Submit your post

Follow Us

क्या ऑनलाइन शॉपिंग के नियम अंबानी को फायदा पहुंचाने के लिए बदले गए?

16.18 K
शेयर्स

रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी अब ऑनलाइन रिटेल कारोबार में उतरेंगे. मुकेश अंबानी ऐमजॉन और फ्लिपकार्ट जैसी ई कॉमर्स कंपनियों को कड़ी टक्कर देने के इरादे से उतर रहे हैं. अभी ये दो कंपनियां ही भारत में ऑनलाइन मार्केट की प्रमुख खिलाड़ी हैं. अब रिलायंस के कूदने से ऐमजॉन और फ्लिपकार्ट मुकाबला तीन तरफा हो सकता है. ऑनलाइन कारोबार में मुकेश अंबानी अनूठे बिजनेस मॉडल के साथ कदम रखने जा रहे हैं. मुकेश अंबानी का ये ऐलान विदेशी ई कॉमर्स कंपनियों पर मोदी सरकार के नकेल कसने के बाद हुआ है. इसकी टाइमिंग को लेकर देश भर में बहस चल पड़ी है. क्या है ये पूरा मामला? और आने वाले दिनों में ऑनलाइन बाजार कैसा होने वाला है? ये सब कुछ समझते हैं आसान भाषा में.

ये ऑनलाइन बाजार होता क्या है?
ऐसी कंपनियां, जो अपनी वेबसाइट/ऐप पर सामान दिखाती हैं. इन सामानों को लोग कंप्यूटर या मोबाइल से इंटरनेट के जरिए खरीद सकते हैं.

क्या-क्या सामान मिलता है ऐसी वेबसाइट्स पर?
इन वेबसाइट्स पर घर में रोज इस्तेमाल होने वाले सामान मसलन साबुन टूथपेस्ट से लेकर, टीवी-फ्रिज, मोबाइल फोन, कपड़ा-लत्ता मिलता है. मान लीजिए कि करीब-करीब सब कुछ मिलता है.

कौन-कौन सी कंपनियां हैं इस फील्ड में?
अभी इस सेक्टर में ऐमजॉन और फ्लिपकार्ट जैसी कंपनियां प्रमुख हैं. ये दो कंपनियां बड़ी हैं. और भारत के ऑनलाइन रिटेल बाजार में इनकी सबसे ज्यादा सेल है. इनके अलावा स्नैपडील, पेटीएम मॉल जैसी कंपनियां भी हैं.

ऐमजॉन और फ्लिपकार्ट कहां की कंपनियां हैं?
ऐमजॉन अमेरिका की कंपनी है. इसके मालिक जेफ बेजोस हैं. ये दुनिया के सबसे अमीर आदमी हैं. इसी तरह फ्लिपकार्ट कुछ दिन पहले तक भारत की कंपनी थी. इसे अमेरिका की कंपनी वॉलमार्ट ने खरीद लिया है. वॉलमार्ट फुटकर यानी रिटेल सामान बेचने वाली दुनिया की नंबर वन कंपनी है. ऐमज़ॉन भारत में 350 अरब रुपए से ज्यादा के निवेश के इरादे से आई है. वॉलमार्ट ने फ्लिपकार्ट को करीब 1,07,200 करोड़ रुपए में खरीदा है.

दुकानदार क्यों विरोध करते हैं इनका?
ऐमजॉन और फ्लिपकार्ट ने भारत में बड़ा निवेश करके अपना कारोबार शुरू किया. काफी लोग इनसे घर बैठे सामान मंगाने लगे हैं. इस वजह से भारत के छोटे किराना दुकानदार अपने लिए खतरा महसूस कर रहे थे. उनको लगता था कि ऑनलाइन शॉपिंग कंपनियों की वजह से धीरे-धीरे उनकी बिक्री कम हो रही है.

अब आप कहेंगे, तो क्या, ग्राहकों को तो फायदा है?
बिलकुल सही है. इससे ग्राहकों को फायदा है. ऑनलाइन शॉपिंग कंपनियां ग्राहकों को कई प्रोडक्ट 70 से 80 फीसदी तक के डिस्काउंट पर बेचती हैं. इससे कंज्यूमर्स फायदे में रहते हैं. ये कंपनियां होली, दीपावली, रक्षाबंधन, स्वतंत्रता दिवस और गणतंत्र दिवस पर अपनी विशेष डिस्काउंट सेल का ऐलान करती हैं. इस वजह से ग्राहकों को और भी फायदा होता है. मगर देश के रिटेल कारोबारी इसका विरोध करते हैं. इसको देखते हुए मोदी सरकार ने कुछ नियम बदल दिए.

अभी तक ऐमजॉन पर उसकी सहयोगी कंपनी क्लाउडटेल के प्रोडक्ट ज्यादा बिकते थे. सांकेतिक तस्वीर. इंडिया टुडे.
अभी तक ऐमजॉन पर उसकी सहयोगी कंपनी क्लाउडटेल के प्रोडक्ट ज्यादा बिकते थे. सांकेतिक तस्वीर. इंडिया टुडे.

क्या बदलाव कर दिए मोदी सरकार ने?
मोदी सरकार ने 1 फरवरी से ऑनलाइन शॉपिंग कंपनियों के लिए कुछ नए नियम लागू कर दिए हैं. अब ऐसी कंपनियां, जिनका मालिकाना हक विदेशी कंपनियों के पास होगा, वे अपनी वेबसाइट के माध्यम से अपने खुद के प्रोडक्ट सिर्फ 25 फीसदी ही बेच पाएंगी. बाकी प्रोडक्ट उनको दूसरी कंपनियों के बेचने होंगे. ऐसी कंपनियां अब एक्सक्लूसिव सेल भी नहीं ला पाएंगी. इन नियमों की वजह से माना जा रहा है कि ऐमजॉन और फ्लिपकार्ट को नुकसान होगा. इसका फायदा रिलायंस जैसी लोकल कंपनी को हो सकता है.

क्या होगा इस नियम के लागू होने से?
अभी तक ऐमजॉन पर उसकी सहयोगी कंपनी क्लाउडटेल के प्रोडक्ट ज्यादा बिकते थे. अब क्लाउडटेल के प्रोडक्ट ऐमजॉन पर 25 फीसदी ही बिक पाएंगे. क्लाउडटेल इन्फोसिस के एनआर नारायण मूर्ति की कैटामारन वेंचर और ऐमज़ॉन का जॉइंट वेंचर है. इसी तरह फ्लिपकार्ट पर डब्लूएस रिटेल के प्रोडक्ट बिकते थे. डब्लूएस रिटेल में फ्लिपकार्ट की हिस्सेदारी मानी जाती है. फ्लिपकार्ट पर वालमार्ट के भी प्रोडक्ट बिकने थे. मगर अब ये सिर्फ 25 फीसदी सामान बेच पाएंगे.

ऐमजॉन ने रणनीति में क्या बदलाव किया?
इकॉनमिक टाइम्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक जैसे ही सरकार ने ऑनलाइन रिटेल शॉपिंग की पॉलिसी में बदलाव किया, वैसे ही क्लाउडटेल में कैटामारन और ऐमजॉन ने हिस्सेदारी में बदलाव कर लिया है. क्लाउडटेल में अब नारायणमूर्ति की कंपनी कैटामारन की हिस्सेदारी 76 फीसदी हो गई है. और ऐमजॉन की हिस्सेदारी 24 फीसदी रह गई है. इससे क्लाउडटेल को अपने प्रोडक्ट बेचने में आसानी रहेगी. मतलब ये कि क्लाउडटेल अब 25 फीसदी वाले नियम में नहीं आएगी.

मुकेश अंबानी की तैयारी क्या है?
बीते दिनों वाइब्रेंट गुजरात समिट-2019 में मुकेश अंबानी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सामने अपनी योजना का खुलासा किया. मुकेश अंबानी ने कहा कि उनका ऑनलाइन शॉपिंग प्लेटफॉर्म शुरुआत में गुजरात के 12 लाख छोटे दुकानदारों के लिए उपलब्ध होगा. रिलायंस इंडस्ट्रीज जियो और रिलायंस रिटेल के साथ मिलकर नया ऑनलाइन शॉपिंग प्लैटफॉर्म विकसित कर रही है. इससे 12 लाख दुकानदार और जियो के 28 करोड़ ग्राहक जुड़ेंगे. रिलायंस रिटेल के 6500 से ज्‍यादा शहरों में 10,000 से ज्यादा आउटलेट्स भी हैं. कंपनी की प्लानिंग जियो ऐप और मोबाइल फोन के जरिए इन सभी को एक प्लैटफॉर्म पर लाने की है. इससे ऑनलाइन मार्केटिंग और डिलीवरी के खर्चे घटेंगे. इसका लाभ ग्राहकों को मिलेगा.

कौन सी योजना पर चल रहा काम?
मिंट की एक रिपोर्ट के मुताबिक मुकेश अंबानी चीनी कंपनी अलीबाबा के सीईओ जैक मा की रणनीति अपना रहे हैं. इसके लिए रिलायंस जियो और रिलायंस रिटेल छोटे शहरों और कस्बों में स्थानीय दुकानदारों से समझौता कर रही है. ये ऑनलाइन टू ऑफलाइन बिजनेस मॉडल होगा. मतलब ये कि रिलायंस में सामान की बुकिंग तो ऑनलाइन होगी. मगर उत्पादों की सप्लाई स्थानीय दुकानदारों के जरिए होगी. कंपनी का इरादा दूसरे, तीसरे और चौथे दर्जे के शहरों के साथ छोटे कस्बों तक ई कॉमर्स बाजार में छा जाने का है. इससे कंपनी को शिपिंग और रिटर्न पर आने वाली लागत नहीं झेलनी पड़ेगी.

अभी किस तरह का रिटेल कारोबार है रिलायंस का?
ई कॉमर्स बाजार में रिलायंस की पहुंच अभी कम है. कंपनी रिलायंस ट्रेंड और अजियो डॉट कॉम के जरिए रेडिमेड गारमेंट्स की बिक्री करती है. रिलायंस स्मार्ट के जरिए राशन और फल-सब्जियों की बिक्री की जाती है. कंपनी इलेक्ट्रॉनिक्स प्रोडक्ट भी बेच रही है. कंपनी के पिछले ट्रैक रिकॉर्ड को देखते हुए कहा जा सकता है कि ये आगे चलकर देश में ई कॉमर्स बाजार के बड़े खिलाड़ियों ऐमजॉन और फ्लिपकार्ट को कड़ी टक्कर दे सकती है.

सरकार पर सवाल क्यों?
मोदी सरकार ने ऑनलाइन शॉपिंग को लेकर जो बदलाव किए हैं, उसकी टाइमिंग को लेकर लोग सवाल खड़े कर रहे हैं. मतलब ये कि एक तरफ सरकार विदेशी कंपनियों के सामान बेचने  के नियम कड़े कर रही है. दूसरी ओर, ठीक इसी समय देश के दिग्गज कारोबारी मुकेश अंबानी ऑनलाइन शॉपिंग मार्केट में उतरने का ऐलान कर रहे हैं.

कितना बड़ा है ये बाजार?
एक रिपोर्ट के मुताबिक भारत में ऑनलाइन शापिंग कंपनियों का कारोबार 5,000 करोड़ रुपए के आस-पास है. ये सालाना 30 फीसदी की दर से बढ़ रहा है. ऐमज़ॉन इंडिया इस वक्त भारत की सबसे पॉपुलर वेबसाइट है. फिर फ्लिपकार्ट का नंबर है. पेटीएम तीसरी बड़ी ई-कॉमर्स कंपनी है. कंपनी ने दो साल पहले पेटीम मॉल लॉन्च करके ई-कॉमर्स इंडस्ट्री में एंट्री ली थी. साल 2017 में पेटीएम ने सॉफ्टबैंक से 4,400 करोड़ रुपए का निवेश हासिल किया था. मगर इसका प्रबंधन अभी भारतीय हाथों में है. एक कंपनी है जबांग, इसे फ्लिपकार्ट ने एक्वायर कर लिया है. मिंत्रा नाम की एक शॉपिंग वेबसाइट फैशनेबल प्रोडक्ट बेचती है. 2014 में इसे भी फ्लिपकार्ट ने ले लिया है.


वीडियोः केंद्र सरकार के इस नए कानून के बाद अब ऑनलाइन शॉपिंग में बड़े बदलाव आएंगे

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें
All about to know online shopping business and changes in FDI policy to e commerce companies and entry of reliance industries and mukesh ambani

कौन हो तुम

रोहित शेट्टी के ऊपर ऐसी कड़क Quiz और कहां पाओगे?

14 मार्च को बड्डे होता है. ये तो सब जानते हैं, और क्या जानते हो आके बताओ. अरे आओ तो.

परफेक्शनिस्ट आमिर पर क्विज़ खेलो और साबित करो कितने जाबड़ फैन हो

आज आमिर खान का हैप्पी बड्डे है. कित्ता मालूम है उनके बारे में?

चेक करो अनुपम खेर पर अपना ज्ञान और टॉलरेंस लेवल

अनुपम खेर को ट्विटर और व्हाट्सऐप वीडियो के अलावा भी ध्यान से देखा है तो ये क्विज खेलो.

Quiz: आप भोले बाबा के कितने बड़े भक्त हो

भगवान शंकर के बारे में इन सवालों का जवाब दे लिया तो समझो गंगा नहा लिया

आजादी का फायदा उठाओ, रिपब्लिक इंडिया के बारे में बताओ

रिपब्लिक डे से लेकर 15 अगस्त तक. कई सवाल हैं, क्या आपको जवाब मालूम हैं? आइए, दीजिए जरा..

जानते हो ह्रतिक रोशन की पहली कमाई कितनी थी?

सलमान ने ऐसा क्या कह दिया था, जिससे हृतिक हो गए थे नाराज़? क्विज़ खेल लो. जान लो.

राजेश खन्ना ने किस हीरो के खिलाफ चुनाव लड़ा और जीता था?

राजेश खन्ना के कितने बड़े फैन हो, ये क्विज खेलो तो पता चलेगा.

सलमान खान के फैन, इधर आओ क्विज खेल के बताओ

क्विज में सही जवाब देने वाले के लिए एक खास इनाम है.

फवाद पर ये क्विज खेलना राष्ट्रद्रोह नहीं है

फवाद खान के बर्थडे पर सपेसल.

दुनिया की सबसे खूबसूरत महिला के बारे में 9 सवाल

कुछ ऐसी बातें, जो शायद आप नहीं जानते होंगे.