Submit your post

रोजाना लल्लनटॉप न्यूज चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं !

Follow Us

इस समुदाय के वोटर 5 साल में 76 गुना बढ़ गए!

चुनाव का माहौल चारों ओर है. वोट बैंक गिने जा रहे हैं. पर ट्रांसजेंडर इस बैंक में कहीं नहीं आते. इनका नाम आते ही प्रत्याशी तो दूर मतदाताओं के चेहरे के भाव बदल जाते हैं. आम बोलचाल में ट्रांसजेंडर को जो शब्द दिया गया है, वो है हिजड़ा. लोग सत्तर कोने का मुंह बना लेते हैं उन्हें देखकर. सीधी निगाह तक से नहीं देखते. उनके बारे में ख़ास पूर्वाग्रह हैं. इसी वजह से राजनीतिक ताकत और रिप्रेजेंटेशन में इनकी हिस्सेदारी ना के बराबर है.

वोटर लिस्ट में 18 साल के ऊपर के नागरिकों को गिना जाता है. लेकिन ऐसा लगता ही नहीं कि ट्रांसजेंडर भी वोटर हैं. नेताओं की नजर उन पर नहीं पड़ती. पड़ती भी है तो कहीं-कहीं नाचने वाले बैंड में दिख जाते हैं. वही उनकी हिस्सेदारी है.

पांच राज्यों यूपी, पंजाब, गोवा, मणिपुर और उत्तराखंड में चुनावों की तैयारी हो चुकी है. ये राज्य 4 फरवरी से 8 मार्च के बीच चुनावों से घिरे रहेंगे. धूल उड़ने लगी है. नेता भाग-दौड़ मचाना शुरू कर चुके हैं. नेताओं के आपसी झगड़े, चुनावी चालें सुर्ख़ियों में हैं. जाति, धर्म की गोटियां सेट की जा रही हैं. इन आधारों  पर उम्मीदवारों की लिस्ट जारी की जा रही है. इस बार 16 करोड़ वोटर इन चुनावों में हिस्सा लेंगे.

trans

पर पंजाब में ट्रांसजेंडरों को लेकर अबकी थोड़ा माहौल बदला है. 2012 में पंजाब चुनावों में महज पांच ट्रांसजेंडरों ने वोट डाले थे. लेकिन इस बार 380 ट्रांसजेंडरों के नाम वोटर लिस्ट में शामिल किए गए हैं. यानी पिछली बार से 76 गुना ज्यादा. असल बात ये है कि चुनाव आयोग उन्हें महत्त्व दे रहा है, जिसकी वजह से उन्होंने वोटर लिस्ट में जगह बनाई है.

2011 की जनगणना में बताया गया था कि रूरल इंडिया में लगभग 70,000 ट्रांसजेंडर हैं, जिनमें सबसे ज्यादा लगभग 13,000 उत्तर प्रदेश में हैं. इसके बाद पश्चिम बंगाल का नंबर है जहां 10,000 ट्रांसजेंडर हैं. उत्तर प्रदेश चुनावों के लिहाज से सबसे जटिल है. यहां के चुनाव में भी ट्रांसजेंडर बढ़ चढ़कर हिस्सा ले सकते हैं.

ऐसा नहीं कि ट्रांसजेंडर सिर्फ वोटर ही रहे हैं. उन्होंने चुनाव भी लड़ा है. गोरखपुर से आशा देवी ने मेयर का चुनाव लड़ा था और जीता भी था. पायल नाम की एक दूसरी ट्रांसजेंडर ने लखनऊ में बीजेपी के लालजी टंडन के खिलाफ चुनाव लड़ा था. वो जीत तो नहीं सकीं लेकिन उन्हें काफी सपोर्ट मिला था.

चुनाव के मामलों पर बोलते हुए एक ट्रांसजेंडर सीमा कहती हैं कि कोर्ट के निर्देशों के बावजूद हम लोगों को इग्नोर किया जाता है. हमें आधार कार्ड, वोटर कार्ड से लेकर पैन और राशन कार्ड तक बनवाने में दिक्कतें होती हैं.

ट्रांसजेंडर भी इसी सोसायटी का हिस्सा हैं. उन्हें देश की व्यवस्था में शामिल होने का पूरा हक़ है और फिर तो हमारे देश में चुनाव त्योहार माने जाते हैं. लगभग हर साल कहीं न कहीं मनाए जाने वाले इन त्योहारों से देश के एक बड़े हिस्से को इग्नोर करना वैसे भी ठीक नहीं हैं. अब वो खुद आगे आ रहे हैं और चुनाव आयोग भी उन्हें वोटर लिस्ट में शामिल कर रहा है. इससे उनमें भरोसा बढ़ेगा कि वो देश के मेनस्ट्रीम से अलग नहीं हैं. 


ये स्टोरी निशांत ने की है.


ये भी पढ़ें-

नाइकी के नए ऐड में छा गए अमेरिका के पहले ट्रांसजेंडर ऐथलीट

मिलिए पाकिस्तान की पहली ट्रांसजेंडर मॉडल से

 

 

लल्लनटॉप न्यूज चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं !

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

पहलू खान की मौत पर ज्ञानदेव आहूजा ने शर्मनाक बयान दिया है

ये बीजेपी के वही विधायक हैं, जिन्होंने जेएनयू में कॉन्डम गिनकर बताए थे.

पतंजलि के आंवला जूस में गड़बड़, आर्मी कैंटीन ने बिक्री पर लगा दी रोक

जिस लैब ने मैगी की रिपोर्ट दी थी, उसी ने अब पतंजलि की रिपोर्ट दी है!

एग्ज़िट पोल: कौन जीत रहा है MCD?

दिल्ली वालों ने वोटिंग में बड़ी सुस्ती दिखाई है.

पन्नीरसेलवम तमिलनाडु के सीएम होंगे, लेकिन कैसे? ये जान लो

'अम्मा' के बाद तमिलनाडु में चल रहे पॉलिटिकल ड्रामे का क्या सच में अंत होने वाला है?

यूपी के नए DGP बने सुलखान सिंह के बारे में वो बातें जो आप गूगल कर रहे होंगे

क्या है सुलखान सिंह के काम करने का तरीका?

'हिंदू रक्षा' के नाम पर बनी फोर्स की बातें सुनकर दंग रह जाओगे

UP में कुकुरमुत्ते की तरह उगे हिंदूवादी उग्र संगठन.

मेट्रो में सीट पाने वाले ऑस्ट्रेलियाई पीएम टर्नबुल एहसान भूले, भारत के साथ खेल कर दिया

यहां मंदिर में सीढ़ियों पर बैठकर फोटो खिंचाई थी. वहां पहुंचकर भारतीयों का पत्ता काट गए.

दो जगह हुई बछड़ोंं की मौत और पंचायत ने दिए दंग करने वाले फैसले

एक जगह दलित निशाना बना तो दूसरी जगह दो बच्चे.

क्या है कश्मीर में सैनिकों के अत्याचार के वीडियो का सच?

एक के बाद एक वीडियो वायरल हो रहा है. किसी वीडियो को शेयर करने से पहले इसे ज़रूर पढ़ें.

पाकी टॉकी

भीड़ इस आदमी को मार डालती, अगर मौलवी और एक जवान उसे नहीं बचाता

वीडियो में उन्मादी भीड़ देखकर खौफ आता है. कौन सी दुनिया रच रहे हैं ये लोग.

इमाम के कहने पर बुर्कापोश तीन बहनों ने 'कथित ईशनिंदा' करने वाले को मार डाला

जिसे मारा, पहले उसके बाप से आशीर्वाद लिया. फिर सामने ही उनके बेटे को गोलियों से भून दिया.

जब आप भीड़ बनते हैं, तब आपके अंदर का राक्षस जल्दी बाहर आता है

पाकिस्तान में ईशनिंदा के शक़ में छात्र को पीट-पीट कर मार डाला गया.

यहां गलती मर्द करे, हर्जाना औरत या बच्ची को शादी करके चुकाना पड़ता है

क्या है ये 'वानी' रस्म, जिसमें अपनी घर की लड़की या बच्ची को दुश्मन के हवाले कर दिया जाता है

ये पाकिस्तानी बंदा कुलभूषण को फांसी के खिलाफ है और गाली खा रहा है

कहीं आप भी इस बंदे का मजाक तो नहीं उड़ाते थे?

पेट दर्द का बहाना लेकर देश से भाग जाने की फ़िराक में है पाकिस्तानी पीएम!

क्या सच में शरीफ बहाना ले रहे हैं.

अप्रैल फ़ूल पर सबसे गंदा मजाक पाकिस्तान के पूर्व मंत्री से हुआ है

एक साथ तीन लोगों के साथ कांड हो गया. आपको पता चला?

उसने कहा- हम पर ज़ुल्म हो रहा है, अगले दिन उसे मार दिया गया

इनके लिए खुद को मुसलमान कहने का मतलब है मौत को दावत देना.

इस पाकिस्तानी औरत का घर है या फिर 'मुग़ल गार्डन'?

लुबाबा अब्बास पौधों को ऐसे रखती हैं जैसे बच्चों को.

पाकिस्तान में एक खास तरह के पोस्ट डिलीट कर रहा फेसबुक

25 एक्सपर्ट्स की एक टीम लगी है काम पर.

भौंचक

पानी को उड़ने से बचाने के लिए मंत्री जी ने डैम को थर्मोकॉल से ढंक दिया

तमिलनाडु के इस मंत्री ने जो किया वो बताता है कि स्कूल में साइंस की क्लास में क्यों सोना नहीं चाहिए.

जर्मनी वालों ने उड़ती कार बना ली, एक 'लेकिन' के साथ

'एक दिन कारें उड़ेंगी' ये सपना है, जो हर साल की शुरुआत में वैज्ञानिक हमें दिखाते हैं.

रातोरात 40 लाख लोग अंधेपन से मुक्त हुए, ऐसा क्या कर दिया मोदी सरकार ने

अचानक अंधे लोगों की संख्या 1.2 करोड़ से घटकर 80 लाख हो गई है.

झारखंड का 'गूगल बॉय', जिसकी याददाश्त हैरान करने वाली है

होनहार वीरवान के होत चीकने पात.

गुमशुदा हुई सड़क को ढूंढ निकालने पर 10 हज़ार रुपये का इनाम

दिल्ली की एक सड़क तीन साल से लापता है.

राष्ट्रपति, चिप, हाई कोर्ट, सिम कार्डः ये इस गांव के लोगों के नाम हैं

और आपको लगता था कि 'टैंजेंट' और 'डेफिनेट' ही क्रांति लाएंगे.

अब रविंद्र गायकवाड़ वो काम कर रहे हैं, जो 70s का विलेन करता था

आसमान में उड़ना तो दूर, उनका जमीन पर चलना भी मुश्किल हो गया है.

12वीं की किताब जब महिलाओं का बेस्ट फिगर बताने लगे तो इस सिस्टम को सलाम

ये किताब लिखने वाले ने एजूकेशन के सिस्टम में क्रांतिकारी परिवर्तन किया है.

जंगल वो जगह है, जहां बिल्ली भी लोमड़ी को घुड़क देती है

तस्वीरों में देखिए, जंगल कितना सुंदर होता है.