Submit your post

रोजाना लल्लनटॉप न्यूज चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं !

Follow Us

इमाम बरकती को मारने वाले उपदेश राणा की वो बातें जो खुद उन्हें नहीं पता होंगी

उपदेश राणा नाम का एक एरोप्लेन उड़ा और जा घुसा टीपू सुल्तान मस्जिद में. कलकत्ता की टीपू सुल्तान मस्जिद. वहां गया और अपने हिन्दू क्रोध की अग्नि में मुस्लिम मौलवी को भस्म कर दिया. थोड़ी देर में मौलवी का वीडियो आया. पता चला उपदेश ने थप्पड़ जड़ दिया था.

असल मुद्दा यहां जाकर पढ़ें. अपने ही भाई ने लिखा है. मसले की पूरी जानकारी हियां मिलेगी.

लेकिन उपदेश राणा असल में कौन हैं? ये किसी नामाकूल खबरिया चैनल के स्ट्रिंगर को या डेस्क में बैठे सब एडिटर को खाक पता होगा. पसीना चुआना पड़ता है. मेहनत करनी होती है. आपके भाई ने मेहनत की. अगले की जन्मकुंडली ले आया.

#1 सबका सम्मान करते हैं. उनका नारा सबका सम्मान किसी-किसी का अपमान है. मनमोहन सिंह को बेचारा कहा है. इससे जाहिर है उन्हें पूरा आईडिया था सोनिया की के फेर में मनमोहन जी कैसी बेचारगी झेल रहे हैं. मनमोहन जी के लिए दया तो सीआईडी वाले एसीपी के पास भी नहीं थी. लेकिन उपदेश के दिल में थी. काहे कि पर उपदेश कुशल भतेरे.

updesh rana

#2. इस अपडेट से साफ़ होता है, राणा जी को इतिहास का भी ज्ञान है. उन्हें पता था कि दिसंबर में क्या हुआ साथ ही उपदेश जी उन लोगों में से नहीं हैं जो किसी का हक़ मार लें. देखिए जिस चीज पर जिस किसी का हक़ उन्हें जायज लगता है. उसे बताने से चूकते नहीं.

updesh 2003

#3. धर्म के नाम पर राजनीति करने वाले उन्हें बिलकुल भी पसंद नहीं हैं. इवेन उनको तो राजनीति ही पसंद नहीं है. इसीलिये हर जगह, हर जगह! खुद को अदयक्ष लिखते हैं, अध्यक्ष नहीं.

adyaksh

#4. वैवाहिक सम्मेलनों में रहती है उपस्थिति. ज़रा इनकी तस्वीरें देखिए. आदमी ऐसा किसी दूसरे की शादी में ही तैयार होता है. साथ ही याद कीजिए ऐसे हाथ से निकलती तस्वीरें आपने शादी की कैसेट के अलावा और कहां देखी थीं? तिलक वाला पूरा इफेक्ट इस्तेमाल किया जा रहा है. विवाहों से पुराना संबंध रहा है इनका.

updesh safa

#5. फिल्मों में भी है इंटरेस्ट. अजय देवगन की दिलवाले इन्हें इतनी पसंद थी कि जब शाहरुख की दिलवाले आई तो ये बुरा मान गए. बताया कि उनके गेट के सामने विरोध करेंगे. लेकिन डायलॉग जो मारा वो भाई सलमान के कमिटमेंट जैसा था.

salman fan

#6. बाप के भी बाप हैं ये. इनकी पार्टी के शुरुआती अक्षर उठाइए. जैसे आप AAP के उठाते हैं. निकलकर आता है BAP माने बाप. उसके अदयक्ष हैं माने कौन हुए?

UPDESH BAP

#7. डार्विन-वार्विन सब फ़ालतू में ही खप गए. सारे साइंटिस्ट खप गए. भाई ने सब दुखों की वजह बता दी. सोनम गुप्ता से भी सालों पहले बता दिया था बेवफाई कैसे आनुवांशिक रोग बन जाता है.

MAJBOORI

#8. भाई के घोषणापत्र ने हर पार्टी की बारह बजाने की ठान ली है. इनका घोषणापत्र, पत्र नहीं पवित्र है. एक बार नज़र फिराकर देखिए. आरक्षण से लेकर आम तक और कानून से लेकर भ्रष्टाचार तक को निबटा देंगे.

16830_1523770467885890_2701196604624002542_n

#9. भारत ही नहीं पाकिस्तान से भी हमदर्दी है, जिस रोज़ पेशावर में हमला हुआ. भाई का दिल वहां के बच्चों के लिए भी पिघल गया, जो ये साबित करता है कि उनको बेसिकली बुरे से समस्या है. और जहां भी कहीं बुरा होता है. उनको और ज्यादा बुरा लग जाता है.

UR

#10. और सबसे खास, भाई भी अपने जैसे अवेंजर्स का फैन है.

updesh-rana-fb-5_051917021248_190517-121400-522x400


 

ये भी पढ़ें 

उपदेश राणा ने मस्जिद में घुसकर इमाम बरकती को थप्पड़ मारा, मुझे उनसे बहुत उम्मीदें हैं

लल्लनटॉप न्यूज चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं !

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

पोस्टमॉर्टम हाउस

फ़िल्म रिव्यू : शुभ मंगल सावधान

जानिए फिल्म में कितना शुभ है, कितना मंगल है और कितना सावधान रहने की ज़रूरत है.

सैफ की नई पिच्चर का ट्रेलर आया है, जिसमें वो बावर्ची बने हैं

ये फिल्म हॉलीवुड फिल्म 'शेफ' का ऑफिशियल रीमेक है.

भारतीय टीवी का सबसे घिनहा सीरियल अब नहीं दिखेगा

जिसमें 10 साल के पति और 20 साल की पत्नी की सुहागरात दिखाई गई थी.

फ़िल्म रिव्यू : स्निफ़

बच्चों की फ़िल्म जिसे बड़े भी उतने ही मज़े से देखेंगे.

फ़िल्म रिव्यू : बाबूमोशाय बन्दूकबाज़

बाबू एक शूटर है. दिलों का शूटर नहीं है. और न ही उसके पास कोई स्कूटर है.

फ़िल्म रिव्यू : बरेली की बर्फ़ी

"अगर शकल देख के लड़कियां शादी करतीं न, तो हिंदुस्तान में आधे लड़के कुंवारे होते."

फ़िल्म रिव्यू : पार्टीशन 1947

भारत पाकिस्तान के बंटवारे पर बनने वाली अब तक की सबसे अलग फ़िल्म.

मां होना असल में क्या होता है, श्रीदेवी हमें बताती हैं

वो ऐसी बेटी के लिए लड़ती हैं, जो उन्हें मां मानती भी नहीं.

फ़िल्म रिव्यू - टॉयलेट : एक प्रेम कथा

समय आ गया है कि अक्षय कुमार को अगला मनोज कुमार घोषित कर दिया जाए.

फिल्म रिव्यूः जब हैरी मेट सेजल

एक सबसे अच्छी बात इस फिल्म की, जो हमारे काम की है.

वायरल केंद्र

क्रिकेटर अंबाती रायुडू को इतना गुस्सा क्यों आ गया जो बुज़ुर्ग को थप्पड़ मार दिया!

आईपीएल के एक मैच में हरभजन से भी झगड़ा कर चुके हैं अंबाती रायुडू.

इस दुकान पर चाय पीने को मिले तो जीवन धन्य हो जाए

इस आदमी को चाय की दुकान पर नहीं, कोक स्टूडियो में होना चाहिए.

क्या सचमुच ऐश्वर्या राय ने गणपति पूजा में सर मुंड़ा लिया है?

अमिताभ बच्चन ने पूजा की तस्वीरें की थीं शेयर.

बाबा रामदेव की इस तस्वीर को शेयर कर रहे लोग सेक्शुअल हैरेसमेंट के अपराधी हैं

रामदेव की आलोचना के लिए उनके काम को आधार बनाइए, उनकी निजी ज़िंदगी को नहीं.

'प्यारी ज़ोहरा ! तुम्हारी आंख से निकला एक-एक आंसू कलेजे को झुलसा देता है'

शहीद हुए एएसआई की बेटी के नाम जम्मू-कश्मीर के DIG का ये खत रुला देता है.

गुरमीत ने ही क्रिकेट में टी-20 का आविष्कार किया था!

और भी गम हैं ज़माने में बकैती के सिवा...

राजकुमार राव की 'न्यूटन' का ट्रेलरः इस साल की बेस्ट फिल्मों में एक ये होगी

देखें. बर्लिन फिल्म फेस्ट में इसे स्टैंडिंग ओवेशन मिला था.

हम जिस पत्तल को भूल रहे हैं, वो जर्मनी बना रहा है

दुनिया जब इतनी तेज़ नहीं थी, तब शादी-ब्याह-निमंत्रण में पत्ते की प्लेटें इस्तेमाल होती थीं.

क्या गुरमीत सिंह को उसी हेलिकॉप्टर से ले जाया गया, जिससे पीएम मोदी घूमते थे

इस वायरल तस्वीर पर उठ रहे हैं हजारों सवाल. यहां जानिए पूरा सच.

राम रहीम के चेलों की गुंडागर्दी पर सबसे गहरा रिएक्शन इन लोगों का आया है!

'इस देश में सलमान को बेल मिल सकती है, हिंदू संतों को नहीं.'