Submit your post

रोजाना लल्लनटॉप न्यूज चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं !

Follow Us

तहखाना

कुंडी न खड़काएं राजन, सीधा अंदर आएं राजन

आरामकुर्सी

मोदी के 3 साल: उनको अगला पीएम बना सकती हैं ये 5 उपलब्धियां

ये चीजें साबित करती हैं कि पीएम मोदी की जनता पर कितनी पकड़ है.

आरामकुर्सी

मैग्नेटो- वो विलेन जिसने इंसानों का सबसे बड़ा डर उधेड़ कर सामने रख दिया

इयान मेक्लेन, ये शख्स इस धरती के सबसे मशहूर गे लोगों में से एक है.

आरामकुर्सी

'आर्मी-CRPF ने किया फेक एनकाउंटर', ये बात उसने कही, जिसे आप अनसुना नहीं कर सकते

आप इसलिए अनसुना नहीं कर सकते, क्योंकि ये आदमी उन्हीं के बीच से आता है.

आरामकुर्सी

वो शायर, जिसकी कविता सुनकर नेहरू ने उसे सालों के लिए जेल में ठूंस दिया था

पंडित नेहरू को हिटलर की औलाद कहने वाले शायर को सलाम.

आरामकुर्सी

नहीं रहा वो तांत्रिक, जिससे देश के प्रधानमंत्री अपने लिए हवन कराते थे

इंग्लैंड की प्रधानमंत्री मारग्रेट थैचर से लेकर एक्ट्रेस एलिजाबेथ टेलर को सम्मोहित करने वाले चंद्रास्वामी की कहानी.

आरामकुर्सी

महारानी गायत्री देवी को हराने के लिए इंदिरा गांधी इस हद तक चली गई थीं!

दुनिया की सबसे खूबसूरत महारानी की वो बातें, जो उन्होंने राजशाही छिनने के बाद शेयर कीं.

आरामकुर्सी

इंडिया का वो बादशाह जिसके सामने मुगलों को छुपने की जगह नहीं मिली

इस बादशाह के काम का अकबर को बहुत फायदा हुआ था.

आरामकुर्सी

राजीव गांधी के हत्यारों ने क्यों छुए थे वीपी सिंह के पैर

मोतीबाग की सोनिया हो सकती थी राजीव की कातिल, राहुल ने दी थी पिता के हत्यारे को बुलेटप्रूफ जैकेट.

Loading…

दिव्या भारती की मौत कैसे हुई?

खिड़की पर बैठी दिव्या ने लिविंग रूम की तरफ मुड़कर देखा. और अपना एक हाथ खिड़की की चौखट को मजबूती से पकड़ने के लिए बढ़ाया.

ये KRK कौन है. हमेशा सुर्खियों में क्यों रहता है?

केआरके इंटरनेट एज का ऐसा प्रॉडक्ट हैं, जो हर दिन कुछ ऐसा नया गंधाता करना रचना चाहता है.

चाय बनाने को 'जैसे पापात्माओं को नर्क में उबाला जा रहा हो' कौन सी कहानी में कहा है?

बहुत समय पहले से बहुत समय बाद की बात है. इलाहाबाद में थे. जेब में थे रुपये 20. खरीदी हंस...

सर आजकल मुझे अजीब सा फील होता है क्या करूं?

खुड्डी पर बैठा था. ऊपर से हेलिकॉप्टर निकला. मुझे लगा. बाबा ने बांस गहरे बोए होते तो ऊंचे उगते.

ऑफिस के ड्युअल फेस लोगों के साथ कैसे मैनेज करें?

पर ध्यान रहे. आप इस केस को कैसे हैंडल कर रहे हैं, ये दफ्तर में किसी को पता न चले.

ललिता ने पूछा सौरभ से सवाल. मगर अधूरा. अब क्या करें

कुछ तो करना ही होगा गुरु. अधूरा भी तो एक तरह से पूरा है. जानो माजरा भीतर.

ऐसा क्या करें कि हम भी जेएनयू के कन्हैया लाल की तरह फेमस हो जाएं?

कोई भी जो किसी की तरह बना, कभी फेमस नहीं हो पाया. फेमस वही हुआ, जो अपनी तरह बना. सचिन गावस्कर नहीं बने. विराट सचिन नहीं बने. मोदी अटल नहीं बने और केजरीवाल अन्ना नहीं बने.

एक राइटर होने की शर्तें?

शर्तें तो रेंट एंग्रीमेंट में होती हैं. जिन्हें तीन बार पढ़ते हैं. या फिर किसी ऐप या सॉफ्टवेयर को डाउनलोड करने में, जिसकी शर्तों को सुरसुराता छोड़कर हम बस आई एग्री वाले खांचे पर क्लिक मार देते हैं.

मुझे कानूनी कार्रवाई करनी है. क्या करूं.

करने को तो बहुत कुछ है. हाथ हैं. बहुत लंबे. आपके नहीं. कानून के. बाकी क्लिक करो. सब पता चल जाएगा.

3 साल पूरा होने पर भाजपा जश्न मना रही है, पर ये 3 फैसले उसको चैन से नहीं रहने देंगे

वो विवादास्पद फैसले, जिनकी वजह से पीएम को जनता की अदालत में आना पड़ा.

मोदी विरोध के कमजोर मुद्दे, जो फुसफुसा के ढेर हो गए

क्या ये महज़ मोदी विरोध के लिए किया गया विरोध था!

उम्र 70 है तो क्या, इस औरत को मॉडलिंग से परहेज नहीं

अधेड़ उम्र से बुढ़ापे की ओर बढ़ती ये औरतें बेहद सुंदर हैं.

ये लड़की शरीर के बाल शेव न करने का कैंपेन चला रही है

बाल हटवाना खूबसूरती की निशानी क्यों है?

तमाम पुरुषों के नाम, जिनको रोने की छूट नहीं है

और तमाम औरतों के, जो रोना रोक नहीं पातीं.