Submit your post

रोजाना लल्लनटॉप न्यूज चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं !

Follow Us

भारत में जन्मे अनीश कपूर की चीन ने क्यों की नकल?

क्या चीन एक भारतीय मूल के कलाकार के बनाए हुए मास्टर पीस की नकल कर सकता है?

इजीनियरिंग की पढ़ाई की. मैथ्य समझ नहीं आई तो इंजीनियरिंग को कहा- टाटा. मम्मी थीं यहूदी और पापा थे इंडियन. मुंबई में आजादी के 7 साल बाद 1954 में पैदा हुए धांसू आर्टिस्ट अनीश कपूर. अनीश साहेब ने दुनिया का सबसे लंबा और ऊंचा स्लाइड आर्सेलर मित्तल ऑर्बिट बनाया. आर्सेलर मित्तल ऑर्बिट की ऊंचाई करीब 376 फुट लंबी. लंदन में लगी इस ऑर्बिट को ज्यादा खूबसूरत बनाने के लिए फिर से काम शुरू कर दिया गया है.

अनीश कपूर की सबसे ज्यादा लोकप्रिय और आकर्षक रचना है क्लाउड गेट. स्टील की एक ऐसी आर्ट, जिससे दूर गगन के बादल, इमारतें और लोग दिखाई पड़ते हैं. क्लाउड गेट लिक्वेड पारे (लिक्विड मरकरी) की तरह दिखाई देता है. अनीश को इस मास्टर पीस का ख्याल भी लिक्विड मरकरी को देखकर आया था.

हर मामले में खुद को तुर्रम खां बताने वाले चीन ने अनीश कपूर के क्लाउड गेट की नकल की. अनीश के क्लाउड गेट को देखकर चीन भी एक फर्जी सा स्टेनलेस स्टील का गेट बना रहा है. लॉजिक है नकल नहीं की, अनीश के क्लाउड गेट में बादल दिखता है और हमारे में जमीं दिखती है.

अनीश की एक कलाकृति ‘क्वींस वेजाइना’ के बाद भी खूब बवाल मचा.

 

स्टील और पत्थर से 60 मीटर लंबी और 10 मीटर ऊंची इस मास्टर पीस को अनीश ने पैलेस ऑफ वर्सेली में लगाया. जगह को नाम दिया गया डर्टी कॉर्नर. इसी पैलेस में अनीश ने लाल रंग के वैक्स से अपनी कला का एक और नमूना पेश किया, जिसका खून और ऑर्गेजम से रिलेटेड बताया गया. अनीश ने डर्टी कॉर्नर का मतलब समझाते हुए कहा कि इसका संबंध साफ तौर पर सेक्स और वैभव से है. वेजाइना ऑफ क्वीन का अर्थ शक्ति हासिल करने से है.

लंदन की रॉयल अकेडमी के बाद अनीश की ‘शूटिंग एट द कॉर्नर’ को मुंबई में प्रदर्शित किया. 2008-09 में बनी ‘शूटिंग एट द कॉर्नर’ अतीत, वर्तमान और भविष्य के कॉन्सेप्ट पर आधारित थी. अनीश की लोकप्रियता और कलाकारी कुछ ऐसी है कि अब से करीब 24 साल पहले 1991 में उन्हें प्रतिष्ठित टर्नर पुरस्कार से नवाजा गया था.

लल्लनटॉप न्यूज चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं !

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

विजय, अमिताभ बच्चन नहीं, जितेंद्र थे. क्विज खेलो और जानो कैसे!

आज जितेंद्र का बड्डे है, 75 साल के हो गए.

पापा के सामने गलती से भी ये क्विज न खेलने लगना

बियर तो आप देखते ही गटक लेते हैं. लेकिन बियर के बारे में कुछ जानते भी हैं. बोलो बोलो टेल टेल.

सत्ता किसी की भी हो इस शख्स़ ने किसी के आगे सरेंडर नहीं किया

मौकापरस्ती को अपने जूते की नोक पर रखने वाले शख्स़ की सालगिरह है आज.

सुखदेव,राजगुरु और भगत सिंह पर नाज़ तो है लेकिन ज्ञान कितना है?

आज तीनों क्रांतिकारियों का शहीदी दिवस है.

रोहित शेट्टी के ऊपर ऐसी कड़क Quiz और कहां पाओगे?

14 मार्च को बड्डे होता है. ये तो सब जानते हैं, और क्या जानते हो आके बताओ. अरे आओ तो.

परफेक्शनिस्ट आमिर पर क्विज़ खेलो और साबित करो कितने जाबड़ फैन हो

आज आमिर खान का हैप्पी बड्डे है. कित्ता मालूम है उनके बारे में?

Quiz: आप भोले बाबा के कितने बड़े भक्त हो

भगवान शंकर के बारे में इन सवालों का जवाब दे लिया तो समझो गंगा नहा लिया

Quiz: विराट कोहली को कितने अच्छे से जानते हैं आप?

कोहली को मिला पद्मश्री, समझते हो, बड़ी चीज है. आओ टेस्टिंग हो जाए तुम्हाई.

'काबिल' देखने जाओगे? पहले ये क्विज खेल के खुद को काबिल साबित करो

सलमान ने ऐसा क्या कह दिया था जिससे हृतिक हो गए थे नाराज़? खेल लो. जान लो.

ये क्विज खेलोगे तो मोगैम्बो खुश होगा

आंख फैलाकर, नाक फुलाकर हीरो-हीरोइन को डराने वाला ये एक्टर आज के दिन दुनिया से रुखसत हो गया था.

न्यू मॉन्क

इक्ष्वाकु और भगवान राम में था 53 पीढ़ियों का जेनरेशन गैप

भगवान राम के पूर्वजों का फ्लोचार्ट भी बड़ा इंटरेस्टिंग है.

नाम रखने की खातिर प्रकट होते ही रोने लगे थे शिव!

शिव के सात नाम हैं. उनका रहस्य जानो, सीधे पुराणों के हवाले से.

अपनी चतुराई से ब्रह्मा जी को भी 'टहलाया' नारद ने

नारद कितने होशियार हैं इसका अंदाजा लगा लो.

इस गांव में द्रौपदी ने की थी छठ पूजा

छठ पर्व आने वाला है. महाभारत का छठ कनेक्शन ये है.

नारद के खानदान में एक और नारद

पुराणों में इन दोनों नारदों का जिक्र है एक साथ.

नारद कनफ्यूज हुए कि ये शाप है या वरदान

नारद को मिला वासना का गुलाम बनने का श्राप.

अर्जुन ने तीर मारकर, घोड़ों के लिए बना दी मिनरल वाटर वाली झील

अर्जुन के पास टास्क था जयद्रथ वध का, लेकिन उसी टाइम उनके घोड़ों पर आ गई आफत. फिर क्या हुआ?

इंसानों का पहला नायक, जिसके आगे धरती ने किया सरेंडर

और इसी तरह पहली बार हुआ इंसानों के खाने का ठोस इंतजाम. किस्सा है ब्रह्म पुराण का.

रावण ने अपनी होने वाली बहू से की थी छेड़खानी

रावण की हिटलिस्ट में पहली बार सीता नहीं आई थीं. उनसे पहले भी वो मोलेस्टेशन कर चुका था लेडीज का.

जब भगवान गणेश के सिर में मार दिया रावण के भाई ने

रावण वजह नहीं था. एक मूर्ति के पीछे लड़ बैठे विभीषण से, और खा बैठे थे चोट.