Submit your post

Subscribe

Follow Us

बंद हो गईं वो अदालतें, जो आतंकियों को मौत की सज़ा सुना रही थीं

पेशावर में आर्मी स्कूल पर आतंकी हमला. दिल दहला दिया था इस अटैक ने. सैकड़ों मां-बाप के अरमान कुचले गए थे. तबाही का मंज़र था. और पाकिस्तान के लिए सबक लेने का वक्त. फैसले लिए गए. आतंक को ख़त्म करने की कसमें खाई गईं. मगर हालात अब भी वही हैं. धमाके होते हैं. लोग मरते हैं. आतंकी खुलेआम घूमते हैं. पाकिस्तान को नजर नहीं आता. बस सबूत मांगता रहता है. लेकिन आर्मी ने इस हमले के बाद कुछ अदालतें बनाने की बात की थी. जिसको वहां के सुप्रीम कोर्ट ने इजाज़त दे दी थी. इन अदालतों ने दो साल में ताबड़तोड़ फैसले लिए. 275 मामलों की सुनवाई इन अदालतों में हुई और 161 को मौत की सजा सुना दी गई. लेकिन जो काम खुद कोर्ट को करना चाहिए था उसके लिए आर्मी की अदालतें बनाने से विवाद हुआ. इसे मानवाधिकार के खिलाफ बताया गया. दो साल बाद अब ये अदालतें बंद हो गई हैं.

16 दिसंबर 2014 को पेशावर के आर्मी स्कूल पर तालिबानी हमला हुआ. उस हमले में 150 से ज्यादा बच्चे मारे गए. तब पाकिस्तानी आर्मी ने सख्ती से आतंकियों के सफाए करने की बात की. और आर्मी अदालतें बनाये जाने की मांग हुई, जिसमें आतंकियों का फैसला फटाक से किया जा सके. अदालतों में पड़ा न रहे. आर्मी अदालतों को बनाने के लिए संविधान में संशोधन करना पड़ा और दो साल के लिए ये अदालतें बना दी गईं. जिनकी मियाद 7 जनवरी को पूरी हो गई.

तालिबानी हमले में 16 दिसंबर को पेशावर में 150 से ज्यादा बच्चे मारे गए थे.
तालिबानी हमले में 16 दिसंबर को पेशावर में 150 से ज्यादा बच्चे मारे गए थे.

आर्मी अदालतें बनाये जाने भारी बहस छिड़ गई थी और अदालतों में विभिन्न ह्यूमन राइट्स एक्टिविस्ट ने इसे देश के संविधान और इंटरनेशनल चार्टरों में मौजूद ह्यूमन राइट्स के खिलाफ बताया. लेकिन इन विरोधों के बाद भी इन अदालतों को काम करने दिया गया, क्योंकि सुप्रीम कोर्ट ने संसद की ओर से साल 2015 में लागू किए गए 21वें संवैधानिक संशोधन और पाकिस्तान सेना (संशोधन) विधेयक, 2015 को वैध करार दिया था.

संविधान में किए गए संशोधन में यह स्पष्ट तय कर दिया गया था कि ये अदालतें दो साल बाद खत्म कर दी जाएंगी. इस फैसले से आर्मी के पास लोगों पर मुकदमा चलाने की पॉवर आ गई थी. दो साल के दौरान आर्मी अदालतों को 275 मामले सौंपे गए, जिनमें 161 आतंकियों को मौत की सजा सुनाई गई. इनमें से अभी तक सिर्फ 12 आतंकियों को मौत मिली है. इन अदालतों ने 116 आतंकियों को कैद की सजा सुनाई, जिनमें से ज्यादातर उम्रकैद की सजा काट रहे हैं.

जिन आतंकियों को सजाएं सुनाई गर्इं, वे अल-कायदा, तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान, जमातउल अहरार, तौहीद वल जिहाद ग्रुप, जैश-ए-मुहम्मद, हरकत-उल-जिहाद-ए-इस्लामी, लश्कर-ए-झंगवी, लश्कर-ए-झंगवी अल-आलमी, लश्कर-ए-इस्लामी और सिपह-ए-सहाबा से जुड़े थे. अब तक जिन आतंकियों को फांसी पर लटकाया जा चुका है उनमें पेशावर स्कूल पर अटैक कराने वाला भी शामिल था. जिन आतंकी मामलों को आर्मी कोर्ट में भेजा जा रहा था अब वो देश में पहले से मौजूद एंटी टेरर कोर्ट में सुनवाई के लिए जाएंगे.


 

वो तारीख, जिसने पाकिस्तान को भी रुलाया और हिंदुस्तान को भी

मासूम बच्चों को मार के कौन सी जन्नत मिलती है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

एक और एयरलाइन वाली खबर, भावनाएं फिर आहत हो गईं

एयर इंडिया ने औरतों को सीट में आरक्षण दिया और औरतें ही बुरा मान गईं. क्यों? यहां जानो.

'धोनी रावण जैसे अहंकारी हैं, अब उनका गुरूर टूट जाएगा'

ये बातें सुनकर धोनी के फैन दुखी हो जाएंगे. ऐसा बोला जाना यकीनन दुखी करने वाली बात है.

'टाटा' की नैया का नया खिवैया, जो पारसी नहीं है

उन्होंने सिर्फ 7 सालों में कंपनी का मुनाफा तीन गुना बढ़ाया.

पायदान पर झंडे से हमें दिक्कत है, तो कच्छे पर दूसरों के झंडे से क्यों नहीं?

सुषमा स्वराज की ऐमज़ॉन से नाराजगी के बाद ये सवाल उठता है.

टॉप खबर

एक और जवान का वीडियो, जिसकी बातें सुनकर आपका दिमाग सुन्न हो जाएगा

तेज बहादुर के बाद एक और जवान की आवाज उठी है.

'मोदी चूहे के बच्‍चे की तरह वापस गुजरात भागेंगे'

चार अंगल की ज़बान अगर फिसली तो आपकी किरकिरी करा सकती है.

केजरीवाल ने कहा पंजाब का सीएम पंजाबी होगा, लेकिन एक लूपहोल है

पटियाला में केजरीवाल ने ऑफिशियली तीसरी कसम खाई है. जिसके टूटने के पूरे आसार हैं.

BSF के अफसर बाज़ार में आधे दाम पर बेच रहे हैं राशन!

तेज प्रताप 'शराबी' सही, पर बात कतई गलत नहीं.

पंजाब में AAP जीती, तो CM होंगे केजरीवाल और शुरू हो गई भसड़!

बड़ी चुल्ल थी न ये जानने में कि पंजाब में 'आप' का सीएम कैंडिडेट कौन होगा. जवाब पढ़ लो.

भौंचक

सुंदर तस्वीरों के चक्कर में लुट मत जाना, बड़ा झोल है

इन तस्वीरों के चक्कर में एक फ़ौज की जानकारी लीक हो गई. आप संभल कर रहना, खबर इसलिए ही है.

ये टॉपलेस फोटो पॉर्न साइट पर नहीं, एग्जाम के एडमिट कार्ड पर लगी है

बिहार में नकल की तस्वीर वायरल होने के बाद एक और करामात. शराबबंदी के बाद भी नशे हैं हैं स्टाफ सेलेक्शन कमीशन.

मुबारक हो, भोपाल में एटीएम से पहली बार 'व्हाइट मनी' निकली है

पूरा व्हाइट नहीं है लेकिन एक तरफ तो है. एसबीआई के एटीएम का पता लिख लीजिए.

छोटे छोटे कई चांद टकराए तब बना है ये धरती का चांद!

इजराइली वैज्ञानिकों ने चांद की उत्पत्ति पर नई थ्योरी दी है.

जल्दी ही खेतों में तकरीबन हाथी के बराबर की गौमाता चरती मिलेंगी

औरॉक नाम था. 1627 में विलुप्त हो गई ये किस्म. साइंटिस्ट जुटे हैं इसे फिर से जिंदा करने में.