Submit your post

Follow Us

वो एक्टर जो पूछता था, क्या एक जवान लड़का और एक जवान लड़की कभी दोस्त हो सकते हैं?

762
शेयर्स

जिस साल इंडिया वर्ल्ड कप जीती थी, उसी साल एक फिल्म आई थी (1983, इफ यू आर स्टिल वंडरिंग). फिल्में तो बहुत सी आई थीं, लेकिन ये वाली खास थी. क्योंकि इससे सुपरस्टार एक्ट्रेस नूतन का बेटा डेब्यू करने जा रहा था. मोहनीश बहल. भोला-भाला सा दिखता था लेकिन आने वाले समय में दुनिया को उसने अपने कई रंग दिखाए. खैर, पहली फिल्म पर आते हैं. मोहनीश बहल बताते हैं कि वो कभी फिल्मों में नहीं आना चाहते थे. उनका सपना था कमर्शियल पायलट बनने का. लेकिन किस्मत को कुछ और ही मंज़ूर था. 1976 में डायरेक्टर राज खोसला नूतन के साथ फिल्म ‘मैं तुलसी तेरे आंगन की’ बना रहे थे, जो 1978 में रिलीज़ हुई. वो फिल्म के सेट पर पहली बार मोहनीश से मिले. तब मोहनीश की उम्र मात्र 15 साल थी. अगली बार दोनों तीन साल बाद मिले. मोहनीश को देखते ही राज ने नूतन से पूछा लिया कि मोहनीश फिल्मों में एक्टिंग करने में इंट्रेस्टेड हैं क्या?

इसके बाद बात धीरे-धीरे आगे बढ़ी. मोहनीश अंग्रेजी मीडियम से थे. साफ लहज़े के लिए उन्हें उर्दू की ट्रेनिंग लेनी पड़ी. इंडस्ट्री में खबर फैल गई कि नूतन का बेटा फिल्मों में आ रहा है. तब तक संजय दत्त और कुमार गौरव जैसे स्टारकिड फिल्मों में काम करना शुरू कर चुके थे. अब इस लिस्ट में मोहनीश बहल का भी नाम जुड़ने को था. लेकिन वो क्या चीज़ थी, जो मोहनीश को एक्टिंग की ओर खींचकर ले गई. इसका जवाब मोहनीश ने कुछ ऐसे दिया. उन्होंने कहा कि 1981-82 में उन्हें 500 रुपए पॉकेट मनी मिलती थी. इस फिल्म के लिए उन्हें एक लाख रुपए की फीस मिल रही थी. ये ऑफर भला कोई आदमी कैसे ठुकराता. सो आ गए फिल्मों में.

1982 में एक तेलुगू फिल्म आई. नाम था ‘नलुगु स्तंभलता’. रिलीज़ के अगले ही साल इसे हिन्दी में रीमेक किया जा रहा था, जिसमें संजय दत्त, पद्मिनी कोल्हापुरी, सुप्रिया पाठक और मोहनीश बहल को साइन किया गया. इसे नाम दिया गया ‘बेकरार’. इस फिल्म से नूतन का बेटा डेब्यू कर रहा था, इसलिए पूरी फिल्म इंडस्ट्री की इसपर नज़र थी. लेकिन फिल्म नहीं चली. कई कारण गिनाए गए. जैसे संजय दत्त उस समय अपने लाइफ के ‘लो फेज़’ में चल रहे थे और मोहनीश नए थे.

फिल्म 'बेकरार' के एेक सीन में संजय दत्त और मोहनिश बहल. दूसरी तस्वीर में अपनी मां नूतन के साथ मोहनिश.
फिल्म ‘बेकरार’ के एक सीन में संजय दत्त और मोहनीश बहल. दूसरी तस्वीर में अपनी मां नूतन के साथ मोहनीश.

मोहनीश को आगे भी कई मौके मिले. ‘बेकरार’ के बाद अगले तीन सालों में मोहनीश ने ‘तेरी बाहों में’, ‘मेरी अदालत’, ‘पुराना मंदिर’, ‘ये कैसा फर्ज’ और ‘इतिहास’ जैसी फिल्में की. इसमें से तीन फिल्में एक ही साल यानी 1984 में रिलीज़ हुईं. लेकिन रामसे ब्रदर्स की ‘पुराना मंदिर’ को छोड़कर कोई भी फिल्म नहीं चली. फिल्म चलना – नहीं चलना एक बात थी, लेकिन मोहनीश नोटिस तक नहीं किए गए थे. करियर की शुरुआती छह फिल्मों में से पांच फ्लॉप. ये आंकड़ा किसी स्टार का भी कॉन्फिडेंस तोड़ने के लिए काफी था. फिर मोहनीश तो स्टार किड थे. फिल्म नहीं चलने की टेंशन एक तरफ से और नूतन के बेटे होने का प्रेशर दूसरी तरफ से.

अपने एक इंटरव्यू में मोहनीश बताते हैं कि उन्हें ये स्वीकारने में कोई शर्म नहीं है कि वो नूतन के बेटे होने के चलते आज तक इंडस्ट्री में हैं. इसकी वजह से उन्हें काम मिला. हालांकि अब वो दौर भी बीत चुका था, जब लोग नूतन के नाम पर काम दे देते थे. मोहनीश तीन साल बेरोजगार रहे. इस वक्त तक की उनकी आखिरी फिल्म ‘इतिहास’ 1987 में रिलीज़ हुई थी लेकिन उसकी शूटिंग 1985-86 में ही पूरी हो गई थी.

मोहनीश को दो चीज़ों का शौक था. पहला बॉडी बिल्डिंग का और दूसरा पायलट बनने का. इस बेरोजगारी के दौरान उन्होंने अपने शौक को अपना पेशा बनाने का सोचा. उन्होंने पायलट बनने की ट्रेनिंग पूरी कर फ्लाइंग लाइसेंस वगैरह बनवा लिया था. इन्हीं दिनों मोहनीश और सलमान खान की दोस्ती बढ़ रही थी. लेकिन दोनों के बीच जो चीज़ें कॉमन थीं, उनमें पहला नंबर बॉडी बिल्डिंग के शौक का था और दूसरा नंबर था बेरोजगारी का. दोनों एक ही जिम में जाते और साथ में एक्सरसाइज़ थे. सलमान की बॉडी उस समय बिलकुल दुबली-पतली हुआ करती थी. इसी का नतीजा रहा कि मोहनीश ने उन्हें हल्के में लिया. जब सलमान ने मोहनीश को ये बताया कि उन्हें एक्टर बनना है, तो मोहनीश ने हंसी में टाल दिया था. उन्हें लगता था कि जब वो इतनी अच्छी पर्सनैलिटी लेकर एक्टर नहीं बन पाए तो ये क्या बनेगा.

मोहनश बहल आखिरी बार सलमान खान की 2013 में रिलीज़ हुई फिल्म 'जय हो' में दिखााई दिए थे.
मोहनीश बहल आखिरी बार सलमान खान की 2014 में रिलीज़ हुई फिल्म ‘जय हो’ में दिखाई दिए थे.

इसी सब के बीच सलमान को सूरज बड़जात्या की फिल्म मिल गई. सलमान को मोहनीश की हालत पता थी, इसलिए आते ही उन्हें बताया कि उन्हें फिल्म मिल गई है. और वो उनके लिए भी बात करके आए हैं. अगर ऑडिशन ठीक हुआ तो उन्हें भी काम मिल सकता है. मोहनीश की हालत मरता क्या न करता वाली थी. उन्होंने जाकर ऑडिशन दिया और फिल्म के लिए साइन कर लिए गए. सब ठीक था लेकिन मोहनीश को सलमान की फिल्म में विलेन का रोल मिला था. अब तक वो हीरो का रोल करते आ रहे थे. लेकिन सफल उसमें भी नहीं थे. इसलिए उन्होंने इसे ट्राय करने का सोचा. ये फिल्म थी ‘मैंने प्यार किया’.

फिल्म 'मैंने प्यार किया' में जग्गू के किरदार में मोहनिश बहल.
फिल्म ‘मैंने प्यार किया’ में जीवन के किरदार में मोहनीश बहल.

जब ये बात नूतन को पता चली, तो वो निराश हो गईं. नूतन ने सूरज के दादा और राजश्री प्रोडक्शन के मालिक ताराचंद बड़जात्या से मोहनीश के रोल के बारे में बात की. ताराचंद बड़जात्या ने नूतन से एक वादा किया. उन्होंने नूतन से कहा कि वो मोहनीश को ये फिल्म करने दें, अपनी अगली फिल्म में वो उन्हें पक्का हीरो का रोल देंगे. नूतन मान गईं. फिल्म रिलीज़ हुई बड़ी हिट हुई. सलमान रातों-रात स्टार बन गए और मोहनीश का भी काम बन गया.

सलमान ने अपने एक इंटरव्यू में बताया था कि ‘मैंने प्यार किया’ के अगले एक साल तक उनके पास कोई काम नहीं था. लेकिन मोहनीश को फिल्में ऑफर होने लगी थीं. अब वो निगेटिव रोल में मेकर्स को पसंद आ गए थे. इसके बाद उन्हें कई ए ग्रेड फिल्मों में काम मिलने लगा. इस दौरान मोहनिश ने सलमान के ही साथ ‘बागी’ (1990), गोविंदा के साथ ‘शोला और शबनम’ (1992), शाहरुख की पहली फिल्म ‘दीवाना’ (1992) और ऋषि कपूर की ‘बोल राधा बोल’ (1992) में काम किया.

इसके बाद आया वो साल जब मोहनीश को बतौर एक्टर अपनी रेंज साबित करने का एक और मौका मिला. इस फिल्म से प्रोड्यूसर ताराचंद बड़जात्या ने नूतन से मोहनीश को पॉजिटिव रोल देने का वादा भी पूरा किया. लेकिन ये देखने के लिए मोहनीश की मां नूतन ज़िंदा नहीं थीं. नूतन 1991 में ब्रेस्ट कैंसर से हारकर अपना सफर पूरा कर चुकी थीं. पीछे छोड़ गई थीं अपने बेटे को जिसे उनका नाम रोशन करना था.

1994 में फिल्म रिलीज़ हुई ‘हम आपके हैं कौन’. इस फिल्म को भी सूरज बड़जात्या ने ही डायरेक्ट किया था. सलमान खान लीड रोल कर रहे थे. उनके बड़े भाई के रोल में थे मोहनीश बहल. इस फिल्म ने मोहनीश की किस्मत और इंडस्ट्री के तमाम डायरेक्टर्स की नज़र में उनकी इमेज बदल दी. पहले जो मोहनीश फ्लॉप एक्टर था, अब वर्सेटाइल हो गया था.

tenor

इसके बाद मोहनीश को पीछे मुड़कर देखने की जरूरत नहीं पड़ी. आगे उन्होंने 50 से भी ज़्यादा फिल्मों में हर बड़े स्टार के साथ काम किया. फिर टीवी में भी काम किया और क्वालिटी का काम किया. फिलहाल 57 साल की उम्र में कैमरे से दूर हैं. और आज भी ये कहने से गुरेज नहीं रखते कि उन्हें काम नहीं मिलना बंद हो गया है. फिलहाल वो एक फैमिनी मैन की तरह अपने परिवार को समय दे रहे हैं और अपनी बेटी प्रनूतन के बॉलीवुड लॉन्च की तैयारी कर रहे हैं.


ये भी पढ़ें:

‘मर्द को दर्द नहीं होता’ ट्रेलरः क्यों लोग इस फिल्म के दीवाने हो रहे हैं?
किल-बिल हिंदी में बनने जा रही है, वो 5 बातें जिसके चलते सबको इसका इंतज़ार है
वरुण धवन की आने वाली फिल्म जिसमें वो दर्जी और चपरासी का रोल करने वाले हैं
शाहिद कपूर की नई फिल्म में वो समस्या है, जिसे हर घर सालों से झेल रहा है


वीडियो देखें: वो एक्टर जिसने सनी देओल का जीजा बनकर उन्हें धोखा दे दिया था

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

KBC क्विज़: इन 15 सवालों का जवाब देकर बना था पहला करोड़पति, तुम भी खेलकर देखो

आज से KBC ग्यारहवां सीज़न शुरू हो रहा है. अगर इन सारे सवालों के जवाब सही दिए तो खुद को करोड़पति मान सकते हो बिंदास!

क्विज: अरविंद केजरीवाल के बारे में कितना जानते हैं आप?

अरविंद केजरीवाल के बारे में जानते हो, तो ये क्विज खेलो.

क्विज: कौन था वह इकलौता पाकिस्तानी जिसे भारत रत्न मिला?

प्रणब मुखर्जी को मिला भारत रत्न, ये क्विज जीत गए तो आपके क्विज रत्न बन जाने की गारंटी है.

ये क्विज़ बताएगा कि संसद में जो भी होता है, उसके कितने जानकार हैं आप?

लोकसभा और राज्यसभा के बारे में अपनी जानकारी चेक कर लीजिए.

संजय दत्त के बारे में पता न हो, तो इस क्विज पर क्लिक न करना

बाबा के न सही मुन्ना भाई के तो फैन जरूर होगे. क्विज खेलो और स्कोर करो.

बजट के ऊपर ज्ञान बघारने का इससे चौंचक मौका और कहीं न मिलेगा!

Quiz खेलो, यहां बजट की स्पेलिंग में 'J' आता है या 'Z' जैसे सवाल नहीं हैं.

कर लिया योगा? अब क्विज खेलने से होगा

आन्हां, ऐसे नहीं कि योग बस किए, दिखाना पड़ेगा कि बुद्धिबल कित्ता बढ़ा.

रोहित शेट्टी के ऊपर ऐसी कड़क Quiz और कहां पाओगे?

14 मार्च को बड्डे होता है. ये तो सब जानते हैं, और क्या जानते हो आके बताओ. अरे आओ तो.

परफेक्शनिस्ट आमिर पर क्विज़ खेलो और साबित करो कितने जाबड़ फैन हो

आज आमिर खान का हैप्पी बड्डे है. कित्ता मालूम है उनके बारे में?

चेक करो अनुपम खेर पर अपना ज्ञान और टॉलरेंस लेवल

अनुपम खेर को ट्विटर और व्हाट्सऐप वीडियो के अलावा भी ध्यान से देखा है तो ये क्विज खेलो.