Submit your post

Subscribe

Follow Us

हमले की दूसरी बरसी पर शार्ली एब्दो फिर खबरों में है

7 जनवरी 2015 की शाम को अचानक से पूरी दुनिया में खबर लिखने और देखने वाले सदमे में आ गए थे. फ्रांस की ‘शार्ली एब्दो’ मैग्ज़ीन पर कट्टरपंथियों ने हमला किया था और 12 पत्रकारों, कार्टून बनाने वालों को मार दिया था. बंदूक रखने वाले कलम से डर गए थे.

इस घटना के ठीक दो साल बाद ‘शार्ली एब्दो’ फिर चर्चा में है. मगर बिलकुल अलग वजह के कारण. मैग्ज़ीन की सबसे ज़्यादा मुखर पत्रकार ज़िनेब एल रहज़ोई ने इस शुक्रवार ‘शार्ली एब्दो’ से इस्तीफा दे दिया है. कारण बताया है पत्रिका का इस्लामिक कट्टरपंथियों के आगे नरम पड़ जाना.

ज़िनेब ने कहा है कि उस नरसंहार के बाद से पत्रिका इस्लाम और उससे जुड़े प्रतीकों पर कुछ भी कहने से बच रही है. उन्होंने ये भी कहा कि सितंबर से ही उनकी बाकी स्टाफ से असहमति चल रही थी.

ज़िनेब
ज़िनेब

35 साल की ज़िनेब अपने तल्ख तेवरों के कारण चरमपंथियों के निशाने पर रहती हैं. ज़िनेब को हर समय स्पेशल सिक्योरिटी में रहना पड़ता है. उनका इन तमाम लोगों की भावनाएं आहत करने पर कहना है,

“सभी मूर्खों को संतुष्ट करना मुश्किल है.”

हमले के विरोध में न्यूयॉर्क टाइम्स का कार्टून
हमले के विरोध में न्यूयॉर्क टाइम्स का कार्टून

जबकि मैग्ज़ीन के वर्तमान एडिटर ‘रिस’ का कहना है,

हमारी हिफाज़त कौन करेगा. मैं अपने स्टाफ को बिना किसी कारण मरते नहीं देख सकता. अगर सिर्फ मेरी जान की बात होती तो मैं कभी नहीं रूकता.

ज़िनेब शार्ली हेब्दो पर हमले के समय मोरक्को में थीं और उनका कहना है कि शार्ली ने ही उन्हें चरमपंथ का विरोध करना सिखाया और वो इस बात को हमेशा याद रखेंगी. इस विरोध के चलते ही उन्होंने अपने साथियों को खोया है और वो इसे नहीं छोड़ेंगी.

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

1965 की भारत-पाक लड़ाई में था ये सैनिक, 52 साल बाद अपना हक मांग रहा

मुहम्मद नसीम परमवीर चक्र विजेता अब्दुल हमीद के ड्राइवर थे.

15 की उम्र में रेप हुआ, आज हजारों की जिंदगियां बदल रहीं 'पद्मश्री' सुनीता

अपनी बात सुनाने आज बड़ी कंपनियों को इंडिया खींच लाई हैं.

'कुछ लोग यूपी में हिंदुत्व की जीत और धर्मनिरपेक्षता की हार नहीं पचा पा रहे'

यूपी में भाजपा की निर्णायक जीत के बाद राजनीति के नए समीकरण उभरे हैं.

'मुझसे शादी नहीं करोगी? तेज़ाब पी लो!'

लड़के ने लड़की को झुलसा दिया और लोग देखते रहे.

ट्विटर से इंसाफ दिलाने वालों में योगी आदित्यनाथ भी हुए शामिल

यूपी में दबंगों की दबंगई का शिकार हुए परिवार को वाया ट्विटर मिल रहा है इंसाफ.

CM आदित्यनाथ वही कर रहे हैं जो दादरी में राजनाथ ने किया था

इनके फैसले एकदम नए नहीं हैं जैसी उनसे अपेक्षा थी.

तेजबहादुर के मरने की बताई जा रही है ये वायरल तस्वीर, क्या है सच?

इसी जवान ने बताया था उसे सेना में घटिया क्वालिटी का खाना मिलता है.

कैफ़ ने योगी आदित्यनाथ के बारे में सलीके की बात कही है, पढ़ो

कैफ़ ने फिर से ट्विटर का सहारा लिया है.

अखिलेश यादव हैं योगी आदित्यनाथ के बेस्ट फ्रेंड, ये रहा प्रूफ

अखिलेश यादव दो साल से योगी आदित्यनाथ को क्यों बचा रहे थे?

मनोज तिवारी ने इस बार कुछ ऐसा किया, जो दिल जीतने वाला काम है

वीडियोज और दिल्ली में एमसीडी चुनाव के चलते चर्चा में रहने वाले मनोज इस बार फिर खबरों में है.

पाकी टॉकी

असली शेर पर सवार होकर बारात में पहुंचा दूल्हा, लेकिन एक लोचा हो गया

पूरा सोने के गहनों से लद फंद के छम्मा छम्मा करते हुए गए थे. वीडियो देखो.

खड़ी सवारियां ले जा रही है पाकिस्तान एयरलाइंस

लगता है धंधा मंदा चल रहा है. जो ओवरलोड मामला चल रहा है.

पाक ने हाफ़िज़ सईद को आतंकी माना, बस एक काम बाकी है

खुद की बिल्ली खुद को ही नाखून मारने लगी तो कलस कर पाकिस्तान ने कड़े कदम उठाए.

पाकिस्तान जो अब कर रहा है वो पहले ही कर देना चाहिए था

हमें भी दुआ करनी चाहिए कि जो कर रहा है उसका सफाया हो जाए.

एक दिन 'नैचुरल डेथ' न बन जाए हर पाकिस्तानी का अधूरा सपना!

जिस पाकिस्तान में ओसामा बिन लादेन सेफ नहीं, वहां जनता क्या होगी.

पाकिस्तान में बन रहा नया उसूल, रसूल के नाम पर किसी को जान से ना मारो

पाकिस्तानी सरकार ईशनिंदा कानून पर दोबारा सोच रही है पर हजारों लोग एक हत्यारे की मजार पर शीश नवाने जा रहे हैं.

इससे अच्छी लव स्टोरी इस वैलेंटाइन्स वीक नहीं मिलेगी

सनोबर और उनके पति संघर्ष और जिंदगी की मिसाल हैं.

भौंचक

एक पत्रकार ने चीटिंग की, फोटो का स्क्रीन शॉट चला और पकड़ी गई

महंगी घड़ी पहनो तो सोच-समझ कर पहनो.

दुनिया पर दबंगई दिखाने चली चीन सरकार को टॉयलेट में आराम नहीं है

हिंदुस्तानी तरीका अपनाते तो बच जाते.

तो अमेरिका में मास्टरबेट करने वाले मर्दों को देना पड़ेगा 100 डॉलर जुर्माना!

ये हैं डेमोक्रेट सांसद जेसिका फर्रार, इन्हीं ने बिल पेश किया है. फायर होने से पहले इनके लॉजिक जरूर पढ़ो.

सद्दाम हुसैन के नाम ने इस लड़के का करियर सत्यानाश कर दिया

इतना नुकसान तो अमेरिका ने इराक का नहीं किया जितना एक नाम की वजह से इस लड़के का हुआ.

कोर्ट ने किसान के नाम कर दी 'एक्सप्रेस ट्रेन'

किसान को बोल दिया गया, 'घर ले जाओ ट्रेन.' केस लुधियाना का है.

'कश्मीर', 'पाकिस्तान' और 'जापान' ने हमारे पुलिसवाले के कपड़े फाड़ डाले

'शराबी' में अमिताभ बच्चन का 'मूंछें हो तो नत्थूलाल जैसी' वाला डायलॉग बदलने का वक्त आ गया है.

अइयो! इस टोल से गुजरने की कीमत, 4 लाख रुपये!

डिजिटल पेमेंट के साइड इफेक्ट्स!

ये घर ब्राज़ील के राष्ट्रपति को 'अजीब' लगता है!

ये एक देश के राष्ट्रपति हैं, और बातें निरे अनपढ़ सी करते हैं.

हिजबुल मुजाहिदीन के ट्विटर हैंडल पर बैठा शांतिप्रिय हैकर, सफेद झंडा लहराया

अचानक इस ट्विटर हैंडल की गंगा उल्टी बहने लगी. बम बंदूकों और आजादी की बातें खत्म.

Xvideos ने ले ली बिलबोर्ड पर चढ़े फायरफाइटर की जान

बुरे लोगों के हाथ में थोड़ी सी पावर चली जाए तो वो दूसरों के लिए मुसीबत खड़ी करते हैं. ये सबूत है.