Submit your post

Follow Us

छात्रों को पीटने, गालियां देने, ज़लील करने वाले बर्बर-कुंठित मास्टरों के नाम खुला ख़त

खुला ख़त, जिसके लिए लिखा जाता है, उसके सिवा हर कोई पढ़ता है. मैं चाहता हूं कि मुझे पढ़ाने वाले इसे पढ़ें.


यथायोग्य अभिवादन,

आगे बात ये कि ये चिट्ठी शिक्षकों के लिए नहीं है.
मास्टरों के लिए है.
जिन्होंने पढ़ाने को सबसे उकताहट भरा काम माना. छात्रों को दुश्मन सा माना.

मास्टर जो थोड़ी मेहनत करते तो शिक्षक बन जाते. जिन्होंने दोबारा बताने से आसान बच्चों को पीटना समझा. मास्टर, जिन्होंने सवाल पूछने पर लड़कों को मुर्गा बनाया. जिन्हें लगता रहा कि बच्चे सिर्फ पिटने के लिए होते हैं, जिन्होंने शैतानियों पर कभी माफ़ करना नहीं सीखा. वो मास्टर जिन्होंने फीस लेट आने पर बच्चों को गालियां दीं, मां-बाप को ज़लील किया और भीख मांग लेने की सलाह दी.

साल 2015, मैंगलोर में टूटी बांह लिए बच्चे को पीटते मास्टर! छात्र से पूछ रहे थे, वो ब्राह्मण है या क्षत्रिय
साल 2015, मेंगलुरु में टूटी बांह लिए बच्चे को पीटते मास्टर! छात्र से पूछ रहे थे, वो ब्राह्मण है या क्षत्रिय

मास्टर जिन्हें भरोसा था कि बच्चा जो उनके हिसाब से नहीं चल सका, वो मजदूरी करेगा, भीख मांगेगा या सब्जी का ठेला लगा लेगा. वो मास्टर जिन्हें बच्चों पर मेहनत करना अपना अपमान लगा. जिन्हें लगता था कि लड़का अगर पहली बार में गणित के विस्तारित रूप वाला सवाल हल नहीं कर सका, तो ये उनकी बेइज्जती है. वो लोग जिन्हें किसी और देश में शायद दिमागी-रीहैब सेंटर्स में रखा जाता, हमारे देश में उन्हें स्कूल की कक्षाओं में छोड़ दिया.

2017, इलाहाबाद के पास फाफामऊ, हेडमास्टर ने बच्चों को इतना मारा की बेंत टूट गई!
2017, इलाहाबाद के पास फाफामऊ, हेडमास्टर ने बच्चों को इतना मारा की बेंत टूट गई!

मास्टर ऐसे भी हुए कि साढ़े सात बजे की स्कूल में दो मिनट देर से आए 8-8 साल के बच्चों को बेशरम की लता से पीटा. बच्चे सर्दियों की सुबह में भागे-भागे स्कूल आते, नाक और अंगुलियों के पोर सुन्न रहते. मास्टर देर से आई भीड़ को अपने हिस्से का इनाम समझते. उन्हें बेदम पीटते. स्कूलों में बच्चों से ज्यादा एक्स्ट्रा करिकुलर एक्टिविटीज मास्टरों ने की, बच्चे पीटने में सुख पाया.

2016, हैदराबाद का श्री चैतन्य जूनियर कॉलेज. काम पूरा न होने पर बच्चों को पीटते मास्टर का वीडियो वायरल हुआ.
2016, हैदराबाद का श्री चैतन्य जूनियर कॉलेज. काम पूरा न होने पर बच्चों को पीटते मास्टर का वीडियो वायरल हुआ.

मास्टरनियां भी हुईं, जिन्होंने बच्चों को चुन-चुनकर पीटा. मास्टरनियों ने बच्चों को इसलिए पीटा कि वो गंदे थे, काले थे और पुराने कपड़े पहन कर आए. मास्टरनियों ने लड़कों को पीटा और कहा- लड़के नहीं रोते. लड़के घिघ्घी बांधकर रोते. वही लड़के जब बड़े हुए तो मास्टरनियों का क्लासों में आना मुहाल कर दिया. ढीले मोज़े पहनकर आए बच्चों को पीटती मास्टरनियों को लगा कि इससे बच्चे में अनुशासन आएगा.

2013, अकोला, महाराष्ट्र की मास्टरनी. छात्र से पैर दबवाते हुए. एक दिव्यांग बच्चे ने वीडियो बना लिया, वायरल हुआ. सस्पेंड हुईं.
2013, अकोला, महाराष्ट्र की मास्टरनी. छात्र से पैर दबवाते हुए. एक दिव्यांग बच्चे ने वीडियो बना लिया, वायरल हुआ. सस्पेंड हुईं.

मास्टर वो भी हुए जो बच्चों को रोने पर, रोने के लिए पीटते थे. ‘सर मारते हैं’ कहने पर पीटते थे. डंडे मारने के बाद हाथ सहलाने का मौक़ा नहीं देते थे. मास्टर लड़कों को कुर्सी बनाते और कुर्सी अगर हिल जाती तो हिलने पर पीटते. कितने बच्चे क्लास में एक-दो मिनट लेट आए. मास्टरों ने उन्हें क्लास से बाहर कर दिया, एक मिनट की देरी के लिए लड़के पूरी क्लास मिस करते रहे. मास्टरों ने उस कक्षा में पढ़ाया पाठ ज़िंदगी में कभी नहीं दोहराया. सबसे नीच हुए वो मास्टर जिन्होंने हाथों के पूरे बल से बच्चों की हथेली पर मारा और अगर डंडा फिसल गया तो शरीर में जहां-तहां मारा.

2018, हैदराबाद का गौतम मॉडल स्कूल. टीचर ने फीस न जमा होने पर बच्चों को जहां-तहां मारा.
2018, हैदराबाद का गौतम मॉडल स्कूल. टीचर ने फीस न जमा होने पर बच्चों को जहां-तहां मारा.

मास्टर वो भी हुए जो केमेस्ट्री की कोचिंग में लड़के-लड़कियों के अनुपात का हमेशा ध्यान रखते थे. वो मास्टर भी थे जो लड़कों को इसलिए फेल कर देते क्योंकि वो उनकी कोचिंग में पढ़ने नहीं आया. वो HOD भी उन्हीं मास्टरों जैसे थे, जो लड़कियों को छः बजे के बाद असाइनमेंट जमा करने को बुलाते और वाइवा के समय स्तनों से नज़रें न हटाते.

1 सितंबर 2019, वड़ोदरा गुजरात, प्राइमरी म्युनिसिपल स्कूल के मास्टर, बच्चियों के यौन उत्पीड़न के आरोप में गिरफ्तार!
1 सितंबर 2019, वड़ोदरा गुजरात, प्राइमरी म्युनिसिपल स्कूल के मास्टर, बच्चियों के यौन उत्पीड़न के आरोप में गिरफ्तार!

मास्टर सबसे बर्बर निकले, बीमारी से उठकर आए बच्चे को इसलिए पीटते क्योंकि उसने पहले से अर्ज़ी नहीं भेजी थी. मास्टरों को किसी क्लास में ये नहीं पढ़ाया गया था कि बीमारी नोटिफिकेशन भेजकर नहीं आती. इस देश में सबसे ज़ाहिल लोगों को सबसे आसानी से मास्टरी मिली. इस देश में बच्चों का बचपन सबसे ज़्यादा मास्टरों ने बर्बाद किया.

मास्टरों ने टेस्ट में कम नंबर देख, गधा घोषित किया. मास्टर जिसे एक बार गधा कह देते, वो जीवन भर ज़्यादा नंबर नहीं ला सकता था. मास्टरों ने कक्षाओं में दो-तीन लोगों को ही पढ़ाया. मास्टर सालों तक मास्टर ही रह गए. टीचर्स डे पर पता लगा सबके फेवरेट टीचर होते थे. मास्टर, फेवरेट टीचर होते थे, ज़्यादा परसेंट लाने वालों के, जिन पर ज़्यादा मेहनत न करनी हो. मास्टर, मेहनत करें तो उन पर, जिनका बेहतर रिटर्न, बेहतर रिजल्ट आना बदा था. एवरेज स्टूडेंट्स के लिए हर मास्टर मार से बचने की चुनौती होते थे. आपकी किस्मत भली थी, आपको अच्छे टीचर मिले. मुझे मास्टर मिले, जिनसे कुछ सीखा नहीं जा सका, क्योंकि वो सिखा न सके. मैं तो कभी मास्टरों को शिक्षक दिवस पर टूटा पेन तक न दूं.

आपका छात्र,
जिसे अच्छे शिक्षक नहीं मिले


वीडियोः सरकारी स्कूल के बच्चों का टैलेंट देख आप बोलेंगे वाह! पढ़ाई हो तो ऐसी

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

'द्रविड़ ने बहुत नाजुक शब्दों से मुझे धराशायी कर दिया था'

'द्रविड़ ने बहुत नाजुक शब्दों से मुझे धराशायी कर दिया था'

रामचंद्र गुहा की किताब 'क्रिकेट का कॉमनवेल्थ' के कुछ अंश.

पहले स्पाइडरमैन टोबी मैग्वायर की कहानी, जिनका सबसे हिट रोल उनके लिए शाप बन गया

पहले स्पाइडरमैन टोबी मैग्वायर की कहानी, जिनका सबसे हिट रोल उनके लिए शाप बन गया

शुद्ध और असली स्पाइडरमैन टोबी मैग्वायर करियर ग्राफ़ बाद में गिरता ही चला गया.

10 साल पहले भी शाहरुख़ का समीर वानखेड़े से सामना हुआ था, समीर ने ठोका था तगड़ा जुर्माना

10 साल पहले भी शाहरुख़ का समीर वानखेड़े से सामना हुआ था, समीर ने ठोका था तगड़ा जुर्माना

जगह थी मुंबई एयरपोर्ट. अब दस साल बाद फिर से दोनों का नाम एक साथ सुर्ख़ियों में है.

'स्क्विड गेम' के प्लेयर नंबर 199 'अली' की कहानी, जिनके इंडियन होने ने सीरीज़ में एक्स्ट्रा मज़ा दिया

'स्क्विड गेम' के प्लेयर नंबर 199 'अली' की कहानी, जिनके इंडियन होने ने सीरीज़ में एक्स्ट्रा मज़ा दिया

अली का रोल करने वाले इंडियन एक्टर अनुपम त्रिपाठी का सलमान-शाहरुख़ कनेक्शन क्या है?

IPL का कित्ता ज्ञान है, ये क़्विज़ खेलकर चेक कल्लो!

IPL का कित्ता ज्ञान है, ये क़्विज़ खेलकर चेक कल्लो!

ईमानदारी से स्कोर भी बताते जाना. हम इंतज़ार करेंगे.

'मनी हाइस्ट' वाले प्रोफेसर की पूरी कहानी, जिनकी पत्नी ने कहा था, 'कभी फेमस नहीं हो पाओगे'

'मनी हाइस्ट' वाले प्रोफेसर की पूरी कहानी, जिनकी पत्नी ने कहा था, 'कभी फेमस नहीं हो पाओगे'

अलवारो मोर्टे ने वेटर तक का काम किया हुआ है. और एक वक्त तो ऐसा था कि बकौल उनके कैंसर से जान जाने वाली थी.

एक्टर शरत सक्सेना की कहानी, जिन्होंने 71 साल की उम्र में ज़बरदस्त बॉडी बनाकर सबको चौंका दिया

एक्टर शरत सक्सेना की कहानी, जिन्होंने 71 साल की उम्र में ज़बरदस्त बॉडी बनाकर सबको चौंका दिया

हीरो बनने आए शरत सक्सेना कैसे गुंडे का चमचा बनने पर मजबूर हुए?

'भीगे होंठ तेरे' वाले कुणाल गांजावाला आजकल कहाँ हैं?

'भीगे होंठ तेरे' वाले कुणाल गांजावाला आजकल कहाँ हैं?

एक वक़्त इंडस्ट्री में टॉप पर थे कुणाल और उनके गाने पार्टियों की जान हुआ करते थे.

राज कुंद्रा की पूरी कहानी, 18 की उम्र में शॉल बेचने से शुरुआत करने वाले राज यहां तक कैसे पहुंचे?

राज कुंद्रा की पूरी कहानी, 18 की उम्र में शॉल बेचने से शुरुआत करने वाले राज यहां तक कैसे पहुंचे?

IPL स्कैंडल, मॉडल्स के आरोप, अंडरवर्ल्ड कनेक्शंस के आरोप, एक्स वाइफ के इल्ज़ाम सब हैं इस कहानी में.

रिचर्ड ब्रैनसन: जिन्होंने पहले अंतरिक्ष के दर्शन करके जेफ बेजोस का मजा खराब कर दिया

रिचर्ड ब्रैनसन: जिन्होंने पहले अंतरिक्ष के दर्शन करके जेफ बेजोस का मजा खराब कर दिया

रिचर्ड ब्रेन्सन की कहानी, जहां भी गए तहलका मचा दिया.