Submit your post

रोजाना लल्लनटॉप न्यूज चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं !

Follow Us

इस BSF जवान को जली रोटी खाकर ड्यूटी देनी पड़ रही है: वायरल वीडियो

कोई भी बात हई सरकार ने आपके सामने सोल्जर को रख दिया. सर्जिकल स्ट्राइक के बाद तो हालत ये कि आपने ज़रा भी चूं चा किया तो आपको देशद्रोही के तमगे से नवाजे जाने की कोशिश की गई. सोल्जर सोल्जर का ऐसा गर्दा काट दिया गया कि सरकार के किसी काम पर कोई सवाल न किया जा सके. लोगों के दिमाग में ये फिट कर देना ही था कि नोटबंदी हुई. कतारें लगीं. लोग मरे तो किसी ने सवाल करना चाहा तो आवाजें उठा दी गईं कि आर्मी के जवानों के बारे में सोचो. तुम देश के लिए बैंक की कतार में खड़े नहीं हो सकते. बिल्कुल सोचना चाहिए, बॉर्डर पर तैनात जवानों के लिए. लेकिन जो सरकार खुद को जवानों की हितैषी होने का बखान कर रही है उसी सरकार की मौजूदगी में जवानों को ऐसा खाना मिल रहा है कि जेल में कैदियों को भी ढंग का मिल जाता होगा. बीएसएफ जवान तेज बहादुर यादव को सुनिए, जो खुद को 29वीं बटालियन का जवान बता रहे हैं. और जम्‍मू-कश्‍मीर में तैनात हैं. उन्होंने अपने अधिकारियों पर इल्जाम लगाया है कि सूखी-जली हुई रोटी मिलती है. और दाल में हल्दी नामक के सिवा कुछ नहीं होता.

बर्फीली पहाड़‍ियों के बीच खड़े होकर, कंधे पर बंदूक लटकाए और बीएसएफ की वर्दी पहने यादव कहते हैं, ‘सभी देशवासियों को गुड मॉर्निंग, मेरा नमस्कार. जयहिन्द! देशवासियों मैं आपसे एक अनुरोध करना चाहता हूं. मैं बीएसएफ 29 बटालियन से हूं. हम लोग सुबह 6 बजे से शाम को इस बर्फ के अंदर 5 बजे तक कंटिन्यू 11 घंटे ड्यूटी, वो भी खड़े होकर. कितना भी बर्फ हो कितना भी बारिश हो. तूफान हो. ये ही हालातों में हम ड्यूटी कर रहे हैं. फोटो में यहां के नज़ारे अच्छे लग रहे होंगे. लेकिन हमारी क्या सिचुएशन है ये न तो कोई मीडिया दिखाता है. न कोई मिनिस्टर सुनता है. कोई भी सरकार आई हमारी हालत वही बदतर है. मैं आपको इसके बाद तीन वीडियो भेजूंगा. मैं चाहता हूं आप पूरे देश की मीडिया को, नेताओं को दिखाएं. हमारे अधिकारी हमारे साथ कितना अत्याचार करते हैं.’

वीडियो में यादव आगे कहते हैं,’हम किसी सरकार को कोई दोष नहीं देना चाहते. क्योंकि सरकार हर चीज़, हर सामान देती है. लेकिन उच्च अधिकारी साहब बिक्री करके खा जाते .हैं. हमें कुछ नही मिल पाता. ऐसे हालात हैं कई बार तो जवान भूखे पेट सोता है. मैं आपको सुबह का नाश्ता आपको दिखाऊंगा. एक पराठा मिलता है, जिसमें कुछ भी नहीं है न आचार है न सब्जी है. सिर्फ चाय के साथ. दोपहर का खाना मैं आपको दिखाऊंगा. जिसमें दाल के अंदर सिर्फ हल्दी और नमक होगा. इसके सिवाए कुछ नहीं होगा. मैं फिर कह रहा हूं भारत सरकार सबकुछ देती है. भारत सरकार के स्टोर भरे पड़े हैं. कहां जाता है कौन बिक्री करता है इसकी जांच होनी चाहिए. मैं आदरणीय प्रधानमंत्री जी से कहना चाहता हूं, कृपा करके इसकी जांच कराएं.

तेज यादव ने अपनी अपने लिए डर भी दिखाया है. कहा, ‘दोस्तों ये वीडियो डालने के बाद मैं रहूं या न रहूं, क्योंकि अधिकारियों के बहुत बड़े हाथ हैं. वो मेरे साथ कुछ भी कर सकते हैं. कुछ भी हो सकता है, इसलिए इस वीडियो को ज्यादा से ज्यादा फैलाएं, शेयर करें. ताकि जांच हो. और देखें कि किन हालातों से गुज़र रहे हैं. मैं बाकी वीडियो आपको दिखाउंगा. जयहिंद!’

तेज बहादुर यादव ने फेसबुक पर ये वीडियो अपलोड किए हैं. वीडियो को अब तक करीब 17 लाख लोग देख चुके हैं, और एक लाख से ज्‍यादा बार शेयर किया जा चुका है. उनके इस वीडियो को बॉलीवुड एक्टर रणदीप हुड्डा ने भी शेयर किया है. वीडियो में कितनी सच्चाई है ये तो जांच के बाद ही पता चलेगा.

तेज बहादुर यादव ने इस वीडियो के बाद तीन और वीडियो अपलोड किए हैं, जो 29वीं बटालियन के मेस के बताए हैं. जिनमें खाने की क्वालिटी दिखाई गई है.

बीएसएफ़ के प्रवक्ता शुभेंदु भारद्वाज ने बीबीसी को बताया कि ये वीडियो उनके संज्ञान में हैं और जांच की जा रही है.

बीएसएफ़ के ऑफिशियल अकाउंट से ट्वीट किया गया, ‘बीएसएफ़ जवानों की देखभाल को लेकर बहुत संवेदनशील हैं. कुछ मामले अपवाद हो सकते हैं, अगर ऐसा है तो इसकी जांच की जाएगी. उच्च अधिकारी मौक़े पर पहुंचे हैं.’

अब ज़रा नाश्ता देखिए

तेज बहादुर ने नाश्ते का वीडियो अपलोड किया और कहा, देखिए कैसा मिलता है. जला हुआ पराठा. ये जले हुए पराठे और चाय का गिलास. और कुछ भी नहीं.

अब ये दाल देख लो. इस वीडियो में तेज बहादुर कह रहे हैं कि ये दाल है जिसमें नमक और हल्दी है. इसे खाकर 11 घंटे ड्यूटी करनी होती है.

लल्लनटॉप न्यूज चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं !

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

10 नंबरी

इंडिया की 5 फिल्में जिनकी कहानियां दूर, काल्पनिक भविष्य में घटती हैं

इनमें से एक दिखाती है कि 2067 में ऑक्सीजन के लिए लोग कैसे एक-दूसरे को मार रहे हैं.

नाग-नागिन की वो झिलाऊ फिल्में, जो आपको किडनी में हार्ट अटैक दे जाएंगी

नाग है, नागिन है, तांत्रिक है, बीन है, मणि है, सरदर्द है, माइग्रेन है, कैंसर है, उफ्फ्फ...

'लखनऊ सेंट्रल' की 10 बातें: जिसमें फरहान अख़्तर यूपी बॉय बने हैं

देखें फिल्म का पहला ट्रेलर. हूबहू इसी कहानी वाली एक और फिल्म भी लग रही है.

वो हिंदी फिल्में जिन्हें लेकर झूठ बोला गया कि हॉलीवुड ने उनकी नकल की

नकल आज तक बॉलीवुड ने ही की है हॉलीवुड फिल्मों की, लेकिन खुशफहमी हमने पाल ही ली.

इन नुकसानों का पता चलेगा तो आज ही खाना छोड़ देंगे टमाटर!

टमाटर का महंगा होना दरअसल हमारी सेहत से जुड़ा है.

अनुराग कश्यप की बेहद एक्साइटिंग फिल्म 'मुक्काबाज़' का फर्स्ट लुक!

फिल्म की पांच बातें. पढ़कर आप इसे जरूर देखना चाहेंगे.

26 फिल्में जो पहलाज निहलानी और CBFC की बदनाम विरासत लिखेंगी

जब कभी हमारा सिनेमाई एक्सप्रेशन पूरी तरह आज़ाद होगा तो ये लिस्ट पढ़कर लोग दंग हुआ करेंगे.

10 दिन में गोला बारूद खत्म हो जाएगा तो शिफूजी काम आएंगे!

CAG की रिपोर्ट से डरने की जरूरत नहीं है मितरों.

अमिताभ बच्चन का नया एड जिसे देख उनकी फिल्में भूल जाएंगे!

उम्र के साथ उनकी एक्टिंग की दमक बढ़ रही है, इस रिफ्रेेशिंग एड में लगता है. 12 और मजेदार एड भी देखें.

संजय दत्त की नई पिक्चर 'भूमि' जिस अंग्रेजी फिल्म से प्रेरित है, वो जबरदस्त है

जिसने भी इस एक्शन थ्रिलर को देखा उसे जिंदगी भर के लिए याद रह गई.

पोस्टमॉर्टम हाउस

फिल्म रिव्यू: रागदेश

सुभाष चंद्र बोस की बनाई सेना इंडियन नेशनल आर्मी के सैनिकों पर तिग्मांशु धूलिया की फिल्म.

क्या 'पहरेदार पिया की' चोरी का माल है?

'सोनी टीवी' पर प्रसारित हो रहे विवादित शो का पूरा सच.

कौन हैं किरण यादव, जिनके फेसबुक पर 10 लाख फॉलोअर्स हैं?

इस अकाउंट की 3 बातें ख़ास तौर से नोटिस में आती हैं.

भारतीय टीवी ने ये सीरियल बनाकर घिनापे की हद पार कर दी है

पति 10 साल का हो और पत्नी लगभग मां की उम्र की, तो रिश्ता 'पवित्र' कैसे होगा?

राज कपूर का नाती फिल्मों में आ रहा है लेकिन लोग पहले ही उससे चिढ़े हुए हैं

कभी किसी नए एक्टर के साथ ऐसा नहीं हुआ है. लेकिन रणबीर कपूर के छोटे भाई के साथ हो रहा है.

फ़िल्म रिव्यू : जग्गा जासूस

अनुराग बासु 5 साल के बाद अपनी फ़िल्म लेकर आए हैं.

मां होना असल में क्या होता है, श्रीदेवी हमें बताती हैं

वो ऐसी बेटी के लिए लड़ती हैं, जो उन्हें मां मानती भी नहीं.

फ़िल्म रिव्यू : गेस्ट इन लंडन

कपिल शर्मा की जूठन से बने जोक्स के दम पर बनी फ़िल्म.

फ़िल्म रिव्यू : मॉम

श्रीदेवी की कम-बैक फ़िल्म.

गब्बर को ठाकुर बलदेव सिंह ने नहीं, कैंसर ने मारा था!

अहमद को रहीम चाचा ने खुद मार दिया था.