Submit your post

Follow Us

इंडिया और पाकिस्तान के बीच खेले गए मैचों के 10 सबसे यादगार पल

एशिया कप में इंडिया और पाकिस्तान एक बार फिर आमने सामने हैं.

1.48 K
शेयर्स

मिलाना चाहा है इंसां को जब भी इंसां से
सारे काम ये सियासत बिगाड़ देती है.

राहत इन्दौरी ने ये शायद इंडिया और पाकिस्तान के बीच खेले जाने वाली क्रिकेट सीरीज़ की कहानी पोलिटिकल मसलों की वजह से पैक हो जाने पर ही कहा होगा. दिसंबर 2015 में पाकिस्तान और इंडिया के बीच खेली जाने वाली सीरीज़ ताबूत में डाल दी गयी. लेकिन इंडिया और पाकिस्तान के बीच क्रिकेट प्यार में पागल वो जोड़ा है जो अपने अपने घर की लाख बंदिशों के बावजूद जुगाड़ भिड़ा के कभी कम्पनी गार्डन तो कभी इतवार की बाजार में मिल ही जाते हैं.

इस बार सीरीज़ के शुरू होने से पहले ही बंद हो जाने के बाद ये दोनों टीमें मिल रही हैं शनिवार को एशिया कप में. एशिया कप जिसे मार्च में शुरू होने वाले टी-20 वर्ल्ड कप के पहले की प्रैक्टिस माना जा रहा है. लेकिन इंडिया और पाकिस्तान का मैच भले ही प्रैक्टिस हो, मैच नहीं रहता. वो बहुत कुछ हो जाता है. जिसमें किसी एक देश में अपनी टीम को हारता देखने के बाद लोग सडकों पर उतर कर टीवी फोड़ते हैं तो कभी किसी को हार्ट-अटैक आ जाता है. इमोशन्स का तो ऐसा है कि वो चरम से भी थोड़ा ऊपर चल रहे होते हैं. इंडिया और पाकिस्तान के बीच होने वाला मैच, तीन-साढ़े तीन घंटे में इतिहास लिख देता है.

हम देते हैं लिस्ट इंडिया वर्सेज़ पाकिस्तान के बीच खेले मैचों के उन 10 मौकों की जो मेमोरी में ऐसे घुस चुके हैं कि वो अमर हो गए हैं.

10. मियांदाद का छक्का!

ऑस्ट्रेलेशिया कप 1986. आखिरी गेंद पर जीतने के लिए चार रन. 110 रन पर बैटिंग कर रहे मियांदाद के सामने थे चेतन शर्मा. 3 विकेट ले चुके शर्मा से जावेद मियांदाद ने पूछा, “तेरा ड्रेसिंग रूम किधर है?” चेतन शर्मा ने पूछा “क्यूँ? क्या करेगा?” “वहीँ छक्का मारूंगा तुझे.” ये जवाब था जावेद मियांदाद का. उनके मुंह में उस वक़्त सरस्वती का वास था. अगली गेंद पे लेग साइड में एक जंगली स्लॉग! जैसे हर कोई स्कूल के दिनों में कॉस्को की गेंद से खेलते हुए मारता है. गेंद ड्रेसिंग रूम में वहीँ गिरी जहाँ चेतन शर्मा बैठ के चाय पीते थे. पाकिस्तान ने भौकाल जमा दिया था.

9. 2007 टी-20 वर्ल्ड कप का लीग मैच

पहला टी-20 वर्ल्ड कप. दसवां मैच. इंडिया वर्सेज़ पाकिस्तान. दोनों टीमें सेम स्कोर बना कर एक दूसरे का मुंह ताक रही थीं. किसी एक का तो जीतना ज़रूरी ही था. अंपायर ने कहा कि बॉल-आउट होगा. बॉल आउट जैसे फुटबॉल में बराबर गोल होने पर पेनाल्टी स्ट्रोक्स लेते हैं. हर बॉलर बिना बैट्समैंन के बॉल फेंकेगा और गेंद विकेट पे लगनी चाहिए. स्कोर हुआ 3-0. इंडिया जीत गया. सहवाग, हरभजन और उथप्पा ने गेंदें फेंकी. तीनों स्टम्प पे लगीं. पाकिस्तान की तरफ से यासिर अराफ़ात, उमर गुल और शाहिद अफ्रीदी ने गेंदें फेंकी. एक भी नहीं लगीं.

8. अनिल कुंबले के एक इनिंग्स में 10 विकेट

दूसरा टेस्ट, दिल्ली. साल 1999. फ़िरोज़ शाह कोटला स्टेडियम में कड़कड़ाती ठण्ड में मैच चालू था. पाकिस्तान को जीतने के लिए 420 रन चाहिए थे. ये वो ज़माना था जब सईद अनवर के साथ शाहिद अफ्रीदी ओपेनिंग करने आता था. इजाज़ अहमद, फिर इंज़ी भाई, फिर यूसुफ़ योहाना. ऐसी धाकड़ बैटिंग ऑर्डर को साढ़े 26 ओवर में अनिल कुंबले बिना पानी पिए खा गए. पूरी इनिंग्स में किसी और को विकेट ही नहीं लेने दिए.

7. वेंकटेश प्रसाद और आमिर सोहेल की भसड़

वर्ल्ड कप 1996. दूसरा क्वार्टर फाइनल. बैंगलोर. पन्द्रहवें ओवर की चौथी गेंद. आमिर सोहेल, लेफ्ट हैन्डेड बैट्समैंन, वेंकटेश प्रसाद की गेंद पर आगे बढ़ते हैं. पॉइंट के मुंह के सामने से गेंद गोली की तरह बाउंड्री पार चली जाती है. इसके बाद जो आमिर सोहेल करते हैं उसके तो क्या कहने! वो आगे चलते हुए आते हैं और वेंकटेश को ऊँगली दिखाते हुए कहते हैं कि अगली गेंद फिर वहीँ मारूँगा. यही सोहेल खान को भरी पड़ जाता है. वेंकटेश राउंड द विकेट आते हैं. गुड लेंथ से थोड़ा आगे टप्पा खायी हुई गेंद आमिर सोहेल का ऑफ स्टम्प उखाड़ देती है. साथ ही कुछ गालियाँ उनके रस्ते भेज दी जाती हैं.

6. हृषिकेश कानितकर का आखिरी गेंद पे चउव्वा


इंडिपेंडेंस कप का तीसरा फाइनल. उस वक़्त ढाई-सौ रन का टोटल भी पहाड़ होता था. यहाँ पाकिस्तान ने 314 रन ठोंके थे. ये एवरेस्ट था. सईद अनवर उधर 140 रन हौंक दिहिस था और साथ में इजाज़ अहमद 117. यहाँ आलम ये कि सचिन 41 पे चल दिए थे. सम्हाला गांगुली और रॉबिन सिंह में. 250 रन के बाद विकेट धड़ापड़ी गिरने लगे. आखिरी गेंद पर जीतने के लिए 2 रन चाहिए थे. गेंद फेंक रहे थे सक़लैन मुश्ताक़. हृषिकेश कानितकर बैटिंग कर रहे थे. लेफ़्ट-हैण्ड से बैटिंग करने वाले कानितकर ने स्लॉग किया और गेंद लॉन्ग-ऑन पर चार रन. एक दिन के हीरो बन गए कानितकर.

5. इरफ़ान पठान की हैट-ट्रिक

तीसरा टेस्ट. कराची. साल 2006.
पहले ओवर की चौथी गेंद – सलमान बट को राहुल द्रविड़ स्लिप में कैच लेते हैं.
पहले ओवर की पांचवीं गेंद – यूनुस खान को लेफ़्ट आर्म ओवर द विकेट से अन्दर स्विंग करती हुई गेंद पे एलबीडब्लू किया.
पहले ओवर की छठी गेंद – मुहम्मद यूसुफ़ के बैट और पैड के बीच में बन चुके खांचे में गेंद घुसेड़ के मिडल स्टम्प हिला के रख दिया.
पाकिस्तान का स्कोर – ज़ीरो रन पर तीन विकेट.

4. मुल्तान का नया सुल्तान


इंडिया सालों बाद पाकिस्तान की ज़मीं पे मैच खेल रही थी. वन-डे सीरीज़ जीतने के बाद पहला टेस्ट मैच मुल्तान में खेला जा रहा था. इंडिया की तरफ़ से आकाश चोपड़ा के साथ एक पागल बैटिंग करने उतरा. पाकिस्तान का भूत बना कर रख दिया. सचिन ने इससे कहा कि अब छक्का मारा तो चूतड़ पे बल्ला पड़ेगा. सहवाग ने कहा कि अगर सक़लैन मुश्ताक़ बॉल फेंकेगा तो मरूँगा. मुश्ताक़ ने गेंद फेंकी, सहवाग ने छक्का पेल दिया. 300 रन बन गए. ये बूता सिर्फ सहवाग में ही है कि सचिन की बात पलट दे. मुल्तान भले ही पाकिस्तान में हो पर वहां के सुल्तान वीरू पाजी ही रहेंगे.

3. पाकिस्तान का विक्ट्री लैप चेन्नई में

1999 में पाकिस्तान इंडिया में खेल रहा था. पहला टेस्ट मैच था चेन्नई में. पहली इनिंग्स में 0 पर आउट होने वाले सचिन दूसरी इनिंग्स में 136 बनाइन. लेकिन इंडिया 12 रन पहिले ही आउट हुई गयी. गजब खेला हुआ था. 4 रन के अन्दर ही इंडिया के आखिरी चार विकेट झड़ गए. पाकिस्तान के खेल से इम्प्रेस होकर चेन्नई के क्राउड ने वो किया जिसे लल्लन ने जब पहली बार यूट्यूब पर देखा था तो रो पड़ा था. मैदान में आया हर दर्शक खड़ा होकर तालियाँ बजा रहा था. पाकिस्तान ने विक्ट्री लैप लिया. हर कोई मुंह खोले बस वो देख रहा था जो मैदान पर चल रहा था. स्पोर्ट्स स्पिरिट यही होती है!

2. 2007 टी-20 वर्ल्ड कप फाइनल

2007 टी-20 वर्ल्ड कप फाइनल. जोहान्सबर्ग. गंभीर के 75 रन की मेहरबानी जो इंडिया 157 रन बना पायी. लेकिन जवाबी बॉलिंग ऐसी हुई कि गजब हो गया. आर पी सिंह और इरफ़ान पठान की बेहतरीन बॉलिंग. लेकिन सबसे सही था आखिरी ओवर. भज्जी का ओवर बाकी था लेकिन गेंद मिली जोगिन्दर शर्मा को. पहली गेंद वाइड, फिर छक्का. मिस्बाह बस इंडिया को हारने ही वाले थे कि फ़िज़ूल का एक शॉट मार बैठे. विकेट के पीछे श्रीसंत ने कैच लिया. इंडिया वर्ल्ड कप जीत गया. वैसे जोगिन्दर शर्मा इसके बाद इंडिया के लिए बहुत ही कम क्रिकेट खेल पाए और श्रीसंत स्पॉट फिक्सिंग में फंस गए थे.

1. सचिन का अपर कट.


वर्ल्ड कप 2003. सेंचुरियन. ये शॉट वो शॉट है जिसे टीवी, यूट्यूब वगैरह पर लाखों करोड़ों बार जिया जा चुका है. शोएब अख्तर की पटकी हुई तेज़ गेंद और सचिन का बल्ला उसके ठीक नीचे. एज लेके गेंद वहां पहुंची जहाँ उसे पहुंचना चाहिए था. बाउंड्री के पार. 6 रन के लिए. मैच टाइट था लेकिन उस शॉट ने बता दिया था कि सचिन आज खेलने नहीं जीतने के इरादे से उतरे हैं. 75 गेंद पर 98 रन बनाये थे. मैंन ऑफ़ द मैच बने थे.


क्रिकेट पर लल्लनटॉप वीडियो भी देखें-

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

KBC क्विज़: इन 15 सवालों का जवाब देकर बना था पहला करोड़पति, तुम भी खेलकर देखो

आज से KBC ग्यारहवां सीज़न शुरू हो रहा है. अगर इन सारे सवालों के जवाब सही दिए तो खुद को करोड़पति मान सकते हो बिंदास!

क्विज: अरविंद केजरीवाल के बारे में कितना जानते हैं आप?

अरविंद केजरीवाल के बारे में जानते हो, तो ये क्विज खेलो.

क्विज: कौन था वह इकलौता पाकिस्तानी जिसे भारत रत्न मिला?

प्रणब मुखर्जी को मिला भारत रत्न, ये क्विज जीत गए तो आपके क्विज रत्न बन जाने की गारंटी है.

ये क्विज़ बताएगा कि संसद में जो भी होता है, उसके कितने जानकार हैं आप?

लोकसभा और राज्यसभा के बारे में अपनी जानकारी चेक कर लीजिए.

संजय दत्त के बारे में पता न हो, तो इस क्विज पर क्लिक न करना

बाबा के न सही मुन्ना भाई के तो फैन जरूर होगे. क्विज खेलो और स्कोर करो.

बजट के ऊपर ज्ञान बघारने का इससे चौंचक मौका और कहीं न मिलेगा!

Quiz खेलो, यहां बजट की स्पेलिंग में 'J' आता है या 'Z' जैसे सवाल नहीं हैं.

कर लिया योगा? अब क्विज खेलने से होगा

आन्हां, ऐसे नहीं कि योग बस किए, दिखाना पड़ेगा कि बुद्धिबल कित्ता बढ़ा.

रोहित शेट्टी के ऊपर ऐसी कड़क Quiz और कहां पाओगे?

14 मार्च को बड्डे होता है. ये तो सब जानते हैं, और क्या जानते हो आके बताओ. अरे आओ तो.

परफेक्शनिस्ट आमिर पर क्विज़ खेलो और साबित करो कितने जाबड़ फैन हो

आज आमिर खान का हैप्पी बड्डे है. कित्ता मालूम है उनके बारे में?

चेक करो अनुपम खेर पर अपना ज्ञान और टॉलरेंस लेवल

अनुपम खेर को ट्विटर और व्हाट्सऐप वीडियो के अलावा भी ध्यान से देखा है तो ये क्विज खेलो.