Submit your post

Follow Us

जब खलनायक फिल्म से पहले सुभाष घई ने माधुरी से नो प्रेग्नेंसी क्लॉज़ साइन करवाया

1993 बंबई ब्लास्ट के बाद चीज़ें नॉर्मल होनी शुरू हुई थीं. बंबई पटरी पर लौट रही थी. उस समय सुभाष घई अपनी आने वाली फिल्म की शूटिंग कर रहे थे. कोर्टरूम में फिल्म का क्लाइमैक्स शूट हो रहा था. इतने में खबर आई कि उनके फिल्म के हीरो पर अवैध रूप से हथियार रखने का आरोप लगा है. सुभाष की फूंक सरक गई. संजय दत्त, जैकी श्रॉफ और माधुर दीक्षित को लेकर वो एक बड़े प्रोजेक्ट पर काम कर रहे थे. बजट 1993 में तीन-चार करोड़ के आसपास था.

होना क्या था, क्लाइमैक्स के शूट होते ही संजय दत्त जेल चले गए. अब सिर्फ पोस्ट प्रोडक्शन का काम बचा था. डबिंग संजय जेल से बाहर आकर कर लेते थे. जब फिल्म पूरी बनकर तैयार हो गई, तब तक संजय दत्त की मुश्किलें और बढ़ चुकी थी. बावजूद इसके घई फिल्म रिलीज़ करना चाहते थे. उनके साथ काम कर रहे लोगों का कहना था, इतना पैसा लगाकर फिल्म बनाई है. फिल्म का हीरो जेल में है, उसपर देशद्रोही होने का आरोप लग रहा है. निगेटिव इमेज बन गई है. फिल्म अभी रिलीज़ हुई तो पिट जाएगी. लेकिन सुभाष घई के दिमाग में कुछ और चल रहा था. वो बस इसे कंफर्म करना चाहते थे.

फिल्म में माधुरी का किरदार एक पुलिस वाली का था.
फिल्म में माधुरी का किरदार एक पुलिस वाली का था.

कई जगह बैन करने की मांग और विरोध प्रदर्शनो के बीच घई ने दिल्ली में अपनी फिल्म के 11 प्रीमियर शो रखे. इसमें हिन्दी सिनेमा के 10 मशहूर डायरेक्टर बुलाए गए थे. उनमें शेखर कपूर, जे.पी दत्ता और राकेश रोशन जैसे नाम शामिल थे. संजय भी बेल पर जेल से बाहर थे. जब संजय माधुरी के साथ यहां पहुंचे, हज़ारों की संख्या में भीड़ ने उन्हें घेर लिया. और ये लोग संजय को चीयर कर रहे थे. ऐसा तकरीबन उस दिन हर शो के दौरान हुआ. घई को पता चल गया कि फिल्म पिटने तो नहीं वाली है. उन्होंने संजय की इस निगेटिव इमेज का फायदा उठाते हुए 6 अगस्त, 1993 को फिल्म रिलीज़ कर दी. बंपर हिट रही. साल की दूसरी सबसे ज़्यादा कमाई करने वाली फिल्म बन गई. आज़ादी के महीने में जब ये फिल्म रिलीज़ हो रही थी, इसका हीरो कैद की ओर बढ़ रहा था.

शायद ‘खलनायक’ कभी बनती ही नहीं

सुभाष घई ने अपने एक इंटरव्यू में बताया कि वो एक बार हॉलीवुड गए थे. वहीं के एक स्क्रिप्टराइटर के साथ कहानी लिख रहे थे. ये दो लड़कों की कहानी थी. घई ने वहां देखा कि यहां डायरेक्टरों का किसी टेक्नीशियन की तरह फिल्म में शामिल किया जाता है. उनका डायरेक्टर, जो राइटर और स्टूडियो करने को कहता, वो करते हैं और घर चले जाते हैं. जबकि बॉलीवुड में वो फिल्म के हर हिस्से से जुड़े रहते हैं.

फिल्म 'खलनायक' के एक दृश्य में संजय और माधुरी.
फिल्म ‘खलनायक’ के एक दृश्य में संजय और माधुरी.

इंडिया लौटते वक्त फ्लाइट में उन्होंने डिसाइड किया कि हॉलीवुड नहीं जाना. अपने देश में, अपने मन का काम करेंगे. उस हॉलीवुड फिल्म की स्क्रिप्ट में घई ने मां और लड़की का कैरेक्टर डाला और इसे टीपिकल मसाला फिल्म बनाने का फैसला किया.

एक गाने के चक्कर में बीच-बचाव के लिए बाल ठाकरे को आना पड़ा

अब तक क्या सीन था कि सुभाष घई अपनी फिल्मों के म्यूज़िक राइट एचएमवी (HMV) को बेचते थे. लेकिन इस बार घई, रमेश तौरानी की टिप्स म्यूज़िक की ओर बढ़ गए. घई को मार्केट का अंदाजा था, ऊपर से उनके एल्बम में ‘चोली के पीछे क्या है?’ जैसा गाना था. जिस राइट के लिए एचएमवी 40 लाख रुपए दे रहा था, टिप्स ने उसे एक करोड़ रुपए में खरीदा था. पहली किस्त में ही फिल्म के एक करोड़ म्यूज़िक कैसेट बिक गए थे. हालांकि घई की ये खुशी ज़्यादा दिनों तक टिक नहीं पाई. दिल्ली के एक वकील ने फिल्म पर केस कर दिया.

क्योंकि वकील साहब का चार साल बेटा ‘चोली के पीछे क्या है?’ गा रहा था. उनका आरोप था कि घई की ये फिल्म बच्चों के दिमाग को दूषित कर रही है. ये कहने की देरी थी कि कई पॉलिटिकल पार्टियां और महिलाओं से जुड़े संस्थान ने इसका विरोध करना चालू कर दियाा. सुभाष घई बताते हैं कि वो उन दिनों 32 पार्टियों से अकेले लड़ रहे थे कि किसी गाने को गलत बताने से पहले फिल्म तो देख लो. लेकिन मामला बढ़ता ही जा रहा था. ऐसे में घई की मदद के लिए आगे आए बाला साहब ठाकरे. उन्होंने प्राइवेट स्क्रीनिंग में फिल्म देखी और अपने मुखपत्र सामना में इसे देशभक्ति की फिल्म बताया.

वो गाना यहां देखिए:

बाल ठाकरे के बयान ने भले ही फिल्म और गाने को कंट्रोवर्सी से बाहर निकाल दिया हो. लेकिन ये विवाद इतनी आसानी से घई का पीछा नहीं छोड़ने वाला था. ये फिल्म नेशनल अवॉर्ड के लिए नॉमिनेट हुई. यहां फिल्म को लेकर हुआ विवाद इनपर भारी पड़ा और नेशनल अवॉर्ड शाहरुख और यश चोपड़ा की फिल्म ‘डर’ को मिल गया. घई एक वोट से नेशनल अवॉर्ड चूक गए.

संजय से नजदीकियों के चलते माधुरी से नो प्रेग्नेंसी क्लॉज़ साइन करवाया गया

आज कल ऐसा कई बार देखने को मिलता है कि फिल्म की हीरोइनों से ‘नो प्रेग्नेंसी क्लॉज़’ साइन करवाया जाता है. इसका मतलब साफ है कि आप फिल्म में काम करते वक्त प्रेग्नेंट नहीं हो सकती. लेकिन 1990 के दशक में ये इतनी भी आम प्रथा नहीं थी. हालांकि आम अब भी नहीं है क्योंकि बॉलीवुड इसे लेकर दो धड़ों में बंटा हुआ है. 1993 में माधुरी से इस फिल्म के लिए नो प्रेग्नेंसी क्लॉज़ साइन करवाया गया था. कारण था, उनके और संजय दत्त के बीच बढ़ती नजदीकियां. संजय फिल्म की शूटिंग के दौरान सेट पर सबके सामने माधुरी के लिए अपने प्रेम का इज़हार करते रहते थे. जबकि संजय की पत्नी ऋचा शर्मा उस समय न्यू यॉर्क में थीं और कैंसर से जूझ रही थी. बावजूद इसके संजय और माधुरी की प्रेम कहानी मैग्ज़ीन्स की शोभा बढ़ा रही थी. सबको लग रहा था कि ये दोनों कभी भी शादी कर सकते हैं. घई भी उसी लिस्ट में थे. माधुरी ने क्लॉज़ तो साइन किया लेकिन संजय से अपने रिश्ते के बारे में कभी कुछ नहीं कहा. जैसे ही संजय का नाम बंबई ब्लास्ट में आया माधुरी ने उनसे दूरी बना ली. उन्होंने संजय के फोन उठाने तक बंद कर दिए थे.

अब माधुरी दीक्षित और संजय दत्त एक बार फिर एक साथ काम करने जा रहे हैं. फिल्म है 'कलंक'.
माधुरी दीक्षित और संजय दत्त एक बार फिर एक साथ काम करने जा रहे हैं. फिल्म है ‘कलंक’.

15 साल पुरानी लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल और सुभाष घई की जोड़ी का दी एंड

सुभाष घई ने साल 1979 में फिल्म ‘गौतम गोविंदा’ में पहली बार लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल के साथ काम किया था. इसके बाद इन्होंने ‘कर्ज़’, ‘हीरो’, ‘कर्मा’ और ‘राम-लखन’ जैसी फिल्मों में साथ काम किया. लेकिन ‘खलनायक’ सुभाष घई डायरेक्टेड वो आखिरी फिल्म थी, जिसमें लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल ने म्यूज़िक दिया था. इस फिल्म का गाना ‘चोली के पीछे क्या है?’ के लिए ईला अरुण और अल्का याग्निक को बेस्ट प्लेबैक सिंगर का अवॉर्ड मिला था. लेकिन ये अगली बार साथ काम नहीं कर पाए.

सुभाष घई डायरेक्शन की ओर लौटे 1997 में. घई शाहरुख खान के साथ ‘परदेस’ बना रहे थे. इसी साल से लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल की जोड़ी ने काम करना बंद कर दिया. साल 1998 में लक्ष्मीकांत की मौत के बाद ये जोड़ी टूट गई. खलनायक इतनी बड़ी हिट हुई कि इसे तेलुगू में ‘खैड़ी नंबर 1’ नाम से बनाया गया. इसमें विनोद कुमार ने संजय दत्त वाला किरदार निभाया था.


ये भी पढ़ें:

बॉलीवुड का सबसे पगला डायरेक्टर जिसने भारत की सबसे बड़ी फिल्म बनाई
वो डायरेक्टर जिसने कहा था मैंने फिल्मों को हिट करवाने का फॉर्मूला ढूंढ़ लिया है
वो म्यूज़िक डायरेक्टर जो अपने संगीत को बचाने के लिए फिल्म डायरेक्टर बना
वो बॉलीवुड एक्ट्रेस जिसका हेयरस्टाइल पूरे इंडिया में वायरल हो गया था


वीडियो देखें: पहली पत्नी ऋचा, बाल ठाकरे और क्या-क्या नहीं दिखाया संजू फिल्म में? 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

माधुरी से डायरेक्ट बोलो 'हम आपके हैं फैन'

माधुरी से डायरेक्ट बोलो 'हम आपके हैं फैन'

आज जानते हो किसका हैप्पी बड्डे है? माधुरी दीक्षित का. अपन आपका फैन मीटर जांचेंगे. ये क्विज खेलो.

जिन मीम्स को सोशल मीडिया पर शेयर कर चौड़े होते हैं, उनका इतिहास तो जान लीजिए

जिन मीम्स को सोशल मीडिया पर शेयर कर चौड़े होते हैं, उनका इतिहास तो जान लीजिए

कौन सा था वो पहला मीम जो इत्तेफाक से दुनिया में आया?

पार्टियों को चुनाव निशान के आधार पर पहचानते हैं आप?

पार्टियों को चुनाव निशान के आधार पर पहचानते हैं आप?

चुनावी माहौल में क्विज़ खेलिए और बताइए कितना स्कोर हुआ.

लगातार दो फिफ्टी मारने वाले कोहली ने अब कहां झंडे गाड़ दिए?

लगातार दो फिफ्टी मारने वाले कोहली ने अब कहां झंडे गाड़ दिए?

राहुल के साथ यहां भी गड़बड़ हो गई.

रोहित शेट्टी के ऊपर ऐसी कड़क Quiz और कहां पाओगे?

रोहित शेट्टी के ऊपर ऐसी कड़क Quiz और कहां पाओगे?

14 मार्च को बड्डे होता है. ये तो सब जानते हैं, और क्या जानते हो आके बताओ. अरे आओ तो.

आमिर पर अगर ये क्विज़ नहीं खेला तो दोगुना लगान देना पड़ेगा

आमिर पर अगर ये क्विज़ नहीं खेला तो दोगुना लगान देना पड़ेगा

म्हारा आमिर, सारुक-सलमान से कम है के?

परफेक्शनिस्ट आमिर पर क्विज़ खेलो और साबित करो कितने जाबड़ फैन हो

परफेक्शनिस्ट आमिर पर क्विज़ खेलो और साबित करो कितने जाबड़ फैन हो

आज आमिर खान का हैप्पी बड्डे है. कित्ता मालूम है उनके बारे में?

अनुपम खेर को ट्विटर और वॉट्सऐप वीडियो के अलावा भी ध्यान से देखा है तो ये क्विज खेलो

अनुपम खेर को ट्विटर और वॉट्सऐप वीडियो के अलावा भी ध्यान से देखा है तो ये क्विज खेलो

चेक करो अनुपम खेर पर अपना ज्ञान.

कहानी राहुल वैद्य की, जो हमेशा जीत से एक बिलांग पीछे रह जाते हैं

कहानी राहुल वैद्य की, जो हमेशा जीत से एक बिलांग पीछे रह जाते हैं

'इंडियन आइडल' से लेकर 'बिग बॉस' तक सोलह साल हो गए लेकिन किस्मत नहीं बदली.

गायों के बारे में कितना जानते हैं आप? ज़रा देखें तो...

गायों के बारे में कितना जानते हैं आप? ज़रा देखें तो...

कितने नंबर आए बताते जाइएगा.