौरवांवित भी होते हुए भी देख लिया है. इससे ज्यादा संतोषजनक बात कोई नहीं हो सकती है,पर अभी बहुत कुछ करना बाकी है. मैंने कभी कोई लक्ष्य निर्धारित करके काम नहीं किया; बस अच्छा लिखता रहा और लोगों को पसंद आता रहा; है न सोने पर सुहागा जैसी बात ?

अपर्णा : आपने लगभग 5000 गाने लिखे हैं जो की एक विश्व रिकॉर्ड है. आपका नाम पहले ही इसके लिए लिम्का बुक ऑफ़ रिकॉर्ड्स में दर्ज़ हो चुका है और जल्दी ही गिनीस बुक ऑफ़ रिकॉर्ड्स में दर्ज़ होने वाला है. आपको इसके लिए बहुत बहुत बधाई और शुभकामनाएं. जब आप गाने लिख रहे थे, कभी सोचा था की इतने सारे गाने लिख जाएंगे?
समीर: इतिहास खुद ब खुद लिख जाता है. मैंने बस अपना काम किया. जब बॉम्बे आया था आंखों में बस एक सपना था कि अपना लिखा एक गाना रेडियो पर सुनूं. ये तो लोगों की दुआएं हैं कि मैं मेहनत करता रहा और लोग सराहते रहे. बताओ ज़रा ! अगर सचिन तेंदुलकर का ध्यान अपने खेल की बजाय रिकॉर्ड्स पर होता तो क्या वे एक भी रिकॉर्ड बना पाते?


किताब से समीर के कुछ कोट्स:

#1. “कुछ कुछ होता है (1998) के मुख्य गाने के लिए, मुझे एक ऐसा गाना लिखने के लिए कहा गया था जिसमें “लव” या “प्यार” शब्द का प्रयोग न हो. इसका कारण भी मुझे बता दिया गया था. ऐसा इसलिए कहा गया था क्योंकि जो किरदार शाहरुख़ खान और काजोल फिल्म में निभा रहे थे, उसमें वे सिर्फ एक दूसरे की तरफ आकर्षित थे और उन्हें उनके बीच पनपते प्यार का अहसास भी नहीं था या फिर वे खुद इससे अनभिज्ञ थे जिसके कारण उनका प्रेम सिर्फ, एकतरफ़ा प्यार सा नज़र आ रहा था. इसलिए मैंने कुछ लाइनें लिखीं, “तुम पास आए, यूं मुस्कुराए” जो कि साफ तौर पर उनके बीच के आकर्षण की ओर इशारा कर रही थीं. ऐसे ही इसी फिल्म का एक और गाना “ये लड़की है दीवानी, है दीवानी” भी उनके बीच पारस्परिक आकर्षण को ध्यान में रख कर ही लिखा गया था. इन गानों पर अगर आप गौर करेंगे तो इनके शब्दों को काफी साधारण पाएंगे. पर फ़िल्म में उसकी कहानी या फिर किरदारों अनकहा रोमांस बखूबी बताते हैं.”


#2. “मेरा मानना है कि गीतकार को वही गाना लिखना चाहिए जो फ़िल्म की विचारधारा या कहानी को आगे ले जाने में मददगार हो और उसका पूरक लगे.”


#3. “मेरा मुश्किलों से भरा वक़्त ही मेरा वह स्तंभ बना जिसने संघर्ष करके इस मुक़ाम तक पहुंचने की मेरी इच्छा को हमेशा प्रबल बनाए रखा. उन दिनों ज़िन्दगी ने जो कुछ सिखाया वह आज भी मेरे काम आ रहा है. पर मुझे आज की पीढ़ी पर आश्चर्य होता है. विभिन्न प्रकार के कष्टों और अभावों से न सामना होने के बावजूद ये कैसे सड़क पर चलते किसी गरीब की पीड़ा को भी बखूबी समझ लेती है. जो बातें इस पीढ़ी ने अनुभवों से नहीं सीखीं है वह उन्होंने अपनी सतर्कता और आसपास के वातावरण के प्रति जागरूक होकर सीख ली हैं. पढ़ने, देखने और सीखने की चाह ने उन्हें संवेदनशील बनाए रखा है.”


#4. “हर पीढ़ी की अपनी संस्कृति, सोच और बोली होती है. जैसे जैसे उम्र बढ़ती है और हम बीते दिनों पर नज़र डालते हैं, तो साधारणतः हम अपने इतने सालों में किए काम को लेकर खुश ही होते हैं और तब स्वाभाविक रूप से मन में ये सवाल भी उठता है कि क्या मुझे नई पीढ़ी के आगे हथियार डाल देने चाहिए और परिस्थितियों से समझौता कर लेना चाहिए? मेरे विचार से ऐसा सोचना एक बड़ी बेवकूफ़ी से ज्यादा कुछ भी नहीं है. अगर आप इतने साल काम करते आएं हैं और कामयाब रहे हैं तो आगे भी कामयाब ही रहेंगे क्योंकि आप विकासशील रहे हैं.”


ये भी पढ़ेंः

शिवरात्रि पर सुनिए वो गाने जो शिव के पसंदीदा माने जाते हैं

अक्षय बहुत खुश हैं दो-तीन दिन से लेकिन भय्या ये फीलिंग हमारे बजट से बाहर है!

‘तम्मा तम्मा’ रीमिक्स बाद में है, चोरी का गाना पहले है

इस रॉकस्टार ने कहा था Nobody dies virgin, life f***s all और खुद को गोली मार ली!

दूसरे विश्वयुद्ध में लड़ने वाला सिपाही जिसने ‘कभी कभी मेरे दिल में’ जैसा गाना बनाया

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें
Bollywood lyricist and guinness book record holder Sameer turns 58

कौन हो तुम

रोहित शेट्टी के ऊपर ऐसी कड़क Quiz और कहां पाओगे?

14 मार्च को बड्डे होता है. ये तो सब जानते हैं, और क्या जानते हो आके बताओ. अरे आओ तो.

परफेक्शनिस्ट आमिर पर क्विज़ खेलो और साबित करो कितने जाबड़ फैन हो

आज आमिर खान का हैप्पी बड्डे है. कित्ता मालूम है उनके बारे में?

चेक करो अनुपम खेर पर अपना ज्ञान और टॉलरेंस लेवल

अनुपम खेर को ट्विटर और व्हाट्सऐप वीडियो के अलावा भी ध्यान से देखा है तो ये क्विज खेलो.

Quiz: आप भोले बाबा के कितने बड़े भक्त हो

भगवान शंकर के बारे में इन सवालों का जवाब दे लिया तो समझो गंगा नहा लिया

आजादी का फायदा उठाओ, रिपब्लिक इंडिया के बारे में बताओ

रिपब्लिक डे से लेकर 15 अगस्त तक. कई सवाल हैं, क्या आपको जवाब मालूम हैं? आइए, दीजिए जरा..

जानते हो ह्रतिक रोशन की पहली कमाई कितनी थी?

सलमान ने ऐसा क्या कह दिया था, जिससे हृतिक हो गए थे नाराज़? क्विज़ खेल लो. जान लो.

राजेश खन्ना ने किस हीरो के खिलाफ चुनाव लड़ा और जीता था?

राजेश खन्ना के कितने बड़े फैन हो, ये क्विज खेलो तो पता चलेगा.

सलमान खान के फैन, इधर आओ क्विज खेल के बताओ

क्विज में सही जवाब देने वाले के लिए एक खास इनाम है.

फवाद पर ये क्विज खेलना राष्ट्रद्रोह नहीं है

फवाद खान के बर्थडे पर सपेसल.

दुनिया की सबसे खूबसूरत महिला के बारे में 9 सवाल

कुछ ऐसी बातें, जो शायद आप नहीं जानते होंगे.