Submit your post

Subscribe

Follow Us

इस समुदाय के वोटर 5 साल में 76 गुना बढ़ गए!

चुनाव का माहौल चारों ओर है. वोट बैंक गिने जा रहे हैं. पर ट्रांसजेंडर इस बैंक में कहीं नहीं आते. इनका नाम आते ही प्रत्याशी तो दूर मतदाताओं के चेहरे के भाव बदल जाते हैं. आम बोलचाल में ट्रांसजेंडर को जो शब्द दिया गया है, वो है हिजड़ा. लोग सत्तर कोने का मुंह बना लेते हैं उन्हें देखकर. सीधी निगाह तक से नहीं देखते. उनके बारे में ख़ास पूर्वाग्रह हैं. इसी वजह से राजनीतिक ताकत और रिप्रेजेंटेशन में इनकी हिस्सेदारी ना के बराबर है.

वोटर लिस्ट में 18 साल के ऊपर के नागरिकों को गिना जाता है. लेकिन ऐसा लगता ही नहीं कि ट्रांसजेंडर भी वोटर हैं. नेताओं की नजर उन पर नहीं पड़ती. पड़ती भी है तो कहीं-कहीं नाचने वाले बैंड में दिख जाते हैं. वही उनकी हिस्सेदारी है.

पांच राज्यों यूपी, पंजाब, गोवा, मणिपुर और उत्तराखंड में चुनावों की तैयारी हो चुकी है. ये राज्य 4 फरवरी से 8 मार्च के बीच चुनावों से घिरे रहेंगे. धूल उड़ने लगी है. नेता भाग-दौड़ मचाना शुरू कर चुके हैं. नेताओं के आपसी झगड़े, चुनावी चालें सुर्ख़ियों में हैं. जाति, धर्म की गोटियां सेट की जा रही हैं. इन आधारों  पर उम्मीदवारों की लिस्ट जारी की जा रही है. इस बार 16 करोड़ वोटर इन चुनावों में हिस्सा लेंगे.

trans

पर पंजाब में ट्रांसजेंडरों को लेकर अबकी थोड़ा माहौल बदला है. 2012 में पंजाब चुनावों में महज पांच ट्रांसजेंडरों ने वोट डाले थे. लेकिन इस बार 380 ट्रांसजेंडरों के नाम वोटर लिस्ट में शामिल किए गए हैं. यानी पिछली बार से 76 गुना ज्यादा. असल बात ये है कि चुनाव आयोग उन्हें महत्त्व दे रहा है, जिसकी वजह से उन्होंने वोटर लिस्ट में जगह बनाई है.

2011 की जनगणना में बताया गया था कि रूरल इंडिया में लगभग 70,000 ट्रांसजेंडर हैं, जिनमें सबसे ज्यादा लगभग 13,000 उत्तर प्रदेश में हैं. इसके बाद पश्चिम बंगाल का नंबर है जहां 10,000 ट्रांसजेंडर हैं. उत्तर प्रदेश चुनावों के लिहाज से सबसे जटिल है. यहां के चुनाव में भी ट्रांसजेंडर बढ़ चढ़कर हिस्सा ले सकते हैं.

ऐसा नहीं कि ट्रांसजेंडर सिर्फ वोटर ही रहे हैं. उन्होंने चुनाव भी लड़ा है. गोरखपुर से आशा देवी ने मेयर का चुनाव लड़ा था और जीता भी था. पायल नाम की एक दूसरी ट्रांसजेंडर ने लखनऊ में बीजेपी के लालजी टंडन के खिलाफ चुनाव लड़ा था. वो जीत तो नहीं सकीं लेकिन उन्हें काफी सपोर्ट मिला था.

चुनाव के मामलों पर बोलते हुए एक ट्रांसजेंडर सीमा कहती हैं कि कोर्ट के निर्देशों के बावजूद हम लोगों को इग्नोर किया जाता है. हमें आधार कार्ड, वोटर कार्ड से लेकर पैन और राशन कार्ड तक बनवाने में दिक्कतें होती हैं.

ट्रांसजेंडर भी इसी सोसायटी का हिस्सा हैं. उन्हें देश की व्यवस्था में शामिल होने का पूरा हक़ है और फिर तो हमारे देश में चुनाव त्योहार माने जाते हैं. लगभग हर साल कहीं न कहीं मनाए जाने वाले इन त्योहारों से देश के एक बड़े हिस्से को इग्नोर करना वैसे भी ठीक नहीं हैं. अब वो खुद आगे आ रहे हैं और चुनाव आयोग भी उन्हें वोटर लिस्ट में शामिल कर रहा है. इससे उनमें भरोसा बढ़ेगा कि वो देश के मेनस्ट्रीम से अलग नहीं हैं. 


ये स्टोरी निशांत ने की है.


ये भी पढ़ें-

नाइकी के नए ऐड में छा गए अमेरिका के पहले ट्रांसजेंडर ऐथलीट

मिलिए पाकिस्तान की पहली ट्रांसजेंडर मॉडल से

 

 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

इस भाजपा विधायक ने हर किसान की आत्महत्या को फर्ज़ी करार दिया है

'क्योंकि असली किसान तो सिर्फ लड़ना जानते हैं.'

'मैं धारक को मूर्ख बनाने का वचन देता हूं'

अगर मीडिया रिपोर्ट का दावा सही है तो नोट पर से 'सत्यमेव जयते' हटा देना चाहिए.

विश्व हिंदू परिषद के लोग आईएसआई के लिए जासूसी कर रहे थे?

11 लोग पकड़े गए हैं. चकित करने वाली बात है कि हमारे बीच के ही लोग हैं.

'बात तीन तलाक पर करो, यूनिफॉर्म सिविल कोड पर बहस नहीं अभी'

सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र से साफ-साफ कहा कि तीन तलाक पर फैसला विधायिका को ही करना चाहिए.

दुनिया ने इस अफसर को इज्जत दी, पर मोदी सरकार की नजर में ये ZERO हैं

पांच साल से लगातार 'आउटस्टैंडिंग' रहा था ये अधिकारी.

पैद्दा गांव में एक लड़के को मार दिया, धार्मिक रंग देने की कोशिश, हालात नाज़ुक

चुनाव और तनाव, बिजनौर में वो हो रहा है जो नहीं होना चाहिए.

बीजेपी के हिंदुत्व कैंपेन की भेंट चढ़ा शाहरुख का आई केयर कैंपेन!

विकास के नाम पर वोट भी मांगना है और कट्टर हिंदू वोटर न छिटक जाए इसका खयाल भी रखना है.

तीन दिन से गायब हैं खराब खाने की शिकायत करने वाले तेज बहादुर

परिवार का दावा, बीएसएफ नहीं दे रहा जवाब, हाईकोर्ट में की जवान को पेश करने की मांग.

डलहौजी रोड का नाम दारा शिकोह रोड रखने से क्या होगा, इतिहास से उसका पन्ना ही फाड़ दो

इतिहास की पूंछ पकड़ने वालों को अचानक दारा शिकोह से मोहब्बत क्यों हो गई?

पाकी टॉकी

पाक ने हाफ़िज़ सईद को आतंकी माना, बस एक काम बाकी है

खुद की बिल्ली खुद को ही नाखून मारने लगी तो कलस कर पाकिस्तान ने कड़े कदम उठाए.

पाकिस्तान जो अब कर रहा है वो पहले ही कर देना चाहिए था

हमें भी दुआ करनी चाहिए कि जो कर रहा है उसका सफाया हो जाए.

एक दिन 'नैचुरल डेथ' न बन जाए हर पाकिस्तानी का अधूरा सपना!

जिस पाकिस्तान में ओसामा बिन लादेन सेफ नहीं, वहां जनता क्या होगी.

पाकिस्तान में बन रहा नया उसूल, रसूल के नाम पर किसी को जान से ना मारो

पाकिस्तानी सरकार ईशनिंदा कानून पर दोबारा सोच रही है पर हजारों लोग एक हत्यारे की मजार पर शीश नवाने जा रहे हैं.

इससे अच्छी लव स्टोरी इस वैलेंटाइन्स वीक नहीं मिलेगी

सनोबर और उनके पति संघर्ष और जिंदगी की मिसाल हैं.

रिश्तेदार को नहीं पसंद थी परिवार का पेट भरती लड़की, तो गोली मार दी

वहां कसाब जैसा कोई घर से निकलता है तो बुरा नहीं लगता, नौकरी करती लड़की इज्जत में दाग लगाती है.

हाफिज सईद ने बदला अपने ग्रुप का नाम, इशारा सीधा कश्मीर की ओर

पाकिस्तान बेहद खतरनाक तरीके से खुद के साथ भारत को भी फंसा रहा है.

वर्ल्ड का ये पहला मुल्क है जिसका नेता इसे अमेरिका की बैन लिस्ट में डालने को कह रहा है

डॉनल्ड ट्रंप के बैन वाला ये आठवां मुल्क हुआ तो हिंदुस्तान में बहुत प्रसाद बंटेगा.

वो दिन जब 'पाकिस्तान' शब्द से दुनिया वाकिफ हुई थी

क्या आपको पता है कि भारत में इसी नाम की मैजगीन भी निकलती थी?

भौंचक

नंबरप्लेट पर दारु, कृष, AK56 लिखने वालों को म्यूजियम में काहे नहीं रखवा देते

इन क्रिएटिव लोगों को सुबह-शाम अगरबत्ती दिखाई जानी चाहिए और इनको देखने के लिए टिकट लगना चाहिए.

पहले गोली मारी, फिर फेसबुक लाइव में लाश के पास नाचा-गाया

5 गैंगस्टर की इस हरकत से सहम गया है पंजाब का संगरूर

वैलेंटाइन्स डे पर भगवान कृष्ण को मिल रहा है सरप्राइज गिफ्ट

इंसान जो है, वो हर चीज को अपने जरूरत के हिसाब से देखता है, भगवान भी उन्हीं में से एक हैं.

एक लड्डू खाने से डेढ़ महीने तक देशभक्ति बढ़ी रहती है

दिल्ली एमसीडी के जो फैसले हैं न दोस्त, सुन लो, लॉजिक छितरा जाएंगे.

स्मगलिंग के लिए सबसे भरोसेमंद है भारत की सरकारी डाक

डाकिया डाक लाया, मगर ये क्या लाया? आइला ये तो जानवर है.

वैलेंटाइन्स डे पर छिंदवाड़ा कलेक्टर का आदेश पढ़ने के बाद पत्थर खोज रहा हूं

उनको मारने के लिए नहीं बल्कि वो पत्थर अपना सिर फोड़ लेने के लिए चाहिए.

राहुल द्रविड़ और उनकी टीम को हर शाम खाने का जुगाड़ करना पड़ रहा है

मोदीजी और कोर्ट के फैसले के कॉकटेल का कमाल है.

टी-20 मैच में दिल्ली के लड़के ने 300 रन बना दिए! ये बिक चुकी है गोरमिंट!

इस बार साईकलोन निक्कर और टीशर्ट पहन कर नहीं बल्कि बल्ला हाथ में लेकर आया था.

लड़कियां पैंट-शर्ट पहनेंगी तो बच्चा पैदा नहीं कर पाएंगी?

मुंबई के पॉलीटेक्निक कॉलेज की प्रिंसिपल ने लड़कियों को लड़कों जैसा कपड़ा पहनने से मना किया.