Submit your post

Follow Us

भारत के 8 बीच वर्ल्ड क्लास घोषित हो गए, पर इनमें वो तट नहीं, जिसे मोदीजी ने साफ किया था

पीएम मोदी बाग-बाग हैं. पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावडेकर और रेल मंत्री पीयूष गोयल भी बहुत खुश हैं. जी नहीं, बीजेपी फिर कोई इलेक्शन नहीं जीता है. मामला एक नए सम्मान का है. भारत के 8 समुद्र तटों को ब्लू फ्लैग नाम का सर्टिफिकेट मिला है. ब्लू फ्लैग को समुद्र तटों के संरक्षण के लिहाज से दुनिया में बड़ा सर्टिफिकेट माना जाता है. हालांकि इन तटों में मामल्लापुरम का वह बीच शामिल नहीं है, जिसकी सफाई खुद पीएम मोदी ने अक्टूबर 2019 में की थी. आइए जानते हैं ब्लू फ्लैग सर्टिफिकेट और उन जगहों के बारे में, जिन्हें यह मिला हैः

मोदी की खुशी की नई वजह क्या है?

पीएम नरेंद्र मोदी ने अपने पर्सनल ट्विटर हैंडल से ट्वीट किया-

भारत के 8 समुद्र तटों को नामी ब्लू फ्लैग सर्टिफिकेट मिला है. यह दिखाता है कि भारत ऐसी जगहों के संरक्षण और सतत विकास को कितना महत्व देता है. सचमुच एक अद्भुत मौका है.

  पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावडेकर ने भी ट्वीट करके खुशी जाहिर की-

भारत के लिए गर्व का क्षण है. सरकार द्वारा जिन 8 समुद्र तटों की सिफारिश की गई थी, उन सभी को इंटरनैशनल ब्लू फ्लैग सर्टिफिकेट मिल गया है.

क्या वाकई ब्लू फ्लैग सर्टिफिकेट बड़ी बात है?

समंदर के आसपास की खूबसूरत के पैमाने पर देखें तो इसे टॉपम टॉप सर्टिफिकेट समझिए. समुद्र तट, बोटिंग और रहन-सहन की क्वालिटी को देखकर यह सर्टिफिकेट दिया जाता है. इसे देने का काम एक एनजीओ Foundation for Environmental Education (FEE) करती है. यह 1987 में फ्रांस में बनी, और यूरोप से सर्टिफिकेट देने का काम शुरू करने के बाद इसका दायरा पूरी दुनिया तक बढ़ गया. सर्टिफिकेशन के काम में दुनिया के कई बड़े संगठन जैसे World Tourism Organization (WTO), United Nations Environment Programme (UNEP), International Union for Conservation of Nature (IUCN), United Nations Educational, Scientific and Cultural Organisation (UNESCO), the International Council of Marine Industry Associations (ICOMIA) आदि भी इनकी मदद करते हैं.

Sale(235)
एशिया के बहुत कम समुद्र तट हैं, जिन्हें ब्लू फ्लैग सर्टिफिकेट मिला है. (फोटो- blueflag.org)

इस सर्टिफिकेट के महत्व को इस लिहाज से भी समझा जा सकता है कि एशिया में बहुत कम ऐसी साइटें हैं, जिन्हें ब्लू फ्लैग सर्टिफिकेट मिला है. ब्लू फ्लैग ग्लोबल की वेबसाइट के अनुसार, दुनिया में सिर्फ 46 देश हैं, जिनके 4,664 बीच, समंदर और बोट्स को ब्लू फ्लैग सर्टिफिकेट दिए गए हैं. ज्यादातर सर्टिफिकेट यूरोप के समुद्र तटों को मिले हैं. पीआईबी की रिपोर्ट में बताया गया कि भारत अकेला ऐसा देश है, जिसे सिर्फ 2 साल के भीतर ही ब्लू फ्लैग सर्टिफिकेट मिल गया. एशिया में जापान, साउथ कोरिया और यूएई के समुद्र तटों को ही कुछ ब्लू फ्लैग सर्टिफिकेट मिल पाए हैं, और उन्हें ऐसा करने में 5 से 6 साल का वक्त लगा.

किन पैमानों पर मिला है ये सर्टिफिकेट?

ब्लू फ्लैग सर्टिफिकेट 33 पैमानों पर दिया जाता है, जिन्हें 4 कैटिगरी में बांटा गया है-

# पर्यावरण के बारे में जानकारी और जागरूकता
# नहाने के पानी की गुणवत्ता

# पर्यावरण का मैनेजमेंट और संरक्षण
# समुद्र तट पर उपलब्ध सुरक्षा और सुविधाएं.

इन सभी पैमानों पर सख्त जांच के बाद ही किसी बीच को सर्टिफिकेट दिया जाता है. वहां ऑर्गनाइजेशन अपना लोगो लगाता है.

कौन से हैं ये ब्लू फ्लैग सर्टिफिकेट वाले बीच?

देश में जिन आठ समुद्र तटों को ब्लू फ्लैग सर्टिफिकेट मिले हैं, उनमें शामिल हैं-

शिवराजपुर (द्वारका-गुजरात), घोघुला (दीव), कासरकोड और पदुबिदरी (कर्नाटक), काप्पड (केरल), रुशिकोंडा (आंध्र प्रदेश), गोल्डन बीच (ओडिशा) और राधानगर (अंडमान एंड निकोबार).

Sale(236)
हर बीच को उसकी खासियतों के हिसाब से सर्टिफाई किया जाता है (फोटो- @PBNS_india ).

Sale(237)

कड़े मानकों को चेक करने के लिए बाकायदा पैनल जाकर जांच करता है. (फोटो-@PBNS_india)

आगे 100 तटों को ब्लू फ्लैग दिलाने का मिशन

भारत सरकार इस उपलब्धि को पर्यटन के लिहाज से बहुत अच्छा मान रही है. सरकार ने अगले कुछ सालों में ब्लू फ्लैग सर्टिफिकेट वाले समुद्र तटों की संख्या बढ़ाकर 100 तक पहुंचाने का टारगेट रखा है.

जब पीएम मोदी ने साफ किया था बीच..

बात अक्टूबर 2019 की है. चीन के मुखिया शी जिनपिंग भारत आ रहे थे. उनके लिए मामल्लापुरम में भव्य कार्यक्रम का आयोजन किया गया था. यह तमिलनाडु के महाबलीपुरम में है. उसी दौरान मामल्लापुरम की वो तस्वीरें सामने आईं थीं, जिनमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बीच पर प्लॉगिंग (जॉगिंग के साथ-साथ सफाई) करते नजर आए थे. तस्वीरें काफी वायरल हुई थीं. इनके माध्यम से पीएम ने समुद्र तटों को साफ-सुथरा रखने का संदेश दिया था.

Sale(240)
अक्टूबर 2019 में पीएम मोदी मामल्लापुरम बीच की सफाई करते दिखे थे. (फोटो-पीटीआई)

वीडियो – मोदी सरकार को इस आदमी की इस आदमी की गंगा सफाई पर बात ढूंढकर सुननी चाहिए

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

पार्टियों को चुनाव निशान के आधार पर पहचानते हैं आप?

पार्टियों को चुनाव निशान के आधार पर पहचानते हैं आप?

चुनावी माहौल में क्विज़ खेलिए और बताइए कितना स्कोर हुआ.

लगातार दो फिफ्टी मारने वाले कोहली ने अब कहां झंडे गाड़ दिए?

लगातार दो फिफ्टी मारने वाले कोहली ने अब कहां झंडे गाड़ दिए?

राहुल के साथ यहां भी गड़बड़ हो गई.

रोहित शेट्टी के ऊपर ऐसी कड़क Quiz और कहां पाओगे?

रोहित शेट्टी के ऊपर ऐसी कड़क Quiz और कहां पाओगे?

14 मार्च को बड्डे होता है. ये तो सब जानते हैं, और क्या जानते हो आके बताओ. अरे आओ तो.

आमिर पर अगर ये क्विज़ नहीं खेला तो दोगुना लगान देना पड़ेगा

आमिर पर अगर ये क्विज़ नहीं खेला तो दोगुना लगान देना पड़ेगा

म्हारा आमिर, सारुक-सलमान से कम है के?

परफेक्शनिस्ट आमिर पर क्विज़ खेलो और साबित करो कितने जाबड़ फैन हो

परफेक्शनिस्ट आमिर पर क्विज़ खेलो और साबित करो कितने जाबड़ फैन हो

आज आमिर खान का हैप्पी बड्डे है. कित्ता मालूम है उनके बारे में?

अनुपम खेर को ट्विटर और वॉट्सऐप वीडियो के अलावा भी ध्यान से देखा है तो ये क्विज खेलो

अनुपम खेर को ट्विटर और वॉट्सऐप वीडियो के अलावा भी ध्यान से देखा है तो ये क्विज खेलो

चेक करो अनुपम खेर पर अपना ज्ञान.

कहानी राहुल वैद्य की, जो हमेशा जीत से एक बिलांग पीछे रह जाते हैं

कहानी राहुल वैद्य की, जो हमेशा जीत से एक बिलांग पीछे रह जाते हैं

'इंडियन आइडल' से लेकर 'बिग बॉस' तक सोलह साल हो गए लेकिन किस्मत नहीं बदली.

गायों के बारे में कितना जानते हैं आप? ज़रा देखें तो...

गायों के बारे में कितना जानते हैं आप? ज़रा देखें तो...

कितने नंबर आए बताते जाइएगा.

संविधान के कितने बड़े जानकार हैं आप?

संविधान के कितने बड़े जानकार हैं आप?

ये क्विज़ जीत लिया तो आप जीनियस हुए.

आप अपने देश की सेना को कितना जानते हैं?

आप अपने देश की सेना को कितना जानते हैं?

कितना स्कोर रहा ये बता दीजिएगा.