Submit your post

Follow Us

ज़हीर और स्टार्क से जिस लड़के की तुलना हो रही है, आखिर वो है कौन?

देश आज़ाद हुआ और उसके बाद सालों तक एक प्योर क्लास तेज़ गेंदबाज़ का सपना, सपना ही रहा. फिर साल 1978 में हरियाणा के कपिल देव टीम में आए और लगा कि हां हमें भी तेज़ गेंदबाज़ मिल सकते हैं. कपिल के बाद तो कई तेज़ गेंदबाज़ मिले. लेकिन बीते एक दशक में तेज़ गेंदबाज़ों की एक नई खेप सामने आई है. जो लगातार यॉर्कर्स मारती है, 150 की रफ्तार से गेंदबाज़ी करती है और इंग्लैंड-ऑस्ट्रेलिया की पिचों पर उनकी ही दवाई का स्वाद चखाती है.

IPL सस्पेंड हो गया, T20 का रोमांच खत्म हो गया तो अब तैयारी शुरू हो गई है वर्ल्ड टेस्ट चैम्पियनशिप की. वर्ल्ड टेस्ट चैम्पियनशिप का फाइनल 18 जून से साउथैम्पटन के मैदान पर खेला जाना है. भारत ने इंग्लैंड में खेले जाने वाले वर्ल्ड टेस्ट चैम्पियनशिप फाइनल और उसके बाद होने वाले इंग्लैंड दौरे के लिए टीम का ऐलान भी कर दिया है. इस टीम में ज़्यादातर जाने पहचाने नाम है. लेकिन एक नाम ऐसा आया, जिसके बाद कई लोग सिर खुजाने पर मजबूर हो गए कि यार से ‘अरजन’ कौन है?

अरजन नागवासवाला (Arzan Nagwaswalla). वर्ल्ड टेस्ट चैम्पियनशिप और इंग्लैंड टेस्ट सीरीज़ की टीम में जिन चार बैकऑप खिलाड़ियों को जगह मिली है. उनमें एक नाम 23 साल के इस गुजराती का भी है. अरजन की बोलिंग में किसी को ज़हीर खान का ऐक्शन दिखता है, तो कुछ उनकी तुलना ऑस्ट्रेलियन पेसर मिशेल स्टार्स से भी कर रहे हैं.

गुजरात के पारसी समुदाय से आने वाले अरजन टीम इंडिया के साथ दो जून को इंग्लैंड के लिए उड़ेंगे. पारसी शब्द पर थोड़ा ज़ोर इसलिए क्योंकि 1975 में फारुख इंजीनियर के बाद कोई भी पारसी खिलाड़ी भारतीय मेन्स प्लेइंग इलेवन का हिस्सा नहीं बन सका है. लेकिन हो सकता है अरजन फिर से भारत के लिए खेलने वाले एक पारसी क्रिकेटर बन जाएं.

अरजन भारतीय टीम के बल्लेबाज़ों को नेट्स में और प्रेक्टिस मैचों में गेंदबाज़ी करते दिखेंगे. भारतीय टीम को WTC फाइनल में ट्रेंट बोल्ट और नील वैगनर जैसे बाएं हाथ के फास्ट बोलर्स का सामना करना है. इन लेफ्ट आर्म पेसर्स के लिए विराट, रोहित, रहाणे को तैयारी करवाने के लिए और किवी गेंदबाज़ों की काट के लिए अरजन को टीम में रखा गया है.

अब आखिर अरजन हैं कौन, कहां से आते हैं, क्या कारनामा किया कि इंडियन कैम्प में पहुंच गए, बताते हैं?

अरजन की उम्र महज़ 23 साल है. वो गुजरात के सूरत से आते हैं. अरजन, टीम इंडिया के लेफ्ट आर्म पेसर ज़हीर खान के बड़के वाले फैन हैं. अरजन ने एक बार बताया था कि वो अपने ग्रुप में सबसे तेज़ गेंदबाज़ी करना चाहते हैं. गुजरात के लिए अंडर-16, अंडर-19, रणजी ट्रॉफी और तमाम क्रिकेट खेल चुके हैं.

लेकिन साल 2018 में जब उन्हें 20 साल की उम्र में गुजरात की टीम के लिए रणजी डेब्यू का मौका मिला. तो उन्होंने कहा था कि

‘शायद ये कामयाबी थोड़ा जल्दी मिल गई है.’

दरअसल उन्हें लगता था कि वो 23 साल की उम्र तक रणजी में डेब्यू करेंगे. फिर कुछ साल बाद जाकर भारतीय टीम तक पहुंचेंगे. लेकिन हुआ उसका बिल्कुल उलट. 2018 में रणजी डेब्यू करने वाले अरजन 23 साल के होते-होते इंडियन कैम्प तक पहुंच गए.

डोमेस्टिक सर्किट में सिर्फ तीन साल पुराने नागसवाला ने 44.6 की स्ट्राइक रेट और 22.53 की औसत से 62 विकेट चटकाए हैं. इन नंबर्स को देखकर या पढ़कर कोई भी कह सकता है कि यार इसमें क्या खास है? लेकिन अगर बताया जाए कि वो अमूमन टीम के लिए फर्स्ट चेंज के बाद गेंदबाज़ी करने आते थे. तो क्रिकेट जानकार ज़रूर कहेंगे, ‘वाह’.

क्योंकि नई गेंद से विकेट चटकाना जितना आसान माना जाता है. पुरानी हुई गेंद के साथ ये उतना आसान नहीं रहता. नागवासवाला की यही खासियत है कि वो पुरानी गेंद से भी गेंद को स्विंग कराने का दम रखते हैं.

पिछले साल कोविड की वजह से रणजी ट्रॉफी नहीं खेली गई. ऐसे में उन्होंने वाइट गेंद वाले शॉर्टर क्रिकेट पर अपना फोकस शिफ्ट कर दिया. वो साल की शुरुआत में सैय्यद मुश्ताक अली ट्रॉफी खेले. 50 ओवर वाला विजय हज़ारे टूर्नामेंट खेले. बस यहीं से वो टीम इंडिया की नज़रों में चढ़ गए.

विजय हज़ारे ट्रॉफी में तो नागवासवाला ने सिर्फ सात मैचों में 13.94 की एवरेज से 19 विकेट चटकाए और टूर्नामेंट में दूसरे सबसे कामयाब गेंदबाज़ रहे. जबकि सैय्यद मुश्ताक अली ट्रॉफी में उन्होंने महाराष्ट्र के खिलाफ सिर्फ 19 रन देकर छह विकेट चटका दिए. बस इसी प्रदर्शन के बाद आईपीएल से भी उन्हें कॉल आ गई.

नागवासवाला को मुंबई और राजस्थान की टीमों ने ट्रायल्स के लिए बुलाया. जिसके बाद मुंबई की टीम ने उन्हें बतौर नेट गेंदबाज़ अपने कैम्प में शामिल कर लिया. आईपीएल 2021 के दौरान मुंबई के कैम्प में इस पेसर ने रोहित शर्मा, कायरन पोलार्ड जैसे खतरनाक बल्लेबाज़ों को बैटिंग प्रेक्टिस करवाई. खुद नागवासवाला ने बताया कि कैम्प में ज़हीर खान ने उन्हें खूब सारे बोलिंग टिप्स भी दिए.

सिर्फ 23 साल की उम्र में भारतीय टीम में पहुंचे इस युवा के लिए हर इंडियन यही चाहेगा कि वो इंग्लैंड में जाकर भारत के लिए कुछ कमाल का प्रदर्शन करे.


IPL 2021: क्या होती है पिच साइडिंग और बुकी कैसे करते हैं इसका इस्तेमाल? 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

'मनी हाइस्ट' की खतरनाक इंस्पेक्टर अलिशिया, जिन्होंने असल में भी मीडिया के सामने उत्पात किया था

'मनी हाइस्ट' की खतरनाक इंस्पेक्टर अलिशिया, जिन्होंने असल में भी मीडिया के सामने उत्पात किया था

सब सही होता तो, टोक्यो या मोनिका में से एक रोल करती नजवा उर्फ़ अलिशिया.

कहानी 'मनी हाइस्ट' वाली नैरोबी की, जिन्होंने कभी इंडियन लड़की का किरदार करके धूम मचा दी थी

कहानी 'मनी हाइस्ट' वाली नैरोबी की, जिन्होंने कभी इंडियन लड़की का किरदार करके धूम मचा दी थी

जानिए क्या है नैरोबी उर्फ़ अल्बा फ्लोरेस का इंडियन कनेक्शन और कौन है उनका फेवरेट को-स्टार?

10 साल पहले भी शाहरुख़ का समीर वानखेड़े से सामना हुआ था, समीर ने ठोका था तगड़ा जुर्माना

10 साल पहले भी शाहरुख़ का समीर वानखेड़े से सामना हुआ था, समीर ने ठोका था तगड़ा जुर्माना

जगह थी मुंबई एयरपोर्ट. अब दस साल बाद फिर से दोनों का नाम एक साथ सुर्ख़ियों में है.

'स्क्विड गेम' के प्लेयर नंबर 199 'अली' की कहानी, जिनके इंडियन होने ने सीरीज़ में एक्स्ट्रा मज़ा दिया

'स्क्विड गेम' के प्लेयर नंबर 199 'अली' की कहानी, जिनके इंडियन होने ने सीरीज़ में एक्स्ट्रा मज़ा दिया

अली का रोल करने वाले इंडियन एक्टर अनुपम त्रिपाठी का सलमान-शाहरुख़ कनेक्शन क्या है?

IPL का कित्ता ज्ञान है, ये क़्विज़ खेलकर चेक कल्लो!

IPL का कित्ता ज्ञान है, ये क़्विज़ खेलकर चेक कल्लो!

ईमानदारी से स्कोर भी बताते जाना. हम इंतज़ार करेंगे.

'मनी हाइस्ट' वाले प्रोफेसर की पूरी कहानी, जिनकी पत्नी ने कहा था, 'कभी फेमस नहीं हो पाओगे'

'मनी हाइस्ट' वाले प्रोफेसर की पूरी कहानी, जिनकी पत्नी ने कहा था, 'कभी फेमस नहीं हो पाओगे'

अलवारो मोर्टे ने वेटर तक का काम किया हुआ है. और एक वक्त तो ऐसा था कि बकौल उनके कैंसर से जान जाने वाली थी.

एक्टर शरत सक्सेना की कहानी, जिन्होंने 71 साल की उम्र में ज़बरदस्त बॉडी बनाकर सबको चौंका दिया

एक्टर शरत सक्सेना की कहानी, जिन्होंने 71 साल की उम्र में ज़बरदस्त बॉडी बनाकर सबको चौंका दिया

हीरो बनने आए शरत सक्सेना कैसे गुंडे का चमचा बनने पर मजबूर हुए?

'भीगे होंठ तेरे' वाले कुणाल गांजावाला आजकल कहाँ हैं?

'भीगे होंठ तेरे' वाले कुणाल गांजावाला आजकल कहाँ हैं?

एक वक़्त इंडस्ट्री में टॉप पर थे कुणाल और उनके गाने पार्टियों की जान हुआ करते थे.

राज कुंद्रा की पूरी कहानी, 18 की उम्र में शॉल बेचने से शुरुआत करने वाले राज यहां तक कैसे पहुंचे?

राज कुंद्रा की पूरी कहानी, 18 की उम्र में शॉल बेचने से शुरुआत करने वाले राज यहां तक कैसे पहुंचे?

IPL स्कैंडल, मॉडल्स के आरोप, अंडरवर्ल्ड कनेक्शंस के आरोप, एक्स वाइफ के इल्ज़ाम सब हैं इस कहानी में.

रिचर्ड ब्रैनसन: जिन्होंने पहले अंतरिक्ष के दर्शन करके जेफ बेजोस का मजा खराब कर दिया

रिचर्ड ब्रैनसन: जिन्होंने पहले अंतरिक्ष के दर्शन करके जेफ बेजोस का मजा खराब कर दिया

रिचर्ड ब्रेन्सन की कहानी, जहां भी गए तहलका मचा दिया.