0
आपकी समस्या बहुत मुश्किल है. मैंने इस पर अपने साथियों के साथ मीटिंग की. पहले उनकी सलाह सुनें आप. 1 लड़की से कहिए कि एक्टिंग करने से पहले आजकल बन रही दो चार भोजपुरी फिल्में खुद देख ले. अपने आप मना कर देगी. 2 सपना अपना सबसे ऊपर. ट्रेन पकड़ो मुंबई पहुंचो. वहां मिलेगा गुड्डू रंगीला. तुम भी एक्टिंग कर बन जाओगी रंगीली. फिर तुम्हारी फिल्मों के सीडी होंगे बलिया से बोकारो तक सुपरहिट 3 सबसे पहले जिन्होंने ये ऑफर किया है, उनके बारे में जांच पड़ताल कर लें. 4 कास्टिंग काउच से बचें. और जगह फिल्म शुरू होने से पहले शोषण हो सकता है, यहां शूटिंग के दौरान भी. और अब मेरी बारी. परिवार ने आपसे ज्यादा दुनिया देखी है. उनकी सलाह को सस्ते में न निपटाएं. उनसे बैठकर बात करें. उनकी चिंताएं समझें. फिर अपना प्वाइंट समझाएं. पर उसके लिए आपको अपनी तैयारी मुकम्मल करनी होगी. ज्यादातर लोगों को लगता है कि भोजपुरी फिल्में सस्ती होती हैं. उसमें काम करने वाले भी वैसे ही होते होंगे. मैं इस बात से इत्तफाक नहीं रखता. भोजपुरी में ज्यादातर मसाला फिल्में इस तरह की बनती हैं, क्योंकि फिलहाल बाजार की मांग उसी तरह की है. मुझे पूरा यकीन है कि यह इंडस्ट्री भी धीरे धीरे मैच्योर हो रही है. और यहां भी प्रफेशनल लोगों की कमी नहीं है. मगर इन लोगों की पहचान जरूरी है. जिंदगी में कामयाबी या नुकसान, कुछ भी तय नहीं, हमेशा के लिए नहीं. मगर जब तक जिंदगी है, परिवार को साथ रखने की कोशिश करना. और एक्टिंग के लिए दिल्ली में भी तो कम मौके नहीं. अरविंद गौड़ जैसे कितने नामचीन नाट्य निर्देशक हैं यहां. उनके साथ काम करिए.
विकास टिनटिन edited question ago
    लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें