Submit your post

Follow Us

निरंजनी अखाड़े के इस संत ने भी की थी आत्महत्या, तब नरेंद्र गिरि और आनंद गिरि ने क्या कहा था?

20 सितंबर की तारीख. संदिग्ध हालत में एक मौत. मृतक का नाम. महंत नरेंद्र गिरि (Narendra Giri). अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष. निरंजनी अखाड़े के महंत. पुलिस के मुताबिक, नरेंद्र गिरि का शव प्रयागराज के अल्लापुर में बाघंबरी मठ के कमरे में मिला. शव के पास से “सुसाइड नोट” भी बरामद हुआ. पुलिस शुरुआती जांच में इसे आत्महत्या मान रही है. ये सब निरंजनी अखाड़े से जुड़ी एक और आत्महत्या के मामले का रिपीट टेलीकास्ट जैसा लगता है. वो आत्महत्या नवंबर 2019 को गई थी. तब निरंजनी अखाड़े के सदस्य आशीष गिरि (Ashish Giri) ने सुसाइड किया था. वो बाघंबरी मठ के सचिव थे.

क्या हुआ था?

उस समय की मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक, 41 साल के आशीष गिरि ने 17 नवंबर, 2019 को निरंजनी मठ के अपने कमरे में आत्महत्या कर ली थी. वो रविवार का दिन था. सुबह क़रीब 11 बजे आशीष गिरि का शव खून से लथपथ मिला था. पुलिस के मुताबिक़ उनके हाथ में उनका लाइसेंसी रिवॉल्वर था. बताया गया कि आशीष ने अपने सिर में गोली मारकर आत्महत्या की थी. मामला अखाड़े से जुड़ा था, सो पुलिस के कई आला अफ़सर मौक़े पर पहुंचे थे. फ़ोरेंसिक जांच भी हुई थी.

घटना के बाद निरंजनी अखाड़े के महंत नरेंद्र गिरि ने कहा था कि उस दिन सुबह 8 बजे उनकी आशीष से बात हुई थी. उसके बाद आशीष नाश्ता करने आने वाले थे. नरेंद्र गिरि ने बताया था कि जब आशीष काफ़ी देर तक नहीं आए तो कुछ लोग उनके कमरे में गए. उन्हें कमरा खुला हुआ मिला था, जहां आशीष का शव पड़ा था.

उस समय प्रयागराज के पुलिस अधीक्षक बृजेश श्रीवास्तव ने समाचार एजेंसी एएनआई को बयान दिया था. उन्होंने कहा था,

“प्रारंभिक जांच के अनुसार, महाराज ने खुद को गोली मार ली. क्योंकि वो ब्लडप्रेशर और पेट की बीमारी से पीड़ित थे. जिससे उनका लिवर बुरी तरह प्रभावित हुआ था.”

वहीं, महंत नरेंद्र गिरि ने एएनआई से कहा था कि पहले भी आशीष गिरि को उत्तराखंड के देहरादून के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया था. उनके मुताबिक़, आशीष का इलाज कर रहे डॉक्टरों ने कहा था कि वो काफ़ी स्ट्रेस में थे और उनको शराब और सिगरेट की बुरी लत थी.

Anand Giri And Narendra Giri
अपने गुरु नरेंद्र गिरी के साथ आनंद गिरी.

आनंद गिरि का दावा- आशीष की आत्महत्या नहीं हुई थी

इस घटना के एक साल बाद तक आशीष गिरि की मौत को आत्महत्या ही माना जा रहा था. लेकिन बाद में आनंद गिरि (Anand Giri) ने अचानक कुछ दावे कर दिए. वही आनंद गिरि जिनकी मंगलवार 21 सितंबर को महंत नरेंद्र गिरि के कथित आत्महत्या मामले में गिरफ़्तारी हुई है.

आशीष गिरि की मौत के मामले में आनंद गिरि ने मीडिया से कहा कि उनकी मौत आत्महत्या नहीं थी और इसका मांडा की एक ज़मीन से जुड़े मामले से संबंध है. ये प्रयागराज और मिर्ज़ापुर से सटा एक इलाका है.

आनंद के दावे के बाद सवाल उठा था कि क्या आशीष गिरि की हत्या की गई थी? पुलिस ने अपने दस्तावेज़ों में इससे इन्कार किया है. प्रयागराज के कई पुलिस अधिकारियों ने दी लल्लनटॉप से हुई बातचीत में बताया कि महंत आशीष गिरि ने की तो आत्महत्या ही थी, लेकिन मठ और अखाड़े की अनदेखी की वजह से.

पुलिस अधिकारियों के मुताबिक़, आशीष गिरि ने अपनी बहुत सारी संपत्ति अखाड़े को दान कर दी थी. लेकिन इन ज़मीनों की बंदरबांट और कथित भ्रष्टाचार को देखते हुए आशीष गिरि गहरे अवसाद में चले गए थे. बेतहाशा नशा करने लगे थे, जिसके चलते आख़िर में उन्होंने आत्महत्या कर ली.

नशे वाली बात के सबूत के तौर पर दो बातों का जिक्र किया गया. पहला है पुलिस का बयान, जिसमें आशीष गिरि के लिवर ख़राब होने का ज़िक्र किया गया था. और दूसरा है अखाड़े के महंत दिवंगत नरेंद्र गिरि का बयान. इसमें उन्होंने डॉक्टरों के हवाले से कहा था कि आशीष गिरि को शराब और सिगरेट पीने की लत लग गई थी.


वीडियो-नरेंद्र गिरि के कथित आत्महत्या मामले में SP, BSP और कांग्रेस ने योगी सरकार से क्या कहा? 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

'स्क्विड गेम' के प्लेयर नंबर 199 'अली' की कहानी, जिनके इंडियन होने ने सीरीज़ में एक्स्ट्रा मज़ा दिया

'स्क्विड गेम' के प्लेयर नंबर 199 'अली' की कहानी, जिनके इंडियन होने ने सीरीज़ में एक्स्ट्रा मज़ा दिया

अली का रोल करने वाले इंडियन एक्टर अनुपम त्रिपाठी का सलमान-शाहरुख़ कनेक्शन क्या है?

IPL का कित्ता ज्ञान है, ये क़्विज़ खेलकर चेक कल्लो!

IPL का कित्ता ज्ञान है, ये क़्विज़ खेलकर चेक कल्लो!

ईमानदारी से स्कोर भी बताते जाना. हम इंतज़ार करेंगे.

'मनी हाइस्ट' वाले प्रोफेसर की पूरी कहानी, जिनकी पत्नी ने कहा था, 'कभी फेमस नहीं हो पाओगे'

'मनी हाइस्ट' वाले प्रोफेसर की पूरी कहानी, जिनकी पत्नी ने कहा था, 'कभी फेमस नहीं हो पाओगे'

अलवारो मोर्टे ने वेटर तक का काम किया हुआ है. और एक वक्त तो ऐसा था कि बकौल उनके कैंसर से जान जाने वाली थी.

एक्टर शरत सक्सेना की कहानी, जिन्होंने 71 साल की उम्र में ज़बरदस्त बॉडी बनाकर सबको चौंका दिया

एक्टर शरत सक्सेना की कहानी, जिन्होंने 71 साल की उम्र में ज़बरदस्त बॉडी बनाकर सबको चौंका दिया

हीरो बनने आए शरत सक्सेना कैसे गुंडे का चमचा बनने पर मजबूर हुए?

'भीगे होंठ तेरे' वाले कुणाल गांजावाला आजकल कहाँ हैं?

'भीगे होंठ तेरे' वाले कुणाल गांजावाला आजकल कहाँ हैं?

एक वक़्त इंडस्ट्री में टॉप पर थे कुणाल और उनके गाने पार्टियों की जान हुआ करते थे.

राज कुंद्रा की पूरी कहानी, 18 की उम्र में शॉल बेचने से शुरुआत करने वाले राज यहां तक कैसे पहुंचे?

राज कुंद्रा की पूरी कहानी, 18 की उम्र में शॉल बेचने से शुरुआत करने वाले राज यहां तक कैसे पहुंचे?

IPL स्कैंडल, मॉडल्स के आरोप, अंडरवर्ल्ड कनेक्शंस के आरोप, एक्स वाइफ के इल्ज़ाम सब हैं इस कहानी में.

रिचर्ड ब्रैनसन: जिन्होंने पहले अंतरिक्ष के दर्शन करके जेफ बेजोस का मजा खराब कर दिया

रिचर्ड ब्रैनसन: जिन्होंने पहले अंतरिक्ष के दर्शन करके जेफ बेजोस का मजा खराब कर दिया

रिचर्ड ब्रेन्सन की कहानी, जहां भी गए तहलका मचा दिया.

'सिंघम' IPS से तमिलनाडु BJP के सबसे युवा अध्यक्ष बने अन्नामलाई की कहानी

'सिंघम' IPS से तमिलनाडु BJP के सबसे युवा अध्यक्ष बने अन्नामलाई की कहानी

पहला चुनाव हार गए थे, बीजेपी ने राज्य की जिम्मेदारी सौंपी है.

'तड़प-तड़प के' जैसा प्रेमियों का ब्रेकअप एंथम देने वाले सिंगर के के आजकल कहां हैं?

'तड़प-तड़प के' जैसा प्रेमियों का ब्रेकअप एंथम देने वाले सिंगर के के आजकल कहां हैं?

उनके गाए 'पल' गाने के बगैर आज भी किसी कॉलेज का फेयरवेल पूरा नहीं होता.

कर लिया योगा? अब क्विज खेलने से होगा

कर लिया योगा? अब क्विज खेलने से होगा

आन्हां, ऐसे नहीं कि योग बस किए, दिखाना पड़ेगा कि बुद्धिबल कित्ता बढ़ा.