Submit your post

Follow Us

अभिनव बिंद्रा से किसने कहा था, 'तुम हाथी पर बैठकर घर क्यों नहीं लौट जाते?

अभिनव बिंद्रा. बीजिंग 2008 ओलंपिक गेम्स के गोल्ड मेडलिस्ट. बिंद्रा जीके की किताबों से लेकर आम जीवन तक बराबर फेमस हैं. होना ही चाहिए, उनका कारनामा ही इतना बड़ा है. बिंद्रा ओलंपिक्स में गोल्ड मेडल जीतने वाले पहले भारतीय एथलीट थे. उनसे पहले हमने सिर्फ हॉकी जैसे टीम इवेंट में ही गोल्ड मेडल्स जीते थे. और इस गोल्ड के 13 साल बाद अब नीरज चोपड़ा भी बिंद्रा के क्लब में शामिल हो गए हैं.

पूरा देश चोपड़ा की जीत का जश्न मना रहा है. और इस जश्न के बीच ही वो तारीख भी आ गई है जिसने बिंद्रा को इस क्लब का संस्थापक सदस्य, बोले तो फाउंडिंग मेंबर बनाया था. तारीख 11 अगस्त थी और साल 2008. बिंद्रा ने बीजिंग में 10 मीटर एयर राइफल इवेंट का गोल्ड मेडल अपने नाम किया. इसके बाद जो कुछ भी हुआ वो सबको पता है. लेकिन इससे पहले भी काफी कुछ हुआ था.

और इन काफी कुछ में वो दुत्कार भी शामिल है जिसे झेलकर बिंद्रा इतने आगे बढ़े. बिंद्रा ने शूटिंग शुरू करते ही अपना लक्ष्य तय कर लिया था. उनके दिमाग में ये बात साफ थी कि उन्हें आगे चलकर ओलंपिक्स गोल्ड मेडल ही जीतना है. लेकिन अगर ये इतना आसान होता तो क्या ही बात होती. बिंद्रा ने भी इस रास्ते में कई मुश्किलें झेलीं और इन मुश्किलों में से एक का ज़िक्र करते हुए बिंद्रा ने एक बार ईएसपीएन से कहा था,

‘मेरा जीवन सिर्फ और सिर्फ ओलंपिक्स में गोल्ड मेडल जीतने के बारे में था. जब 12-13 साल की उम्र में मैंने शूटिंग शुरू की, यह एक मूर्खतापूर्ण विचार था. मुझे याद है जब मैं हाइंज़ रीनकेमीयर और गैब्रिएले बुलमन (गैबी) के पास कोचिंग के लिए गया था, जब मैं उनसे मिला तो शूटिंग में भारत बहुत पीछे था. उन्होंने मुझसे कहा- तुम ओलंपिक्स में गोल्ड मेडल जीतना चाहते हो? तुम एक हाथी पर बैठकर घर क्यों नहीं चले जाते?’

लेकिन ऐसी बातें सुनने के बाद भी बिंद्रा नहीं रुके. उन्होंने साल 2008 में गोल्ड मेडल जीतकर ही दम लिया. शूटिंग में ओलंपिक्स चैंपियन बिंद्रा के करियर की एक और खास बात है, उन्होंने आर्चरी देखकर ओलंपिक्स खेलने का मन बनाया था. इस बारे में बिंद्रा ने मशहूर खेल पत्रकार शारदा उगरा से कहा था,

‘मैंने 1992 के ओलंपिक्स को टीवी पर देखा जहां लिंबा राम शूट कर रहे थे. यह ओलंपिक्स से मेरा पहला परिचय था. मैं इन खेलों से जुड़े भौकाल से काफी प्रभावित हुआ.’

और इन खेलों के भौकाल से प्रभावित होकर ओलंपियन बनने वाले बिंद्रा को उनके परिवार का भी पूरा साथ मिला. बिंद्रा के परिवार ने शुरू से ही उन्हें सपोर्ट किया. उनके बिजनेसमैन पिता ने घर पर ही एयरकंडीशंड शूटिंग रेंज बनवा दी थी जिससे अभिनव प्रैक्टिस कर सकें. साथ ही वह नियमित तौर पर प्रैक्टिस के लिए जर्मनी भी जाते थे.

अभिनव बिंद्रा सिर्फ 15 साल की उम्र में भारत के लिए 1998 कॉमनवेल्थ गेम्स खेल चुके थे. अपने करियर में 200 से ज्यादा मेडल्स जीतने वाले अभिनव आजकल अभिनव बिंद्रा फाउंडेशन के नाम से अपना एनजीओ चलाते हैं. इसके जरिए एथलीट्स को नई टेक्नॉलजी और हाई परफॉर्मेंस फिजिकल ट्रेनिंग दी जाती है. इसके अलावा भी बिंद्रा तमाम तरीकों से खेल की बेहतरी के लिए काम कर रहे हैं.


टोक्यो ओलंपिक में गोल्ड मेडल जीतने के बाद नीरज चोपड़ा अब क्या करना चाहते हैं?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

10 साल पहले भी शाहरुख़ का समीर वानखेड़े से सामना हुआ था, समीर ने ठोका था तगड़ा जुर्माना

जगह थी मुंबई एयरपोर्ट. अब दस साल बाद फिर से दोनों का नाम एक साथ सुर्ख़ियों में है.

'स्क्विड गेम' के प्लेयर नंबर 199 'अली' की कहानी, जिनके इंडियन होने ने सीरीज़ में एक्स्ट्रा मज़ा दिया

अली का रोल करने वाले इंडियन एक्टर अनुपम त्रिपाठी का सलमान-शाहरुख़ कनेक्शन क्या है?

IPL का कित्ता ज्ञान है, ये क़्विज़ खेलकर चेक कल्लो!

ईमानदारी से स्कोर भी बताते जाना. हम इंतज़ार करेंगे.

'मनी हाइस्ट' वाले प्रोफेसर की पूरी कहानी, जिनकी पत्नी ने कहा था, 'कभी फेमस नहीं हो पाओगे'

अलवारो मोर्टे ने वेटर तक का काम किया हुआ है. और एक वक्त तो ऐसा था कि बकौल उनके कैंसर से जान जाने वाली थी.

एक्टर शरत सक्सेना की कहानी, जिन्होंने 71 साल की उम्र में ज़बरदस्त बॉडी बनाकर सबको चौंका दिया

हीरो बनने आए शरत सक्सेना कैसे गुंडे का चमचा बनने पर मजबूर हुए?

'भीगे होंठ तेरे' वाले कुणाल गांजावाला आजकल कहाँ हैं?

एक वक़्त इंडस्ट्री में टॉप पर थे कुणाल और उनके गाने पार्टियों की जान हुआ करते थे.

राज कुंद्रा की पूरी कहानी, 18 की उम्र में शॉल बेचने से शुरुआत करने वाले राज यहां तक कैसे पहुंचे?

IPL स्कैंडल, मॉडल्स के आरोप, अंडरवर्ल्ड कनेक्शंस के आरोप, एक्स वाइफ के इल्ज़ाम सब हैं इस कहानी में.

रिचर्ड ब्रैनसन: जिन्होंने पहले अंतरिक्ष के दर्शन करके जेफ बेजोस का मजा खराब कर दिया

रिचर्ड ब्रेन्सन की कहानी, जहां भी गए तहलका मचा दिया.

'सिंघम' IPS से तमिलनाडु BJP के सबसे युवा अध्यक्ष बने अन्नामलाई की कहानी

पहला चुनाव हार गए थे, बीजेपी ने राज्य की जिम्मेदारी सौंपी है.

'तड़प-तड़प के' जैसा प्रेमियों का ब्रेकअप एंथम देने वाले सिंगर के के आजकल कहां हैं?

उनके गाए 'पल' गाने के बगैर आज भी किसी कॉलेज का फेयरवेल पूरा नहीं होता.