Submit your post

रोजाना लल्लनटॉप न्यूज चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं !

Follow Us

दिल्ली में आतंकवादियों के बस हाइजैक करने की खबर शेयर करने से पहले सच जान लेना

सोशल मीडिया पर एक वीडियो खूब शेयर हो रहा है. फेसबुक और यूट्यूब पर पर इसे दिल्ली बस हाईजैक टाइटल के साथ शेयर किया जा रहा है. इसमें नज़र आ रहा है कि दिल्ली में चलनी वाली डीटीसी की लो फ्लोर बस (वही हरी वाली, जिसमें कभी जगह नहीं मिलती) के अंदर कुछ लोगों ने सवारियों को बंदूक की नोक पर बंधक बनाया हुआ है. सवारियां ‘बचाओ-बचाओ’  चिल्ला रही हैं. मीडिया पहुंचा हुआ है. बस के बाहर किसी रिपोर्टर की आवाज़ भी आ रही है. फिर वीडियो में कट लगता है और नज़र आता है कि पुलिस पहुंच गई है और आतंकी को पकड़ा जा चुका है.

तो क्या सचमुच डीटीसी की बस हाइजैक हई? हमने इसकी पड़ताल की. पहले आप वो वीडियो देख लें जिसका ज़िक्र यहां हो रहा हैः

सच क्या है?

ये फुटेज दरअसल 30 दिसंबर 2016 की है. इस रोज़ दिल्ली की डिज़ास्टर मैनेजमेंट अथॉरिटी ने एक मॉक ड्रिल की थी. इसमें ये देखा गया कि किसी आतंकी हमले की स्थिति में पुलिस, फायर डिपार्टमेंट और मेडिकल सेवाएं कैसे तालमेल बना कर काम कर पाती हैं.

इसके लिए दोपहर के करीब दिल्ली पुलिस के दफ्तर को फोन किया गया कि खानपुर की रेड लाइट पर एक बस को आतंकियों ने हाइजैक कर लिया है. तीन सवारियों के मरने की खबर भी दी गई. इसके बाद सभी एजेंसियों को अलर्ट पहुंच गया और पुलिस, फायर ब्रिगेड, एंबुलेंस, दिल्ली पुलिस की स्पेशल वॉर एंड टैक्टिक (SWAT) टीम और डिज़ास्टर मैनेजमेंट की गाड़ियां दनदनाती हुई खानपुर पहुंच गईं.

 

मॉक ड्रिल की असल तस्वीर. फोटो पर तारीख पर गौर करें.
मॉक ड्रिल की असल तस्वीर. फोटो पर तारीख पर गौर करें.

 

खबर मिलने के घंटे भर के अंदर ‘आतंकियों’ पर काबू पा लिया गया. ये आतंकी दरअसल पुलिस के ही लोग थे. इस दौरान वहां तमाशबीनों की भीड़ जमा हो गई और उनमें से कई ने वीडियो बना लिए. उन्हीं में से कुछ वीडियो फेसबुक पर दोबारा शेयर हो रहे हैं. 

30 दिसंबर 2016 की मॉक ड्रिल की खबर यहां यहां क्लिक कर के पढ़ें. 

ध्यान से देखते तो बेवकूफ न बनते

गौर से देखने पर नज़र भी आता है कि वीडियो में नज़र आ रहे ज़्यादातर लोगों ने गर्म कपड़े पहने हैं. यानी वीडियो ठंड के मौसम का है. अगर सही में कोई बस इन दिनों में हाईजैक होती तो वीडियो में नज़र आ रहे लोगों ने स्वेटर या जैकेट नहीं पहने होते. लेकिन इस वीडियो को शेयर कर रहे लोगों ने इन बारीकियों पर ध्यान नहीं दिया और मुंह उठाकर शेयर कर दिया. ये भी देखने को मिला कि लोग जब जी में आता है, सनसनी बनाने के लिए वीडियो ठेल देते हैं. एक यूज़र ने 30 अप्रैल को भी इस ड्रिल की तस्वीरें शेयर कर दी थीं, ‘बस हाईजैक इन डेल्ही’ नाम से.

 

30 april

 

तो कुल जमा बात ये है कि फेसबुक या भटसप पर कोई ‘खबर’ देखें तो भोंपू पर चढ़कर चीखने से पहले उसके इर्द-गिर्द थोड़ी जानकारी ज़रूर इकट्ठा करें. हो सकता है कि आप जानकारी बांटने की जगह अफवाह फैला रहे हों. कुछ नहीं तो एक गूगल सर्च ही कर लें. जैसे अगर आप आज ‘delhi bus highjack’ सर्च करेंगे तो रिजल्ट में कोई लिंक ऐसा नहीं होगा जो 18 मई (या उससे एकाध दिन आगे-पीछे का भी) हो. दिल्ली देश की राजधानी है. अगर सचमुच कोई बस दिल्ली में हाईजैक हुई होती, तो देश ही नहीं दुनियाभर की मीडिया ने इस खबर को कवर किया होता.

तो ये जान लीजिए कि 18 मई को ही नहीं, पूरे मई महीने में दिल्ली में कोई बस हाईजैक नहीं हुई थी. 


ये भी पढ़ेंः

क्या होगा जब DTC की बस को आतंकी हाइजैक कर लेंगे?

‘777888999’ नंबर से फोन उठाने पर क्या सच में ब्लास्ट हो रहा है?

सड़क पर कोई पेशाब कर रहा था, एक कवि ने रोका तो नाक तोड़ दी गई

केजरीवाल सरकार ने दिल्ली वालों को तोहफा दिया, मगर वो भी अधूरा

डीटीसी की बसों में खप गया 8 करोड़ रुपये का काला धन?

 

लल्लनटॉप न्यूज चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं !

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

आतंकियों के सरदार बने सबजार को सेना ने बुरहान वानी के पास भेज दिया

बुरहान वानी के मरने पर जम्मू कश्मीर में हिजबुल का कमांडर बना था सबजार.

गौरक्षा पर बने नए कानून के बारे में जान लीजिए, कभी कोई फंस न जाए

पहली बार पूरे देश के लिए गौ-संरक्षण पर कानून बना है.

दंगल का वो रिकॉर्ड जिसे तोड़ने में बाहुबली-2 बहुत पीछे है

ताज़ा ख़बर उनके लिए जिन्हें बाहुबली की भयंकर सफलता के बाद हिंदी फिल्मों पर दया आने लगी थी.

जोधपुर से पकड़ा गया मां का गला काटकर भागने वाला

शीना बोरा मर्डर केस से जुड़े हैं पुलिस इंस्पेक्टर, उनका बेटा मां को मारने के बाद दो लाख लेकर गायब था.

नीरजा भनोत की ब्रेव कहानी सुनाने वालों ने अब बड़ा मन खट्टा कर दिया

किसी ने सोचा नहीं था कि नीरजा के परिवार के लोग यूं ठगा महसूस करेंगे.

कैसे होते हैं CoBRA कमांडो, जिन्हें अब नक्सलियों से लड़ने भेजा जा रहा है

बारी 'ऑपरेशन ऑल आउट' की है, जिसके बाद उम्मीद है, नक्सलियों का नाश हो जाएगा.

मैनचैस्टर हमले की सूचना ट्विटर पर चार घंटे पहले ही मिल चुकी थी?

इस घटना को लेकर बेस्ट कवरेज, बहस और जानकारियां ट्विटर ने समेटी हुई थी.

मैनचैस्टर आतंकी हमले से जुड़े सारे वीडियो यहां देखें

ISIS ने हमले की जिम्मेवारी ली है

अलका लांबा जी, ये फायर ब्रिगेड की क्रेन है, रैली का मंच नहीं

जब लोगों की जान खतरे में थी, AAP विधायक स्टंट कर रही थीं.

पाकी टॉकी

क्या पाकिस्तान से कुलभूषण जाधव की मौत की खबर आने वाली है?

पाकिस्तान की हरकतें इसी तरफ इशारा कर रही हैं.

पाकिस्तान में रमज़ान को लेकर ऐसा कानून बनाया गया है जो बेहूदा है

'पाकिस्तान में आतंकी घूम सकते हैं, लेकिन रोजेदार के सामने कुछ खाया तो जेल में होगा.'

'द गॉडफादर' ने इस्लामिक पाकिस्तान की राजनीति में बवाल मचा दिया

पाक पीएम नवाज़ शरीफ के लिए ये नई मुसीबत है.

आज जिसको पहला पाकिस्तानी बताया जा रहा है, वो बैल की चमड़ी में सिलकर सीरिया भेजा गया था

पाक के मुताबिक मुहम्मद अली जिन्ना नहीं थे पहले पाकिस्तानी.

भीड़ इस आदमी को मार डालती, अगर मौलवी और एक जवान उसे नहीं बचाता

वीडियो में उन्मादी भीड़ देखकर खौफ आता है. कौन सी दुनिया रच रहे हैं ये लोग.

इमाम के कहने पर बुर्कापोश तीन बहनों ने 'कथित ईशनिंदा' करने वाले को मार डाला

जिसे मारा, पहले उसके बाप से आशीर्वाद लिया. फिर सामने ही उनके बेटे को गोलियों से भून दिया.

जब आप भीड़ बनते हैं, तब आपके अंदर का राक्षस जल्दी बाहर आता है

पाकिस्तान में ईशनिंदा के शक़ में छात्र को पीट-पीट कर मार डाला गया.

यहां गलती मर्द करे, हर्जाना औरत या बच्ची को शादी करके चुकाना पड़ता है

क्या है ये 'वानी' रस्म, जिसमें अपनी घर की लड़की या बच्ची को दुश्मन के हवाले कर दिया जाता है

ये पाकिस्तानी बंदा कुलभूषण को फांसी के खिलाफ है और गाली खा रहा है

कहीं आप भी इस बंदे का मजाक तो नहीं उड़ाते थे?

पेट दर्द का बहाना लेकर देश से भाग जाने की फ़िराक में है पाकिस्तानी पीएम!

क्या सच में शरीफ बहाना ले रहे हैं.

भौंचक

आपको पता है इंडियन रेलवे ने सबसे महंगा टिकट कितने का बेचा है?

और जो अमाउंट है, वो इतना कि सुनकर आप यकीन भी न कर पाएंगे.

रेप करने चला था औरत ने लिंग काट लिया

और महिला पर कोई केस भी नहीं होगा क्योंकि उसने जो भी किया खुद को बचाने के लिए किया.

ये सद्दाम हुसैन लादेन के लिए आधार कार्ड बनाने चले थे

कि कहीं वो ज़िंदा हुआ तो उसे जियो की सिम लेने में तकलीफ न हो.

एक दिन में सबसे ज़्यादा रन तब मारे गए थे, जब फटाफट क्रिकेट का नामोनिशान भी नहीं था

ये काम करना क्रिस गेल, वॉर्नर जैसे बल्लेबाज़ों के भी बस का नहीं. आज ही के दिन हुआ था ये कारनामा.

गायकवाड़ पार्ट 2ः शिवसेना पार्षद ने विधायक 'बन' कर किसानों की सभा ले ली

शिवसेना हमशक्लों वाली पार्टी बनती जा रही है.

सेल्फी खींच लो, कहीं आग बुझ ना जाए

उन्हें लगा होगा कि आग-वाग तो बुझती रहेगी, लेकिन ऐसा मौका कहां मिलता है? तुरंत जेब से फोन निकाला और चट्ट से सेल्फी खींच ली.

'फैन' पिक्चर देखी है? ये उसकी रियल लाइफ कहानी है

भारी पड़ गया एक लड़के को इस मशहूर व्यक्ति जैसा दिखना.

नाक की गूजी खाएंगे तो सेहत अच्छी रहेगी, सच में

गाली देने के पहले खबर पढ़ लेना.